बाल विकास और अध्यापन अध्यायवॉर प्रश्न संग्रह

01. शिक्षा एवं मनोविज्ञान

1. प्रथम मनोवैज्ञानिक प्रयोगशाला की स्थापना किसने की थी?
(a
) गाल्टन
(b) हल
(c) वुण्ट
(d) वाटसन
Ans : (c)


2. छात्र अधिगम का वार्क (VARK) मॉडल इनके द्वारा प्रस्तावित किया गया था :
(a
) कोह्लबर्ग
(b) नील फ्लेमिंग
(c) पियाजें
(d) ई. इरिक्सन
Ans. (b)


3. शिक्षा मनोविज्ञान की उत्पत्ति का वर्ष कौन−सा माना जाता है?
(a
) 1947 (b) 1920
(c) 1940 (d) 1900
Ans : (d)


4. शिक्षा मनोविज्ञान का सम्बन्ध किससे नहीं है?
(a
) मानव व्यवहार का अध्ययन
(b) मानसिक प्रक्रियाओं का अध्ययन
(c) सीखने के तरीकों का अध्ययन
(d) संचार माध्यमों का अध्ययन
Ans : (d)


5. निम्नलिखित में से कौन शिक्षा मनोविज्ञान की प्रकृति है?
(a
) कला (b) विज्ञान
(c) विध्यात्मक विज्ञान (d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans : (c)


6. शिक्षा मनोविज्ञान की दृष्टि से निम्नलिखित में से कौन−सा कथन सत्य है?
(a
) बच्चे अपने ज्ञान का स्वयं सृजन करते हैं
(b) विद्यालय में आने से पहले बच्चों को कोई पूर्व ज्ञान नहीं होता है
(c) अधिगम प्रक्रिया में बच्चों को कष्ट होता है
(d) बच्चे यथावत् सीखते हैं‚ जो उन्हें पढ़ाया जाता है
Ans : (a)


7. एक शिक्षक को अपने विद्यार्थ्िायों की क्षमताओं को समझने का प्रयास करना चाहिए। निम्नलिखित में से कौन-सा क्षेत्र इस उद्देश्य के साथ संबद्ध है?
(a
) सामाजिक दर्शन (b) मीडिया-मनोविज्ञान
(c) शिक्षा-मनोविज्ञान (d) शिक्षा-समाजशाध्Eा
Ans: (c)


8. शिक्षा मनोविज्ञान है
(a
) विशुद्ध विज्ञान
(b) व्यावहारिक विज्ञान
(c) मानक विज्ञान
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans: (c)


9. प्रारम्भ में आत्मा का प्रयोग किस शाध्Eा में किया जाता था?
(a
) अर्थशाध्Eा (b) दर्शनशाध्Eा
(c) समाजशाध्Eा (d) शिक्षाशाध्Eा
Ans: (b)


10. 1882 ई. में किस मनोवैज्ञानिक द्वारा लन्दन में मानवीय विशेषताओं का अध्ययन करने के लिए प्रयोगशाला का निर्माण किया गया?
(a
) कैटेल (b) गाल्टन
(c) अल्फ्रेड बिने (d) वुडवर्थ।
Ans: (c)


11. शिक्षा मनोविज्ञान का अध्ययन अध्यापक को इसलिए करना चाहिए क्योंकि
(a
) इससे शिक्षक को आत्म-सन्तुष्टि मिल सके
(b) इससे वह दूसरों को प्रभावित कर सके
(c) इससे वह अपनी परीक्षाओं में प्रथम आ सके
(d) इसकी सहायता से अपने शिक्षण को अधिक प्रभावशाली बना सके।
Ans: (d)


12. निम्न में से कौन-सी शिक्षा मनोविज्ञान की सर्वाधिक व्यक्तिनिष्ठ विधि है?
(a
) अन्तर्दर्शन (b) बहिर्दर्शन
(c) अवलोकन (d) प्रयोगीकरण
Ans : (a)


13. निम्नलिखित में से कौन-सा विकल्प शिक्षा मनोविज्ञान की एक सीमा है?
(a
) बाल विकास की विभिन्न अवस्थाओं का ज्ञान
(b) कक्षा की समस्याओं का समाधान
(c) बालक केंद्रित शिक्षा
(d) वैयक्तिक विभिन्नताओं की समस्या
Ans: (d)


14. प्रयोगात्मक विधि को सर्वप्रथम प्रस्तावित किया-
(a
) जुड ने (b) राइस एवं कार्नमैन ने
(c) विल्हेम वुन्ट ने (d) कोलिन्स व ड्रेवर ने
Ans: (c)


15. मनोविज्ञान का शिक्षा के क्षेत्र में सबसे बड़ा योगदान है :
(a
) विषय केन्द्रित शिक्षा
(b) शिक्षक केन्द्रित शिक्षा
(c) क्रिया केन्द्रित शिक्षा
(d) बाल केन्द्रित शिक्षा
Ans : (d)


16. मनोविज्ञान प्रारंभ में किस विषय का अंग था?
(a
) दर्शनशाध्Eा (b) नीतिशाध्Eा
(c) तर्कशाध्Eा (d) भौतिकी
Ans: (a)


17. पारिस्थितिक प्रणाली सिद्धांत‚ जो मूल रूप से उरी ब्रोफेरब्रेनर द्वारा तैयार किया गया है‚ चार प्रकार के नेस्टेड पर्यावरण प्रणालियों को निर्दिष्ट करता है जिन्हें …….. भी कहा जाता है।
(a
) प्रभावशाली अवधारणा (b) मानव विकास
(c) मानव पारिस्थितिकी (d) बौद्धिक विकास
Ans. (c)


18. औपचारिक वातावरण में होने वाले अधिगम का _______ द्वारा अध्ययन किया जाता है।
(a
) मानवविज्ञानी
(b) शिक्षा मनोविज्ञानी
(c) नैदानिक मनोविज्ञानी
(d) सामाजिक मनोविज्ञानी
Ans. (b)


17. ‘‘व्यक्ति बिना किसी अंतर्निहित मानसिक प्रकरण के पैदा होते हैं‚ और इसलिए सभी ज्ञान अनुभव या धारणा से आते हैं।’’ इस धारणा को …………. के रूप में संदर्भित किया जाता है।
(a) मासूम नोटा (तबुला नोटा)
(b) मासूम मन: स्थिति (तबुला रास)
(c) मासूम पहिला (तबुला प्राइमस)
(d) मासूम नोवस (तबुला नोवस)
Ans. (b)


<
–nextpage–>

02. विकास की अवधारणा और अधिगम के साथ उसका सम्बन्ध अभिवृद्धि एवं उसकी विशेषताएँ

1. बच्चे की वृद्धि मुख्यत: सम्बन्धित है−
(a
) शारीरिक विकास से (b) सामाजिक विकास से
(c) भावात्मक विकास से (d) नैतिक विकास से
Ans. (a)


2. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन वृद्धि की विशेषता का प्रतिनिधित्व नहीं करता है?
(a
) यह एक मात्रात्मक पहलू है
(b) यह मापने योग्य नहीं है
(c) यह जीवन पर्यंत नहीं है
(d) यह केवल शारीरिक विकास को दर्शाता है
Ans. (b)


3. वृद्धि के बारे में क्या सही नहीं है?
(a
) अभिवृद्धि शारीरिक होती है
(b) अभिवृद्धि मात्रात्मक होती है
(c) अभिवृद्धि मापनीय होती है
(d) अभिवृद्धि जीवनपर्यन्त चलने वाली प्रक्रिया है
Ans: (d)


4. निम्न में से कौन−सा कथन सत्य नहीं है?
(a
) सीखना व्यवहार परिवर्तन की एक प्रक्रिया है।
(b) वृद्धि एक जैविक प्रक्रिया है।
(c) विकास एक मात्रात्मक प्रक्रिया है।
(d) शिक्षा एक लक्ष्य उन्मुख प्रक्रिया है।
Ans. (c)


5. मानव विकास को क्षेत्रों में विभाजित किया जाता है जो है−
(a
) शारीरिक‚ संज्ञानात्मक‚ संवेगात्मक और सामाजिक
(b) संवेगात्मक‚ संज्ञानात्मक‚ आध्यात्मिक और सामाजिकमनौवैज्ञा निक
(c) मनोवैज्ञानिक‚ संज्ञानात्मक‚ संवेगात्मक और सामाजिक
(d) शारीरिक‚ आध्यात्मिक‚ संज्ञानात्मक और सामाजिक
Ans: (a)


6. मानव जाति में विकास होता है
(a
) किशोरावस्था के अन्त तक (b) बाल्यावस्था के अन्त तक
(c) प्रौढ़ावस्था के प्रारम्भ तक (d) जीवनपर्यन्त
Ans: (d)


7. निम्नलिखित में से कौन विकास के व्यापक आयामों की सही पहचान करता है?
(a
) संवेगात्मक‚ बौद्धिक‚ आध्यात्मिक एवं स्व
(b) शारीरिक‚ व्यक्तित्व‚ आध्यात्मिक एवं संवेगात्मक
(c) सामाजिक‚ शारीरिक‚ व्यक्तित्व‚ स्व
(d) शारीरिक‚ संज्ञानात्मक‚ सामाजिक और संवेगात्मक
Ans : (d)


8. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a
) विकास और वृद्धि एक-दूसरे के पर्यायवाची है।
(b) विकास एक सतत प्रक्रिया है।
(c) वृद्धि विकास का ही एक भाग है।
(d) विकास कार्यक्षमता‚ कार्यकुशलता और व्यवहार में आने वाले गुणात्मक परिवर्तनों को प्रकट करता है।
Ans: (a)


9. विकास का एक अधिनियम है कि विकास प्रतिमान के विभिन्न काल में खुशी भिन्न-भिन्न होती है। इस अधिनियम के अनुसार
(a
) जीवन का प्रथम वर्ष सबसे अधिक खुशी का काल होता है।
(b) वय:सन्धि काल एवं जीवन का प्रथम वर्ष भी जीवन का सबसे अधिक खुशी का काल होता है
(c) वय:सन्धि काल जीवन का सबसे अधिक दु:खी काल होता है।
(d) जीवन का प्रथम वर्ष सबसे अधिक खुशी का एवं वय: सन्धि काल सबसे अधिक दु:खी काल होता है।
Ans: (d)


10. निम्न में से कौन-सा कथन विकास के सम्बन्ध में सही नहीं है?
(a
) विकास प्रतिमानों की कुछ निश्चित विशेषताओं की भविष्यवाणी की जा सकती है
(b) विकास का उद्देश्य वंशानुगत सम्भाव्य क्षमता का विकास करना है
(c) विकास के विभिन्न क्षेत्रों में सम्भाव्य खतरे नहीं होते हैं
(d) प्रारम्भिक विकास बाद के विकास से अधिक महत्वपूर्ण है।
Ans: (c)


11. विकास का अर्थ है
(a
) परिवर्तनों की उत्तरोत्तर शृंखला
(b) अभिप्रेरणा के फलस्वरूप होने वाले परिवर्तनों की उत्तरोत्तर शृंखला
(c) अभिप्रेरणा एवं अनुभव के फलस्वरूप होने वाले परिवर्तनों की उत्तरोत्तर शृंखला
(d) परिपक्वता एवं अनुभव के फलस्वरूप होने वाले परिवर्तनों की शृंखला।
Ans: (d)


12. विकास के सन्दर्भ में निम्न में से कौन-सा कथन सत्य नहीं है?
(a
) विकास की प्रत्येक अवस्था के अपने खतरे हैं
(b) विकास उकसाने/बढ़ावा देने से होता है
(c) विकास सांस्कृतिक परिवर्तनों से प्रभावित होता है
(d) विकास की प्रत्येक अवस्था की अपनी विशेषताएँ होती हैं।
Ans: (b)


13. विकास में वृद्धि से तात्पर्य है−
(a
) ज्ञान में वृद्धि
(b) संवेग में वृद्धि
(c) वजन में वृद्धि
(d) आकार‚ सोच‚ समझ कौशलों में वृद्धि
Ans: (c)


14. मानव विकास ……………. है
(a
) मात्रात्मक (b) गुणात्मक
(c) कुछ सीमा तक अमापनीय
(d) (a) और (b)
Ans : (d)


15. निम्नलिखित सूची में से बाल विकास में गुणात्मक परिवर्तन की पहचान करें−
(a
) व़जन (b) दृष्टि
(c) बाल (d) दांत
Ans : (b)


16. निम्नलिखित में से अधिगम संबंधी कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a
) इसे उचित वातावरण चाहिए।
(b) परिपक्वता का इससे कोई संबंध नहीं है।
(c) सहायक सामग्री अधिगम में मदद करती है।
(d) अधिगम प्रक्रिया में अभिप्रेरणा महत्वपूर्ण
Ans: (b)


17. परिपक्वता का एक उदाहरण है कि जब बालक सीखता है
(a
) चित्रांकन करना (b) पढ़ना
(c) साइकिल चलाना (d) चलना
Ans: (d)


18. अधिगम एवं परिपक्वता के सम्बन्ध में निम्न में से कौनसा कथन सही है?
(a
) यदि मानव विकास केवल परिपक्वता से होता तो मनुष्य केवल निम्नतम स्तर तक ही सीमित रह जाते।
(b) वंशक्रम सम्भाव्य क्षमता की सीमा के कारण‚ बालक एक निश्चित सीमा से आगे तक विकसित हो सकते हैं।
(c) बालक विकास की दृष्टि से जब सीखने के लिये तैयार नहीं है तब भी वे अधिक प्रयास के द्वारा सीख सकते हैं।
(d) बालक की अन्तर्निहित शक्तियों को बिना समय विचारे विकसित करने के लिये प्रोत्साहित किया जाना चाहिए
Ans: (a)


19. निम्न में से कौन-सी विशेषता परिपक्वता को अधिगम से अलग करती है?
(a
) यह एक स्वाभाविक प्रक्रिया है
(b) यह अभ्यास पर निर्भर करती है
(c) यह प्रेरकों पर निर्भर करती है
(d) यह जीवन पर्यन्त चलने वाली प्रक्रिया है।
Ans: (a)


20. सामान्य परिपक्वन से पहले प्रशिक्षित करना प्राय:
(a
) सामान्य कौशलों के निष्पादन के संदर्भ में बहुत लाभकारी होता है।
(b) कुल मिला कर हानिकारक होता है।
(c) दीर्घकालिक दृष्टि से लाभकारी होता है।
(d) लाभकारी हो या हानिकारक‚ यह इस पर निर्भर करता है कि प्रशिक्षण में किस प्रकार की विधि का प्रयोग किया गया है।
Ans: (d)


21. परिपक्वता का सम्बन्ध है−
(a
) विकास (b) बुद्धि
(c) सृजनात्मकता (d) रुचि
Ans: (a)


22. विकास का वही सम्बन्ध परिपक्वता से है जो उद्दीपन का………से
(a
) परिवर्तन (b) प्रतिक्रिया
(c) प्रयास (d) परिणाम
Ans : (b)


23. परिपक्व विद्यार्थी
(a
) इस बात में विश्वास करते हैं कि उनके अध्ययन में भावनाओं का कोई स्थान नहीं है
(b) अपनी बौद्धिकता के साथ अपने सभी प्रकार के द्वन्द्वों का शीघ्र समाधान कर लेते हैं
(c) अपने अध्ययन में कभी-कभी भावनाओं की सहायता चाहते हैं
(d) कठिन परिस्थितियों में भी अध्ययन से विचलित नहीं होते
Ans : (b)


24. …………… को परिपक्वता कहा जाता है।
(a
) पारिवारिक हस्तक्षेप
(b) सांस्कृतिक प्रभावों के कारण एक परिवर्तन
(c) प्राकृतिक जैविक विकास
(d) पर्यावरणीय दबावों के कारण परिवर्तन
Ans. (c)


25. एक व्यक्ति‚ मांसपेशियों का उपयोग करना सीखता है और इसके कारण एक कौशल प्राप्त करता है :
(a
) परिपक्वता (b) अभ्यास
(c) अधिगम (d) अभिभावकों का जोर
Ans. (a)


26. निम्नलिखित में से क्या एक शिक्षार्थी की परिपक्वता का सबसे अच्छा वर्णन करता है?
(a
) यह व्यक्तिगत विकास की एक सतत् प्रक्रिया है
(b) यह संज्ञानात्मक क्षमताओं से संबंधित है
(c) विशिष्ट वातावरण की आवश्यकता होती है
(d) कुछ विशिष्ट आयु में होता है।
Ans. (a)


27. विकास के लिये निम्नलिखित में से कौन-सा एक उचित है?
(a
) विकास जन्म के साथ प्रारम्भ होता है और समाप्त होता है।
(b) ‘सामाजिक-सांस्कृतिक संदर्भ’ विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह करता है।
(c) विकास एकल आयामी है।
(d) विकास पृथक होता है।
Ans : (b)


28. ………… के अलावा‚ निम्नलिखित कारणों से खेल युवा बच्चों के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है :
(a
) वे अपने शरीर पर निपुणता प्राप्त करते हैं
(b) यह उनकी इंद्रियों को उत्तेजित करता है
(c) यह समय बिताने का एक सुखद तरीका है
(d) वे नए कौशल हासिल करते हैं और सीखते हैं कि उन्हें कब उपयोग किया जाए
Ans. (c)


29. निम्नलिखित में से कौन−सा कारक बालक के विकास को प्रभावित करता है?
(a
) अंत: दाावी ग्रंथियाँ (b) पौष्टिक भोजन
(c) रोग तथा चोट (d) उपर्युक्त सभी
Ans : (d)


30. आजकल अधिकतर विद्यालयों में सम्भागी समूह के लिए प्राथमिक ध्यान आधारित होता है
(a
) गे्रड स्तर पर (b) आयु स्तर पर
(c) योग्यता स्तर पर (d) छात्र अनुराग पर
Ans: (b)


31. निम्न में से कौन-सा बालकों के अधिगम एवं विकास में सबसे अधिक योगदान देता है?
(a
) परिवार‚ समवयस्क समूह और टेलीविजन
(b) परिवार‚ समवयस्क समूह और अध्यापक
(c) परिवार‚ खेल एवं कम्प्यूटर
(d) परिवार‚ खेल एवं पर्यटन।
Ans: (b)


32. निम्न में से कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a
) जो अध्यापक यह विश्वास करता है कि विकास प्रकृति की वजह से होता है‚ वह अनुभव प्रदान करने को महत्त्व नहीं देता
(b) प्रारम्भिक अनुभव महत्वपूर्ण होते हैं और अध्यापक का हस्तक्षेप भी महत्वपूर्ण होता है
(c) प्रारम्भिक जीवन की नकारात्मक घटनाओं के प्रभाव से कोई भी अध्यापक बचाव नहीं कर सकता
(d) व्यवहारात्मक परिवर्तन के सन्दर्भ में विकास वातावरणीय प्रभावों के फलस्वरूप होता है।
Ans: (c)


33. बालक की प्रथम पाठशाला है
(a
) परिवार (b) समाज
(c) गाँव (d) विद्यालय।
Ans: (a)


34. बालक का प्रारंभिक विकास मुख्यत: किस पर निर्भर है?
(a
) माता-पिता (b) वातावरण (परिवेश)
(c) विद्यालय का वातावरण (d) समाज
Ans: (a)


35. निर्धन परिवारों के बच्चे जो छोटे आकार के परिवार से संबद्ध हैं उनको विकास के बेहतर वातावरण पाने के मौके होते हैं क्योंकि उन्हें बड़े परिवारों के निर्धन बच्चों की अपेक्षा…….
(a
) साफ-सफाई से जुड़ी कम समस्याओं का सामना करना पड़ता है
(b) उनके अभिभावक ज्यादा प्रसन्नचित रहते हैं
(c) उन्हें शांतिमय परिस्थिति मिलती है
(d) उन्हें बेहतर परिस्थितियां प्राप्त होती हैं।
Ans:(d)


36. वृद्धि को प्रभावित करने वाले कारक हैं−
(a
) पर्यावरण (b) स्वास्थ्य
(c) आहार (d) ये सभी
Ans : (d)


37. निम्नलिखित में से ………………… के अतिरिक्त सभी वातावरणीय कारक विकास को आकर देते हैं।
(a
) पौष्टिकता की गुणवत्ता (b) संस्कृति
(c) शिक्षा की गुणवत्ता (d) शारीरिक गठन
Ans : (d)


38. निम्न में से कौन सा कथन बच्चे के विकास में परिवेश की भूमिका का समर्थन करता है?
(a
) पिछली कुछ दशाब्दियों में बुद्धि लब्धांक परीक्षा में शिक्षार्थियों के औसत प्रदर्शन में लगातार वृद्धि हुई है।
(b) एक समान जुड़वां बच्चे जिनका लालन-पालन भिन्न घरों में हुआ है‚ उनकी बुद्धिलब्धि 0.75 के समान उच्च है।
(c) शारीरिक रूप से स्वस्थ बच्चे अक्सर नैतिक रूप से अच्छे पाए जाते हैं।
(d) कुछ शिक्षार्थी सूचनाओं का जल्दी प्रक्रमण करते हैं जबकि उसी कक्षा के अन्य विद्यार्थी ऐसा नहीं कर पाते।
Ans: (a)


39. निम्नलिखित में से कौन मानव विकास का सही क्रम है?
(a
) शैशवावस्था‚ किशोरावस्था‚ बाल्यावस्था‚ प्रौढ़ावस्था
(b) शैशवावस्था‚ बाल्यावस्था‚ किशोरावस्था‚ प्रौढ़ावस्था
(c) बाल्यावस्था‚ किशोरावस्था‚ प्रौढ़ावस्था‚ शैशवावस्था
(d) बाल्यावस्था‚ शैशवावस्था‚ किशोरावस्था‚ प्रौढ़ावस्था
Ans: (b)


40. जन्मोत्तर (जन्म के बाद की) विकास की दूसरी प्रमुख अवस्था है
(a
) गर्भावस्था (b) शैशवावस्था
(c) किशोरावस्था (d) बाल्यावस्था।
Ans: (d)


41. शैशवावस्था मानव विकास की प्रमुख अवस्था है
(a
) प्रथम (b) द्वितीय
(c) तृतीय (d) चतुर्थ।
Ans: (a)


42. शैशवावस्था होती है-
(a
) पाँच वर्ष तक (b) बारह वर्ष तक
(c) 21 वर्ष तक (d) इनमें से कोई भी नहीं
Ans: (a)


43. बाल्यावस्था अवस्था होती है−
(a
) पाँच वर्ष तक (b) बारह वर्ष तक
(c) इक्कीस वर्ष तक (d) कोई भी नहीं
Ans: (b)


44. शैशवकाल की अवधि है
(a
) जन्म से 2 वर्ष तक (b) जन्म से 3 वर्ष तक
(c) 2 से 3 वर्ष तक (d) जन्म से 1 वर्ष तक
Ans : (a)


45. मध्य−बचपन अवधि है
(a
) 2 वर्ष से 6 वर्ष (b) 6 वर्ष से 11 वर्ष
(c) 10 वर्ष के बाद (d) जन्म से 2 वर्ष
Ans : (b)


46. निम्नलिखित में से कौन−सा आयु समूह परवर्ती बाल्यावस्था श्रेणी के अन्तर्गत आता है?
(a
) 11 से 18 वर्ष
(b) 18 से 24 वर्ष
(c) जन्म से 6 वर्ष
(d) 6 से 11 वर्ष
Ans : (d)


10. वृद्धावस्था − 60 वर्ष से जीवन के अंत तक


47. निम्नलिखित में से कौन-सा आयु समूह परवर्ती बाल्यावस्था श्रेणी के अन्तर्गत आता है?
(a
) 11 से 18 वर्ष (b) 18 से 24 वर्ष
(c) जन्म से 6 वर्ष (d) 9 से 12 वर्ष
Ans: (d)


48. बाल्यकाल होता है−
(a
) जन्म से लेकर 3 वर्ष की आयु तक
(b) तीसरे वर्ष से लेकर 6 वर्ष की आयु तक
(c) छठे वर्ष से लेकर 12 वर्ष की आयु तक
(d) दूसरे वर्ष से लेकर 10 या 12 वर्ष की आयु तक
Ans: (c)


49. निम्नलिखित में से किस आयु सीमा को प्रारंभिक बचपन माना जाता है?
(a
) ७ से ११ (b) जन्म से २
(c) ३ से १२ (d) २ से ६
Ans. (d)


50. गर्भाधान से बालक के जन्म तक की अवधि को क्या कहा जाता है?
(a
) किशोरावस्था (b) बचपन
(c) प्रसव-पूर्व काल (d) वयस्कता
Ans : (c)


51. मानव−विकास का प्रारम्भ होता है−
(a
) गर्भावस्था से (b) पूर्व−बाल्यावस्था से
(c) उत्तर−बाल्यावस्था से (d) शैशवावस्था से
Ans. (a)


52. विकास शुरू होता है
(a
) पूर्व प्रसव अवस्था (b) शैशवावस्था
(c) पूर्व बाल्यावस्था (d) उत्तर बाल्यावस्था
Ans. (a)


53. गर्भस्थ शिशु में संवेदनशीलता का विकास प्रारंभ होता है
(a
) सिर से (b) पैर से
(c) हाथ से (d) सम्पूर्ण शरीर से।
Ans: (a)


54. गर्भ में बालक को विकसित होने में कितने दिन लगते हैं?
(a
) 150 (b) 280
(c) 390 (d) 640
Ans : (b)


55. निम्नलिखित में से क्या जन्म से पूर्व होने वाले विकास को नकारात्मक रूप से प्रभावित नहीं करता है?
(a
) कैफीन (b) व्यायाम
(c) शराब (d) विकिरण
Ans. (b)


56. किस अवस्था में शारीरिक वृद्धि तीव्र होती है
(a
) आरम्भिक बाल्यावस्था (b) शैशव अवस्था
(c) किशोरावस्था (d) शिक्षा काल
Ans. (b)


57. शैशवावस्था की मुख्य विशेषता क्या नहीं है?
(a
) सीखने की प्रक्रिया में तीव्रता
(b) जिज्ञासा की प्रवृत्ति
(c) अनुकरण द्वारा सीखने की प्रवृत्ति
(d) चिन्तन प्रक्रिया
Ans : (d)


58. शैशवावस्था में बच्चों के क्रिया-कलाप………होते हैं।
(a
) मूलप्रवृत्यात्मक (b) संरक्षित
(c) संज्ञानात्मक (d) संवेगात्मक
Ans : (a)


59. स्व-केन्द्रित अवस्था होती है बालक के
(a
) जन्म से 2 वर्ष तक
(b) 3 से 6 वर्ष तक
(c) 7 वर्ष से किशोरावस्था तक
(d) किशोरावस्था में
Ans : (b)


60. शिशु……….. की उम्र तक अजनबियों से झिझकना या शर्माना विकसित करते हैं।
(a
) तीन महीने (b) एक वर्ष
(c) नौ महीने (d) छह महीने
Ans. (d)


61. प्रारंभिक अवस्था में शिशु अत्याधिक______ होते हैं।
(a
) बहिर्मुखी (b) निस्वार्थ
(c) स्वकेन्द्रित (d) परोपकारी
Ans. (c)


62. निम्नलिखित में से कौन सी ‘मध्य बाल्यावस्था’ की विशेषता है ?
(a
) अमूर्त रूप से सोचने तथा वैज्ञानिक तर्क का प्रयोग करने की योग्यता विकसित होती है।
(b) बच्चे तार्किक एवं मूर्त रूप से सोचना प्रारंभ कर देते हैं।
(c) अधिगम मुख्य रूप से संवेदी एवं चालक गतिविधियों द्वारा घटित होता है।
(d) शारीरिक वृद्धि एवं विकास बहुत तेज गति से होता है।
Ans. (b)


63. बाल्यावस्था की अवधारणा से क्या अभिप्राय है ?
(a
) समकालीन सामाजिक-संरचनावादी मनोवैज्ञानिकों के अनुसार यह एक सामाजिक संरचना है।
(b) यह है कि बच्चे दुष्ट रूप में पैदा होते हैं और उन्हें सभ्य बनाना होता है।
(c) यह कि बच्चे शून्य से शुरुआत करते हैं और उनके गुण पूरी तरह से परिवेश के द्वारा निर्धारित किए जाते हैं।
(d) यह विभिन्न सांस्कृतिक संदर्भो में सार्वभौम रूप से समान है।
Ans. (a)


64. मानव विकास की वह अवस्था जिसे ‘सुनहरी अवस्था’ कहा जाता है‚ वह है-
(a
) शैशवावस्था (b) बाल्यावस्था
(c) किशोरावस्था (d) प्रौढ़ावस्था
Ans: (b)


65. निम्नलिखित में से कौन-सा विकास उत्तर बाल्यावस्था के लिए उपयुक्त नहीं है?
(a
) साधारण खेलों के लिए शारीरिक दक्षता अधिगम आवश्यकता है
(b) एक पुरुष या स्त्री की सामाजिक भूमिका प्राप्त करना
(c) व्यक्तिगत स्वतंत्रता प्राप्त करना
(d) हम उम्रों के साथ रहने के लिए सीखना
Ans. (b)


66. 6-11 वर्ष आयु वर्ग के बालकों की विशिष्टताएँ निम्नलिखित है
(a
) बालक स्वाभाविक एवं सक्रिय अधिगमकर्ता होते हैं
(b) सीखने के लिए शिक्षकों पर निर्भर होते है
(c) बालक‚ शिक्षकों से ज्ञान प्राप्त करते हैं
(d) बालक सीखने में रुचि नहीं रखते हैं
Ans: (d)


67. 6 या 7 वर्ष का बालक दूसरों के विचारों को स्वीकार करने के योग्य नहीं होता
(a
) क्योंकि वह बहुत छोटा होता है
(b) क्योंकि वह अहम् केन्द्रित होता है
(c) क्योंकि वह बुद्धिमान नहीं होता है
(d) क्योंकि वह कल्पनाशील होता है
Ans: (b)


68. दल या गैंग का सदस्य होने से समाजीकरण उत्तर बाल्यावस्था में बेहतर होता है। निम्न में से कौन-सा कथन इस विचार के विपरीत हैं?
(a
) वयस्कों पर निर्भर न होकर सीखता है
(b) जिम्मेदारियों को निभाना सीखता है
(c) अपने समूह के प्रति वफादार होना सीखता है
(d) छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा करते हुये‚ अपने गैंग के सदस्यों से लड़ाई मोल लेता है।
Ans: (d)


69. वय: सन्धि काल में निम्न में से कौन बाह्य अभिव्यक्ति नहीं है?
(a
) प्रभुता/सत्ता के विपरीत विरोध
(b) अशान्ति
(c) आत्मनिर्भरता के प्रति आग्रही
(d) सक्रिय खेलों के स्थान पर बैठे रह कर खेलना अधिक पसंद।
Ans: (d)


70. निम्न में से कौन-सा कथन मिडिल स्कूल स्तर के विद्यार्थियों के विकास से सहमति नहीं रखता?
(a
) सामाजिक व्यवहार उत्तरोत्तर समवयस्क समूह के आदर्शों से प्रभावित होता है
(b) इस अवस्था में अधिकांश बालक तीव्र गति से वृद्धि प्राप्त नहीं करते हैं
(c) बौद्धिक एवं सामाजिक व्यवहार पर स्व-प्रभाविता का महत्वपूर्ण प्रभाव होता है
(d) अधिकांश विद्यार्थी विशेष रूप से स्वकेन्द्रित हो जाते हैं।
Ans: (d)


71. ‘खिलौनों की आयु’ कहा जाता है
(a
) पूर्व बाल्यावस्था को (b) उत्तर बाल्यावस्था को
(c) शैशवावस्था को (d) इनमें से सभी।
Ans: (a)


72. निम्न में से कौन-सी पूर्व बाल्यावस्था की विशेषता नहीं है?
(a
) दल/समूह में रहने की अवस्था
(b) अनुकरण करने की अवस्था
(c) प्रश्न करने की अवस्था
(d) खेलने की अवस्था।
Ans: (a)


73. शर्म तथा गर्व जैसी भावना का विकास किस अवस्था में होता है?
(a
) शैशवावस्था (b) बाल्यावस्था
(c) किशोरावस्था (d) वृद्धावस्था
Ans: (b)


74. बाल्यावस्था की प्रमुख मनोवैज्ञानिक विशेषता क्या है?
(a
) पर निर्भरता
(b) सामूहिकता की भावना
(c) धार्मिकता
(d) अनुकरणात्मक प्रवृत्ति का अभाव
Ans : (b)


75. एक प्रसामान्य 12 वर्ष की आयु के बच्चे में सबसे अधिक होना सम्भव है
(a
) कुल प्ररेक समन्वय में कठिनाई
(b) वयस्कों को खुश करने के बारे में दुश्चिन्ता की अनुभूति
(c) अब और यहाँ में उसकी रुचियों को सीमित करना
(d) समकक्षी के अनुमोदन के लिए बेचैनी
Ans : (d)


76. पद ‘संवेगात्मक क्रान्ति’ किस अवस्था से अधिक जुड़ा हुआ है?
(a
) शैशवावस्था से (b) बाल्यावस्था से
(c) किशोरावस्था से (d) प्रौढ़ावस्था से
Ans: (c)


77. वह अवधि जो वयस्कता के संक्रमण की पहल करती है‚ उसे क्या कहते हैं−
(a
) मध्य बाल्यावस्था (b) पूर्व-क्रियात्मक अवधि
(c) बाल्यावस्था की समाप्ति (d) किशोरावस्था
Ans : (d)


78. सहपाठियों का दबाव जब सबसे अधिक प्रभाव डालता है‚ वह है−
(a
) प्रारंभिक बाल्यावस्था (b) मघ्य बाल्यावस्था
(c) प्रारंभिक किशोरावस्था (d) उत्तर किशोरावस्था
Ans: (d)


79. निम्नलिखित में से किशोरावस्था के संदर्भ में कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a
) कई नवीन आंतरिक तथा बाह्य परिवर्तन दिखाई देते हैं।
(b) यह आयु अत्यधिक संवेगात्मक होती है।
(c) बुद्धि अपनी चरम सीमा तक पहुँचने का प्रयास करती है।
(d) आत्म-चेतना कम हो जाती है।
Ans: (d)


80. सोलह वर्षीय नीरज अपने-आप में पृथक स्वनियंत्रित व्यक्ति की भावना को विकसित करने का प्रयास कर रहा है। वह विकसित कर रहा है−
(a
) नियमों के प्रति घृणा (b) स्वायत्तता
(c) किशोरावस्थत्मक अक्खड़पन (d) परिपक्वता
Ans: (b)


81. स्टेनले हाल के अनुसार अधिक तनाव और तूफान की अवस्था है−
(a
) प्रौढ़ावस्था (b) बाल्यावस्था
(c) किशोरावस्था (d) शैशवकाल
Ans: (c)


82. निम्नलिखित में से किसका विकास किशोरावस्था में नहीं होता?
(a
) अहम् केन्द्रिकता (b) अभिरुचियाँ
(c) तर्क शक्ति (d) प्रेक्षण की योग्यता
Ans: (a)


83. बाल विकास के किस चरण में विपरीत लिंग की ओर अधिकतम आकर्षण दिखता है?
(a
) शैशवावस्था (b) बाल्यावस्था
(c) किशोरावस्था (d) वयस्क अवस्था
Ans. (c)


84. निम्नलिखित में से कौन-सी अवधि किसी की विकासशील अवस्था में सामान्यत: संघर्ष की अवधि कहलाती है?
(a
) शैशव अवस्था (b) बाल्यावस्था
(c) किशोर अवस्था (d) व्यस्क अवस्था
Ans. (c)


85. विकास की कौन-सी अवस्था ‘तनाव एवं तूफान की अवस्था’ कही जाती है?
(a
) शैशवावस्था (b) बाल्यावस्था
(c) किशोरावस्था (d) प्रौढ़ावस्था
Ans: (c)


86. वीर पूजा की भावना जाग्रत होती है-
(a
) किशोरावस्था में (b) बाल्यावस्था में
(c) प्रौढ़ावस्था में (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


87. शारीरिक एवं मानसिक परिपक्वता प्राप्त व्यक्तियों को कहा जाता है
(a
) किशोर (b) प्रौढ़
(c) वृद्ध (d) बालक।
Ans: (a)


88. एक 13 वर्षीय बालक बात-बात में अपने बड़ों से झगड़ा करने लगता है और हमेशा स्वयं को सही साबित करने की कोशिश करता है। वह विकास की किस अवस्था में है?
(a
) प्रारम्भिक बाल्यावस्था (b) किशोरावस्था
(c) युवावस्था (d) बाल्यावस्था
Ans: (b)


89. तनाव और क्रोध की अवस्था है−
(a
) शैशवावस्था (b) किशोरावस्था
(c) बाल्यावस्था (d) वृद्धावस्था
Ans: (b)


90. मानवों/मनुष्यों में विकास की सबसे तीव्र गति होती है?
(a
) बाल अवस्था में (b) किशोरावस्था में
(c) शैशव काल मे (d) यौवन अवस्था में
Ans: (b)


91. निम्नलिखित में से किस अवस्था में बच्चे अपने समवयस्क समूह के सक्रिय सदस्य हो जाते हैं?
(a
) किशोरावस्था (b) प्रौढ़ावस्था
(c) पूर्व बाल्यावस्था (d) बाल्यावस्था
Ans : (d)


92. मनोविज्ञान के अनुसार बाल-विकास की कौन−सी अवस्था सबसे जटिल व कठिन है?
(a
) शैशवास्था (b) किशोरावस्था
(c) बाल्यावस्था (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans : (b)


93. किशोर ……………… का अनुभव कर सकते हैं
(a
) बचपन में किए गए अपराधों के प्रति डर के भाव
(b) आत्मसिद्धि के भाव
(c) जीवन के बारे में परितृप्ति
(d) दुश्चिंता और स्वयं से सरोकार
Ans : (d)


94. 14 वर्षीय देविका अपने−आप से पृथक् स्वनियंत्रित व्यक्ति की भावना को विकसित करने का प्रयास कर रही है। वह विकसित कर रही है
(a
) नियमों के प्रति घृणा
(b) स्वायत्तता
(c) किशोरावस्थात्मक अक्खड़पन
(d) परिपक्वता
Ans : (b)


95. किशोरावस्था में बच्चे किस प्रकार की समस्या का सामना करते हैं?
(a
) शारीरिक एवं मानसिक परिवर्तन से समायोजन करना
(b) अपने साथियों से समायोजन करना
(c) अपने माता−पिता से समायोजन करना
(d) पढ़ाई संबंधी समायोजन करना
Ans : (a)


96. ‘विद्रोह की भावना’ की प्रवृत्ति निम्न में से किस अवस्था से सम्बन्धित है?
(a
) बाल्यावस्था (b) शैशवावस्था
(c) पूर्व किशोरावस्था (d) मध्य किशोरावस्था
Ans : (c)


97. हॉल का सिद्धांत निम्न में किसकी व्याख्या करता है−
(a
) बुद्धि की प्रकृति
(b) अधिगम में अभिप्रेरण की भूमिका
(c) मूल्यों का विकास
(d) किशोरावस्था का विकास
Ans : (d)


98. विकास की किस अवस्था में बुद्धि का अधिकतम विकास होता है?
(a
) बाल्यावस्था (b) शैशवावस्था
(c) किशोरावस्था (d) प्रौढ़ावस्था
Ans : (c)


99. किशोरावस्था में संवेगों की तीव्रता किस प्रकार प्रकट होती है?
(a
) प्रतिकूल पारिवारिक सम्बन्ध
(b) व्यवसाय की समस्या
(c) नई परिस्थिति के साथ समायोजन
(d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


100. माँ-बाप के साये से बाहर निकल अपने साथी बालकों की संगत को पसन्द करना सम्बन्धित है
(a
) किशोरावस्था से (b) पूर्व किशोरावस्था से
(c) उत्तर बाल्यावस्था से (d) शैशवावस्था से
Ans : (b)


101. मानसिक परिपक्वता की ऊँचाइयों को छूने के लिए प्रयत्नरत रहना सम्बन्धित है
(a
) किशोरावस्था से (b) प्रौढ़ावस्था से
(c) पूर्व बाल्यावस्था से (d) उत्तर बाल्यावस्था से
Ans : (a)


102. पूर्वाग्रही किशोर/किशोरी अपनी………के प्रति कठोर होंगे।
(a
) समस्या (b) जीवनशैली
(c) सम्प्रत्यय (d) वास्तविकता
Ans : (a)


103. विकास के किस काल को ‘अत्यधिक दबाव और तनाव का काल’ कहा गया है?
(a
) किशोरावस्था (b) प्रौढ़ावस्था
(c) मध्यावस्था (d) वृद्धावस्था
Ans : (a)


104. समान-लिंग मित्रता____ के दौरान प्रबलित होती है।
(a
) प्रारंभिक किशोरावस्था (b) प्रारंभिक बचपन
(c) मध्य किशोरावस्था (d) मध्य बचपन
Ans. (a)


105. एक व्यक्ति ………… के दौरान पौरूष या ध्Eौण सामाजिक भूमिका प्राप्त करता है।
(a
) बचपन (चाइल्डहुड)
(b) किशोरावस्था
(c) पश्च बचपन (लेट चाइल्डहुड)
(d) शैशव
Ans. (b)


106. उचित यौन शिक्षा. ………….. अवस्था पर प्रदान की जानी चाहिए।
(a
) बाल्यकाल (b) किशोरावस्था
(c) वयस्क (d) प्रारंभिक बाल्यकाल
Ans. (b)


107. केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र में होते हैं
(a
) सभी अंग (b) मस्तिष्क
(c) मेरुदण्ड (d) मस्तिष्क तथा मेरुदण्ड
Ans : (d)


108. मनुष्य की वह ग्रन्थि जो पिट्युटरी ग्रन्थि को नियन्त्रित करती है तथा शरीर के सामान्य व सादृश वृद्धि को भी नियन्त्रित करती है :
(a
) यौन ग्रन्थि (b) थायरॉइड ग्रन्थि
(c) मूत्र ग्रन्थि (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (d)


109. निम्नलिखित अवधि में से किसमें शारीरिक वृद्धि एवं विकास तीव्र गति से घटित होता है?
(a
) मध्य बाल्यावस्था एवं किशोरावस्था
(b) किशोरावस्था एवं वयस्कता
(c) शैशवावस्था एवं प्रारंभिक बाल्यावस्था
(d) प्रारंभिक बाल्यावस्था एवं मध्य बाल्यावस्था
Ans. (c)


110. सामान्यतया लड़के और लड़कियों में शारीरिक विकास की निम्नलिखित विशेषता प्रेक्षित की जाती है−
(a
) समान आयु में दोनों में समान विकास होता है।
(b) लड़के शारीरिक विकास में दो वर्ष आगे होते है।
(c) लड़कियाँ शारीरिक विकास में दो-तीन वर्ष आगे होती है।
(d) लड़कियाँ लड़कों से पाँच वर्ष पीछे होती हैं।
Ans: (c)


111. वेटलिफ्टर (पहलवानों) को आमतौर पर मांसपेशियों और शरीर को पुष्ट बनाना होता है उन्हें किस प्रकार का आहार लेना चाहिए
(a
) प्रोटीन (b) कार्बोहाइड्रेट्स
(c) वसा (d) विटामिन
Ans. (a)


112. यौन परिपक्वता में महत्वपूर्ण हाथ है
(a
) पीयूष ग्रंथि का (b) उप-वृक्क ग्रंथि का
(c) गल ग्रंथि का (d) उप-गल गं्रथि का।
Ans: (a)


113. मास्टर ग्रंथि के नाम से जाना जाता है
(a
) गल ग्रंथि को (b) उपगल ग्रंथि को
(c) उपवृक्क ग्रंथि को (d) पीयूष ग्रंथि को।
Ans: (d)


114. नवजात शिशु का भार होता है
(a
) 6 पाउण्ड (b) 7 पाउण्ड
(c) 8 पाउण्ड (d) 9 पाउण्ड
Ans: (b)


115. शारीरिक विकास का क्षेत्र है−
(a
) स्नायुमण्डल (b) स्मृति
(c) अभिप्रेरणा (d) समायोजन
Ans: (a)


116. शरीर के आकार में वृद्धि होती है क्योंकि−
(a
) शारीरिक और गत्यात्मक विकास
(b) संवेगात्मक विकास
(c) संज्ञानात्मक विकास
(d) नैतिक विकास
Ans: (a)


117. निम्न में कौन-सा शारीरिक विकास का एक प्रमुख नियम है?
(a
) मानसिक विकास से भिन्नता का नियम
(b) अनियमित विकास का नियम
(c) दु्रतगामी विकास का नियम
(d) कल्पना और संवेगात्मक विकास से सम्बन्ध का नियम
Ans : (b)


118. शारीरिक विकास को प्रभावित करने वाला कारक कौन-सा है?
(a
) वंशानुक्रम (b) वातावरण
(c) खेल तथा व्यायाम (d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


119. निम्न में से कौन-सी एक अन्त:दाावी ग्रन्थि नहीं है?
(a
) एड्रिनल ग्रन्थि (b) पीयूष ग्रन्थि
(c) लार ग्रन्थि (d) थायरॉइड ग्रन्थि
Ans : (c)


120. शारीरिक वृद्धि और विकास को कहते हैं
(a
) तत्परता (b) अभिवृद्धि
(c) गतिशीलत (d) आनुवंशिकता
Ans : (b)


121. ‘बच्चे के उचित विकास को सुनिश्चित करने के लिए उसका स्वस्थ शारीरिक विकास एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है।’ यह कथन –
(a
) सही है‚ क्योंकि विकास-क्रम में शारीरिक विकास सबसे पहले स्थान पर आता है
(b) सही है‚ क्योंकि शारीरिक विकास‚ विकास के अन्य पक्षों के साथ अंत:सम्बन्धित है
(c) गलत है‚ क्योंकि शारीरिक विकास‚ विकास के अन्य पक्षों को किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं करता
(d) गलत हो सकता है‚ क्योंकि विकास नितांत व्यक्तिगत मामला है
Ans: (b)


122. निम्नलिखित में से किसको मुख्य (अधिकारी) ग्रन्थि कहते हैं?
(a
) थाइरॉयड ग्रन्थि (b) एड्रीनल ग्रन्थि
(c) अन्त:दाावी ग्रन्थि (d) पीयूष ग्रन्थि
Ans : (d)


123. बच्चें में शारीरिक विकास निम्न आयु सीमा में धीमा हो जाता है:
(a
) ६−९ वर्ष (b) ३−४ वर्ष
(c) ५−६ वर्ष (d) ४−५ वर्ष
Ans. (c)


124. मानव शरीर में सबसे छोटी हड्डी यानि स्टैप्स कान के _____होती है।
(a
) अंदर (b) बीच में
(c) इनमें से कोई नहीं (d) बाहर
Ans. (b)


125. चालक विकास की दर में व्यक्तिगत विविधताएँ होती हैं‚ फिर भी चालक विकास का क्रम ……… से ……… तक है−
(a
) अधोगामी‚ शीर्षगामी
(b) अपरिष्कृत (स्थूल) चालक विकास; परिष्कृत (सूक्ष्म) चालक विकास
(c) परिष्कृत (सूक्ष्म) चालक विकास; अपरिष्कृत (स्थूल) चालक विकास
(d) शीर्षगामी; अधोगामी
Ans : (b)


126. निम्नलिखित में से कौन-सी एक बालक की मनोगत्यात्मक गतिविधि नहीें होती?
(a
) खेलना (b) गेंद फेंकना
(c) लिखना (d) सोचना
Ans: (d)


127. निम्नलिखित में से कौन−सा सूक्ष्म गतिक कौशल का उदाहरण है?
(a
) चढ़ना (b) फुदकना
(c) दौड़ना (d) लिखना
Ans : (d)


128. श्रीमती कुमार का पहला बच्चा 10 महीने में चलने लगा। उनका दूसरा बच्चा अब 12 महीने का है और अभी भी नहीं चल रहा है। वह दु:खी या चिन्तित नहीं है‚ क्योंकि
(a
) उनके पति ने कहा है कि जब तक वे 14 महीने के नहीं हुए थे‚ उन्होंने चलना शुरू नहीं किया था
(b) वह जानती है कि वह जितना अधिक इंतजार करेंगी उतना ही अधिक उसके पैर चलने के लिये मजबूत होंगे
(c) एक पड़ोसी का लड़का भी 18 महीने का है और वह भी नहीं चल रहा है
(d) वह जानती है कि चलने के विकास के लिये वह अभी सामान्य समयबद्ध के अन्दर है
Ans: (d)


129. निम्नलिखित में से कौन उत्कृष्ट मोटर कौशल का एक उदाहरण है?
(a
) चढ़ना (b) कुलांचें मारना
(c) दौड़ना (d) लिखना
Ans. (d)


130. निम्नलिखित में से कौन-सा किसी बच्चे के सामाजिक विकास को प्रभावित करने वाला व्यक्तिगत कारक नहीं है?
(a
) मित्र मंडली (b) स्वास्थ्य
(c) संवेग (d) बुद्धि
Ans: (a)


131. बच्चों के सामाजिक विकास को प्रभावित करने वाले कारक हैं
(a
) आर्थिक तत्व (b) सामाजिक परिवेशजन्य तत्व
(c) शारीरिक तत्व (d) वंशानुगत तत्व
Ans : (b)


132. निम्न में से किसका मिलान सही है?
(a
) शारीरिक विकास−वातावरण
(b) संज्ञानात्मक विकास−परिपक्वता
(c) सामाजिक विकास−वातावरण
(d) संवेगात्मक विकास−परिपक्वता
Ans : (c)


133. निम्नलिखित में से कौन प्रारम्भिक बाल्यावस्था अवधि के दौरान उन भूमिकाओं एवं व्यवहारों के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं जो एक समूह में स्वीकार्य हैं?
(a
) भाई-बहन एवं अध्यापक (b) अध्यापक एवं साथी
(c) साथी एवं माता-पिता (d) माता-पिता एवं भाई-बहन
Ans : (d)


134. बच्चे का सामाजिक विकास वास्तव में प्रारम्भ होता है
(a
) विद्यालय पूर्व अवस्था में (b) शैशवावस्था में
(c) पूर्व बाल्यावस्था में (d) उत्तर बाल्यावस्था में
Ans: (d)


135. शिशु का सामाजिक विकास किसके ऊपर निर्भर करता है?
(a
) दूसरों से बातचीत करने के अवसर पर
(b) बच्चे को दिखाया गया प्यार व स्नेह पर
(c) वह सीमा जहाँ तक बालक दूसरों का ध्यान आकर्षित करने में सक्षम हो
(d) ये सभी
Ans : (a)


136. बालक का सामाजिक विकास प्रभावित होता है
(a
) सामाजिक-आर्थिक स्तर से (b) विद्यालय से
(c) परिवार से (d) इनमें से सभी से।
Ans: (d)


137. बच्चे तकरीबन इस आयु से सहकर्मी समूह प्रभाव का अनुभव करना शुरू कर देते हैं :
(a
) पांच वर्ष (b) चार वर्ष
(c) तीन वर्ष (d) छ: वर्ष
Ans. (c)


138. बच्चे के सामाजिक विकास का प्रभावित कर सकता है।
(a
) अस्थमा (b) पुरानी बीमारी
(c) एलर्जी (d) खाने की आदत
Ans. (b)


139. सामाजिक रूप से अपरिपक्व छात्रों को ______ छात्रों के रूप में जाना जाता है।
(a
) निर्भर (b) अलग−थलग
(c) आभासी (d) सामाजिक
Ans. (a)


140. निम्नलिखित में से कौन-सा मानसिक वृद्धि और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है?
(a
) सीखना
(b) परिपक्वन
(c) सीखना तथा परिपक्वन दोनों
(d) सामाजिक मानदण्ड
Ans: (c)


141. निम्नलिखित में से कौन-सा मानसिक विकास संबंधी विशेषता नहीं है?
(a
) जिज्ञासा की प्रवृत्ति प्रचुर मात्रा में
(b) रट कर याद करने की प्रवृत्ति
(c) रचनात्मक प्रवृत्ति की प्रचुर मात्रा
(d) सहयोगात्मक अभिवृत्ति
Ans: (d)


142. निम्नलिखित में से कौन-सा मानसिकता के सिद्धांत का सबसे अच्छा वर्णन करता है?
(a
) स्थिर मानसिकता विराम (फिक्सड माइन्डसेट स्टॉप) को बदला नहीं जा सकता है।
(b) स्थिर मानसिकता (फिक्सड माइन्डसेट) केवल असफलता देती है।
(c) प्रौढ़ मानसिकता‚ बुद्धि को परिभाषित करता है।
(d) प्रौढ़ मानसिकता‚ असफलता को एक मामूली रुकावट के रूप में देखती है‚ सुधारने और विकसित होने का अवसर देती है।
Ans. (d)


143. एक बालक की संज्ञानात्मक शक्तियाँ जैसे कल्पना-शक्ति‚ बुद्धि‚ निर्णय लेने की क्षमता‚ आदि का संबंध है बालक के−
(a
) शारीरिक विकास से (b) सामाजिक विकास से
(c) सर्वांगीण विकास से (d) मानसिक विकास से
Ans: (d)


144. मानसिक विकास को प्रभावित करने वाले कारक हैं−
(a
) वंशानुक्रम
(b) परिवार का वातावरण
(c) परिवार की सामाजिक स्थिति
(d) उपरोक्त समस्त
Ans: (d)


145. निम्नलिखित में से कौन-सा कारक बच्चे के संवेगात्मक विकास को सबसे कम प्रभावित करने वाला है?
(a
) परिवार (b) आर्थिक स्थिति
(c) स्वास्थ्य (d) खेलकूद
Ans: (d)


146. निम्न में से किसकी भूमिका पूर्व बाल्यावस्था में बालक के संवेगात्मक विकास हेतु सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है?
(a
) अध्यापकों की (b) संगी-साथियों की
(c) पड़ोसियों की (d) माता-पिता की
Ans: (d)


147. इनमें से कौन सी प्रकृति भावनात्मक विकास से संबद्ध नहीं है?
(a
) भावनाओं की उत्पत्ति शारीरिक परिवर्तन के साथ शुरू होती है
(b) भावनाओं का प्रस्फूटन जन्म के साथ होने लगता है
(c) शुरुआत वाह्यकाल के दौरान भावनाओं का प्रचण्ड रूप नजर आता है
(d) भावनाएं शारीरिक विकास से असम्बद्ध होती है
Ans: (b)


148. ‘‘कोई भी नाराज हो सकता है− यह आसान है‚ परन्तु एक सही व्यक्ति के ऊपर‚ सही मात्रा में‚ सही समय पर सही उद्देश्य के लिए तथा सही तरीके से नाराज होना आसान नहीं है।’’ यह सम्बन्धित है
(a
) संवेगात्मक विकास से (b) सामाजिक विकास से
(c) संज्ञानात्मक विकास से (d) शारीरिक विकास से
Ans : (a)


149. निम्नलिखित में से कौन−सा बच्चों के संवेगात्मक विकास के लिए सर्वाधिक उपयुक्त है?
(a
) कक्षा−कक्ष का प्रजातान्त्रिक परिवेश
(b) अध्यापकों की कोई भी सहभागिता नहीं क्योंकि यह माता−पिता का कार्य है
(c) कक्षा−कक्ष का नियंत्रित परिवेश
(d) कक्षा−कक्ष का अधिकारवादी परिवेश
Ans : (a)


150. खेल के माध्यम से बालक अपने संवेगों पर नियंत्रण करना सीख जाता है तो यह विकास निम्न में से कौन− सा है?
(a
) सामाजिक विकास (b) शारीरिक विकास
(c) संवेगात्मक विकास (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (c)


151. निम्नलिखित में से कौन−सी परिस्थिति में बच्चे का संवेगात्मक एवं सामाजिक विकास अच्छे से होगा?
(a
) जब बच्चे को महत्त्वपूर्ण माना जाए‚ उसकी भावनाओं का सम्मान किया जाए।
(b) बच्चे को अधिक−से−अधिक पढ़ने को कहा जाए।
(c) बच्चे के कक्षा में अच्छे अंक आए।
(d) जब शिक्षक बच्चों को उनके बौद्धिक स्तर के अनुसार पढ़ाए।
Ans : (a)


152. व्यापक वफादारी‚ दया भावना में वृद्धि व मानसिक स्थिति में उतार−चढ़ाव संबंधित है−
(a
) शारीरिक विकास की विशेषताएं
(b) संवेगात्मक विकास की विशेषताएं
(c) सामाजिक विकास की विशेषताएं
(d) सांस्कृतिक विकास की विशेषताएं
Ans : (b)


153. बच्चे के संज्ञानात्मक विकास हेतु उत्तम स्थान है
(a
) खेल का मैदान
(b) सभागार
(c) घर
(d) विद्यालय एवं कक्षा का वातावरण
Ans : (d)


154. संवेगात्मक विकास को प्रभावित करने वाले कारक है
(a
) शारीरिक स्वास्थ्य (b) मानसिक योग्यता
(c) थकान (d) ये सभी
Ans : (d)


155. इनमें से कौनसी विशेषता भावनात्मक विकास से जुड़ी हुई नहीं है?
(a
) भावना शारीरिक परिवर्तन से जुड़ी है
(b) भावना जन्म के तुरन्त बाद आ जाती है
(c) भावनाओं का तीव्र रूप बचपन में देखा जाता है
(d) भावना शारीरिक विकास से जुड़ी हुई नहीं है
Ans : (d)


156. एक बच्चा ईष्र्या का प्रदर्शन करता है
(a
) 6 माह की आयु में (b) 12 माह की आयु में
(c) 18 माह की आयु में (d) 24 माह की आयु में
Ans: (c)


157. निम्नलिखित में से कौन-सा बच्चों के संवेगात्मक विकास के लिए सर्वाधिक उपयुक्त है?
(a
) कक्षा-कक्ष का प्रजातांत्रिक परिवेश
(b) अध्यापकों की कोई भी सहभागिता नहीं क्योंकि यह मातापिता का कार्य है
(c) कक्षा-कक्ष का नियंत्रित परिवेश
(d) कक्षा-कक्ष का अधिकारवादी परिवेश
Ans: (a)


158. बच्चों में नैतिकता की स्थापना के लिए सर्वोत्तम मार्ग है
(a
) उन्हें धार्मिक पुस्तकें पढ़ाना
(b) शिक्षक का आदर्श रूप में व्यवहार करना
(c) उनका मूल्य शिक्षा पर मूल्यांकन करना
(d) उन्हें प्रात:कालीन सभा में उपदेश देना
Ans: (b)


159. छात्रों में अच्छे नागरिक के गुण कैसे समाहित किये जा सकते है?
(a
) उन्हें अच्छी नागरिकता पर भाषण देकर
(b) उन्हें राष्ट्रीय नायकों से परिचित कराकर
(c) उन्हें कतिपय सामुदायिक सेवा कार्य आवंटित करके
(d) उन्हें भारतीय संविधान से परिचित कराकर
Ans: (b)


160. बच्चों के अच्छे चरित्र निर्माण के लिए−
(a
) पाठ्य−पुस्तकों में चरित्र निर्माण संबंधी पाठ होने चाहिए।
(b) चरित्र निर्माण के लिए व्याख्यान दिए जाने चाहिए।
(c) कक्षा−कक्ष गतिविधि इस प्रकार से हो कि बच्चों को चरित्र निर्माण में सहायता मिल सके।
(d) महापुरुषों की जीवनी बच्चों को पढ़ाई जानी चाहिए।
Ans : (c)


161. चरित्र का विकास होता है
(a
) इच्छाशक्ति द्वारा
(b) बर्ताव एवं व्यवहार द्वारा
(c) नैतिकता द्वारा
(d) उपरोक्त सभी के द्वारा
Ans : (d)


162. सही और गलत की समझ होना‚ यें ………. विकास का हिस्सा है।
(a
) सांस्कृतिक (b) सामाजिक
(c) नैतिक (d) व्यावसायिक
Ans. (c)


163. निचली कक्षाओं में शिक्षण की खेल विधि जिस पर आधारित है‚ वह है−
(a
) शारीरिक शिक्षा कार्यक्रम
(b) शिक्षण की विधियों के सिद्धांत
(c) विकास और वृद्धि के मनोवैज्ञानिक सिद्धांत
(d) शिक्षण के समाजशाध्Eाीय सिद्धांत
Ans: (c)


164. निम्न कक्षाओं में शिक्षण की खेल विधि आधारित है
(a
) शारीरिक शिक्षा कार्यक्रमों के सिद्धान्त पर
(b) शिक्षण की विधियों के सिद्धान्त पर
(c) विकास एवं वृद्धि के मनोवैज्ञानिक सिद्धान्त पर
(d) शिक्षण के सामाजिक सिद्धान्तों पर
Ans : (c)


165. निचली कक्षाओं में शिक्षण की खेल-पद्धति मूल रूप से आधारित है
(a
) शिक्षण-पद्धति के सिद्धांतों पर
(b) विकास एवं वृद्धि के मनोवैज्ञानिक सिद्धांतों पर
(c) शिक्षण के समाजशाध्Eाीय सिद्धांतों पर
(d) शारीरिक शिक्षा कार्यक्रमों के सिद्धांत पर
Ans: (b)


166. एक बच्चा अपनी मातृभाषा सीख रहा है व दूसरा बच्चा वही भाषा द्वितीय भाषा के रूप में सीख रहा है। दोनों निम्नलिखित में से कौन-सी समान प्रकार की त्रुटि कर सकते हैं।
(a
) अधिकाधिक सामान्यीकरण
(b) सरलीकरण
(c) विकासात्मक
(d) अत्यधिक संशुद्धता
Ans : (c)


167. निम्नलिखित कथनों में से कौन सा विकास एवं अधिगम के बीच संबंध को सही तरीके से सूचित करता है?
(a
) अधिगम विकास का ध्यान किए बिना घटित होता है।
(c) विकास एवं अधिगम अंत:संबंधित और अंत:निर्भर होते हैं।
(b) अधिगम की दर विकास की दर से काफी अधिक होती है।
(d) विकास एवं अधिगम संबंधित नहीं हैं।
Ans. (c)


168. 6-11 वर्ष आयु वर्ग के छात्रों की आवश्यकता है
(a
) कक्षा-कक्ष में प्रजातांत्रिक वातावरण की
(b) सीखने में स्वायत्तता की
(c) क्रिया आधारित‚ अन्तर्क्रियात्मक अधिगम की
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


169. यदि छात्र अधिकांश कार्य स्वयं के हाथों से करेगा‚ तो छात्र में
(a
) शारीरिक शक्ति बढ़ती है
(b) मानसिक शक्ति बढ़ती है
(c) परिश्रम करने की भावना जागृत होती है
(d) आत्मनिर्भरता पैदा होती है
Ans: (d)


170. मिश्रित आयु−वर्ग वाले शिक्षार्थियों की कक्षा से व्यवहार रखने वाले शिक्षक के लिए …………… का ज्ञान सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है।
(a
) सामाजिक−आर्थिक पृष्ठभूमि
(b) सांस्कृतिक पृष्ठभूमि
(c) विकासात्मक अवस्थाओं
(d) उनके अभिभावकों का व्यवसाय
Ans : (c)


171. नर्सरी कक्षा में शुरूआत करने के लिए कौन−सी विषयवस्तु सबसे अच्छी है?
(a
) मेरा परिवार (b) मेरा प्रिय मित्र
(c) मेरा पड़ोस (d) मेरा विद्यालय
Ans : (a)


172. बचपन का साम्प्रतिक दृष्टिकोण की मान्यता है−
(a
) बहुत तरीके से बच्चे प्राप्तवयस्कों के बराबर हो जाते है
(b) बच्चों को युवा प्राप्तवयस्कों के रूप में सबसे अच्छा माना जाता है
(c) बचपन आधारिक रूप से ‘प्रतीक्षा अवधि’ है
(d) बचपन वृद्धि एवं परिवर्तन का एक अनूठी अवधि है
Ans : (d)


173. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन विकास और अधिगम के बीच संबंध को सर्वश्रेष्ठ रूप में जोड़ता है?
(a
) विकास अधिगम से स्वतंत्र है।
(b) अधिगम विकास के पीछे रहता है
(c) अधिगम और विकास समानार्थक पारिभाषित शब्द हैं।
(d) अधिगम और विकास एक जटिल तरीके से अंत:संबंधित है।
Ans: (d)


174. शिक्षण का विकासात्मक परिप्रेक्ष्य शिक्षकों से यह माँग करता है कि वे −
(a
) कठोर अनुशासन बनाए रखने वाले बनें‚ क्योंकि बच्चे अकसर प्रयोग (जाँच) करते हैं
(b) विकासात्मक कारकों के ज्ञान के अनुसार अनुदेशन युक्तियों का अनुकूलन करें
(c) विभिन्न विकासात्मक अवस्था वाले बच्चों के साथ समान रूप से व्यवहार करें
(d) इस प्रकार का अधिगम उपलब्ध कराएँ जिसका परिणाम केवल संज्ञानात्मक क्षेत्र के विकास में हो
Ans: (b)


<
–nextpage–>

03. बालकों के विकास के सिद्धांत

1. शिक्षक को ज्ञान होना चाहिए−
(a
) अध्यापन विषय का
(b) बाल मनोविज्ञान का
(c) शिक्षा संहिता का
(d) अध्यापन विषय एवं बाल−मनोविज्ञान का
Ans : (d)


2. अपने विद्यार्थियों को समझने के लिए एक शिक्षक में अच्छी जानकारी होनी चाहिए
(a
) बाल मनोविज्ञान की
(b) बच्चों को समझने की प्रवृत्ति की
(c) विषय वस्तु के प्रति विद्यार्थियों के मत की
(d) उपरोक्त सभी की
Ans : (d)


3. बाल मनोविज्ञान के आधार पर कौन-सा कथन सर्वोत्तम है?
(a
) सारे बच्चे एक जैसे होते हैं
(b) प्रत्येक बच्चा विशिष्ट होता है
(c) कुछ बच्चे विशिष्ट होते है
(d) कुछ बच्चे एक जैसे होते है
Ans: (b)


4. बाल विकास की परिभाषा का अध्ययन क्षेत्र है जो
(a
) मानवीय सामर्थ्यों में परिवर्तन का परीक्षण करता है
(b) जीवन अवधि के दौरान व्यवहार की व्याख्या ढूँढेगा
(c) बच्चों की वयस्क तथा वरिष्ठ नागरिकों के साथ तुलना करेगा
(d) किसी बच्चे के संज्ञानात्मक‚ सामाजिक तथा दूसरे सामर्थ्यों के क्रमिक विकास के लिए उत्तरदायी होगा
Ans : (d)


5. निर्देशात्मक विकास शब्द सूचित करता है−
(a
) दर (b) सीमा
(c) दिशा (d) विशिष्ट गुण
Ans. (d)


6. विकास के परिप्रेक्ष्य में समय के साथ होने वाले परिवर्तनों में निम्न में क्या शामिल है?
(a
) रूप (b) दर
(c) अनुक्रम (d) ये सभी
Ans: (b)


7. बाल विकास में
(a
) प्रक्रिया पर बल है
(b) वातावरण और अनुभव की भूमिका पर बल है
(c) गर्भावस्था से किशोरावस्था तक का अध्ययन होता है
(d) उपरोक्त सभी पर
Ans : (c)


8. बाल−मनोविज्ञान के आधार पर कौन−सा कथन सर्वोत्तम है?
(a
) सारे बच्चे एक जैसे होते हैं
(b) प्रत्येक बच्चा विशिष्ट होता है
(c) कुछ बच्चे विशिष्ट होते हैं
(d) कुछ बच्चे एक जैसे होते हैं
Ans : (b)


9. प्राथमिक शिक्षक के लिए बाल मनोविज्ञान का ज्ञान आवश्यक है‚ क्योंकि
(a
) यह बच्चों को अनुशासित बनाने में सहायता करता है
(b) परीक्षा में परिणाम में उन्नति होती है
(c) यह बच्चों को अभिप्रेरित करने के लिए सुविधाजनक तरीका बन जाता है
(d) यह बच्चों के व्यवहार को समझने में शिक्षक की सहायता करता है
Ans : (d)


10. बाल मनोविज्ञान का केन्द्र बिन्दु है−
(a
) अच्छा शिक्षक (b) बालक
(c) शिक्षण प्रक्रिया (d) विद्यालय
Ans : (b)


11. बाल मनोविज्ञान का क्षेत्र है−
(a
) केवल शैशवावस्था की विशेषताओं का अध्ययन।
(b) केवल गर्भावस्था की विशेषताओं का अध्ययन।
(c) केवल बाल्यावस्था की विशेषताओं का अध्ययन।
(d) गर्भावस्था से किशोरावस्था की विशेषताओं का अध्ययन।
Ans : (d)


12. बाल मनोविज्ञान के अनुसार शिक्षा के क्षेत्र में मुख्य स्थान है
(a
) बालक का (b) अध्यापक का
(c) अभिभावक का (d) प्रशासक का
Ans : (a)


13. निरीक्षण विधि में किया जाता है
(a
) अपना अध्ययन
(b) अपने व्यवहार का अध्ययन
(c) दूसरों के व्यवहारों का अध्ययन
(d) व्यवहार विश्लेषण।
Ans: (c)


14. केस अध्ययन विधि के संबंध में क्या सही नहीं है?
(a
) यह एक वैज्ञानिक विधि है।
(b) यह विधि बहुत जटिल होती है।
(c) यह सरल और सस्ती होती है।
(d) यह कारण का पता लगाकर समस्याओं का निदान करती है।
Ans: (b)


15. बालक के व्यक्तिगत अध्ययन की मनोवैज्ञानिक विधि है−
(a
) रैटिंग स्केल (b) प्रश्नावली
(c) केस स्टडी (d) प्रयोगात्मक विधि
Ans : (c)


16. कक्षा का एक शरारती बालक अन्य छात्रों को परेशान करता है। एक अध्यापक को उसकी समस्या का कारण जानने हेतु किस विधि का प्रयोग करना चाहिए?
(a
) सर्वेक्षण विधि (b) वैयक्तिक अध्ययन विधि
(c) प्रायोगिक विधि (d) पर्यवेक्षण विधि
Ans: (b)


17. किसी बच्चे की वृद्धि और विकास का अध्ययन करने का सर्वोत्तम तरीका है-
(a
) तुलनात्मक विधि (b) विकासात्मक विधि
(c) सांख्यिकी विधि (d) मनोविश्लेषणात्मक विधि
Ans. (b)


१८. जब विकासवादी सामान्य परिवर्तनों का अध्ययन करते हैं जो सभी मनुष्यों के लिए विशिष्ट है‚ तो इसे ……… के रूप में जाना जाता है−
(a
) निर्देशात्मक विकास
(b) भावसूचक (आइडियोग्राफिक) विकास
(c) अनौपचारिक विकास
(d) औपचारिक विकास
Ans : (a)


19. एक निर्धारित समय की अवधि के लिए समान बच्चों के अध्ययन को _____ अध्ययन के रूप में जाना जाता हैं।
(a
) अनुदैध्र्य (लॉन्गीट्यूडनल)
(b) प्रतिनिध्यात्मक (क्रॉस सेक्शनल)
(c) अक्षांशीय (लैटीट्यूटडनल)
(d) प्रायोगिक
Ans. (a)


20. __________वह विधि है जिसमें किसी व्यक्ति को उसकी वृद्धि के दौरान‚ एक परिवर्तनशील अवधि के लिए समान व्यक्ति का प्रेक्षण और मापन करते हुए अध्ययन किया जाता है।
(a
) मिश्रित विधि (b) अनुदैध्र्य वृद्धि
(c) क्रॉस अनुभागीय (d) विस्तारित विधि
Ans. (b)


21. एक बच्चे की वृद्धि और विकास के अध्ययन की सर्वाधिक अच्छी विधि कौन-सी है?
(a
) मनोविश्लेषण विधि (b) तुलनात्मक विधि
(c) विकासीय विधि (d) सांख्यिकी विधि
Ans: (c)


22. बाल विकास का अध्ययन क्षेत्र है−
(a
) बाल विकास की विभिन्न अवस्थाओं का अध्ययन
(b) वातावरण का बाल विकास पर पड़ने वाले प्रभावों का अध्ययन
(c) वैयक्तिक विभिन्नताओं का अध्ययन
(d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


23. ‘सर्वाधिक उपयुक्त जीवित (Survival of the fittest) रहता है’ का सिद्धान्त है
(a) लेमार्क का (b) हैरिसन का
(c) डार्विन का (d) मैक्डूगल का
Ans : (c)


24. निम्नलिखित में से किस विधि का उपयोग किसी व्यक्ति के व्यवहार का उसकी समग्रता में अध्ययन करने के लिए किया जाता है?
(a
) अवलोकन विधि (b) प्रयोगात्मक विधि
(c) सर्वेक्षण विधि (d) केस स्टडी विधि
Ans. (d)


25. अध्ययन को लागू करने के लिए अध्ययन किया जाता है‚ जिसमें से कुछ व्यक्तियों को कम से कम दो लगातार अवसरों पर मापा जाता है।
(a
) विस्तारित अनुदैध्र्य वृद्धि (b) अनुदैध्र्य वृद्धि
(c) क्रॉस अनुभागीय विकास (d) मिश्रित अनुदैध्र्य
Ans. (d)


26. व्यवहारवादियों द्वारा प्रयुक्त अध्ययन की पद्धति थी :
(a
) सर्वेक्षण (b) आत्मनिरीक्षण
(c) केस स्टडी (d) अवलोकन
Ans. (d)


27. निम्नलिखित में से कौन-सा विकास का सिद्धांत नहीं है?
(a
) विशिष्ट से सामान्य क्रियाओं का सिद्धान्त
(b) निरंतरता का सिद्धांत
(c) विविधता का सिद्धांत
(d) एकीकरण का सिद्धांत
Ans. (a)


28. एक बालक पहले पूरे हाथ को‚ फिर उँगलियों को तथा फिर हाथ और उँगलियों को एक साथ चलाना सीखता हैं यह उदाहरण वृद्धि और विकास के किस सिद्धांत को दर्शाता है?
(a
) निरंतरता का सिद्धांत
(b) एकीकरण का सिद्धांत
(c) सामान्य से विशेष का सिद्धांत
(d) वैयक्तिक भिन्नता का सिद्धांत
Ans: (b)


29. निम्नलिखित में से कौन सा विकास का सिद्धांत नहीं है?
(a
) विकास आनुवंशिकता एवं पर्यावरण दोनों के द्वारा प्रभावित होता है।
(b) विकास सार्वभौमिक है तथा सांस्कृतिक संदर्भ इसे प्रभावित नहीं करते।
(c) विकास जीवनपर्यन्त होता है।
(d) विकास परिवत्र्य होता है।
Ans. (b)


30. निम्नलिखित में से कौन सा विकास का सिद्धांत नहीं है?
(a
) विकास तुलनात्मक रूप से क्रमिक होता है।
(b) विकास समय के साथ धीरे−धीरे घटित होता है।
(c) विकास की सटीक गति एवं प्रकृति जन्म के समय ही निर्धारित हो जाती है।
(d) व्यक्ति अलग−अलग गति से विकास करते हैं।
Ans. (c)


31. शरीर के केन्द्रीय भाग से परिधियों या अग्रांगों की ओर का विकास दर्शाता है−
(a
) विकिरणीय विकास के सिद्धान्तों को
(b) विकेंद्रीकृत विकास के सिद्धान्तों को
(c) मध्य−बाह्य विकास के सिद्धान्तों को
(d) सोपानीय विकास के सिद्धान्तों को
Ans. (c)


32. विशेष अवधि के दौरान‚ विकास प्रगति करता है लेकिन इस अवधि में समायोजन के लिये विराम करता है। यह विकास के निम्नलिखित किस नियम को अनुसारित करता है?
(a
) समन्वय का सिद्धान्त
(b) निरन्तरता का सिद्धान्त
(c) चक्राकार प्रगति का सिद्धान्त
(d) समान-प्रतिमान का सिद्धान्त
Ans: (c)


33. निम्न में से विकास का कौन-सा सिद्धान्त गलत है?
(a
) विकास में वैयक्तित्व विभिन्नता होती है
(b) विकास‚ संयोगों का परिणाम है
(c) यह एक सतत प्रक्रिया है
(d) यह पूर्वकथनीय है
Ans: (b)


34. प्रत्येक अधिगमकर्ता अद्वितीय होता है अर्थात्
(a
) कोई भी दो अधिगमकर्ता उनकी योग्यताओं‚ रूचियों तथा कौशलों में समान नहीं होते
(b) अधिगमकर्ताओं में कोई भी उभयनिष्ठ गुण नहीं होते‚न ही वे उभयनिष्ठ लक्ष्यों को बाँटते है
(c) सभी अधिगमकर्ताओं के लिये एक उभयनिष्ठ पाठ्चर्या संभव नहीं है
(d) एक विषमांगी कक्षा में सभी अधिगमकर्ताओं की क्षमता को विकसित करना असम्भव है
Ans: (a)


35. मस्तकाधोमुखी एवं निकट से दूर का क्रम किस क्रिया का अंग है?
(a
) चेतना (b) विकास
(c) विवृद्धि (d) संशोधन।
Ans: (b)


36. बालक के शारीरिक व क्रियात्मक विकास की दिशा होती है:
(a
) सिर से पैर तथा शरीर के बाहर से मध्य की ओर
(b) सिर से पैर तथा शरीर के मध्य से बाहर की ओर
(c) पैर से सिर तथा शरीर के बाहर से मध्य की ओर
(d) पैर से सिर तथा शरीर के मध्य से बाहर की ओर
Ans: (b)


37. बच्चे के विकास के शिरस्थ सिद्धान्त के अनुसार निम्न में से सत्य कथन है
(a
) विकास सिर से पैर की ओर होता है
(b) विकास पैर से सिर की ओर होता है
(c) विकास मध्यभाग से परिधि की ओर होता है
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (a)


38. नरेश और मुकेश की आयु समान है। उनके सामाजिक एवं मानसिक विकास में काफी अन्तर है। यह विकास के निम्न सिद्धान्त के कारण होता है
(a
) परिमार्जितता का सिद्धान्त
(b) निश्चित तथा पूर्वकथनीय प्रतिरूप का सिद्धान्त
(c) व्यक्तिगतता का सिद्धान्त
(d) समान-प्रतिमान का सिद्धान्त
Ans: (c)


39. सीफैलोकौडल प्रवृत्ति के सिद्धान्त के अनुसार शारीरिक विकास होता है …….
(a
) सिर से पांव की ओर
(b) निकटवर्ती से लेकर दूरवर्ती (दूरस्थ) अंगों तक
(c) पांव से सिर की ओर
(d) दूरस्था अंग से निकटवर्ती अंगों तक
Ans: (a)


40. निम्न में से कौन−सा विकास का सिद्धांत नहीं है?
(a
) विकास लम्बवत न होकर वर्तुलाकार
(b) विकास क्रमबद्ध होता है
(c) विकास निरंतर होता है
(d) विकास मशीनी प्रक्रिया है
Ans : (d)


41. ‘‘विकास कभी न समाप्त होने वाली प्रक्रिया है।’’ यह विचार किससे सम्बन्धित है?
(a
) अन्त: सम्बन्ध का सिद्धांत
(b) निरन्तरता का सिद्धांत
(c) एकीकरण का सिद्धांत
(d) अन्त:क्रिया का सिद्धांत
Ans : (b)


42. संकल्पनाओं की व्यवस्थित प्रस्तुति विकास के निम्नलिखित किन सिद्धांतों के साथ संबंधित हो सकती है?
(a
) विकास विषमजातीयता से स्वायत्तता की ओर अग्रसर होता है
(b) विद्यार्थी भिन्न दरों पर विकसित होते हैं
(c) विकास सापेक्ष रूप से क्रमिक होता है
(d) विकास के परिणाम स्वरूप वृद्धि होती है
Ans : (c)


43. विकास की गति एक व्यक्ति से दूसरे में भिन्न होती है‚ किन्तु यह एक ………… नमूने को अनुगमन करती है।
(a
) एड़ी−से−चोटी (b) अव्यवस्थित
(c) अप्रत्याशित (d) क्रमबद्ध और व्यवस्थित
Ans : (d)


44. निम्नलिखित में से कौनसा विकास का सिद्धान्त है?
(a
) यह निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया नहीं है
(b) विकास की सभी प्रक्रियाएँ अंत:सम्बन्धित नहीं हैं
(c) सभी की विकास-दर समान नहीं होती है
(d) विकास हमेशा रेखीय होता है
Ans: (c)


45. निम्न में से कौन सा विकास का सिद्धान्त नहीं है?
(a
) अनुकूलित प्रत्यावर्तन का सिद्धान्त
(b) निरन्तर विकास का सिद्धान्त
(c) परस्पर सम्बन्ध का सिद्धान्त
(d) समान प्रतिमान का सिद्धान्त
Ans : (a)


46. कौन−सा अभिवृद्धि और विकास का सिद्धांत नहीं है?
(a
) समान प्रतिमान का सिद्धांत
(b) विशिष्ट के सामान्य क्रियाओं का सिद्धांत
(c) सतत विकास का सिद्धांत
(d) व्यक्तिगत विभिन्नताओं का सिद्धांत
Ans : (b)


47. विकास एक प्रक्रिया है−
(a
) खंडित (b) निरंतर
(c) पूर्ण (d) अपूर्ण
Ans : (b)


48. एक अध्यापक/अध्यापिका ने पाया कि एक विद्यार्थी वर्ग बनाने में कठिनाई अनुभव कर रहा है। उसने अनुमान लगाया कि वह हीरे का चित्र बनाने में भी कठिनाई अनुभव करेगा। उसने निम्न में से किस सिद्धांत पर आधारित होकर यह अनुमान लगाया?
(a
) विकास निरन्तरीय होता रहता है।
(b) अलग−अलग लोगों के लिए विकास की प्रक्रिया भी अलग−अलग होती है।
(c) विकास एक व्यवस्थित क्रम में होने की प्रवृत्ति से सम्बद्ध है।
(d) विकास की प्रक्रिया एक उत्परिवर्तनीय प्रक्रिया है।
Ans : (c)


49. इनमें से कौन−सा विकास का एक सिद्धांत नहीं है?
(a
) विकास संशोधनयोग्य होता है
(b) विकास केवल संस्कृति से शासित और निर्धारित होता है
(c) विकास जीवनपर्यंत होता है
(d) विकास वंशानुक्रम और पर्यावरण दोनों से प्रभावित होता है
Ans : (b)


50. निम्नलिखित में से कौन सा वृद्धि और विकास के सिद्धांतों से संबंधित नहीं है?
(a
) निरन्तरता का सिद्धांत (b) वर्गीकरण का सिद्धांत
(c) समन्वय का सिद्धांत (d) वैयक्तिकता का सिद्धांत
Ans : (b)


51. इनमें से कौन-सा बाल विकास का एक सिद्धान्त है?
(a
) विकास परिपक्वन तथा अनुभव के बीच अन्योन्यक्रिया की वजह से घटित होता है।
(b) अनुभव विकास का एकमात्र निर्धारक है।
(c) विकास प्रबलन तथा दण्ड के द्वारा सुनिश्चित किया जाता है।
(d) विकास प्रत्येक बच्चे की गति का सही ढंग से अनुमान लगा सकता है।
Ans: (a)


52. निम्नलिखित में से कौन-सा बाल विकास का एक सिद्धान्त नहीं है?
(a
) सभी विकास एक क्रम का पालन करते हैं
(b) विकास के सभी क्षेत्र महत्वपूर्ण हैं
(c) सभी विकास परिपक्वन तथा अनुभव की अंत: क्रिया का परिणाम होते हैं
(d) सभी विकास तथा अधिगम एक समान गति से आगे बढ़ते हैं।
Ans : (d)


53. विकास …….. से ……. की ओर बढ़ता है−
(a
) सामान्य →विशिष्ट (b) जटिल →कठिन
(c) विशिष्ट →सामान्य (d) साधारण →आसान
Ans : (a)


54. विकास के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा एक कथन है?
(a
) विकासात्मक परिवर्तन एक सीधी रेखा में आगे जाते हैं
(b) विकास जन्म से किशोरावस्था तक आगे की ओर बढ़ता है और फिर पीछे की ओर
(c) विकास भिन्न व्यक्तियों में भिन्न गति से होता है
(d) विकास जन्म से किशोरावस्था तक बहुत तीव्र गति से होता है और उसके बाद रुक जाता है
Ans : (c)


55. निम्नलिखित विकास के सिद्धांतों का उनके सही वर्णन से मिलान कीजिए− सिद्धांत वर्णन
A. समीप-दूराभिमुख दिशा (i) विभिन्न बच्चे भिन्न-भिन्न दर से बढ़ते हैं
B. शिर:पदाभिमुख दिशा (ii) सिर से पैर का क्रम
C. अंतर्वैयक्तिक भिन्नताएँ (iii) किसी अकेले बच्चे में विकास की दर विकास के एक क्षेत्र की अपेक्षा दूसरी में भिन्न हो सकती है
D. अंतरावैयक्तिक भिन्नताएँ (iv) शरीर के केन्द्र से बाहर की ओर
(v) सरल से जटिल की ओर वृद्धि
(a
) A B C D (b) A B C D iv ii i iii v ii i iii
(c) A B C D (d) A B C D ii iv i iii ii iv iii i
Ans : (a)


56. विकास के सिद्धांतों के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन ग़लत है?
(a
) विकास एक परिमाणात्मक प्रक्रिया है जिसका ठीक-ठाक मापन हो सकता है।
(b) विकास परिपक्वन और अधिगम पर आधारित होता है।
(c) विकास वंशानुगतता और वातावरण के बीच सतत अन्योन्यक्रिया से होता है।
(d) प्रत्येक बच्चा विकास के चरणों से गुजरता है फिर भी बच्चों में वैयक्तिक भिन्नताएँ बहुत होती हैं।
Ans : (a)


57. विकास का शिर:पदाभिमुख दिशा सिद्धान्त व्याख्या करता है कि विकास इस प्रकार आगे बढ़ता है−
(a
) सामान्य से विशिष्ट कार्यों की ओर
(b) भिन्न से एकीकृत कार्यों की ओर
(c) सिर से पैर की ओर
(d) ग्रामीण से शहरी क्षेत्रों की ओर
Ans : (c)


58. वैयक्तिक शिक्षार्थी एक-दूसरे से …… में भिन्न होते हैं।
(a
) विकास-क्रम
(b) विकास की सामान्य क्षमता
(c) बुद्धि एवं विकास के सिद्धान्तों
(d) विकास की दर
Ans: (d)


59. पूर्व-विद्यालय में पहली बार आया बच्चा मुक्त रूप से चिल्लाता है। दो वर्ष पश्चात् वही बच्चा जब प्रारंभिक विद्यालय में पहली बार जाता है‚ तो अपना तनाव चिल्लाकर व्यक्त नहीं करता अपितु उसके कन्धे व गर्दन की पेशियाँ तन जाती हैं उसके इस व्यावहारिक परिवर्तन का क्या सैद्धान्तिक आधार हो सकता है?
(a
) विकास क्रमिक प्रकार से होता है
(b) विकास निरन्तरीय होता रहता है
(c) अलग-अलग लोगों में विकास भी भिन्न रूप से होता है
(d) विभेद व एकीकरण विकास के लक्षण हैं
Ans : (d)


60. मानव विकास कुछ विशेष सिद्धान्तों पर आधारित है। निम्नलिखित में से कौन-सा मानव विकास का सिद्धान्त नहीं है?
(a
) सामान्य से विशिष्ट (b) प्रतिवर्ती
(c) निरंतरता (d) आनुक्रमिकता
Ans: (b)


61. प्रत्येक शिक्षार्थी स्वयं में विशिष्ट है। इसका अर्थ है कि –
(a
) सभी शिक्षार्थियों के लिए एक समान पाठ्यचर्या संभव नहीं है
(b) एक विषमरूपी कक्षा में शिक्षार्थियों की क्षमताओं को विकसित करना असंभव है
(c) कोई भी दो शिक्षार्थी अपनी योग्यताओं‚ रुचियों और प्रतिभाओं में एकसमान नहीं होते
(d) शिक्षार्थियों में न तो कोई समान विशेषताएँ होती हैं और न ही उसके लक्ष्य समान होते हैं
Ans: (c)


62. सीमा हर पाठ को बहुत जल्दी सीख लेती है जबकि लीना उसे सीखने में ज्यादा समय लेती है। यह विकास के …………… सिद्धांत को दर्शाता है।
(a
) वैयक्तिक भिन्नता (b) अन्त:संबंध
(c) निरंतरता (d) सामान्य से विशिष्ट की ओर
Ans : (a)


63. विकास हमेशा बच्चे की उम्र से मेल खाता है। यह …………. के सिद्धांत के कारण होता है।
(a
) निरंतरता (b) एकसमान पैटर्न
(c) एकीकरण (d) वैयक्तिक भिन्नता
Ans. (b)


64. घसीट के चलने से पहले बच्चा अपना सिर उठाने में सक्षम होता है। ऐसा निम्न के संचालन के कारण होता है−
(a
) भेदभाव सिद्धांत
(b) एकीकरण सिद्धांत
(c) सेफलोकॉडल सिद्धांत
(d) प्रॉक्सीमोडिस्टल सिद्धांत
Ans : (c)


65. बच्चे के विकास की प्रक्रिया के दौरान‚
(a
) विशिष्ट कार्य‚ सामान्य कार्यों के बाद किये जाते हैं।
(b) सामान्य और विशिष्ट कार्य दोनों एक साथ होते हैं।
(c) सामान्य कार्य‚ विशिष्ट कार्यों के बाद किये जाते हैं।
(d) सामान्य और विशिष्ट कार्य एक-दूसरे पर निर्भर नहीं हैं।
Ans. (a)


66. रीढ़ की हड्डी हृदय से पूर्व विकसित होती है। यह निम्न प्रवृत्ति के संचालन के कारण होता है :
(a
) सामान्य से विशिष्ट तक
(b) सिफैलोकॉडल
(c) प्रोक्सीमॉडिस्टल
(d) भाग से संपूर्ण तक (पार्ट टू होल)
Ans. (c)


67. सीफैलोकौडल प्रवृत्तियों के अनुसार विकास का अग्रसरण कैसे होता है?
(a
) सिर से पैर की ओर (b) पास से दूर के अंगों में
(c) पैर से सिर की ओर (d) दूर से पास के अंगों में
Ans : (a)


68. विकासात्मक दिशा का नियम सम्मिलित करता है−
(a
) मस्तकाधोमुखी नियम
(b) निकट से दूर का नियम
(c) (a) और (b) दोनों
(d) न तो (a) न ही (b)
Ans : (c)


69. ‘‘विकास कभी न समाप्त होने वाली प्रक्रिया है।’’ यह कथन विकास के किस सिद्धांत से सम्बन्धित है?
(a
) अन्त:क्रिया का सिद्धांत
(b) एकीकरण का सिद्धांत
(c) अन्त: सम्बन्ध का सिद्धांत
(d) निरन्तरता का सिद्धांत
Ans. (d)


<
–nextpage–>

04. वंशानुक्रम और वातावरण वंशानुक्रम का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. आनुवंशिकता को एक …………..सामाजिक संरचना माना जाता है।
(a
) प्राथमिक (b) द्वितीयक
(c) गतिक (d) स्थायिक
Ans: (d)


2. माता-पिता से वंशजो में स्थानान्तरित होने वाले लक्षणों को कहा जाता है
(a
) पर्यावरण (b) जीन
(c) आनुवंशिकता (d) होम्योस्टैसिस
Ans: (c)


3. व्यक्तित्व एवं बुद्धि में वंशानुक्रम की−
(a
) नाममात्र की भूमिका है (b) महत्वपूर्ण भूमिका है
(c) अपूर्वानुमेय भूमिका है (d) आकर्षक भूमिका है।
Ans: (b)


4. आनुवंशिकता …………. गुणों का गठन है।
(a
) वातावरण (b) मानसिक
(c) आनुवांशिक (d) मनोवैज्ञानिक
Ans : (c)


5. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a
) ‘‘वंशानुक्रम माता-पिता से सन्तान में गुणों का संचरण है’’
(b) ‘‘विकास प्राणी और उसके पर्यावरण की अन्तर्क्रिया का परिणाम है’’
(c) ‘‘वंशानुक्रम व्यक्ति की जन्मजात विशेषताओं का शोधन है’’
(d) ‘‘माता-पिता की शारीरिक और मानसिक विशेषताओं का सन्तानों में संचरित होना वंशानुक्रम है’’
Ans : (c)


6. ………….जन्मजात वैयक्तिक गुणों का योगफल है।
(a
) समानता (b) निरन्तरता
(c) वंशानुक्रम (d) युयुत्सा
Ans : (c)


7. इस पर अत्यधिक वाद-विवाद होता है कि क्या लड़कों एवं लड़कियों में योग्यताओं का विशिष्ट समूह उनके आनुवंशिक घटकों के कारण होता है। इस संदर्भ में निम्नलिखित में से आप सबसे अधिक किससे सहमत हैं?
(a
) लड़कियों को सेवाभाव के लिए सामाजिक रूप से तैयार किया जाता है जबकि लड़कों को रोने जैसा संवेग प्रदर्शित करने के लिए हतोत्साहित किया जाता है।
(b) यौवनारम्भ के बाद लड़के और लड़कियाँ एक साथ नहीं खेल सकते हैं क्योंकि उनकी अभिरुचियाँ पूर्णतया विपरीत होती हैं।
(c) सभी लड़कियों में कला-विषयों के लिए अंतर्निहित प्रतिभा होती है जबकि लड़के आक्रामक खेलों में बेहतर प्रदर्शन के लिए आनुवांशिक रूप से तैयार होते हैं।
(d) लड़के सेवाभाव वाले नहीं हो सकते हैं क्योंकि वे जन्म से इस प्रकार के होते हैं।
Ans: (c)


8. निम्नलिखित में से कौन सा एक सही क्रम है?
(a
) अण्डाणु-शुक्राणु‚ ब्लास्टोसिस्ट‚ युग्मनज
(b) ब्लास्टोसिस्ट‚ अण्डाणु-शुक्राणु‚ युग्मनज
(c) ब्लास्टोसिस्ट‚ युग्मनज‚ अण्डाणु-शुक्राणु
(d) अण्डाणु-शुक्राणु‚ युग्मनज‚ ब्लास्टोसिस्ट
Ans (d)


9. आनुवंशिकता को ….. सामाजिक संरचना माना जाता है।
(a
) गत्यात्मकता (b) स्थिर
(c) प्राथमिक (d) गौण
Ans: (b)


10. निम्न में से कौन-सा बुद्धि का सिद्धान्त नहीं है?
(a
) एक-तत्त्व सिद्धान्त (b) द्वि-तत्त्व सिद्धान्त
(c) प्रत्यागमन सिद्धान्त (d) बहुतत्त्व सिद्धान्त
Ans : (c)


11. मानव विकास का अध्ययन करने के लिए आनुवंशिक विधि का उपयोग किया जा सकता है−
(a
) क्षैतिज (b) लम्बरूप
(c) क्षैतिज और लम्बरूप दोनों (d) इनमें से कोई नहीं
Ans. (c)


12. किस प्रकार का सिद्धांत यह प्रस्तुत करता है कि विकास उन चीजों पर निर्भर करता है जो जीन के माध्यम से वंशागत हैं?
(a
) एक नियतिवाद सिद्धांत (b) एक सामाजिक सिद्धांत
(c) एक प्राकृतिक सिद्धांत (d) एक पालन-पोषण सिद्धांत
Ans. (c)


13. कभी−कभी बच्चे‚ माता−पिता दोनों से अलग होते हैं। ऐसा ______ के नियम के कारण होता है।
(a
) पृथक्करण (b) विविधता
(c) प्रभुत्व (d) प्रतिगमन
Ans. (b)


14. क्या बुद्धिमान माता-पिता (अभिभावक) के बच्चे (संतानें) सदैव पढ़ाई में तेज होते हैं?
(a
) हाँ
(b) नहीं
(c) मनोविज्ञान इस संबंध में कोई उत्तर नहीं दे सकता
(d) यह ईश्वर पर निर्भर है
Ans: (b)


15. निम्नलिखित में से कौन-सा मुख्य रूप से आनुवांशिकता सम्बन्धी कारक है?
(a
) समकक्ष व्यक्तियों के समूह के प्रति अभिवृत्ति
(b) चिंतन पैटर्न
(c) आँखों का रंग
(d) सामाजिक गतिविधियों में भागीदारिता
Ans. (c)


16. वंशानुक्रम के सन्दर्भ में गलत कथन निम्नलिखित में से कौन सा है?
(a
) वंशानुक्रम बालक का लिंग निर्धारित करता है
(b) यह शारीरिक संगठन में महत्वपूर्ण योगदान देता है
(c) यह जुड़वाँ बालकों के जन्म में योगदान देता है
(d) इसमें रुचि‚ अभिवृत्ति‚ पसन्द‚ नापसन्द तथा मस्तिष्क की संवेदात्मक भावनाएँ समावेशित होती है।
Ans: (d)


17. संज्ञानात्मक विकास में वंशक्रम निर्धारित करता है−
(a
) मस्तिष्क जैसी शारीरिक संरचना के मूलभूत स्वभाव को
(b) शारीरिक संरचना के विकास को
(c) सहज प्रतिवर्ती क्रियाओं के अस्तित्व को
(d) इनमें से सभी।
Ans: (a)


18. लिंग का निर्धारण होता है
(a
) माता द्वारा (b) पिता द्वारा
(c) माता-पिता द्वारा (d) इनमें से कोई नहीं
Ans: (b)


19. लड़का पैदा होने के लिए उत्तरदायी क्रोमोसोम्स हैं
(a
) XX (b) XP
(c) XY (d) CX
Ans: (c)


20. विकास पर आनुवांशिकता के प्रभाव की सीमा का सबसे अच्छा वर्णन निम्नलिखित में से किसके द्वारा होता है?
(a
) आनुवंशिकता निर्धारित करती है कि कोई कितना विकसित होगा।
(b) आनुवंशिकता निर्धारित करती है कि किसी को कितना विकसित किया जा सकता है।
(c) (a) और (b) दोनों
(d) या तो (a) या (b)
Ans : (b)


21. यदि ……………. गुणसूत्रों का मिलान हो तो लड़के का जन्म होता है−
(a
) YY (b) XY
(c) XX (d) BY
Ans : (b)


22. मुख्यता आनुवंशिकी द्वारा निर्धारित विकास प्रक्रिया है−
(a
) अधिगम (b) परिपक्वता
(c) सामाजीकरण (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (b)


23. वह अवस्था जो कि माता के 21वें गुणसूत्र जोड़े के अलग न हो पाने के कारण होती है‚ कहलाती है−
(a
) डाउन्स सिन्ड्रोम (b) क्लीनफेल्टर सिन्ड्रोम
(c) टर्नर सिन्ड्रोम (d) विल्सन सिन्ड्रोम
Ans : (a)


24. सामान्य संयुक्त कोशिका में गुणसूत्रों के जोड़े होते हैं
(a
) 22 (b) 23
(c) 24 (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans : (b)


25. सामान्य पुरुष में XY गुणसूत्र होते है जबकि सामान्य महिला में…….. होते हैं।
(a
) XX गुणसूत्र (b) XYY गुणसूत्र
(c) XXX गुणसूत्र (d) X गुणसूत्र
Ans : (a)


26. वंशानुगत कारक बच्चे के ……… के समय से अपना प्रभाव शुरू करते हैं।
(a
) विकास (b) वृद्धि
(c) गर्भाधान (d) प्रारंम्भिक वर्ष पुरुष महिला XY XX XY XX लड़का लड़की पिता x y माता x x x y लड़का x x लड़की
Ans. (c)


27. निम्नलिखित में से कौन सा विकार एक अतिरिक्त इक्कसीवें गुणूसत्र के कारण होता है?
(a
) ़फेनिलकीटोनुरिया
(b) डाउन सिंड्रोम
(c) टर्नर का सिंण्ड्रोम
(d) दरांती कोशिका अरक्तता (सिकेल सेल एनीमिया)
Ans. (b)


28. किसी की आनुवंशिकता ______ के समय पर निर्धारित की जाती है।
(a
) परिपक्वता (b) गर्भधारण
(c) विकास (d) जन्म
Ans. (b)


29. प्राकृतिक पर्यावरण में सम्मिलित होता है
(a
) वंशानुक्रम (b) जैव-अजैव
(c) परिवार (d) पशु
Ans: (b)


30. आनुवंशिकता और पर्यावरण की भूमिका के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य है?
(a
) विकास के कुछ पहलू आनुवंशिकता और कुछ अन्य पर्यावरण से अधिक प्रभावित होते हैं।
(b) सीखने और प्रदर्शन करने की एक बच्चे की क्षमता जीनों द्वारा पूरी तरह से निर्धारित की जाती है।
(c) अच्छी देखभाल और पौष्टिक आहार बच्चे के किसी भी जन्मजात विकार को दूर कर सकता है।
(d) पर्यावरण केवल बच्चे के भाषा-विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
Ans. (a)


31. मानव विकास के संदर्भ में आनुवंशिकता तथा पर्यावरण की भूमिका के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा सही है?
(a
) परिवेशीय प्रभाव पूर्ण रूप से एक व्यक्ति के विकास को निर्धारित करते हैं।
(b) मानव-विकास को न तो आनुवंशिकता और न ही पर्यावरण प्रभावित करते हैं।
(c) आनुवंशिकता एवं पर्यावरण दोनों एक जटिल पारस्परिक क्रिया के रूप में मानव विकास को प्रभावित करते हैं।
(d) वैयक्तिक विभिन्नताओं का एकमात्र कारण आनुवंशिकता है।
Ans. (c)


32. विद्यार्थी का विकास निर्भर करता है−
(a
) वंशानुक्रम पर
(b) वातावरण पर
(c) वंशानुक्रम एवं वातावरण पर
(d) उपरोक्त में से कोई भी नहीं
Ans: (c)


33. मनुष्य में वैयक्तितक विभिन्नता के निर्धारक किससे संबंधित होते है?
(a
) वातावरण के साथ अंतर्क्रिया
(b) वंशानुक्रम में विभिन्नता
(c) वंशानुक्रम तथा वातावरण दोनों में विभिन्नता
(d) वंशानुक्रम व वातावरण में अंतर्क्रिया
Ans: (d)


34. वंशानुक्रम तथा वातावरण के सम्बन्ध का व्यक्ति की वृद्धि पर प्रभाव निम्न में से एक के अनुसार होता है
(a
) वंशानुक्रम व्यक्ति को प्रभावित करता है
(b) वातावरण व्यक्ति को प्रभावित करता है
(c) वंशानुक्रम + वातावरण व्यक्ति को प्रभावित करता है
(d) वंशानुक्रम वातावरण व्यक्ति को प्रभावित करता है
Ans: (d)


35. मानव जाति में वे कौन-से वैयक्तिक निर्धारक तत्व होते हैं‚ जो मानव जाति की विविधता को बताते हैं?
(a
) पर्यावरण का अन्तर
(b) आनुवांशिकता का अन्तर
(c) आनुवांशिकता व पर्यावरण की अन्तर्क्रिया
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (c)


36. बालक का विकास परिणाम है :
(a
) वंशानुक्रम का
(b) वातावरण का
(c) वंशानुक्रम तथा वातावरण की अंत: प्रक्रिया का
(d) आर्थिक कारकों का
Ans: (c)


37. मानव विकास किन दोनों के योगदान का परिणाम है?
(a
) अभिभावक एवं अध्यापक का
(b) सामाजिक एवं सांस्कृतिक कारकों का
(c) वंशक्रम एवं वातावरण का
(d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (c)


38. मानव व्यक्तित्व परिणाम है−
(a
) केवल आनुवांशिकता का
(b) पालन−पोषण और शिक्षा का
(c) आनुवंशिकता और वातावरण की अंत:क्रिया का
(d) केवल शीघ्र सीखते हैं
Ans : (c)


39. एक 6 वर्ष की लड़की खेलकूद में असाधारण योग्यता का प्रदर्शन करती है। उसके माता−पिता दोनों ही खिलाड़ी हैं‚ उसे नित्य प्रशिक्षण देते हैं। बहुत संभव है कि उसकी क्षमताएं निम्नलिखित दोनों के बीच परस्पर प्रतिक्रिया का परिणाम होंगी।
(a
) वृद्धि और विकास
(b) स्वास्थ्य और परिक्षण
(c) अनुशासन और पौष्टिकता
(d) आनुवांशिकता और पर्यावरण
Ans : (d)


40. बच्चे के विकास में आनुवंशिकता और वातावरण की भूमिका के बारे में निम्नलिखित में से कौन−सा सत्य है?
(a
) आनुवंशिकता और वातावरण दोनों एक बच्चे के विकास में 50.50% योगदान रखते हैं
(b) समवयस्कों और पित्रेक (genes) का सापेक्ष योगदान योगात्मक नहीं होता
(c) अनुवांशिकता और वातावरण एकसाथ परिचालित नहीं होते
(d) सहम रुझान वातावरण से सम्बन्धित है जबकि वास्तविक विकास के लिए अनुवांशिकता जरूरी है
Ans : (b)


41. मानवीय विकास में अनुवांशिकता एवं परिवेश की भूमिका के सन्दर्भ में निम्नलिखित में से कौन−सा कथन समुचित है?
(a
) विकास के विभिन्न क्षेत्रों में आनुवांशिकता एवं परिवेश का सापेक्षिक प्रभाव परिवर्तनशील है।
(b) भारत सरकार की विभेदात्मक क्षति पूरकता संबंधी नीति मानवीय विकास में ‘प्रकृति’ की भूमिका पर आधारित है।
(c) परिवेश की भूमिका लगभग स्थिर−सी रहती है जबकि आनुवांशिका का प्रभाव परिवर्तित हो सकता है।
(d) ‘व्यवहारवाद’ के सिद्धांत प्राय: मानवीय विकास में ‘प्रकृति’ की भूमिका पर आधारित है।
Ans : (a)


42. ‘प्रकृति−पोषण’ विवाद में ‘प्रकृति’ से क्या अभिप्राय है?
(a
) जैविकीय विशिष्टताएँ या वंशानुक्रम सूचनाएँ
(b) एक व्यक्ति की मूल वृत्ति
(c) भौतिक और सामाजिक संसार की जटिल शक्तियाँ
(d) हमारे आस−पास का वातावरण
Ans : (a)


43. ‘प्रकृति−पालन−पोषण’ वाद−विवाद के सन्दर्भ में निम्नलिखित कथनों में से कौन−सा आपको उपयुक्त प्रतीत होता है?
(a
) बच्चा एक खाली स्लेट के समान होता है जिसका चरित्र परिवेश के द्वारा किसी भी आकार में ढाला जा सकता है
(b) बच्चे आनुवांशिक रूप से उस तरफ प्रवृत्त होते हैं जिस तरफ होना चाहिए‚ इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि वे किस प्रकार के परिवेश में पल−बढ़ रहे हैं
(c) एक बच्चे के व्यवहार का निर्धारण करने में परिवेशीय प्रभावों का बहुत कम महत्त्व होता है‚ वह प्राथमिक रूप में आनुवंशिक रूप से निर्धारित होता है
(d) वंशानुक्रम तथा परिवेश अभिन्न रूप से एक−दूसरे से गुँथे हुए हैं और दोनों विकास को प्रभावित करते हैं
Ans : (d)


44. आर्जव तर्क देता है कि भाषा विकास व्यक्ति की नैसर्गिक प्रवृत्ति से प्रभावित होता है जबकि सोनाली महसूस करती है कि यह परिवेश से प्रभावित होता है। आर्जव और सोनाली के बीच यह चर्चा किस विषय में है?
(a
) चुनौतीपूर्ण तथा संवेदनशील भावना
(b) स्थिरता तथा अस्थिरता पर बहस
(c) सतत् तथा असतत् अधिगम
(d) प्रकृति तथा पालन−पोषण पर वाद−विवाद
Ans : (d)


45. ‘‘किसी व्यक्ति को आकार देने में वातावरण के घटकों की कोई भूमिका नहीं होती‚ क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति की वृद्धि उसकी आनुवांशिक संरचना से निर्धारित होती है।’’ यह कथन
(a
) ठीक है‚ क्योंकि बहुत−से शोध यह सिद्ध करते हैं कि आनुवांशिक पदार्थ की व्यक्ति के विकास की भविष्यवाणी करता है
(b) ठीक है‚ क्योंकि वातावरण के घटक किसी व्यक्ति की वृद्धि और विकास में कम योगदान करते हैं
(c) ठीक नहीं है‚ क्योंकि बहुत−से शोध यह सिद्ध करते हैं कि विकास में वातावरण का बड़ा प्रभाव पड़ सकता है
(d) ठीक है‚ क्योंकि किसी व्यक्ति की आनुवांशिक संरचना बहुत प्रबल होती है
Ans : (c)


46. व्यक्तियों में एक-दूसरे से भिन्नता क्यों होती है ?
(a
) वातावरण के प्रभाव के कारण
(b) जन्मजात विशेषताओं के कारण
(c) वंशानुक्रम और वातावरण के बीच अन्योन्यक्रिया के कारण
(d) प्रत्येक व्यक्ति को उसके माता-पिता से जीनों का भिन्न समुच्चय प्राप्त होने के कारण
Ans : (c)


47. _____ तथा _____ की विशिष्ट अन्योन्यक्रिया का परिणाम विकास के विविध मार्गों और निष्कर्षों के रूप में हो सकता है।
(a
) खोज; पोषण (b) चुनौतियाँ; सीमाएँ
(c) वंशानुक्रम; पर्यावरण (d) स्थिरता; परिवर्तन
Ans : (c)


48. मनुष्य की बुद्धि आगे की पीढ़ियों में संक्रमित होती है।……… का कार्य इस जन्मजात योग्यता के विकास के लिए उपयुक्त परिस्थितियों का निर्माण करना है।
(a
) क्षेत्र (b) मौसम
(c) वातावरण (d) जलवायु
Ans : (c)


49. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य है?
(a
) आनुवंशिक बनावट व्यक्ति की परिवेश की गुणवत्ता के प्रति‚ प्रत्युत्तरात्मकता को प्रभावित करती है
(b) गोद लिए गए बच्चों का वही बुद्धि-लब्धांक (IQ) होता है‚जो गोद लिए गए उनके सहोदर भाई-बहन का होता है
(c) अनुभव मस्तिष्क के विकास को प्रभावित नहीं करता
(d) विद्यालयीकरण का बुद्धि पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता
Ans:(a)


50. प्रकृति-पोषण विवाद निम्नलिखित में से किससे सम्बन्धित है?
(a
) व्यवहार एवं वातावरण
(b) वातावरण एवं जीव-विज्ञान
(c) वातावरण एवं पालन-पोषण
(d) आनुवांशिकी एवं वातावरण
Ans: (d)


51. बच्चों के व्यवहार को समझने के लिए विद्यार्थियों के घर के वातावरण का महत्त्वपूर्ण स्थान है तथा इससे प्राप्त सूचना को प्रभावशाली शिक्षाशाध्Eा के निर्माण से जोड़ा जा सकता है। यह तथ्य अधिगम के किस सिद्धांत से सम्बद्ध है?
(a
) रचनावादी (b) सामाजिक−रचनावादी
(c) व्यवहारवादी (d) पारिस्थितिक
Ans : (d)


52. क्या बच्चे इसलिए भाषा अर्जित करते हैं‚ क्योंकि उनमें आनुवंशिक रूप से ऐसा करने की पूर्वप्रवृत्ति होती है या उनके माता-पिता प्रारंभिक अवस्था से ही उन्हें गहन रूप से सिखाते हैं? यह प्रश्न आवश्यक रूप से दर्शाता है:
(a
) क्या विकास एक सतत प्रक्रिया है या एक असतत प्रक्रिया?
(b) भाषा के विकास पर संज्ञान का प्रभाव।
(c) प्रकृति और पोषण पर बहस
(d) बहु-कारक योग्यता के रूप में विकास पर चर्चा।
Ans: (c)


53. इनमें से किनका नाम ‘सुजननशाध्Eा के पिता’ से जुड़ा हुआ है?
(a
) क्रो एवं क्रो (b) गाल्टन
(c) रॉस (d) वुडवर्थ
Ans : (b)


<
–nextpage–>

05. समाजीकरण की प्रक्रियाएँ‚ सामाजिक विश्व और बालक (शिक्षक‚ विद्यालय‚ अभिभावक‚ जन संचार माध्यम और मित्रगण) समाजीकरण का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. वह प्रक्रिया जिसके द्वारा बच्चे आदतों‚ कौशलों‚ मूल्यों तथा अभिप्रेरणा को विकसित करते हैं और जो उन्हें समाज का जिम्मेदार एवं क्रियाशील सदस्य बनाती है‚ उसे क्या कहा जाता है?
(a
) समावेशन (b) मुख्यधारा से जुड़ना
(c) विभेदीकरण (d) समाजीकरण
Ans. (d)


2. दो संस्कृतियों के बीच व्यवहार में अंतर के लिए इसे उत्तरदायी माना जा सकता है:
(a
) भौगोलिक पृष्ठभूमि (b) समाजीकरण
(c) आनुवंशिकता (d) वातावरण
Ans. (b)


3. सामाजीकरण में सम्मिलित हैं− सांस्कृतिक संचरण और …………….।
(a
) विद्रोहियों को निरुत्साहित करना
(b) वैयक्तिक व्यक्तित्व विकास
(c) बच्चों को लेबलों में समायोजित करना
(d) संवेगात्मक समर्थन उपलब्ध करना
Ans : (b)


4. शिक्षा के संदर्भ में‚ समाजीकरण से तात्पर्य है−
(a
) अपने सामाजिक मानदंड बनाना
(b) समाज में बड़ों का सम्मान करना
(c) सामाजिक वातावरण में अनुकूलन और समायोजन
(d) सामाजिक मानदंडों का सदैव अनुपालन करना
Ans: (c)


5. धर्म जिससे व्यक्तिगत बच्चा संबंधित होता है वह ….. का हिस्सा है
(a
) वंशानुगतता (b) प्रसवपूर्व पर्यावरण
(c) सामाजिक पर्यावरण (d) भौतिक पर्यावरण
Ans. (c)


6. निम्न में से किसको विद्यालय में समाजीकरण की विशिष्ट अवस्था माना जाता है?
(a
) शैशवावस्था (b) बाल्यावस्था
(c) प्रौढ़ावस्था (d) किशोरावस्था
Ans: (b)


7. सबसे अधिक गहन और जटिल समाजीकरण होता है−
(a
) पूर्व बाल्यावस्था के दौरान (b) प्रौढ़ावस्था के दौरान
(c) व्यक्ति के पूरे जीवन में (d) किशोरावस्था के दौरान
Ans: (d)


8. बाद के रिश्तों के लिए पूर्वाभ्यास कहा जाता है :
(a
) विकासात्मक समाजीकरण (b) द्वितीयक समाजीकरण
(c) प्राथमिक समाजीकरण (d) अग्रिम समाजीकरण
Ans. (d)


9. जब आप एक शिक्षक समूह से जुड़ जाते हैं और अपने समूह के अन्य लोगों की ही तरह पोशाक धारण करने लगते हैं‚ तो आप प्रदर्शन कर रहे होते हैं−
(a
) समूह की पहचान का
(b) समूह आज्ञाकारिता का
(c) समूह निर्देश−अनुपालन का
(d) समूह की अनुरूपता का
Ans. (d)


10. बालक का समाजीकरण किससे सम्बन्धित नहीं है?
(a
) आधारभूत मूल्यों को परिवर्तित करने से
(b) वह प्रक्रिया जो तुरन्त हो जाती है
(c) औपचारिक तथ्यों को प्रदर्शित करना
(d) आदर्श आकांक्षाओं को गम्भीरता से लेना
Ans: (b)


11. समाजीकरण वह प्रक्रिया है जिसे बच्चे व वयस्क सीखते हैं
(a
) परिवार से (b) विद्यालय से
(c) श्रेष्ठ जनों से (d) इन सभी से
Ans: (d)


12. संस्कृति पर शिक्षा का क्या प्रभाव पड़ता है?
(a
) संस्कृति की निरंतरता को बनाए रखना
(b) संस्कृति के हस्तांतरण में सहायता करना
(c) संस्कृति का परिष्करण
(d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


13. समाजीकरण की प्रक्रिया में शामिल नहीं है
(a
) मूल्यों और विश्वासों का अर्जन
(b) आनुवांशिक संचरण
(c) एक संस्कृति की रीतियों और मानदण्डों को सीखना
(d) कौशलों का अर्जन
Ans : (b)


14. सामाजिक परिवर्तन का सर्वाधिक कार्यकारी कारक है−
(a
) धर्म (b) शिक्षा
(c) सरकार (d) जाति
Ans : (b)


15. ‘‘जब कभी दो या अधिक व्यक्ति एकसाथ मिलते हैं और एक-दूसरे को प्रभावित करते हैं‚ तो वे एक सामाजिक समूह का निर्माण करते हैं’’ यह कथन
(a
) आंशिक रूप से सत्य है (b) सत्य है
(c) कदाचित सत्य है (d) असत्य है
Ans : (b)


16. एक प्रक्रिया है‚ जिसके माध्यम से मानव शिशु समाज के सक्रिय सदस्य के रूप में निष्पादन करने के लिए आवश्यक कौशलों का अर्जन करना प्रारंभ करता है।
(a
) समाजीकरण (b) विकास
(c) सीखना (d) परिपक्वता
Ans : (a)


17. समाजीकरण एक प्रक्रिया है –
(a
) मूल्यों‚ विश्वासों तथा अपेक्षाओं को अर्जित करने की।
(b) घुलने-मिलने तथा समायोजन की।
(c) एक समाज की संस्कृति की आलोचना करना सीखने की।
(d) मित्रों के साथ सामाजिक बनने की।
Ans: (a)


18. निम्नलिखित में कौन-सा बच्चों के समाजीकरण को प्रगतिशील मॉडल के संदर्भ में सही नहीं है?
(a
) समूह कार्य में सक्रिय सहभागिता तथा सामाजिक कौशलों का सीखना।
(b) बच्चे विद्यालय में बताई गई बातों को स्वीकार करते हैं चाहे उनकी सामाजिक पृष्ठभूमि कुछ भी हो
(c) कक्षा में प्रजातंत्र के लिए स्थान होना चाहिए।
(d) समाजीकरण सामाजिक नियमों का अधिग्रहण है।
Ans : (b)


19. छोटे शिक्षार्थियों को कक्षा-कक्ष में समवयस्कों के साथ अन्त:क्रिया करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए जिससे−
(a
) वे एक-दूसरे से प्रश्नों के उत्तर सीख सकें
(b) पाठ्यक्रम को बहुत जल्दी पूरा किया जा सके
(c) वे पढ़ने के दौरान सामाजिक कौशल सीख सकें
(d) शिक्षक कक्षा-कक्ष को बेहतर तरीकें से नियंत्रित कर सकें
Ans: (c)


20. के.मा.शि.बो. (CBSE) द्वारा अपनाए गए प्रगतिशील शिक्षा के प्रतिमान में बच्चों का समाजीकरण जिस प्रकार से किया जाता है‚ उससे अपेक्षा की जा सकती है कि
(a
) वे समय नष्ट करने वाली सामाजिक आदतों/प्रकृति का त्याग करें तथा सीखें कि किस प्रकार अच्छी श्रेणियाँ पाई जा सकती हैं (Score good grades)
(b) वे सामूहिक कार्य में सक्रिय भागीदारी का निर्वाह करें तथा सामाजिक कौशल सीखें
(c) वे बिना प्रश्न उठाए समाज के नियमों−विनियमों का अनुपालन करने के लिए तैयार हो सकें
(d) किसी भी प्रकार की सामाजिक पृष्ठभूमि होते हुए भी वे वह सब स्वीकार करें जो उन्हें विद्यालय द्वारा प्रदान किया जाता है
Ans : (b)


21. अन्य लोगों से —- के माध्यम से सामाजिक ज्ञान प्राप्त किया जाता है।
(a
) प्रतिक्रिया (b) हतोत्साहन
(c) प्रोत्साहन (d) तर्क
Ans. (a)


22. वह प्रक्रिया जिसके द्वारा माता-पिता यह अनुमान लगाते है कि उनके बच्चे में सभी सकारात्मक गुण है क्योंकि एक गुण सकारात्मक है‚ कहलाता है।
(a
) परिवेश का प्रभाव
(b) हावथेनि का प्रभाव
(c) प्रभाव का नियम
(d) प्रतिलोम परिवेश का प्रभाव
Ans: (b)


23. परिवार एवं पास-पड़ोस‚ बच्चों के समाजीकरण की-
(a
) प्राथमिक एजेंसियाँ हैं। (b) मध्य एजेंसियाँ हैं।
(c) द्वितीयक एजेंसियाँ हैं। (d) मनोवैज्ञानिक एजेंसियाँ हैं।
Ans. (a)


24. निम्नलिखित में से कौन सा द्वितीयक समाजीकरण एजेन्सी का उदाहरण है?
(a
) विद्यालय एवं मीडिया
(b) मीडिया एवं पास-पड़ोस
(c) परिवार एवं पास-पड़ोस
(d) परिवार एवं मीडिया।
Ans. (a)


25. निम्नलिखित में कौन प्राथमिक सामाजीकरण माध्यम है−
(a
) विद्यालय (b) सरकार
(c) मीडिया (d) परिवार
Ans : (d)


26. निम्नलिखित में से कौन बच्चे के समाजीकरण में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं?
(i) मीडिया (ii) विद्यालय (iii) परिवार (iv) पास−पड़ोस
(a
) (ii), (iii) (b) (i), (iii), (iv)
(c) (i), (ii), (iii), (iv) (d) (iii), (i)
Ans. (c)


27. स्कूल बच्चों के समाजीकरण की एक ऐसी संस्था है जहाँ−
(a
) प्रमुख स्थान स्कूली बच्चों का होता है
(b) प्रमुख स्थान स्कूल की दिनचर्या का होता है।
(c) प्रमुख स्थान स्कूल की गतिविधियों का होता है
(d) प्रमुख स्थान स्कूल के शिक्षकों का होता है।
Ans. (a)


28. निम्न में से कौन-सा विद्यालय का मुख्य कार्य नहीं है?
(a
) विद्यालय हमारी सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित व प्रेषित करते हैं
(b) विद्यालय सांस्कृतिक परिवर्तन के लिए यन्त्र का कार्य करते हैं
(c) विद्यालय ‘सम्पूर्ण बालक’ को उसके उच्चतम स्तर तक विकसित करते हैं
(d) विद्यालय जातिवाद के कारण विद्यार्थियों में बुरी भावना का विकास करते हैं
Ans: (d)


29. निम्नलिखित में से कौन−सी संस्था सामाजिक परम्पराओं के हस्तांतरण में सबसे अधिक योगदान करती हैं?
(a
) परिवार (b) विद्यालय
(c) पड़ोस (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans : (a)


30. बच्चे के समाजीकरण में परिवार ………… भूमिका निभाता है।
(a
) कम महत्त्वपूर्ण (b) रोमांचकारी
(c) मुख्य (d) गौण
Ans : (c)


31. निम्नलिखित में से कौन−से समाजीकरण के गौण वाहक हो सकते हैं?
(a
) विद्यालय और पास−पड़ोस
(b) विद्यालय और निकटतम परिवार के सदस्य
(c) परिवार और रिश्तेदार
(d) परिवार और पास−पड़ोस
Ans : (b)


32. मध्याह्न भोजन के दौरान उच्च जाति के विद्यार्थी निम्न जाति के विद्यार्थियों के साथ एक पंक्ति में भोजन करने से इंकार करते हैं। आप क्या करेंगें?
(a
) आप पृथक् बैठक व्यवस्था करने हेतु सहमत हो जाएंगे।
(b) आप उच्चाधिकारियों से निर्देशन प्राप्त करेंगे।
(c) आप विद्यार्थियों को एकसाथ बैठकर भोजन करने के लिए सहमत कर लेंगे।
(d) आप विद्यालय में मध्याह्न भोजन पकाना बंद कर देंगे।
Ans : (c)


33. शिक्षकों को यह सलाह दी जाती है कि वे अपने शिक्षार्थियों को सामूहिक गतिविधियों में शामिल करें क्योंकि सीखने को सुगम बनाने के अतिरिक्त ये …………….. में भी सहायता करती है।
(a
) दुश्चिंता (b) समाजीकरण
(c) मूल्य द्वंद्व (d) आक्रामकता
Ans : (b)


34. समाजीकरण के सन्दर्भ में विद्यालयों के पास प्राय: एक प्रच्छन्न पाठ्यचर्या विद्यमान रहती है‚ जिसमें निहित हैं
(a
) परिवारों के माध्यम से विद्यार्थियों का समझौतापूर्ण (negotiating) व प्रतिरोधक समाजीकरण
(b) मूल्यों व अभिवृत्तियों का शिक्षण एवं आकलन
(c) बलात्मक अधिगम‚ चिन्तन व समक्षीय साथी एवं अध्यापक की अनुकृति द्वारा विशेष रूप से अपनाया जाने वाला व्यवहार
(d) अन्त:क्रिया व सामग्री द्वारा विद्यालयों में प्रस्तुत किए जाने वाले सामाजिक भूमिकाओं से सम्बद्ध अनौपचारिक संकेत
Ans : (d)


35. बालक−बालिकओं के सामाजिक विकास का आधारभूत अभिकरण कहा जाता है−
(a
) विद्यालय (b) माता−पिता एवं परिवार
(c) समुदाय (d) जनसंचार माध्यम
Ans : (b)


36. विद्यालय का कार्य होता है−
(a
) संस्कृति का संरक्षण
(b) संस्कृति का परिष्करण
(c) संस्कृति के नये प्रतिरूपों का निर्माण
(d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


37. बच्चों के सामाजिक विकास में……… का विशेष महत्त्व है।
(a
) खेल (b) बाल साहित्य
(c) दिनचर्या (d) संचार माध्यम
Ans : (a)


38. विद्यार्थियों को विद्यालय में खेलना क्यों उचित है?
(a
) यह उन्हें शारीरिक रूप से सशक्त बनाएगा
(b) यह शिक्षकों के लिए काम आसान करेगा
(c) यह समय बिताने में सहायक होगा
(d) यह सहयोग एवं सन्तुलन का विकास करेगा
Ans : (d)


39. विद्यालय और समाजीकरण के बारे में निम्नलिखित में से क्या सत्य है?
(a
) विद्यालय समाजीकरण का पहला मुख्य कारक है।
(b) विद्यालय समाजीकरण का एक महत्त्वपूर्ण कारक है।
(c) समाजीकरण में विद्यालय की कोई भूमिका नहीं होती।
(d) समाजीकरण में विद्यालय की बहुत थोड़ी भूमिका होती है।
Ans : (b)


40. निम्नलिखित में से कौन-सा समाजीकरण का एक प्रमुख कारक है?
(a
) परिवार (b) कम्प्यूटर
(c) आनुवंशिकता (d) राजनीतिक दल
Ans : (a)


41. ‘‘जन-संचार माध्यम समाजीकरण का एक महत्त्वपूर्ण माध्यम बनता जा रहा है।’’ नीचे दिए गए कथनों में से कौन-सा सबसे उपयुक्त कथन है?
(a
) संचार माध्यम पदार्थों के विज्ञापन और विक्रय के लिए एक अच्छा माध्यम है।
(b) समाजीकरण केवल माता-पिता और परिवार के द्वारा किया जाता है
(c) जन-संचार माध्यमों की पहुँच बढ़ रही है और जनसंचार माध्यम अभिवृत्तियों‚ मूल्यों और विश्वासों को प्रभावित करता है।
(d) बच्चे संचार माध्यमो के साथ प्रत्यक्ष रूप से अंत:क्रिया नहीं कर सकते है।
Ans : (c)


42. निम्न में से कौन-सा समाजीकरण की निष्क्रिय एजेंसी है?
(a
) परिवार (b) ईको क्लब
(c) सार्वजनिक पुस्तकालय (d) स्वास्थ्य क्लब
Ans: (c)


४३. निम्नलिखित में से कौन-सा अधिनायकवादी पालनपोष ण की विशेषता नहीं है?
(a
) अत्यधिक दंडात्मक
(b) कठोर
(c) आज्ञाकारिता की मांग
(d) सजा के लिए स्पष्टीकरण का प्रावधान
Ans : (d)


44. वे माता−पिता जो बच्चे को दंडित करने में विश्वास करते हैं‚ ………….. दर्शाता है।
(a
) असंबद्ध (भावनात्मक रूप से न जुड़ा हुआ) परवरिश
(b) अनुमोदक परवरिश
(c) आधिकारिक परवरिश
(d) अधिकारवादी परवरिश
Ans. (d)


45. निम्नलिखित में से कौन-सा माता-पिता द्वारा बच्चों को असफलता से निपटने में समर्थन देने और उनकी मदद करने का सबसे अच्छा तरीका है?
(a
) उनकी असफलता को भूलाने के लिए बच्चे को किसी अन्य गतिविधि में व्यस्त करने हेतु एक आरामदायक परिवेश का निर्माण करना
(b) सुनना‚ सहानुभूति रखना‚ फिर सीखने के अवसरों पर ध्यान केंद्रित करना‚ न कि क्षमताओं पर
(c) अपने बच्चों के लिए ऐसे परिवेश का निर्माण करे जो उन्हें संभावित असफलता या निराशा से बचायें।
(d) बच्चों को उनकी क्षमताओं से परे धकेलना या पुश करना।
Ans. (b)


46. निम्नलिखित में से कौन एक बच्चे की विलक्षणता नहीं है‚ जिसके माता-पिता अधिनायकवादी (अथॉरिटेरियन) हैं?
(a
) अमित्र (b) एकांतप्रिय
(c) स्वतंत्र (d) अंतर्मुखी
Ans. (c)


47. विद्यालय कार्यक्रम के बाद माध्यमिक विद्यालय के बच्चों को ………….. के माध्यम से अपने परिवारों के बाहर वयस्कों के साथ लंबे समय तक चलने वाले रिश्ते बनाने के लिए सुरक्षित अवसरों की अनुमति देता है।
(a
) आनंद और खुशी
(b) कठिनाई और जिम्मेदारी
(c) अकादमिक उत्कृष्टता के लिए पढ़ना और लिखना
(d) स्वतंत्रता‚ सहकर्मी संबंध और नेतृत्व
Ans. (d)


48. निम्नलिखित में से कौन सी थेरेपी‚ माता-पिता को अपने बच्चों के लक्षणों को नियंत्रित करने और प्रबंधित करने के लिए दी जाती है जिनके बच्चे विशेष रूप से आचरण विकार (कंडक्टर डिसऑर्डर) से पीड़ित होते हैं :
(a
) पैरेंट ट्रेनिंग प्रोग्राम्स
(b) कार्यात्मक परिवार थेरेपी
(c) प्रणालीगत फैमिली थेरेपी
(d) प्ले थेरेपी
Ans. (a)


<
–nextpage–>

06. पियाजे‚ कोह्लबर्ग‚ ब्रूनर एवं वाइगोत्सकी के सिद्धांत पियाजे का संज्ञानात्मक विकास सिद्धांत

1. बच्चों के संज्ञानात्मक विकास को सबसे अच्छे तरीके से कहाँ परिभाषित किया जा सकता है?
(a
) खेल के मैदान में (b) विद्यालय एवं कक्षा में
(c) ऑडिटोरियम में (d) गृह में
Ans : (b)


2. आजकल बच्चों की ‘गलत धारणाओं को’ ‘वैकल्पिक धारणाएँ’ कहने की एक प्रवृत्ति है। इसे कहा जा सकता है :
(a
) बच्चों की गलतियों की व्याख्या के लिए मनोहर शब्दों का उपयोग करना
(b) बच्चों को उनकी सोच में प्रौढ़ों के समान मानना
(c) बच्चों के समझ में सूक्ष्म भेद करना और उनका अपने सीखने के प्रति निष्क्रिय रहना
(d) पहचानना कि बच्चे सोच सकते हैं और उनकी सोच प्रौढ़ों से भिन्न होती है
Ans : (d)


3. एक तीन साल का बच्चा बताता है कि दूध बूथ पर एक मशीन द्वारा दूध का उत्पादन होता है। निम्नलिखित में से कौन-सा बच्चे की समझ का सबसे अच्छा स्पष्टीकरण प्रदान करता है?
(a
) बच्चे को दुनिया का बहुत सीमित अनावरण/ज्ञान है।
(b) बच्चे का जवाब दूध बूथ से दूध खरीदने के अपने अनुभव पर आधारित है।
(c) बच्चे ने गायों को कभी नहीं देखा है।
(d) बच्चे का परिवार बच्चे को प्रेरक वातावरण प्रदान नहीं करता।
Ans. (b)


4. किसी वस्तु के स्थायित्व की अवधारणा पियाजे के विकास के ………….. चरण में प्राप्त हो जाती है।
(a
) संवेदी−गामक (b) पूर्व−परिचालन
(c) मूर्त परिचालन (d) औपचारिक परिचालन
Ans. (a)


5. स्वजागरूकता एवं संज्ञानात्मक क्षमताओं का नियंत्रण‚ जैसे−योजना बनाना‚ समीक्षा करना और संशोधन करना इत्यादि …………….. में अंतर्निहित हैं।
(a
) केन्द्रीकरण (b) संज्ञानबोध
(c) संज्ञान (d) समायोजन
Ans. (b)


6. निम्नलिखित में से कौन-सी पूर्व-संक्रियात्मक विचार की एक सीमा नहीं है?
(a
) ध्यान केन्द्रित करने की प्रवृत्ति
(b) प्रतीकात्मक विचार का विकास
(c) अहंमन्यता
(d) अनुत्क्रमणीयता
Ans. (b)


7. निम्नलिखित में से कौन सा मूर्त क्रियात्मक अवस्था के प्रमुख कौशलों में से एक है?
(a
) सुरक्षित रखने की योग्यता
(b) परिकल्पित निगमनात्मक तर्क
(c) द्वितीयक वर्तुल प्रतिक्रियाएँ
(d) सजीवात्मक चिंतन
Ans. (a)


8. पियाजे के अनुसार‚ विशिष्ट मनोवैज्ञानिक संरचनाएँ (अनुभव से सही अर्थ निकालने के व्यवस्थित तरीके) को क्या कहा जाता है?
(a
) स्कीमा (b) प्रतिमान
(c) मानसिक मैप (d) मानसिक उपकरण
Ans. (a)


9. निम्नलिखित में से कौन सा पूर्व क्रियात्मक अवस्था काल के बच्चे को विशेषित करता है?
(a
) लक्ष्य-निर्देशित व्यवहार
(b) विलंबित अनुकरण
(c) विचारों की अनुत्क्रमणीयता
(d) वर्तुल प्रतिक्रिया
Ans : (c)


10. जीन पियाजे द्वारा परिभाषित वह अवस्था जहाँ संज्ञानात्मक विकास बालक के अपनी इन्द्रियों के प्रयोग तथा बाहरी दुनिया का पता लगाने के प्रयासों से होता है :
(a
) ज्ञानेन्द्रिय अवस्था (b) पूर्व-परिचालन अवस्था
(c) ठोस अवस्था (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (a)


11. जीन पियाजे के सिद्धांत का प्रमुख प्रस्ताव है कि−
(a
) बच्चों की सोच वयस्कों से बेहतर होती है।
(b) बच्चों की सोच मात्रात्मक रूप में वयस्कों से भिन्न होती है।
(c) बच्चों की सोच गुणात्मक रूप में वयस्कों से भिन्न होती है।
(d) बच्चों की सोच वयस्कों से निम्न होती है।
Ans : (c)


12. निम्नलिखित व्यवहारों में से कौन सा जीन पियाजे के द्वारा प्रस्तावित ‘मूर्त संक्रियात्मक अवस्था’ को विशेषित करता है?
(a
) आस्थगित अनुकरण‚ पदार्थ स्थायित्व
(b) प्रतीकात्मक खेल‚ विचारों की अनुत्क्रमणीयता
(c) परिकल्पित-निगमनात्मक तर्क; साध्यात्मक विचार
(d) संरक्षण‚ कक्षा समावेशन
Ans. (d)


13. बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन सी पियाजे की संरचना है?
(a
) अनुबंधन (b) प्रबलन
(c) स्कीमा (d) अवलोकन अधिगम
Ans. (c)


14. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत से निहितार्थ निकालते हुए एक ग्रेड 6-8 के शिक्षक को अपनी कक्षा में क्या करना चाहिए?
(a
) ऐसी समस्याएँ प्रस्तुत करनी चाहिए जिसमें तर्क आधारित समाधान की आवश्यकता होती है।
(b) एक अवधारणा को पढ़ाने के लिए केवल मूर्त सामग्रियों का प्रयोग करना चाहिए।
(c) केवल निर्धारित पाठ्यक्रम पर निर्भर रहना चाहिए।
(d) तार्किक बहस के प्रयोग को हतोत्साहित करना चाहिए।
Ans. (a)


15. जीन पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत के अनुसार‚ परिकल्पित निगमनात्मक तर्क किस अवधि में विकसित होता है?
(a
) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था
(b) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(c) अमूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(d) संवेदी-चालक अवस्था
Ans. (c)


16. आत्मसातकरण तथा समायोजन की प्रक्रिया किससे सम्बन्धित है? उत्तर: संज्ञानात्मक विकास/ अनुकूलन UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-जीन पियाजे द्वारा प्रतिपादित संज्ञानात्मक विकास की दो मुख्य विशेषताएँ हैं- संगठन तथा अनुकूलन। संगठन से तात्पर्य प्रत्यक्षीकृत तथा बौद्धिक सूचनाओ को सार्थक पैटर्न में व्यवस्थित करने से होता है। अनुकूलन के अंतर्गत व्यक्ति अपने पूर्व ज्ञान तथा नवीन अनुभवों के मध्य संतुलन स्थापित करता है। इसमे ‘आत्मसातकरण’ तथा ‘समायोजन’ दो प्रक्रम सन्निहित होते हैं।


17. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के चार चरणों में कौन-सा सम्मिलित नहीं है?
(a
) इंद्रिय गामक अवस्था
(b) पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था
(c) उत्तर-संक्रियात्मक अवस्था
(d) अमूर्त संक्रियात्मक अवस्था
Ans: (c)


18. पियाजे के अनुसार विकास की प्रथम अवस्था (जन्म से 2 वर्ष तक) में बच्चा अधिक उपयुक्त प्रकार से जिसके द्वारा सीखता है‚ वह है−
(a
) इंद्रियों के प्रयोग द्वारा
(b) अमूर्त चिंतन द्वारा
(c) भाषा के नए सीखे शब्दों के बोध के द्वारा
(d) मूर्त चिंतन द्वारा
Ans: (a)


19. जीन पियाजे की संज्ञानात्मक विकास की अवस्थाओं के अनुसार जिसे पूर्व-प्रत्ययात्मक काल के रूप में जाना जाता है‚ निम्न में से किससे सम्बन्धित है?
(a
) इन्द्रिय गति अवस्था से
(b) मूर्त संक्रिया अवस्था से
(c) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था से
(d) औपचारिक-संक्रिया अवस्था से
Ans: (c)


20. पियाजे के संज्ञानात्मक सिद्धान्त की अवस्थाओं का क्रम निम्न है-
(a
) संवेदनात्मक गामक काल- मूर्त संक्रियात्मक कालपूर्व संक्रियात्मक काल- औपचारिक संक्रियात्मक काल
(b) संवेदनात्मक गामक काल- पूर्व-संक्रियात्मक काल- मूर्त संक्रियात्मक काल- औपचारिक संक्रियात्मक काल
(c) पूर्वसंक्रियात्मक काल- संवेदनात्मक गामक काल- मूर्त संक्रियात्मक काल-औपचारिक संक्रियात्मक काल
(d) पूर्वसंक्रियात्मक काल- संवेदनात्मक गामक काल- औपचारिक संक्रियात्मक काल- मूर्त संक्रियात्मक काल
Ans: (b)


21. जीन पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धान्त की ‘पूर्व संक्रियात्मक अवस्था’ का आयु समूह है
(a
) 0-2 वर्ष (b) 2-7 वर्ष
(c) 4-11 वर्ष (d) 7-12 वर्ष
Ans: (b)


22. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धान्त के अनुसार समाविष्टीकरण से तात्पर्य है
(a
) पूर्ववर्ती विद्यमान बौद्धिक संरचनाओं तथा वातावरणीय माँग का मिलान
(b) चिन्तन के नये तरीकों का समावेश तथा पूर्ववर्ती विद्यमान बौद्धिक संरचनाओं में सुधार करते हुए व्यवहार करना
(c) पूर्व ज्ञान तथा नवीन ज्ञान के बीच साम्यावस्था होना
(d) प्रत्यक्षात्मक व संज्ञानात्मक सूचनाओं को सार्थक पैटर्न में व्यवस्थित करना
Ans: (b)


23. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धान्त की मूर्त- संक्रियात्मक अवस्था निम्न योग्यता द्वारा लक्षित नहीं होती है
(a
) विचारों की विलोमीयता
(b) मानसिक द्वन्द्व
(c) संरक्षण
(d) क्रमबद्धता व पूर्ण-अंश प्रत्ययों का प्रयोग
Ans: (b)


24. ‘‘घटना और वस्तुओं के बारे में एक बच्चा तार्किक रूप से सोच सकता है’’ पियाजे के चरणों के सम्बन्ध में सही कथन है
(a
) सेन्सरी तन्त्रिका तन्त्र (Sensory Motor)
(b) प्रारम्भिक संचालन प्रक्रिया (Pre Operational)
(c) मूर्त संचालन प्रक्रिया (Concrete Operational)
(d) औपचारिक संचालन प्रक्रिया (Formal Operation)
Ans: (c)


25. निम्न सिद्धान्तों में से कौन बच्चे के बौद्धिक विकास के 4 चरणों (संवेदी-चालक‚ पूर्व परिचालन‚ सुदृढ़ परिचालन एवं औपचारिक परिचालन) को चिह्रित करता है?
(a
) एरिक्सन का मनो-सामाजिक विकास का सिद्धान्त
(b) फ्रायड का मानसिक-यौन विकास का सिद्धान्त
(c) जीन पियाजे का संज्ञानात्मक विकास सिद्धान्त
(d) कोह्लबर्ग का नैतिक विकास सिद्धान्त
Ans: (c)


26. वस्तुओं को क्रम से लगाने की क्षमता बालक में विकसित होती है जब वह
(a
) इन्द्रियगति अवस्था में हो (b) पूर्व क्रिया अवस्था में हो
(c) मूर्त क्रिया अवस्था में हो (d) औपचारिक क्रिया अवस्था में हो
Ans: (c)


27. निम्न में से कौन पियाजे के अनुसार बौद्धिक विकास का निर्धारक तत्व नहीं है?
(a
) सामाजिक संचरण (b) अनुभव
(c) सन्तुलनीकरण (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


28. फ्रायड‚ पियाजे एवं अन्य मनोवैज्ञानिकों ने व्यक्तित्व विकास की विभिन्न अवस्थाओं के सन्दर्भ में व्याख्या की है। परन्तु पियाजे ने
(a
) कहा कि विकास की अवस्थाएँ वातावरण से निर्धारित होती हैं
(b) कहा कि शैशवावस्था के अनुभव ही अधिक प्रभावित करते हैं‚ बाकी अवस्थाओं के सीमित प्रभाव होते हैं
(c) विभिन्न अवस्थाओं को समझाने के लिए संज्ञानात्मक बदलाव के बारे में कहा
(d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (c)


29. पियाजे के अनुसार बच्चा अमूर्त स्तर पर चिंतन‚ बौद्धिक क्रियाएँ और समस्या समाधान किस अवस्था में करने लगता है?
(a
) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था (2-7 वर्ष)
(b) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था (7-11 वर्ष)
(c) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था (11-15 वर्ष)
(d) संवेदी पेशीय अवस्था (0-2 वर्ष)
Ans: (c)


30. पियाजे की कौन-सी अवस्था का सम्बन्ध अमूर्त एवं तार्किक चिन्तन से है?
(a
) संवेदीगामक अवस्था
(b) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था
(c) अर्मूत संक्रियात्मक अवस्था
(d) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
Ans: (c)


31. जीन पियाजे द्वारा परिभाषित चरण जिसमें ज्ञानात्मक विकास की शुरुआत शिशु द्वारा अपनी संवेदना (विवेक) एवं गतिविधियों का इस्तेमाल दुनिया को समझने के साथ होती है‚ कहलाता है?
(a
) संवेदी मोटर अवस्था (b) संचालन पूर्व अवस्था
(c) साकार (मूर्त) अवस्था (d) इनमें कोई नहीं।
Ans : (a)


32. अपने आसपास के वातावरण (माहौल) के साथ सामंजस्य बैठाने (ढालने) की क्षमता से बुद्धिमत्ता का संबंध जोड़ने वाला मनोवैज्ञानिक था?
(a
) जीन पियाजे (b) थार्नडाइक
(c) होर्वाड गार्डनर (d) इनमें कोई नहीं
Ans: (a)


33. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास सिद्धान्त के अनुसार संवेदी-क्रियात्मक अवस्था होती है
(a
) जन्म से 2 वर्ष (b) 2 से 7 वर्ष
(c) 7 से 11 वर्ष (d) 11 से 16 वर्ष
Ans: (a)


34. एक बच्ची को उसके पिता चहलकदमी करा रहे थे। बच्ची जानती थी कि चिड़िया जैसी चीजें होती है परन्तु उसने कभी पतंग को नहीं देखा था। पतंग को देखकर उसने कहा ‘चिड़िया को तो देखों’ उसके पिता ने कहा ‘यह एक पतंग है’। यह उदाहरण दिखाता है।
(a
) सम्मिलन (b) समायोजन
(c) संरक्षण (d) वस्तु का प्रदर्शन
Ans: (b)


35. तर्क‚ जिज्ञासा तथा निरीक्षण शक्ति का विकास होता है-
(a
) 6 वर्ष की आयु में (b) 8 वर्ष की आयु में
(c) 11 वर्ष की आयु में (d) 15 वर्ष की आयु में
Ans: (c)


36. पियाजे के विकास की अवस्थाओं में संवेदी गामक अवस्था समायोजित करता है-
(a
) अनुकरण‚ स्मृति एवं मानसिक प्रस्तुतीकरण
(b) विकल्पों की व्याख्या एवं विश्लेषण करने की क्षमता
(c) तार्किक रूप से समस्या के समाधान की क्षमता
(d) सामाजिक मुद्दों से सरोकार
Ans: (a)


38. पियाजे के अनुसार मूर्त संक्रियाओं का स्तर किस अवधि में घटित होता है?
(a
) जन्म से 2 वर्ष (b) 2 से 7 वषर्
(c) 7 से 11 वर्ष (d) 11 से 15 वर्ष
Ans: (c)


39. पियाजे के अनुसार संज्ञानात्मक विकास की अवस्थाओं को बाँटा गया है
(a
) चार भागों में (b) तीन भागों में
(c) दो भागों में (d) पाँच भागों में।
Ans: (a)


40. जीन पियाजे के अनुसार‚ प्रारूप (स्कीमा) निर्माण वर्तमान योजनाओं के अनुरूप बनाने हेतु नवीन जानकारी में संशोधन और नवीन जानकारी के आधार पर पुरानी योजनाओं में संशोधन के परिणाम के रूप में घटित होता है। इन दो प्रक्रियाओं को जाना जाता है−
(a
) समावेशन और अनुकूलन के रूप में
(b) साम्यीकरण और संशोधन के रूप में
(c) समावेशन और समायोजन के रूप में
(d) समायोजन और अनुकूलन के रूप में
Ans : (c)


41. पियाजे के अनुसार‚ बच्चों का चिन्तन वयस्कों से …………. भिन्न होता है बजाए ……………. के।
(a
) मात्रा‚ प्रकार (b) आकार‚ मूर्तपरकता
(c) प्रकार‚ मात्रा (d) आकार‚ किस्म
Ans : (c)


42. जीन पियाजे के अनुसार अनुकूलन……… द्वारा होता है।
(a
) आत्मसात्करण (b) व्यवस्थापन
(c) अनुभव (d) आत्मसात्करण तथा व्यवस्थापन
Ans : (d)


43. पियाजे के अनुसार‚ ‘संज्ञानात्मक विकास के किस चरण पर बच्चा ‘वस्तु−स्थायित्व’ को प्रदर्शित करता है?
(a
) संवेदी प्रेरक चरण
(b) पूर्व−संक्रियात्मक चरण
(c) मूर्त संक्रियात्मक चरण
(d) औपचारिक संक्रियात्मक चरण
Ans : (a)


44. पियाजे की औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था‚ बालक की किस आयु अवधि तक मानी जाती है?
(a
) 0−2 वर्ष (b) 2−7 वर्ष
(c) 7−11 वर्ष (d) 11−15 वर्ष
Ans : (d)


45. वह कौन−सा स्थान है जहाँ बच्चे के ‘संज्ञानात्मक’ विकास को सबसे बेहतर तरीके से परिभाषित किया जा सकता है?
(a
) खेल का मैदान (b) विद्यालय एवं कक्षा पर्यावरण
(c) सभागार (d) घर
Ans : (b)


46. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के चरणों के अनुसार‚ इन्द्रिय−गामक (संवेदी−प्रेरक) अवस्था किसके साथ सम्बन्धित है?
(a
) सामाजिक मुद्दों से सरोकार
(b) अनुकरण‚ स्मृति और मानसिक निरूपण
(c) तार्किक रूप से समस्या−समाधान की योग्यता
(d) विकल्पों के निर्वचन और विश्लेषण करने की योग्यता
Ans : (b)


47. एक शिक्षिका दो एकसमान गिलासों को प्रदर्शित करती हैं जो जूस की समान मात्रा से भरे हुए हैं। वह उन्हें दो भिन्न गिलासों में खाली करती है जिसमें से एक लम्बा है और दूसरा चौड़ा है। वह बच्चों को उस गिलास की पहचान करने के लिए कहती है जिसमें जूस ज्यादा है। बच्चे प्रत्युत्तर देते हैं कि लंबे गिलास में जूस ज्यादा है। शिक्षिका के बच्चों को ………….. कठिनाई है।
(a
) समायोजन (b) अहम्केंद्रिता
(c) विकेंद्रीकरण (d) पलटावी
Ans : (d)


48. ‘मानसिक संरचनाएँ जो चिन्तन के निर्माण प्रखण्ड हैं’ इसके लिए पियाजे ने किस शब्द/पद का प्रयोग किया है?
(a
) जीन (b) परिपक्वन प्रखण्ड
(c) स्कीमा (अवधारणाएँ) (d) विकास का क्षेत्र
Ans : (c)


49. अमूर्त वैज्ञानिक चिन्तन के लिए क्षमता का विकास निम्नलिखित अवस्थाओं में किसकी एक विशेषता है?
(a
) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(b) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था
(c) संवेदी−गतिक अवस्था
(d) पूर्व− संक्रियात्मक अवस्था
Ans : (b)


50. सीता ने हाथ से दाल और चावल खाना सीख लिया है। जब उसे दाल और चावल दिए जाते हैं तो वह दाल− चावल मिलाकर खाने लगती है। उसने चीजों को करने के लिए अपने स्कीमा में दाल और चावल खाने ………. कर लिया है।
(a
) अंगीकार (b) समायोजित
(c) अनुकूलित (d) समुचिता
Ans : (c)


51. पियाजे अनुमोदन करते हैं कि पूर्व−संक्रियात्मक बच्चे याद रखने में असमर्थ होते हैं। निम्नलिखित कारकों में से किसको उन्होंने इस असमर्थता के लिए जिम्मेदार ठहराया है?
(a
) परिकल्पित−निगमनात्मक तार्किकता की अयोग्यता
(b) उच्च स्तर की अमूर्त तार्किकता की कमी
(c) व्यक्तिगत कल्पित कथा
(d) विचार की अनुत्क्रमणीयमा (पलट न सके)
Ans : (d)


52. पियाजे के सिद्धांत के अनुसार‚ निम्नलिखित में से कौन−सा व्यक्ति के संज्ञानात्मक विकास को प्रभावित नहीं करेगा?
(a
) भाषा (b) सामाजिक अनुभव
(c) परिवक्वन (d) क्रियाकलाप
Ans : (a)


53. प्रचलित योजनाओं में नई जानकारी जोड़ने को किस नाम से जाना जाता है?
(a
) समायोजन (b) साम्यधारण
(c) आत्मसात्करण (d) संगठन
Ans : (c)


54. पियाजे के अनुसार‚ विकास को प्रभावित करने में निम्नलिखित कारकों में से किसकी भूमिका महत्त्वपूर्ण होती है?
(a
) भौतिक विश्व के साथ अनुभव
(b) अनुकरण
(c) पुनर्बलन
(d) भाषा
Ans : (a)


55. पियाजे मुख्य रूप से किसके अध्ययन के लिए जाने जाते हैं?
(a
) भाषा विकास (b) यौन विकास
(c) संज्ञानात्मक विकास (d) सामाजिक विकास
Ans : (c)


56. पियाजे के अनुसार संज्ञानात्मक विकास की द्वितीय अवस्था है?
(a
) ज्ञानेन्द्रिय अवस्था
(b) औपचारिक संक्रियता की अवस्था
(c) पूर्व-संक्रिया की अवस्था
(d) मूर्त संक्रिया की अवस्था
Ans : (c)


57. मानव के ज्ञानात्मक (मानसिक) विकास की मूर्त संक्रिया अवस्था में सामान्यत: किस आयु काल को शामिल किया जाता है?
(a
) लगभग दो से सात वर्ष तक
(b) जन्म से दो वर्ष तक
(c) लगभग सात से ग्यारह वर्ष तक
(d) लगभग बारह से पंद्रह वर्ष तक
Ans : (c)


58. पियाजे के अनुसार अहंकेन्द्रित क्या है?
(a
) वातावरण ज्ञान का केन्द्र
(b) बालक विश्व का केन्द्र है और हर चीज उसके इर्द− गिर्द घूमती है
(c) संवेदी गामक अवस्था
(d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (b)


59. पियाजे के सिद्धांत में आयतन‚ लंबाई मात्रा इत्यादि का संरक्षण किस अवस्था में होता है?
(a
) स्थूल प्रक्रिया (b) औपचारिक प्रक्रिया
(c) पूर्व प्रक्रिया (d) संवेदी-पेशीय प्रक्रिया
Ans : (a)


60. पियाजे मुख्यत:…….. के क्षेत्र में योगदान के लिए जाने जाते हैं।
(a
) भाषा विकास (b) ज्ञानात्मक विकास
(c) नैतिक विकास (d) सामाजिक विकास
Ans : (b)


61. पियाजे के संज्ञानात्मक विकास सिद्धान्त में अमूर्त तर्क एवं परिपक्व नैतिक चिंतन किस अवस्था की विशेषताएँ हैं?
(a
) संवेदनात्मक-गामक अवस्था
(b) पूर्व संक्रियावस्था
(c) औपचारिक संक्रियावस्था
(d) मूर्त संक्रिया अवस्था
Ans : (c)


62. जीन पियाजे के द्वारा प्रस्तुत ‘संरक्षण’ के प्रत्यय से तात्पर्य है कि−
(a
) दूसरों के परिदृश्य को ध्यान में रखना एक महत्त्वपूर्ण संज्ञानात्मक क्षमता है
(b) वन्यजीवन और वनों का संरक्षण बहुत महत्त्वपूर्ण है
(c) कुछ भौतिक गुणधर्म वही रहते हैं चाहे बाहरी आकृतियाँ बदल जाएँ
(d) परिकल्पना पर विधिवत् परीक्षण से सही निष्कर्ष पर पहुँचा जा सकता है
Ans : (c)


63. जीन पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत के बारे में निम्नलिखित कथनों में से सही कथन कौन-सा है?
(a
) बच्चों के सांस्कृतिक आधार के अनुसार इन चरणों का क्रम बदला जा सकता है।
(b) पियाजे का तर्क है कि संज्ञानात्मक विकास‚ चरणों में आगे बढ़ने की अपेक्षा निरंतर होता है।
(c) पियाजे ने संज्ञानात्मक विकास के पाँच स्पष्ट चरण प्रस्तावित किए हैं।
(d) किसी चरण को छोड़ा नहीं जा सकता क्योंकि ये चरण स्थिर हैं।
Ans : (d)


64. निम्नलिखित में से कौन-सा एक सही मिलान वाला जोड़ा है ?
(a
) मूर्त संक्रियात्मक बच्चा – संधारण एवं वर्गीकरण करने योग्य
(b) औपचारिक संक्रियात्मक बच्चा – अनुकरण प्रारंभ‚ कल्पनापरक खेल
(c) शैशवावस्था – तर्क का अनुप्रयोग और अनुमान लगाने में सक्षम
(d) पूर्वसंक्रयात्मक बच्चा – निगमनात्मक विचार
Ans : (a)


65. नवीन जानकारी को शामिल करने के लिए वर्तमान स्कीमा (अवधारणा) में बदलाव की प्रक्रिया ……. कहलाती है−
(a
) अनुकूलन (b) आत्मसात्करण
(c) समायोजन (d) अहंकेन्द्रिता
Ans : (c)


66. पियाजे के अनुसार 2 से 7 वर्ष के बीच का एक बच्चा संज्ञानात्मक विकास की …….. अवस्था में है−
(a
) पूर्व संक्रियात्मक (b) औपचारिक संक्रियात्मक
(c) मूर्त संक्रियात्मक (d) संवेदी-गतिक
Ans : (a)


67. पूर्व-संक्रियात्मक काल में आने वाली संज्ञानात्मक योग्यता है
(a
) अमूर्त चिंतन की योग्यता
(b) अभिकल्पनात्मक निष्कर्ष चिंतन
(c) लक्ष्य-उद्दिष्ट व्यवहार की योग्यता
(d) दूसरे के दृष्टिकोण को समझने की योग्यता
Ans : (c)


68. एक वर्ष तक के शिशु जब आँख‚ कान व हाथों से ‘‘सोचते’’ हैं‚ तो निम्नलिखित में से कौन-सा स्तर शामिल होता है?
(a
) पूर्व-संक्रियात्मक स्तर (b) इंद्रियजनित गामक स्तर
(c) अमूर्त संक्रियात्मक स्तर (d) मूर्त संक्रियात्मक स्तर
Ans: (b)


69. पियाजे के सिद्धान्त के अनुसार‚ बच्चे निम्न में से किसके द्वारा सीखते हैं?
(a
) सही प्रकार से ध्यान लगाकर जानकारी को याद करना
(b) समाज के आर्थिक योग्य सदस्यों के द्वारा उपलब्ध कराए गए सहारे के आधार पर
(c) अनुकूलन की प्रक्रियाएँ
(d) उपयुक्त पुरस्कार दिए जाने पर अपने व्यवहार में परिवर्तित करना
Ans: (c)


70. छिपी हुई वस्तुएँ ढूढ़ निकालना इस बात का संकेत है कि शिशु निम्नलिखित में से किस संज्ञानात्मक कार्य में दक्षता प्राप्त करने लगा है?
(a
) साभिप्राय व्यवहार (b) वस्तु-स्थायित्व
(c) समस्या-समाधान (d) प्रयोग करना
Ans: (b)


71. पियाजे के विकासात्मक सिद्धान्त के परिप्रेक्ष्य − में निम्नलिखित में से कौन-सा आरेख विकास को समुचित रूप से स्पष्ट करता है।
(a
) (b)
(c) (d)
Ans: (a)


72. निम्नलिखित में से कौन-सा निहितार्थ पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धान्त से नहीं निकाला जा सकता?
(a
) बच्चों की अधिगमनात्मक तत्परता के प्रति संवेदनशीलता
(b) वैयक्तिक भेदों की स्वीकृति
(c) खोजपूर्ण अधिगम
(d) शाब्दिक शिक्षण की आवश्यकता
Ans: (d)


73. पियाजे के अनुसार‚ निम्नलिखित में से कौन सी अवस्था में बच्चा अमूर्त संकल्पनाओं के विषय में तार्किक चिंतन करना आरंभ करता है?
(a
) औपचारिक-संक्रियात्मक अवस्था (12 वर्ष एवं ऊपर)
(b) संवेदी −प्रेरक अवस्था (जन्म -02 वर्ष)
(c) पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था (02-07 वर्ष)
(d) मूर्त-संक्रियात्मक अवस्था (07-11 वर्ष)
Ans: (a)


74. वह अवस्था जब बच्चा तार्किक रूप से वस्तुओं व घटनाओं के विषय में चिंतन प्रारंभ करता है‚ है
(a
) औपचारिक-संक्रियात्मक अवस्था
(b) पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था
(c) मूर्त-संक्रियात्मक अवस्था
(d) संवेदी-पे्ररक अवस्था
Ans: (c)


75. पियाजे के अनुसार‚ संज्ञानात्मक विकास के किस चरण पर बच्चा ‘वस्तु स्थायित्व’ को प्रदर्शित करता है?
(a
) मूर्त संक्रियात्मक चरण
(b) औपचारिक संक्रियात्मक चरण
(c) संवेदी प्रेरक चरण
(d) पूर्व-संक्रियात्मक चरण
Ans: (c)


76. पियाजे के अधिगम के संज्ञानात्मक सिद्धान्त के अनुसार‚ वह प्रक्रिया जिसके द्वारा संज्ञानात्मक संरचना को संशोधित किया जाता है‚ …… कहलाती है।
(a
) प्रत्यक्षण (b) समायोजन
(c) समावेशन (d) स्कीमा
Ans: (b)


77. पियाजे के अनुसार विकास की पहली अवस्था (जन्म से लगभग 2 वर्ष आयु) के दौरान बच्चा ……….. सबसे बेहतर सीखता है।
(a
) अमूर्त तरीके से चिंतन द्वारा
(b) भाषा के नए अर्जित ज्ञान के अनुप्रयोग द्वारा
(c) इंद्रियों के प्रयोग द्वारा
(d) निष्क्रिय (neutral) शब्दों को समझने के द्वारा
Ans: (c)


78. बच्चों के बौद्धिक विकास की चार विशिष्ट अवस्थाओं की पहचान की गई
(a
) एरिकसन द्वारा (b) स्किनर द्वारा
(c) पियाजे द्वारा (d) कोह्लबर्ग द्वारा
Ans: (c)


79. उत्तर बाल्यावस्था में बालक भौतिक वस्तुओं के किस आवश्यक तत्व में परिवर्तन समझने लगते हैं?
(a
) द्रव्यमान (b) द्रव्यमान और संख्या
(c) संख्या (d) द्रव्यमान‚ संख्या और क्षेत्र।
Ans: (d)


80. संज्ञानात्मक विकास के चार चरणों – संवेदी पेशीय‚ पूर्व संक्रियात्मक‚ स्थूल संक्रियात्मक और औपचारिक संक्रियात्मक‚ की पहचान की गई है।
(a
) हिलगार्ड द्वारा (b) स्टॉट द्वारा
(c) हरलॉक द्वारा (d) पियाजे द्वारा
Ans : (d)


81. बालकों की सोच अमूर्तता की अपेक्षा मूर्त अनुभवों एवं प्रत्ययों से होती है। यह अवस्था है
(a
) 7 से 12 वर्ष तक (b) 12 से वयस्क तक
(c) 2 से 7 वर्ष तक (d) जन्म से 2 वर्ष तक।
Ans: (a)


82. पियाजे ने क्षमताओं और योग्यताओं को यह नाम दिया है-
(a
) स्कीमा
(b) समायोजन (एकोमेडेशन)
(c) अहंकेन्द्रभाव (इगो सेन्ट्रिज्म)
(d) आत्मसात्करण
Ans. (a)


83. कोई वस्तु क्या है और हम उसके साथ कैसे व्यवहार करते हैं‚ इस विषय में उससे जुड़े मानसिक प्रतिरूप या विचार को कहा जाता है-
(a
) निर्माण (b) नेटवर्क
(c) स्कीमा (d) संरचना
Ans. (c)


84. पियाजे के अनुसार‚ ७ से १२ साल की उम्र के विकास की अवस्था को कहा जाता है:
(a
) मूर्त संक्रियात्मक (b) औपचारिक संक्रियात्मक
(c) पूर्व−संक्रियात्मक (d) संवेदी पेशीय अवस्था
Ans. (a)


85. निम्नलिखित में से कौन सा सिद्धांत इस समझ को संदर्भित करता है कि वस्तुएं तब भी मौजूद रहती हैं जब उन्हें देखा या अनुभव नहीं किया जा सकता?
(a
) संरक्षण (b) वस्तु स्थायित्व
(c) मन का सिद्धांत (d) जीववाद
Ans. (b)


86. जब नए विचारों को मौजूदा विचारों में शामिल किया जाता है‚ तो उन्हें …………… के रूप में जाना जाता है।
(a
) अनुकूलन (b) प्रतिकृतियन
(c) आत्मसात्करण (d) पुनरूत्पादन
Ans. (c)


87. क्षैतिज डेकलआयु नामक घटना का वर्णन किसने किया?
(a
) इरिक्सन (b) पियाजे
(c) फ्रायड (d) वाइगोत्सकी
Ans. (b)


88. एक १२ साल का बच्चा यह समझता है कि एक मेज का वजन वही रहता है‚ चाहें वह दाईं ओर हो या उल्टी हो। उसने किस सिद्धांत को समझा है?
(a
) संरक्षण (b) आगमनात्मक तर्क
(c) वस्तु स्थायित्व (d) परिकल्पित तर्क
Ans. (a)


89. निम्नलिखित में से कौन-सा पियाजे के इन्द्रियजनित गामक अवस्था की उपअवस्था नहीं है?
(a
) गौण वृत्तीय अनुक्रिया (b) सहज गतिविधि
(c) प्राथमिक वृत्तीय अनुक्रिया (d) क्रमबद्धता
Ans : (d)


90. संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत के अनुसार‚ मूर्त संक्रियात्मक अवस्था ……… उम्र में शुरू होती है−
(a
) 5 (b) 1
(c) 3 (d) 7
Ans : (d)


91. एक बच्चा कहता है कि उसका दोस्त जो ५ फीट लंबा है‚ वह अपने चाचा से बड़ा हो सकता है‚ जो केवल ४ फीट लंबा है। किसी व्यक्ति की उâँचाई की व्याख्या करने के इस दृष्टिकोण को ………. में बच्चे को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।
(a
) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था
(b) सेंसरीमोटर अवस्था
(c) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था
(d) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
Ans. (c)


92. राधा ने अपने छात्रों से उनके लिए एक अध्याय से प्रश्न बनाने और उससे संबंधित उत्तर लिखने के लिए कहा। एक छात्र‚ संज्ञानात्मक विकास के किस चरण में इस कार्य के निहितार्थ से सबसे अधिक लाभान्वित होता है?
(a
) संवेदी मोटर अवस्था
(b) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(c) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था
(d) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था
Ans. (c)


93. संरक्षण का कौन सा सिद्धांत किसी मौजूदा पदार्थ की मात्रा पर केंद्रित हैं?
(a
) वजन (b) क्षेत्रफल
(c) द्रव्यमान (d) लंबाई
Ans. (c)


94. बच्चे कौन-सी संज्ञानात्मक क्षमता दर्शा रहे हैं जब वे वस्तुओं को मानव गुणों से संबंधित करते हैं?
(a
) अहंभाव (इगोसेन्ट्रिज्म) (b) संरक्षण
(c) जीववाद (d) वस्तु स्थायित्व
Ans. (c)


95. पियाजे के अनुसार‚ बौद्धिक विकास दुनिया के अनुकूल के माध्यम से होता है। यह किसके माध्यम से होता है?
(a
) अवशोषण और समंजन (एकोमेडेशन)
(b) संप्राप्ति और स्वत: सहसंबंध
(c) आत्मसात्करण और समंजन (एकोमेडेशन)
(d) आत्मसात्करण और परिस्थिति अनुकूलन
Ans. (c)


96. जीन पीयाजे के अनुसार……….. के दौरान बच्चों में अमूर्त तर्क और तर्क कौशल विकसित होते हैं।
(a
) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(b) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था
(c) पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था
(d) संवेदी प्रेरक (सेंसरीमोटर) अवस्था
Ans. (b)


97. किस चरण में बच्चों में सरंक्षण का सिद्धान्त विकसित होता है?
(a
) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(b) पोस्ट-औपचारिक अवस्था
(c) पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था
(d) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था
Ans. (a)


98. पियाजे के अनुसार‚ जब एक शिशु लगभग १८−२४ महीने की उम्र तक पहुँचता है‚ तो वे विकसित होने लगते हैं जिसे उन्होंने……….. कहा है।
(a
) इगोसेन्ट्रिज्म (b) व्यक्तिगत कल्पित
(c) वस्तु स्थायित्व (d) आगमनात्मक तर्क
Ans. (c)


99. जीन पियाजे के अनुसार‚ संज्ञानात्मक विकास……. अवस्था पर शुरू होता है।
(a
) मूर्त-संक्रियात्मक
(b) पूर्व-संक्रियात्मक
(c) औपचारिक संक्रियात्मक
(d) संवेदी पेशीय (सेंसरीमोटर)
Ans. (d)


100. जीन पियाजे के अनुसार‚ पूर्व-संक्रियात्मक अवस्था के बच्चे कैसे होते हैं?
(a
) आत्मकेंद्रित (इगोसेन्ट्रिक) (b) नम्य (फ्लेक्सिबल)
(c) जटिल (d) सामाजिक
Ans. (a)


101. जिस तरह से कोई व्यक्ति अपने मस्तिष्क में किसी भी जानकारी को प्रस्तुत करता है‚ यह उसके निम्न का उदाहरण है−
(a
) व्यक्तिगत अभिलक्षण (b) संज्ञात्मक अभिलक्षण
(c) भावपूर्ण अभिलक्षण (d) शिक्षण अभिलक्षण
Ans. (b)


102. नाइव के पिता के बाल सफेद और लम्बे हैं‚ इसलिए वह सोचती है कि सभी के पिता के बाल सफेद और लम्बे हैं। यह दृष्टिकोण किस अवस्था में है?
(a
) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था
(b) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(c) सेंसरीमोटर अवस्था
(d) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था
Ans. (d)


103. पियाजे ने संज्ञानात्मक विकास के ………… महत्वपूर्ण चरण विकसित किए।
(a
) पांच (b) आठ
(c) चार (d) तीन
Ans. (c)


104. रूही; ११ महीने की बच्ची है और वह प्रत्येक सफेद तरल वस्तु को दूध कहती है। रूही द्वारा अवधारणा विकास प्रक्रिया का कौन सा प्राकृतिक स्वभाव दिखाया गया है?
(a
) विश्लेषण (b) अमूर्तिकरण
(c) समान्यीकरण (d) अनुभव
Ans. (c)


105. सर्वात्मवाद यह विश्वास है कि जो कुछ भी मौजूद है उसमें किसी प्रकार की चेतना है। निम्नलिखित में से क्या विकास से पूर्व-परिचालन स्तर पर बच्चों में सर्वात्मवाद के विचार का वर्णन नहीं करता है?
(a
) एक बच्चा जो एक कुर्सी से टकराते हुए अपने पैर को चोट पहुँचाता है‚ खुशी से ‘शरारती कुर्सी को धकेल देगा’।
(b) फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता के लिए एक बच्चा फायरमैन के रूप में तैयार होता है।
(c) एक उâँचे पर्वत को ‘पुराना’ माना जाएगा।
(d) एक कार जिसे शुरु नहीं किया जाएगा उसे ‘थका’या ‘बीमार’ बताया जाएगा।
Ans. (b)


106. वह शब्द क्या है जिसका उपयोग पियाजे ने शरीर के उन हिस्सों के साथ की गई नकल का वर्णन करने के लिए किया है‚ जिन्हें कोई देख नहीं सकता है।
(a
) अदृश्य नकल (b) स्थानिक नकल
(c) दर्शनीय नकल (d) मॉडल नकल
Ans. (a)


107. संज्ञानात्मक विकास के सेंसरीमोटर चरण में कितने उप-चरण होते हैं?
(a
) सात (b) पांच
(c) छ: (d) आठ
Ans. (c)


108. …….. के दृष्टिकोण के अनुसार‚ एक स्कीमा में ज्ञान की एक श्रेणी और उस ज्ञान को प्राप्त करने की प्रक्रिया दोनों शामिल हैं।
(a
) जीन पियाजे (b) एरिक इरिक्सन
(c) जेरोम बु्रनर (d) सिंगमंड फ्रायड
Ans. (a)


109. जिन्दगी की शुरूआत में बच्चा किसके द्वारा निर्देशित होता है?
(a
) परिपक्वता (b) सहज ज्ञान
(c) अधिगम (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (b)


110. प्रतिबिम्ब‚ अवधारणा‚ प्रतीक एवं संकेत‚ भाषा‚ शारीरिक क्रिया और मानसिक क्रिया अन्तनिर्हित है
(a
) अनुकूलन
(b) प्रेरक पेशी विकास
(c) समस्या समाधान
(d) विचारात्मक प्रक्रिया
Ans: (b)


111. रिया कक्षा में पिकनिक तय करने हेतु रिषभ से सहमत नहीं है। वह सोचती है कि बहुमत के अनुकूल बनाने के लिए नियमों का संशोधन किया जा सकता है। यह सहपाठी विरोध‚ पियाजे के अनुसार‚ निम्नलिखित में से किससे सम्बन्धित है?
(a
) संज्ञानात्मक अपरिपक्वता
(b) प्रतिक्रिया
(c) सहयोग की नैतिकता
(d) विषमांग नैतिकता
Ans: (c)


112. कोह्लबर्ग के सिद्धांत के योगदान के रूप में निम्नलिखित में से किसे माना जा सकता है?
(a
) उनके सिद्धांत ने संज्ञानात्मक परिपक्वकता और नैतिक परिपक्वकता के बीच एक सहयोग का समर्थन किया है।
(b) इस सिद्धांत में विस्तृत परीक्षण प्रक्रियाएँ हैं।
(c) यह नैतिक तर्क और कार्यवाही के बीच एक स्पष्ट संबंध स्थापित करता है।
(d) उनका विश्वास है कि बच्चे नैतिक दार्शनिक हैं।
Ans. (a)


113. निम्नलिखित वर्णन को पढ़िए तथ कोह्लबर्ग के नैतिक तर्क की अवस्था को पहचानिए। वर्णन : अंत:करण के स्व−चयनित नैतिक सिद्धांतों के द्वारा सही कार्य परिभाषित किया जाता है जो कानून एवं सामाजिक समझौते पर ध्यान दिए बिना सम्पूर्ण मानवता के लिए वैध होता है।
(a
) सामाजिक−अनुबंधन अभिविन्यास
(b) सामाजिक − क्रम व्यवस्था अभिविन्यास
(c) सार्वभौम नैतिक सिद्धांत अभिविन्यास
(d) यंत्रीय उद्देश्य अभिविन्यास
Ans. (c)


114. एक बच्चा तर्क प्रस्तुत करता है कि हिंज को दवाई की चोरी नहीं करनी चाहिए (वह दवाई जो उसकी पत्नी की जान बचाने के लिए जरूरी है)‚ क्योंकि यदि वह ऐसा करता है तो उसे पकड़ा जाएगा और जेल भेज दिया जाएगा। कोलबर्ग के अनुसार वह बच्चा नैतिक समझ की किस अवस्था के अंतर्गत आता है?
(a
) सामाजिक-क्रम नियंत्रक अभिविन्यास
(b) दण्ड एवं आज्ञापालन अभिविन्यास
(c) सार्वभौम नैतिक सिद्धांत अभिविन्यास
(d) यंत्रीय उद्देश्य अभिविन्यास
Ans : (b)


115. निम्नलिखित में से कौन सी लॉरेंस कोह्लबर्ग के द्वारा प्रस्तावित नैतिक विकास की एक अवस्था है?
(a
) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(b) उद्योग बनाम अधीनता अवस्था
(c) प्रसुप्ति अवस्था
(d) सामाजिक अनुबंध अभिविन्यास
Ans. (d)


116. नूर विद्यालय में अपना लंच बॉक्स लाना भूल गई तथा यह कहते हुए तान्या से उसका लंच साझा करने के लिए कहा‚ ‘‘तुम्हें आज अपना लंच मेरे साथ साझा करना चाहिए क्योंकि कल मैंने तुम्हारे साथ अपना लंच साझा किया था।’’ लॉरेंस कोह्लबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धांत के अनुसार नूर का कथन ……….. अभिविन्यास प्रारूप को …….. अवस्था पर दर्शाता है।
(a
) आज्ञापालन; पूर्व-परम्परागत
(b) अच्छा होना; परम्परागत
(c) आदान-प्रदान; परम्परागत
(d) कानून एवं व्यवस्था; पश्च-परम्परागत
Ans. (c)


117. रिक्त स्थान भरिए: ‘‘कोह्लबर्ग का सिद्धान्त एक बालक के ……?……विकास की व्याख्या करता है।’’ उत्तर: नैतिक UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-कोह्लबर्ग का सिद्धान्त एक बालक के नैतिक विकास की व्याख्या करता है। कोह्लबर्ग ने 10-16 वर्ष तक के बालको के सामने नैतिक दुविधाएँ प्रस्तुत कर साक्षात्कार लिया जिसके आधार पर नैतिक विकास के तीन प्रमुख स्तर तथा सोपान बताएँ हैं जिन्हे निम्न सारणी द्वारा व्यक्त किया गया हैस्तर सोपान
(1) पूर्व परम्परागत स्तर
(1) आत्म केन्द्रित निर्णय
(2) दण्ड तथा आज्ञापालन अभिमुखता
(3) यांत्रिक सापेक्षिक अभिमुखता
(2) परम्परागत स्तर
1. परस्पर एकरूप अभिमुखता
2. अधिकार संरक्षण अभिमुखता
(3) उत्तर परम्परागत स्तर 1.सामाजिक अनुबंध विधि सम्मत अभिमुखता
2. सार्वभौमिक नैतिक सिद्धान्त अभिमुखता


118. कोह्लबर्ग के अनुसार वह स्तर जिसमें बालक की नैतिकता दंड के भय से नियंत्रित रहती है‚ कहलाती है−
(a
) पूर्व-नैतिक अवस्था (b) परम्परागत नैतिक स्तर
(c) आत्म-स्वीकृत नैतिक अवस्था (d) नैतिकता स्तर
Ans: (a)


119. कोह्लबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धान्त एवं उसकी विभिन्न स्तरों के अनुसार निम्न में से कौन-सा सोपान उनके द्वारा प्रतिपादित नहीं है?
(a
) आत्मकेन्द्रित निर्णय
(b) परस्पर एकरूप अभिमुखता
(c) वैयक्तिकता व विनिमय अभिमुखता
(d) सामाजिक अनुबंध विधिसम्मत अभिमुखता
Ans: (c)


120. कोह्लबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धान्त के अनुसार निम्न अवस्था में लोगों की आशा तथा इच्छाएँ पूरी करने के सन्दर्भ में सही या गलत का निर्णय लेता है
(a
) अवस्था-1 (b) अवस्था-2
(c) अवस्था-3 (d) अवस्था-4
Ans: (b)


121. रोहित ने अजय की डेस्क से ली हुई पेंसिल वापस रख दी क्योंकि उसे पकड़े जाने पर सजा मिलने का डर था। यह कोह्लबर्ग के किस स्तर को बताता है?
(a
) पूर्व-परम्परागत स्तर (b) परम्परागत स्तर
(c) उत्तर-परम्परागत स्तर (d) पूर्व-संक्रियात्मक स्तर
Ans: (a)


122. 9 वर्ष के बालक की नैतिक तर्कणा आधारित होती है−
(a
) किसी कार्य के भौतिक परिणाम उसकी अच्छाई या बुराई को निर्धारित करते हैं
(b) कोई कार्य सही होना इस बात पर निर्भर करता है कि उससे व्यक्ति को अपनी आवश्यकता पूर्ति होती है
(c) नियमों का पालन करने के बदले में कुछ लाभ मिलना चाहिए
(d) सही कार्य वह है जो उस व्यक्ति के द्वारा किया जाये जो अन्य व्यक्तियों को अपने व्यवहार से प्रभावित करता है।
Ans: (a)


123. लॉरेन्स कोह्लबर्ग के नैतिक तर्क के सिद्धांत की अनेक बातों के लिए आलोचना की जाती है। इस आलोचना के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन−सा कथन सही है?
(a
) अपनी सैद्धान्तिक रूपरेखा पर पहुंचने के लिए कोह्लबर्ग ने पियाजे के सिद्धांतों को दोहराया है।
(b) कोह्लबर्ग ने नैतिक तर्क के प्रत्येक सोपान के लिए विशेष उत्तर नहीं दिया है।
(c) कोह्लबर्ग का सिद्धांत बच्चों के प्रत्युत्तरों पर ध्यान केन्द्रित नहीं करता।
(d) कोह्लबर्ग ने अपने अध्ययन को मूलत: पुरुषों के नमूनों का आधृत रखा है।
Ans : (d)


124. कोह्लबर्ग के अनुसार‚ बच्चे सीखते हैं
(a
) संज्ञानात्मक विकास के चरण
(b) शारीरिक विकास के चरण
(c) संवेगात्मक विकास के चरण
(d) नैतिक विकास के चरण
Ans : (d)


125. कोह्लबर्ग के अनुसार सही और गलत प्रश्न के बारे में निर्णय लने में शामिल चिंतन−प्रक्रिया को कहा जाता है−
(a
) नैतिक दुविधा (b) सहयोग की नैतिकता
(c) नैतिक तर्कणा (d) नैतिक यथार्थवाद
Ans : (c)


126. एक बच्चा तर्क प्रस्तुत करता है ‘‘आप यह मेरे लिए करें और मैं वह आपके लिए करूँगा।’’ यह बच्चा कोह्लबर्ग की नैतिक तर्कणा की किस अवस्था के अन्तर्गत आएगा?
(a
) ‘अच्छा लड़का−लड़की’ अभिमुखीकरण
(b) सामाजिक−अनुबन्ध अभिमुखीकरण
(c) सहायक उद्देश्य अभिमुखीकरण
(d) दण्ड और आज्ञापालन अभिमुखीकरण
Ans : (d)


127. आप एक शिक्षिका/शिक्षक के रूप में ‘रैगिंग और धमकाने’ के सख्त विरोधी हैं तथा इस सन्दर्भ में विद्यालय में पोस्टर लगवाते हैं तथा समिति बनवाते हैं। आपसे जुड़ने वाले किशोर जो इस विचार के दृढ़ विश्वासी हैं। निम्नलिखित में से किस स्तर पर होंगे?
(a
) पारम्परिक
(b) पूर्व पारम्परिक
(c) उत्तर पारम्परिक
(d) सामाजिक व्यवस्था बनाए रखने वाला
Ans : (c)


128. निम्नलिखित में से कौन−सा कोह्लबर्ग के नैतिक विकास के चरणों का लक्षण है?
(a
) सभी संस्कृतियों से सम्बद्ध चरणों की सार्वभौम शृंखला
(b) विभिन्न चरण एक गैर−पदानुक्रम रूप में आगे की ओर बढ़ते हैं
(c) चरणों का परिवर्तनशील अनुक्रम
(d) विभिन्न चरण अलग−अलग प्रत्युत्तर हैं न कि सामान्य प्रतिमान
Ans : (a)


129. कोह्लबर्ग के सिद्धांत की एक प्रमुख आलोचना क्या है?
(a
) कोह्लबर्ग ने बिना किसी अनुभूतिमूलक आधार के सिद्धांत प्रस्तुत किया
(b) कोह्लबर्ग ने नैतिक विकास की स्पष्ट अवस्थाओं का उल्लेख नहीं किया
(c) कोह्लबर्ग ने प्रस्ताव दिया कि नैतिक तार्किकता विकासात्मक है
(d) कोह्लबर्ग ने पुरुषों एवं महिलाओं की नैतिक तार्किकता में सांस्कृतिक विभिन्नताओं को महत्त्व नहीं दिया
Ans : (d)


130. कोह्लबर्ग के अनुसार किस अवस्था में नैतिकता बाह्य कारकों द्वारा निर्धारित होती है?
(a
) पूर्व पारम्परिक अवस्था
(b) पारम्परिक अवस्था
(c) पश्चात् पारम्परिक अवस्था
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans : (b)


131. कोह्लबर्ग का विकास सिद्धान्त निम्न में से किससे सम्बन्धित है?
(a
) भाषा विकास (b) संज्ञानात्मक विकास
(c) नैतिक विकास (d) सामाजिक विकास
Ans : (c)


132. किसी बच्चे का दिया गया विशिष्ट उत्तर कोह्लबर्ग के नैतिक तर्क के सोपानों की विषयवस्तु के किस सोपान के अंतर्गत आएगा? ‘‘यदि आप ईमानदार हैं‚ तो आपके माता-पिता आप पर गर्व करेंगे। इसलिए आपको ईमानदार रहना चाहिए।’’
(a
) दंड-आज्ञाकारिता अनुकूलन
(b) सामाजिक संकुचन अनुकूलन
(c) अच्छी लड़की-अच्छा लड़का अनुकूलन
(d) कानून और व्यवस्था अनुकूलन
Ans : (c)


133. कोहलवर्ग ने प्रस्तुत किये हैं।
(a
) संज्ञानात्मक विकास के चरण
(b) शारीरिक विकास के चरण
(c) संवेगात्मक विकास के चरण
(d) नैतिक विकास के चरण
Ans : (d)


134. निम्नलिखित में से किस एक जोड़े का मिलान ठीक हुआ है?
(a
) दंड देना और आज्ञापालन अभिविन्यास-नियम तय नहीं है‚ किंतु समाज के हित में बदले जा सकते हैं
(b) सामाजिक संविदा अभिविन्यास-किसी कार्य के भौतिक परिणाम निर्धारित करते हैं कि वह अच्छा है या बुरा
(c) अच्छा लड़का व अच्छी लड़की अभिविन्यास-अच्छा बनकर कोई स्वीकृति प्राप्त करता है
(d) नियम और आदेश अभिविन्यास-मानवाधिकारों के मूल्य के आधार पर नैतिक सिद्धान्त स्वयं चुने जाते हैं
Ans : (c)


135. लॉरेन्स कोह्लबर्ग के सिद्धान्त में कौन-सा स्तर नैतिकता की अनुपस्थिति को सही अर्थ में सूचित करता है?
(a
) स्तर III (b) स्तर IV
(c) स्तर I (d) स्तर II
Ans: (c)


136. कोह्लबर्ग के सिद्धान्त के पूर्व-परम्परागत स्तर के अनुसार‚ कोई नैतिक निर्णय लेते समय एक व्यक्ति निम्नलिखित में से किस तरफ प्रवृत्त होगा?
(a
) अंतर्निहित संभावित दंड
(b) व्यक्तिगत आवश्यकताएँ तथा इच्छाएँ
(c) व्यक्तिगत मूल्य
(d) पारिवारिक अपेक्षाएँ
Ans : (a)


137. एक शिfक्षका अपनी कक्षा में कहती है‚ ‘‘सभी प्रकार के प्रदत्त कार्यों (assignments) का निर्माण इस प्रकार किया गया है कि प्रत्येक विद्यार्थी अधिक प्रभावशाली ढंग से सीख सके अत: सभी विद्यार्थी बिना किसी अन्य की सहायता से अपना कार्य पूर्ण करें।’’ वह कोह्लबर्ग के किस नैतिक विकास के चरण की ओर संकेत दे रही है?
(a) औपचारिक चरण- 4 कानून और व्यवस्था
(b) पर – औपचारिक चरण-5 सामाजिक संविदा
(c) पूर्व – औपचारिक चरण-1 दण्ड परिवर्जन
(d) पूर्व – औपचारिक चरण-2 वैयक्तिक और विनियम
Ans : (a)


138. निम्नलिखित में से कौन-सा कोह्लबर्ग के नैतिक विकास के चरणों का लक्षण है?
(a
) चरणों का परिवर्तनशील अनुक्रम
(b) विभिन्न चरण अलग-अलग प्रत्युत्तर हैं न कि सामान्य प्रतिमान
(c) सभी संस्कृतियों से सम्बद्ध चरणों की सार्वभौम श्रृंखला
(d) विभिन्न चरण एक गैर-पदानुक्रम रूप में आने की ओर बढ़ते हैं
Ans: (c)


139. लॉरेंस कोह्लबर्ग के द्वारा प्रस्तावित निम्नलिखित चरणों में से प्राथमिक विद्यालयों के बच्चे किन चरणों का अनुसरण करते हैं?
A. आज्ञापालन और दण्ड-उन्मुखीकरण
B. वैयक्तिकता और विनिमय
C. अच्छे अंत:वैयक्तिक सम्बन्ध
D. सामाजिक अनुबंध और व्यक्तिगत अधिकार
(a
) A और B (b) B और D
(c) A और D (d) A और C
Ans: (a)


140. करनैल सिंह कानूनी कार्यवाही तथा खर्चे के बावजूद आयकर नहीं देते। वे सोचते हैं कि वे एक भ्रष्ट सरकार को समर्थन नहीं दे सकते जो अनावश्यक बाँधों के निर्माण पर लाखों रुपए खर्च करती है। वे सम्भवत: कोह्लबर्ग के नैतिक विकास की किस अवस्था में हैं?
(a
) पश्च-परंपरागत (b) पूर्व पारंपरागत
(c) परा-परंपरागत (d) परंपरागत
Ans: (a)


141. कोह्लबर्ग के अनुसार‚ शिक्षक बच्चों में नैतिक मूल्यों का विकास कर सकता है
(a
) धार्मिक शिक्षा को महत्व देकर
(b) व्यवहार के स्पष्ट नियम बनाकर
(c) नैतिक मुद्दों पर आधारित चर्चाओं में उन्हें शामिल करके
(d) ‘कैसे व्यवहार किया जाना चाहिए’ इस पर कठोर निर्देश देकर
Ans: (c)


142. निम्नलिखित में से कौन सा अनुकूलन (ओरिएंटेशन)‚ कोह्लबर्ग के अनुसार पारंपरिक नैतिकता के चरण के अंतर्गत आता है?
(a
) दण्ड एवं आज्ञा के प्रति अनुकूलन (ओरिएंटेशन)
(b) सामाजिक सहानुभूति और विवेक
(c) सार्वभौमिक नैतिक मूल्यों की नैतिकता
(d) सहायक उद्देश्य और विनिमय
Ans. (b)


143. कोह्लबर्ग के अनुसार नैतिक विकास में पहला चरण क्या है?
(a
) पूर्व−परम्परागत नैतिकता
(b) पेरी−पराम्परागत नैतिकता
(c) परम्परागत नैतिकता
(d) पश्चपरम्परागत नैतिकता
Ans. (a)


144. ……….. नैतिक विकास चरण में माता-पिता और बड़ों की सामाजिक और राजनीतिक मान्यताओं पर सवाल उठा सकता है।
(a
) पश्च-पारंपरिक (b) औपचारिक पारंपरिक
(c) पूर्व-पारंपरिक (d) पारंपरिक
Ans. (a)


145. ब्रूनर की प्रतिबिम्बात्मक अवस्था पियाजे के संज्ञानात्मक विकास की किस अवस्था से मिलती जुलती है?
(a
) औपचारिक संक्रियात्मक अवस्था
(b) पूर्व संक्रियात्मक अवस्था
(c) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
(d) संवेगात्मक गामक अवस्था
Ans. (b)


146. निम्न में से कौन−सी अवस्था ब्रूनर के संज्ञानात्मक विकास सिद्धांत का अंग नहीं है?
(a
) आन्त प्रज्ञ अवस्था (b) प्रतिबिम्बात्मक अवस्था
(c) संकेतात्मक अवस्था (d) क्रियात्मक अवस्था
Ans. (a)


147. ………… एक सक्रिय प्रक्रिया के रूप में अधिगम के विचार को समाहित करता है जहाँ वे सीखने वाले अपने वर्तमान ज्ञान के साथ-साथ अपने पिछले ज्ञान के आधार पर नए विचार बनाने में सक्षम होते हैं−
(a
) निर्माणवाद पर जॉन डेवी का सिद्धांत
(b) निर्माणवाद पर लेव वाइगोत्सकी का सिद्धांत
(c) निर्माणवाद पर जीन पियाजे का सिद्धांत
(d) निर्माणवाद पर जेरोम ब्रूनर का सिद्धांत
Ans : (d)


148. वायगोत्स्की के अनुसार बच्चे स्वयं से क्यों बोलते है?
(a
) बच्चे अपने प्रति वयस्कों का ध्यान आकर्षित करने के लिए बोलते हैं।
(b) बच्चे स्वभाव से बहुत बातूनी होते हैं।
(c) बच्चे अहंकेंद्रित होते है।
(d) बच्चे अपने कार्य को दिशा देने के लिए बोलते हैं।
Ans: (d)


149. भाषा के विकास में ‘आंतरिक भाषण’ की अवधारणा इनके द्वारा आरंभ की गई थी;
(a
) पियाजे (b) चोम्स्की
(c) वाइगोत्स्की (d) स्किनर
Ans. (c)


150. निकटवर्ती विकास का क्षेत्र संदर्भित करता है−
(a
) उस चरण को‚ जब अधिकतम विकास संभव है
(b) उस विकासात्मक चरण को‚ जब बच्चा सीखने की पूरी ़िजम्मेदारी लेता है
(c) एक संदर्भ को‚ जिसमें बच्चे सहयोग के सही स्तर के साथ कोई कार्य लगभग स्वयं कर सकते हैं
(d) उस सीखने के बिन्दु को‚ जब सहयोग वापस लिया जा सकता है
Ans. (c)


151. ‘‘एक उचित प्रश्न/सुझाव के द्वारा बच्ची की समझ को उस बिंदु से बहुत आगे ले जाया जा सकता है जिस पर वह अकेले पहुँच सकती है।’’ निम्नलिखित में से कौन सी संरचना उपरोक्त कथन को प्रकाशित करती है?
(a
) साम्यधारण
(b) संरक्षण
(c) बुद्धि
(d) समीपस्थ/निकटस्थ विकास का क्षेत्र
Ans. (d)


152. लेव वायगोट्स्की के अनुसार‚ आधारभूत मानसिक क्षमताओं को मुख्य रूप से किसके द्वारा उच्चतर संज्ञानात्मक प्रक्रियाओं में बदला जाता है?
(a
) सामाजिक पारस्परिक क्रिया
(b) उद्दीपन−अनुक्रिया संबंध
(c) अनुकूलन एवं संघटन
(d) पुरस्कार एवं दण्ड
Ans. (a)


153. मौखिक संवाद जो बच्चे अपने आप से करते हैं‚ उन्हें लेव वायगोत्सकी क्या कहते हैं−
(a
) व्यक्तिगत वार्ता (b) भ्रांत वार्ता
(c) समस्यात्मक वार्ता (d) अहंकेंद्रित वार्ता
Ans : (a)


154. जिग-सॉ पहेली को करते समय 5 वर्ष की नज्मा स्वयं से कहती है‚ ‘‘नीला टुकड़ा कहाँ है? नहीं‚ यह वाला नहीं‚ गाढ़े रंग वाला जिससे यह जूता पूरा बन जाएगा’’ इस प्रकार की वार्ता को वायगोट्स्की किस तरह संबोधित करते हैं?
(a
) पाड़ (ढाँचा) (b) आत्मकेन्द्रित वार्ता
(c) व्यक्तिगत वार्ता (d) जोर से बोलना
Ans. (c)


155. बच्चों को संकेत देना तथा आवश्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना‚ निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है?
(a
) मॉडलिंग (b) पाड़ (ढाँचा)
(c) प्रबलन (d) अनुबंधन
Ans. (b)


156. ……. के अनुसार‚ बच्चों के चिंतन के बारे में सामाजिक प्रक्रियाओं तथा सांस्कृतिक संदर्भ के प्रभाव को समझना आवश्यक है।
(a
) जीन पियाजे (b) लेव वायगत्स्की
(c) अलबर्ट बैन्डुरा (d) लॉरेंस कोह्लबर्ग
Ans. (b)


157. वायगोत्स्की के अनुसार‚ जब एक वयस्क बच्चे के निष्पादन के वर्तमान स्तर को सहयोग द्वारा विस्तारित करता है तो इसे क्या कहते हैं ?
(a
) समीपस्थ विकास का क्षेत्र (b) पाड़ (ढांचा)
(c) अंत: व्यक्तिनिष्ठता (d) खोजपूर्ण अधिगम
Ans. (b)


158. ‘जोन ऑफ प्रॉक्सिमल डेवलपमेन्ट (ZPD) का प्रत्यय दिया गया-
(a
) बन्डूरा द्वारा (b) पियाजे द्वारा
(c) स्किनर द्वारा (d) वांइगोट्स्की द्वारा
Ans: (d)


159. वाइगोत्स्की (Vygotsky) ने बाल विकास के बारे में कहा कि
(a
) यह संस्कारों की आनुवांशिकी के कारण होता है
(b) यह सामाजिक अन्तर्क्रियाओं का उत्पाद होता है
(c) औपचारिक शिक्षा का उत्पाद होता है
(d) यह समावेशन और समायोजन का परिणाम होता है
Ans: (b)


160. मनोवैज्ञानिक वाइगोत्सकी कहाँ के थे?
(a
) जापान (b) रूस
(c) फ्रांस (d) चीन।
Ans: (b)


161. लेव वाइगोत्स्की के अनुसार‚ संज्ञानात्मक विकास का मूल कारण है−
(a
) सामाजिक अन्योन्यक्रिया
(b) मानसिक प्रारूपों (स्कीमाज) का समायोजन
(c) उद्दीपक−अनुक्रिया युग्मन
(d) संतुलन
Ans : (a)


162. वाइगोत्सकी के अनुसार बच्चे स्वयं से क्यों बोलते हैं?
(a
) बच्चे अपने प्रति वयस्कों का ध्यान आकर्षित करने के लिए बोलते हैं
(b) बच्चे स्वभाव से बहुत बातूनी होते हैं
(c) बच्चे अहंकेन्द्रित होते हैं
(d) बच्चे अपने कार्य को दिशा देने के लिए बोलते हैं
Ans : (d)


163. यह तथ्य कि बच्चों को सांस्कृतिक रूप से प्रांसगिक ज्ञान की आवश्यकता होती है। निम्नलिखित में से किस व्यक्ति से सम्बन्धित है?
(a
) चाल्र्स डार्विन (b) बी एफ स्किनर
(c) यूरी ब्रोनफैनब्रैनर (d) लिव वाइगोत्सकी
Ans : (d)


164. लेव वाइगोत्स्की के अनुसार संज्ञानात्मक विकास का मूल कारण है−
(a
) संतुलन
(b) सामाजिक अन्योन्यक्रिया
(c) मानसिक प्रारूपों (स्कीमा़ज) का समायोजन
(d) उद्दीपक-अनुक्रिया युग्मन
Ans : (b)


165. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन भाषा और विचार के बारे में पियाजे और वाइगोत्स्की के दृष्टिकोण का सही वर्णन करता है?
(a
) दोनों भाषा को बच्चे के विचारों से जन्म लेती हुई मानते हैं।
(b) वाइगोत्स्की के अनुसार पहले विचार जन्म लेता है और पियाजे के अनुसार भाषा का विचार पर भारी प्रभाव पड़ता है।
(c) पियाजे के अनुसार पहले विचार जन्म लेता है और वाइगोत्स्की के अनुसार भाषा का विचार पर भारी प्रभाव पड़ता है।
(d) दोनों मानते हैं कि बच्चे की भाषा से विचार जन्म लेते हैं।
Ans : (c)


166. लेव वाइगोत्स्की के अनुसार−
(a
) बच्चे भाषा अर्जन की एक युक्ति से कोई भाषा सीखते हैं
(b) वयस्कों और साथियों से अन्योन्यक्रिया करने का भाषा के विकास में कोई प्रभाव नहीं पड़ता
(c) भाषिक विकास मानव चिंतन के स्वभाव को बदल देता है
(d) भाषिक विकास में संस्कृति की भूमिका बहुत कम होती है
Ans : (c)


167. वाइगोत्स्की की संस्तुति के अनुसार‚ बच्चों की ‘व्यक्तिगत वाक्’ की संकल्पना
(a
) स्पष्ट करती है कि बच्चे अहं-केंद्रित होते हैं
(b) प्रदर्शित करती है कि बच्चे बुद्धू होते हैं इसलिए उन्हें प्रौढ़ों के निर्देशन की आवश्यकता होती है
(c) प्रदर्शित करती है कि बच्चे अपने-आप से प्यार करते हैं
(d) स्पष्ट करती है कि बच्चे अपने ही कार्यों के निर्देशन के लिए भाषा का उपयोग करते हैं।
Ans : (d)


168. वाइगोत्स्की तथा पियाजे के परिप्रेक्ष्यों में एक प्रमुख विभिन्नता है –
(a
) व्यवहारवादी सिद्धान्तों की उनकी आलोचना।
(b) बच्चों को एक पालन-पोषण का परिवेश उपलब्ध कराने की भूमिका।
(c) भाषा एवं चिंतन के बारे में उनके दृष्टिकोण।
(d) ज्ञान के सक्रिय निर्माताओं के रूप में बच्चों की संकल्पना
Ans: (c)


169. वाइगोत्स्की के सिद्धान्त में‚ विकास के निम्नलिखित में से कौन-से पहलू की उपेक्षा होती है?
(a
) सांस्कृतिक (b) जैविक
(c) भाषायी (d) सामाजिक
Ans: (b)


170. वाइगोत्सकी के सामाजिक-सांस्कृतिक सिद्धान्त के अनुसार –
(a
) संस्कृति और भाषा संज्ञानात्मक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं
(b) बच्चे अलग क्षेत्र में चिंतन करते हैं और वे पूर्ण परिप्रेक्ष्य नहीं लेते
(c) यदि निम्न आयु पर अमूर्त सामग्री को प्रस्तुत किया जाए तो बच्चे अमूर्त तरीके से चिंतन करते हैं
(d) स्व-निर्देशित वाक् सहयोग का निम्नतम स्तर है
Ans: (a)


171. वाइगोत्स्की के अनुसार‚ समीपस्थ विकास का क्षेत्र है –
(a
) अध्यापिका के द्वारा दिए गए सहयोग की सीमा निर्धारित करना।
(b) बच्चे के द्वारा स्वतंत्र रूप से किए जा सकने वाले तथा सहायता के साथ करने वाले कार्य के बीच अंतर।
(c) बच्चे को अपना सामथ्र्य प्राप्त करने के लिए उपलब्ध कराए गए सहयोग की मात्रा एवं प्रकृति।
(d) बच्ची अपने आप क्या कर सकती है जिसका आकलन नहीं किया जा सकता है।
Ans: (b)


172. जब वयस्क सहयोग से सामंजस्य कर लेते हैं‚ तो वे बच्चे के वर्तमान स्तर के प्रदर्शन को संभावित क्षमता के स्तर के प्रदर्शन की तरफ प्रगति क्रम को सुगम बनाते हैं‚ इसे कहा जाता है−
(a
) समीपस्थ विकास (b) सहयोग देना
(c) सहभागी अधिगम (d) सहयोगात्मक अधिगम
Ans : (a)


173. कोई 5 साल की लड़की एक टी-शर्ट को तह करते हुए अपने आप से बात करती है। लड़की द्वारा प्रदर्शित व्यवहार के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही है?
(a
) जीन पियाजे और लेव वाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के विचारों की अहंकेंद्रित प्रकृति के रूप में करेंगे।
(b) जीन पियाजे इसे अहंकेंद्रित भाषा कहेगा और लेव वाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के द्वारा निजी भाषा से अपनी क्रियाओं को नियमित करने के प्रयासों के रूप में करेगा।
(c) जीन पियाजे इसकी व्याख्या सामाजिक अन्योन्यक्रिया के रूप में करेगा और लेव वाइगोत्स्की इसे खोजबीन मानेगा।
(d) जीन पियाजे और लेव वाइगोत्स्की इसकी व्याख्या बच्चे के द्वारा अपनी माँ के अनुकरण के रूप में करेंगे।
Ans : (b)


174. पियाजे ने विकास को नियंत्रित करने वाले जैविक कारकों को महत्व दिया‚ जबकि वाइगोत्स्की ने इसके महत्व का कारण बताया:
(a
) चिंतन प्रक्रिया (b) सामाजिक संपर्क
(c) भौतिक कारक (d) पर्यावरणीय कारक
Ans. (b)


175. किस प्रसिद्ध प्रोफेसर ने प्रतिपादित किया कि बच्चे सामाजिक संबंधों के कारण‚ आत्मकेन्द्रित स्थिति से समाज केन्द्रित की ओर बढ़ते हैं?
(a
) जॉन डूई (b) लेव वाइगोत्सकी
(c) जीन पियाजे (d) हावर्ड गार्डनर
Ans. (b)


176. वाइगोत्सकी के सामाजिक विकास सिद्धांत में तीन प्रमुख विषय हैं :
(a
) संज्ञानात्मक प्रशिक्षुता‚ सामाजिक सहभागिता और पारस्परिक निर्धारणवाद
(b) संज्ञानात्मक प्रशिक्षुता वैध परिधीय भागीदारी‚ समीपस्थविकास का क्षेत्र
(c) पारस्परिक निर्धारणवाद‚ प्रोत्साहन और दंड‚ शाध्Eाीय अनुकूलन (क्लासिकल कंडीशनिंग)
(d) सामाजिक सहभागिता‚ समीपस्थ विकास का क्षेत्र‚ अन्य अधिक ज्ञान संपन्न
Ans. (d)


177. निकटस्थ विकास के क्षेत्र की अवधारणा का प्रस्ताव किसने रखा?
(a
) अब्राहम मास्लो (b) लेव वाइगोत्सकी
(c) कार्ल रोजर्स (d) अल्बर्ट बण्डुरा
Ans. (b)


<
–nextpage–>

07. बाल केन्द्रित एवं प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा बाल−केन्द्रित/प्रगतिशील शिक्षा का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. एकीकृत छात्र-केन्द्रित अधिगम के लिए पाठ्यक्रम में निम्नलिखित में से क्या लाभकारी नहीं है?
(a
) छात्र का अभिप्रेरण विकास
(b) सहकर्मी संचार का विकास
(c) छात्र-शिक्षक सम्बन्ध का निर्माण
(d) खोज/सक्रिय अधिगम का हृास
Ans: (d)


2. एक प्रारंभिक कक्षाकक्ष में एक बच्ची अपने साथ जो अनुभव लाती है−
(a
) उसकी उपेक्षा करनी चाहिए।
(b) उन पर ध्यान नहीं देना चाहिए।
(c) उन्हें शामिल कर उनका संचय करना चाहिए।
(d) /उन्हें अस्वीकार करना चाहिए।
Ans : (c)


3. कृतिका अक्सर घर में ज्यादा बात नहीं करती‚ लेकिन विद्यालय में वह काफी बात करती है। यह दर्शाता है कि
(a
) विद्यालय हर समय बच्चों को खूब बात करने का अवसर देता है
(b) शिक्षकों की यह माँग होती है कि बच्चे विद्यालय में खूब बात करें
(c) कृतिका को अपना घर बिल्कुल पसन्द नहीं है
(d) उसके विचारों को विद्यालय में मान्यता मिलती है
Ans : (d)


4. प्रगतिशील शिक्षा में बच्चों को किस तरह से देखा जाता है?
(a
) निष्क्रिय अनुकारकों के रूप में
(b) सक्रिय अन्वेषकों के रूप में
(c) खाली स्लेटों के रूप में
(d) छोटे वयस्कों के रूप में
Ans : (b)


5. निम्नलिखित में से कौन सा प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा के बारे में प्रमुख है?
(a
) प्रत्येक बच्चे की क्षमता एवं संभावना में विश्वास करना।
(b) मानक निर्देश एवं मूल्यांकन
(c) बाह्य प्रेरणा तथा एकरूप मूल्यांकन मानदंड
(d) पाठ्य पुस्तक केन्द्रित अधिगम
Ans. (a)


6. छात्र केन्द्रित शिक्षाशाध्Eा की क्या विशेषता है?
(a
) यंत्रवत् याद करना
(b) योग्यता के आधार पर विद्यार्थियों को नामांकित करना तथा वर्गीकरण करना
(c) केवल पाठ्यपुस्तकों पर निर्भर होना
(d) बच्चों के अनुभवों को प्रमुखता देना
Ans. (d)


7. शिक्षा को बाल-केन्द्रित शिक्षा माना जाता है‚ जब
(a
) बालक के व्यक्तित्व का सम्पूर्ण विकास होता है
(b) बालक की माँग रुचि व अभिवृत्ति की प्राथमिकता होती है
(c) शिक्षक के स्वयं के महत्व को ध्यान में रखा जाता है
(d) पाठ्यक्रम को महत्व दिया जाता है
Ans: (b)


8. ‘बाल−केन्द्रित’ शिक्षाशाध्Eा का अर्थ है−
(a
) बच्चों के अनुभवों और उनकी आवाज को प्रमुखता देना।
(b) शिक्षक द्वारा बच्चों को आदेश देना कि क्या किया जाना चाहिए।
(c) निर्धारित सूचना का अनुसरण करने में बच्चों को सक्षम बनाना।
(d) कक्षा में सारी बातें सीखने के लिए शिक्षक का आगे− आगे होना।
Ans : (a)


9. बालकेन्द्रित शिक्षाशाध्Eा का अर्थ है−
(a
) बच्चों को नैतिक शिक्षा देना
(b) बच्चों को शिक्षक का अनुमान और अनुकरण करने के लिए
(c) बच्चों को अभिव्यक्ति और उनकी सक्रिय भागीदार को महत्त्व देना
(d) बच्चों को पूर्ण रूप से स्वतंत्रता देना
Ans : (c)


10. ‘‘यदि आप बच्चों को सिखाना चाहते हो‚ तो बच्चों से सीखिए’’ यह इशारा करता है−
(a
) अध्यापक केन्द्रित शिक्षा की ओर
(b) बाल केन्द्रित शिक्षा की ओर
(c) मूल्यांकन केन्द्रित शिक्षा की ओर
(d) परीक्षा केन्द्रित शिक्षा की ओर
Ans : (b)


11. सृजनवाद में−
(a
) बच्चे सीखने की प्रक्रिया में निष्क्रिय रूप से प्रतिभाग करते हैं।
(b) शिक्षा शिक्षक केन्द्रित होती है।
(c) शिक्षा बाल केन्द्रित होती है।
(d) शिक्षा व्यवहारवादी होती है।
Ans : (c)


12. एक बाल−केन्द्रित कक्षा में‚ बच्चे सामान्यत: सीखते हैं
(a
) वैयक्तिक और सामूहिक‚ दोनों रूपों में
(b) मुख्य रूप से शिक्षक से
(c) वैयक्तिक रूप से
(d) समूहों में
Ans : (a)


13. निम्नलिखित में से कौन−सी प्रगतिशील शिक्षा की विशेषता है?
(a
) समय−सारणी और बैठने की व्यवस्था में लचीलापन
(b) केवल प्रस्तावित पाठ्य−पुस्तकों पर आधारित अनुदेश
(c) परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने पर बल
(d) बार−बार ली जाने वाली परीक्षाएँ
Ans : (a)


14. प्रगतिवादी शिक्षा
(a
) अनुबन्धन और पुनर्बलन के सिद्धांतों पर आधारित है
(b) पाठ्य−पुस्तकों पर आधारित है‚ क्योंकि वे ज्ञान के एकमात्र वैध दोत हैं
(c) इस मत पर विश्वास करती है कि शिक्षक को अपने उपागम में दृढ़ रहना है और वर्तमान समय में बिना दण्ड का प्रयोग किए बच्चों को पढ़ाया नहीं जा सकता
(d) समस्या−समाधान और आलोचनात्मक चिन्तन पर अधिक बल देती है
Ans : (d)


15. बालक केन्द्रित शिक्षा के अंतर्गत क्या सम्मिलित नहीं है?
(a
) गृहकार्य प्रदान करना
(b) बालक को प्रश्न पूछने के लिए प्रेरित करना
(c) बाल के अनुभव को प्राथमिकता प्रदान करना
(d) बालक की सृजनात्मकता को बढ़ावा देना
Ans : (a)


16. प्रगतिशील शिक्षा के सन्दर्भ में ‘समान शैक्षिक अवसर’ से अभिप्राय है कि सभी छात्र
(a
) बिना किसी भेद के समान पद्धतियों व सामग्रियों से शिक्षा प्राप्त करें
(b) ऐसी शिक्षा पाएं जो उनके लिए अनुकूलतम हो तथा उनके भविष्य के कार्यों में सहायक हो।
(c) किसी भी जाति‚ पंथ‚ रंग‚ क्षेत्र व धर्म के होते हुए भी समान शिक्षा प्राप्त करें।
(d) समान शिक्षा पाने के बाद अपनी क्षमताओं को सिद्ध कर सकें।
Ans : (b)


17. प्रगतिशील शिक्षा में अपरिहार्य है कि कक्षा-कक्ष
(a
) लोकतांत्रिक होता है और समझने के लिए बच्चों को पर्याप्त स्थान दिया गया होता है
(b) शिक्षक के पूर्ण नियंत्रण में होता है जिसमें वह अधिनायकतावादी होता है
(c) सत्तावादी होता है‚ जहाँ शिक्षक आदेश देता है और शिक्षार्थी चुपचाप अनस्ुा रण करते हैं
(d) सबके लिए मुक्त होता है जिसमें शिक्षक अनुपस्थित होता है
Ans : (a)


18. निम्नलिखित में से कौन सी स्थिति बालकेंद्रित कक्षाकक्ष को प्रदर्शित कर रही है ?
(a
) एक कक्षा जिसमें शिक्षिका नोट लिखा देती है और शिक्षार्थियों से उन्हें याद करने को कहा जाता है
(b) एक कक्षा जिसमें पाठ्य-पुस्तक एक मात्र संसाधन होता हैं जिसका संदर्भ शिक्षिका देती है।
(c) एक कक्षा जिसमें शिक्षार्थी समूहों में बैठे है और शिक्षिका बारी-बारी से प्रत्येक समूह में जा रही है।
(d) एक कक्षा जिसमें शिक्षार्थियों का व्यवहार शिक्षिका द्वारा दिये जाने वाले पुरस्कार और दंड से संचालित होता है
Ans : (c)


19. प्राथमिक विद्यालय के कक्षा-कक्ष के संदर्भ में सक्रियबद्धता का क्या अर्थ है ?
(a
) याद करना‚ प्रत्यास्मरण और सुनाना
(b) शिक्षक का अनुकरण और नकल करना
(c) जाँच-पड़ताल करना‚ प्रश्न पूछना और वाद-विवाद
(d) शिक्षक द्वारा दिये गये उत्तरों को नकल करना
Ans : (c)


20. बाल केन्द्रित शिक्षा में शामिल है−
(a
) बच्चों के लिए हस्तपरक गतिविधियाँ
(b) बच्चों का एक कोने में बैठना
(c) प्रतिबंधित परिवेश में अधिगम
(d) वे गतिविधियाँ जिनमें खेल शामिल नहीं होते
Ans : (a)


21. प्रगतिशील शिक्षा निम्नलिखित में से किस कथन से सम्बन्धित है?
(a
) शिक्षक सूचना और प्राधिकार के प्रवर्तक होते हैं।
(b) ज्ञान प्रत्यक्ष अनुभव और सहयोग से उत्पन्न होता है।
(c) अधिगम तथ्यों के एकत्रीकरण और कौशल में प्रवीणता के साथ सीधे मार्ग पर चलता है।
(d) परीक्षा मानदंड-संदर्भित और बाह्य है।
Ans: (b)


22. शिक्षण से अधिगम पर बल देने वाला परिवर्तन हो सकता है−
(a
) बाल-केन्द्रित शिक्षा-पद्धति अपनाकर
(b) रटने को प्रोत्साहित करके
(c) अग्र शिक्षण की तकनीक अपनाकर
(d) परीक्षा परिणामों पर केन्द्रित होकर
Ans: (a)


23. निम्नलिखित में से कौन−सा एक बाल−केन्द्रित अधिगम का अभ्यास नहीं है?
(a
) ज्ञान और कौशल अर्जित करने में छात्र को अधिक सक्रिय बनाना।
(b) छात्र को इस बारे में अधिक जानकारी देना कि वे क्या कर रहे हैं और क्यों कर रहे हैं।
(c) शिक्षक के निर्देश और निर्णयों के तहत काम करना।
(d) पारस्परिक विचार−विमर्श पर ध्यान केंद्रित करना‚ जैसे कि ट्यूटोरियल और अन्य चर्चा समूहों का उपयोग करना।
Ans. (c)


24. प्रगतिशील शिक्षा क्या है?
(a
) इसमें मानकीकृत परीक्षण होता है
(b) इसमें कार्य आधारित अधिगम (लर्निंग बाई डूइंग) होता है
(c) इसमें डेटा-आधारित शिक्षा होती है
(d) इसमें मानकों पर आधारित पाठ्यक्रम होता है।
Ans. (c)


25. अनुभवात्मक शिक्षा क्या है?
(a
) एक पाठ्यक्रम जिसमें अच्छी तरह से छात्रों के अधिगम का मार्ग परिभाषित है।
(b) एक शैक्षिक दर्शन इस विचार पर आधारित है कि अधिगम‚ अनुभव के माध्यम से होता है।
(c) यह अनुभवों के माध्यम से अधिगम है।
(d) निरंतर अभ्यास से अधिगम।
Ans. (b)


26. निम्नलिखित में से कौन-सी प्रगतिशील शिक्षा की विशेषताएं हैं?
(a
) निर्देश केवल निर्धारित पाठ्य पुस्तकों पर आधारित होते हैं
(b) उन विषयों पर नम्यता (फ्लेक्सिबिलिटी) जो छात्र सीखना चाहते हैं।
(c) जीवन पर्यन्त अधिगम और सामाजिक कौशल पर जोर देना
(d) परीक्षाओं में अच्छे अंक लाने पर जोर देना
Ans. (c)


27. निम्नलिखित में से कौन सा कारक कक्षा में सार्थक अधिगम का पक्ष लेता है?
(a
) बच्चों को पढ़ने के लिए अभिप्रेरित करने हेतु पुरस्कारों को बढ़ावा देना।
(b) निर्देश के लिए केवल व्याख्यान विधि को अपनाना।
(c) विषय वस्तु तथा बच्चों के संपूर्ण कुशलक्षेम एवं अधिगम के प्रति सच्चा सरोकार रखना।
(d) बच्चों को पढ़ने/सीखने के लिए अभिप्रेरित करने हेतु परीक्षणों की संख्या को बढ़ाना।
Ans. (c)


28. शिक्षा का उद्देश्य होना चाहिए
(a
) विद्यार्थियों में व्यावसायिक कुशलता का विकास करना
(b) विद्यार्थियों में सामाजिक जागरुकता का विकास करना
(c) विद्यार्थियों को परीक्षा के लिए तैयार करना
(d) व्यावहारिक जीवन के लिए विद्यार्थियों को तैयार करना
Ans : (d)


29. सभी अधिगम सामान्यत: कुल मिलाकर सफल होते है जब ……….. किया जाता है।
(a
) संसाधन संपन्न
(b) शिक्षार्थियों द्वारा स्व-निर्देशित
(c) प्रौद्योगिकी का नेतृत्व
(d) शिक्षक का नेतृत्व
Ans. (b)


30. वह विधियाँ जिनके प्रयोग में विद्यार्थियों की स्व पहल व प्रयास शामिल हैं‚ निम्न में से किसका उदाहरण हैं?
(a
) निगमनात्मक विधि (b) अधिगमकर्ता केंद्रित विधि
(c) परम्परागत विधि (d) अन्तर्वैयक्तिक बुद्धि
Ans : (b)


31. बच्चों और उनके अधिगम के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा सही है?
(a
) बच्चों को सीखने के लिए अभिप्रेरणा तथा सीखने के लिए उनकी सक्षमता केवल आनुवंशिकता के द्वारा पूर्व निर्धारित है।
(b) बच्चों की सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि उनकी प्रेरणा एवं अधिगम सक्षमता को निर्धारित व सीमित करती है।
(c) बच्चों को अधिगम हेतु प्रेरित करने के लिए उन्हें पुरस्कृत एवं दंडित करना होता है।
(d) सभी बच्चे सीखने के लिए स्वाभाविक रूप से प्रेरित होते हैं तथा सीखने में सक्षम हैं।
Ans : (d)


32. प्राइमरी स्तर पर अनुदेशन होना चाहिए
(a
) शिक्षक केन्द्रित
(b) पाठ्यपुस्तक केन्द्रित
(c) छात्र केन्द्रित
(d) शिक्षक एवं पाठ्यपुस्तक केन्द्रित
Ans: (c)


33. प्राथमिक शिक्षा में मदद करता है –
(a
) बच्चे का समाजीकरण (b) बच्चे का लोकतंत्रीकरण
(c) पाठ्यक्रम की समझ (d) इनमें से सभी।
Ans: (d)


34. कक्षा−कक्ष में बैठक व्यवस्था कैसी होनी चाहिए?
(a
) कक्षा−कक्ष में कराई जा रही गतिविधियों के अनुरूप होनी चाहिए।
(b) रोज एक जैसी होनी चाहिए।
(c) एक ही लाइन में बच्चों को बैठाना चाहिए।
(d) इस प्रकार से हो कि वे एक−दूसरे से बातचीत न कर सके।
Ans : (a)


35. विद्यालय छोड़ने वाले विद्यार्थियों के नियंत्रण की दृष्टि से सरकारी संगठनों द्वारा संस्था के स्तर पर विभिन्न उपाय किए गए हैं। निम्नलिखित में से कौन-सा कारण संस्थानिक स्तर से जुड़ा है जिसके कारण बच्चे विद्यालय छोड़ देते हैं?
(a
) विद्यालय में श्यामपट्ट् और शौचालय जैसी आधारभूत सेवाओं का अभाव होना
(b) अध्यापकों का समुपयुक्त योग्यता वाला न होना तथा उन्हें कम आय देना
(c) बच्चों से भली-भाँति व्यवहार करने की आवश्यकता के प्रति अध्यापकों का संवेदनशील न होना
(d) जो बच्चे अनिवार्य पाठ्यचर्चा को स्वीकार नहीं कर पाते उनके लिए विकल्पात्मक पाठ्यचर्या का न होना
Ans: (d)


36. निम्नलिखित में से कौन-सा विकल्प प्रगतिशील शिक्षा का सबसे अच्छा वर्णन करता है?
(a
) कर के सीखना‚ परियोजना विधि‚ सहयोग से सीखना
(b) थिमैटिक इकाइयाँ‚ नियमित इकाई परीक्षण‚ रैंकिंग
(c) व्यक्तिगत अधिगम‚ क्षमता समूह बनाना‚ छात्रों की लेबलिंग
(d) परियोजना विधि‚ क्षमता समूह बनाना‚ रैंकिंग
Ans. (a)


37. प्रगतिशील शिक्षा के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन बताता है− शिक्षा स्वयं ही जीवन है?
(a
) स्कूल शिक्षा को यथासंभव लंबे समय तक जारी रखना चाहिए।
(b) स्कूलों की आवश्यकता नहीं है‚ बच्चे अपने जीवन के अनुभवों से सीख सकते हैं।
(c) स्कूलों में शिक्षा सामाजिक और प्राकृतिक दुनिया को प्रतिबिंबित करे।
(d) जीवन सच्चा शिक्षक है।
Ans. (c)


38. निम्नलिखित में से कौन-सी कक्षा समृद्ध शिक्षा को प्रोत्साहित करती है?
(a
) वह कक्षा जिसमें प्रदर्शित विभिन्न प्रकार की सामग्री बच्चों की पहुँच से परे हो ताकि सामग्री लंबे समय तक चलती रहे
(b) वह कक्षा जिसमें खुली गतिविधि कोनें में हों और विभिन्न प्रकार के बाल साहित्य खुली ताक (शेल्फ) में रखी हों‚ जो दिन के किसी भी समय प्राप्त किया जा सके।
(c) अलमारी में अच्छी तरह संगठित सामग्री वाली कक्षा‚ जहाँ सामग्री को सप्ताह में एक बार मुक्त खेल के लिए बाहर लाया जाता हो
(d) पाठ्यपुस्तक सामग्री द्वारा संचालित संरचित और योजनाबद्ध अधिगम वाली कक्षा
Ans. (b)


39. व्यक्तिगत शिक्षा कार्यक्रम की योजना …………… के संदर्भ में बनायी जाती है।
(a
) विशेष शिक्षा कार्यक्रम
(b) बाल−केन्द्रित शिक्षा कार्यक्रम
(c) मुक्त विद्यालयी शिक्षा कार्यक्रम
(d) ई−अधिगम शिक्षा कार्यक्रम
Ans. (b)


40. जिस दिए गए कार्य को करते समय बच्चे स्वयं आनंद लेते हुए अनुभव प्राप्त करते हैं‚ उसे …………….. कहा जाता है।
(a
) ड्रिल और अभ्यास कार्य
(b) उपभोक्ता प्रकार का कार्य
(c) निर्माणात्मक प्रकार का कार्य
(d) समस्यात्मक प्रकार का कार्य
Ans. (b)


41. बच्चे प्रभावी रूप से सीखते हैं जब −
(a
) वे पाठ्यपुस्तक में दिए गए तथ्यों को याद करते हैं।
(b) वे श्यामपट्ट पर अध्यापक के द्वारा लिखे गए उत्तरों की नकल करते हैं।
(c) वे विभिन्न गतिविधियों एवं कार्यों में सक्रिय रूप से भाग लेते हैं।
(d) शिक्षक कक्षा में होने वाली सभी घटनाओं व बच्चों को पूर्ण रूप से नियंत्रित करता है।
Ans : (c)


42. बच्चों को कक्षा में प्रश्न−
(a
) पूछने के लिए हतोत्साहित करना चाहिए।
(b) पूछने की अनुमति नहीं देनी चाहिए।
(c) पूछने से रोकना चाहिए
(d) पूछने के लिए प्रेरित करना चाहिए।
Ans : (d)


43. एक प्रगतिशील कक्षा में−
(a
) विद्यार्थी के द्वारा निष्क्रिय रूप से ज्ञान प्राप्त किया जाता है।
(b) विद्यार्थी के द्वारा ज्ञान को उसी रूप में दोहराया जाता है।
(c) शिक्षक के निर्देशों के अनुसार विद्यार्थी के द्वारा ज्ञान का अनुस्मरण किया जाता है।
(d) विद्यार्थी के द्वारा ज्ञान की संरचना की जाती है।
Ans. (d)


44. एक कक्षा में एक शिक्षक पढ़ाने के लिए बालकेन्द्रित उपागम का प्रयोग कर रहा है। यह तरीका उपयुक्त नहीं है-
(a
) समूह वार्तालाप के लिए (b) प्रोजेक्ट विधि के लिए
(c) प्रदर्शन के लिए (d) प्रश्नोत्तर के लिए
Ans: (c)


45. कक्षा में छात्रों को प्रश्न पूछने के लिए
(a
) हतोत्साहित करना चाहिए
(b) प्रेरित करना चाहिए
(c) रोक देना चाहिए
(d) अनुमति नहीं देनी चाहिए
Ans. (b)


46. पाठ्यक्रम होना चाहिए –
(a
) छात्र केन्द्रित (b) विद्यालय केन्द्रित
(c) शिक्षक केन्द्रित (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


47. शिक्षा के क्षेत्र में ‘पाठ्यचर्या’ शब्दावली ………. की ओर संकेत करती है।
(a
) शिक्षण−पद्धति एवं पढ़ाई जाने वाली विषय−वस्तु
(b) विद्यालय का सम्पूर्ण कार्यक्रम जिसमें विद्यार्थी प्रतिदिन अनुभव प्राप्त करते हैं
(c) मूल्यांकन−प्रक्रिया
(d) कक्षा में प्रयुक्त की जाने वाली पाठ्य−सामग्री
Ans : (b)


48. गतिविधि आधारित शिक्षण …………. पर बल देता है।
(a
) सभी विद्यार्थियों की सक्रिय भागीदारी
(b) निश्चित अवधि में गतिविधि पूरा करने
(c) खेलने
(d) अनुशासित कथा
Ans : (a)


49. बुनियादी स्तर पर मातृभाषा में शिक्षा देना बेहतर है‚ क्योंकि यह
(a
) बच्चों में आत्मविश्वास का विकास करेगा
(b) अधिगम को सरल बनाएगा
(c) बौद्धिक विकास में सहायता करेगा
(d) प्राकृतिक वातावरण में बच्चों को सीखने में सहायता करेगा
Ans : (d)


50. शिक्षण- प्रक्रिया में निम्नलिखित में किसका भली प्रकार ध्यान रखना चाहिए?
(a
) विद्यार्थियों की सक्रिय सहभागिता
(b) अनुशासन और नियमित उपस्थिति
(c) गृहकार्य की जाँच में लगन
(d) विषय-वस्तु का कठिनाई स्तर
Ans : (a)


51. अधिगमकर्ता-केन्द्रित विधि का आशय है
(a
) वे विधियाँ‚ जहाँ अधिगम में अधिगमकर्ता की अपनी पहल तथा प्रयास सम्मिलित होते हैं
(b) उन विधियों को अपनाना‚ जिनमें शिक्षक मुख्य कर्ता (पात्र) होता है
(c) कि शिक्षक अधिगमकर्ता के लिए स्वयं निष्कर्ष निकाल देते हैं
(d) परम्परागत व्याख्यात्मक विधियाँ
Ans : (a)


52. विवेचनात्मक शिक्षाशाध्Eा का यह दृढ़ विश्वास है कि−
(a
) शिक्षार्थियों को स्वतंत्र रूप से तर्कणा नहीं करनी चाहिए
(b) बच्चे स्कूल से बाहर क्या सीखते हैं‚ यह अप्रासंगिक है
(c) शिक्षार्थियों के अनुभव और प्रत्यक्षण महत्वपूर्ण होते हैं
(d) एक शिक्षक को हमेशा कक्षा-कक्ष के अनुदेशन का नेतृत्व करना चाहिए
Ans: (c)


53. बाल-केन्द्रित शिक्षा में मूल्यांकन का सबसे कम महत्वपूर्ण कारण है-
(a
) उन लक्ष्यों की ओर उनकी प्रगति की निगरानी करना
(b) उनके अधिगम और विकास के लिए लक्ष्य निर्धारित करने में छात्रों की सक्रिय भागीदारी
(c) किसी भी अंतराल को संबोधित करने का निर्धारण
(d) मुख्य सामग्री ज्ञान और कौशल
Ans. (d)


54. बाल-केंद्रित शिक्षा निम्न का उपयोग करता है-
(a
) विविध प्रदर्शन (b) वर्ष-अंत मूल्यांकन
(c) रैखिक प्रदर्शन (d) अनुशासनात्मक बल
Ans. (a)


55. 15बच्चों की कक्षा में जहाँ आपके पास 15 अलग- अलग सीखने की शैली और 15 अलग-अलग व्यक्तित्व वाले बच्चें हैं‚ बाल-केन्द्रित शिक्षण-
(a
) एक शिक्षण प्रणाली के साथ एक पाठ योजना विकसित करना।
(b) प्रत्येक बच्चे को देखकर एक पाठ योजना विकसित करती है‚ कि उनकी जरूरतें क्या हैं।
(c) कक्षा की क्षमता के मध्य को लक्षित करते हुए एक पाठ योजना विकसित करना।
(d) एक पाठ योजना विकसित करती हे‚ जो सभी के लिए उपयुक्त है।
Ans. (b)


56. बाल-केंद्रित शिक्षा में‚ बच्चे को जो सीखना चाहिए‚ वह निम्नानुसार आंकना चाहिए-
(a
) गतिविधियों के माध्यम से
(b) उनके परीक्षा परिणामों के अंकों से
(c) बच्चे की योग्यता‚ रुचि‚ क्षमता और पिछले अनुभव के अनुसार
(d) बच्चे के पिछले अनुभव के अनुसार
Ans. (c)


57. एन सी एफ 2005 के अनुसार‚ गलतियाँ इस कारण महत्त्वपूर्ण होती हैं
(a
) यह विद्यार्थियों को ‘उत्तीर्ण’ एवं ‘अनुत्तीर्ण’ समूह में वर्गीकृत करने के लिए एक महत्त्वपूर्ण उपकरण है
(b) यह अध्यापकों को बच्चों को डाँटने के लिए एक तरीका उपलब्ध कराती है
(c) यह बच्चे के विचार की अन्तर्दृष्टि उपलब्ध कराती है तथा समाधानों को पहचानने में सहायता करती है
(d) यह कक्षा में कुछ बच्चें के हटाने के लिए आधा स्थान उपलब्ध कराती है
Ans : (c)


58. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या फ्रेमवर्क 2005 ने अपनी समझ ………. से प्राप्त की है।
(a
) मानवतावाद (b) व्यवहारवाद
(c) रचनावाद (d) संज्ञानात्मक सिद्धांत
Ans. (c)


59. एक बालक को वस्तुओं को देखने में कुछ समस्या है। उसका दाखिला NCF-2005 के आधार पर किस विद्यालय में होना चाहिये?
(a
) नियमित विद्यालय (b) विशिष्ट विद्यालय
(c) समावेशी विद्यालय (d) एकीकृत विद्यालय
Ans: (c)


60. NCF-2005 किस प्रकार की शिक्षण प्रणाली को प्रोत्साहित करता है?
(a
) समावेशी (b) एकीकृत
(c) विशेष (d) नियमित
Ans: (a)


61. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 में भारत की धार्मिक एवं सांस्कृतिक विविधता को मानना‚ ध्Eिायों के प्रति सम्मान एवं जिम्मेदारी का दृष्टिकोण को बढ़ाने के प्रोग्राम का आयोजन एवं वृत्त चित्र तथा फिल्मों को एकत्र करना एवं दिखाना जिनके माध्यम से न्याय एवं शान्ति में वृद्धि हो‚ को सुझाया गया है ताकि
(a
) शान्ति की शिक्षा दी जा सके
(b) मूल्यों की शिक्षा दी जा सके
(c) नागरिकता की शिक्षा दी जा सके
(d) इनमें से कोई नहीं
Ans: (b)


62. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 में बहुभाषा को एक संसाधन के रूप में समर्थन दिया गया है क्योंकि
(a
) यह एक तरीका है जिसमें प्रत्येक बालक सुरक्षित महसूस करें
(b) भाषागत पृष्ठभूमि के कारण कोई भी बालक पीछे न छूट जाये
(c) यह बालकों को अपने पर विश्वास के लिये प्रोत्साहन देगा
(d) इनमें से सभी।
Ans: (d)


63. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 में शान्ति शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कुछ क्रियाओं की अनुशंसा की गई है। पाठ्यचर्या की रूपरेखा में निम्न में से किसे सूचीबद्ध किया गया है?
(a
) महिलाओं के प्रति आदर एवं जिम्मेदारी का दृष्टिकोण विकसित करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किये जाये
(b) नैतिक शिक्षा को पढ़ाया जाये
(c) शान्ति शिक्षा को एक अलग विषय के रूप में पढ़ाया जाये
(d) शान्ति शिक्षा को पाठ्यक्रम में सम्मिलित किया जाये।
Ans: (d)


64. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 में बातचीत की गई है
(a
) ज्ञान का विकास किया जाये‚ शिक्षण के लिए सुव्यवस्थित पाठक्रम निर्धारित किया जाये
(b) शैक्षिक केन्द्र से विषय केन्द्र होने पर
(c) विद्यार्थी केन्द्रित से अध्यापक केन्द्रित की ओर
(d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


65. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 में ‘गुणवत्ता आयाम’ शीर्षक के अन्तर्गत अधिक महत्व दिया गया है
(a
) भौतिक संसाधनों को
(b) शिक्षित एवं अभिप्रेरित अध्यापकों को
(c) बालको के लिए ज्ञान के संदर्भ में संरचित अनुभवों को
(d) बालकों के लिए संरचित अनुभव एवं पाठ्यक्रम सुधार को।
Ans: (d)


66. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 में निम्न में से किस परीक्षा सम्बन्धी सुधारों को सुझाया गया है?
(a
) कक्षा- X की परीक्षा ऐच्छिक
(b) विद्यालयी शिक्षा की विभिन्न अवस्थाओं पर राज्य स्तर की परीक्षा संचालन
(c) प्रतियोगी प्रवेश परीक्षाओं को ऐच्छिक
(d) इनमें से सभी।
Ans: (a)


67. इनमें से कौन पाठ्यचर्या (NCF) 2005 मार्गदर्शी सिद्धान्त नहीं है?
(a
) ज्ञान को स्कूल के बाहरी जीवन से जोड़ना
(b) पढ़ाई को रटन्त प्रणाली से मुक्त कराना
(c) अंग्रेजी भाषा में शिक्षा देना
(d) बच्चों को चहुमुखी विकास के अवसर उपलब्ध कराना
Ans: (c)


68. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 की संस्तुतियों के सम्बन्ध में कौन-सा कथन सत्य नहीं है?
(a
) विश्वविद्यालयों को राजनीति से मुक्त रखना
(b) ज्ञान को बाह्य जीवन से जोड़ना
(c) राष्ट्र के प्रजातान्त्रिक मूल्यों का सम्मान
(d) परीक्षाओं में लचीलापन
Ans: (a)


69. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 के अन्तर्गत ‘परीक्षा सुधारों’ में निम्न में से किस सुधार को सुझाया गया है?
(a
) खुली पुस्तक परीक्षा
(b) सतत/निरन्तर एवं व्यापक मूल्यांकन
(c) सामूहिक कार्य मूल्यांकन
(d) इनमें से सभी।
Ans: (b)


69. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 (NCF-2005) के आधारभूत सिद्धान्तों में‚ निम्न में से कौन-सा भाग सम्मिलित नहीं है?
(a
) अच्छी बाह्य परीक्षाओं का आयोजन करना
(b) रटने को महत्व प्रदान न करना
(c) पुस्तकों से इतर ज्ञान प्राप्त करना
(d) ज्ञान को वास्तविक जीवन से जोड़ना
Ans: (a)


70. एन सी एफ‚ 2005 (NCF, 2005) की संस्तुतियों के अनुसार‚ कक्षा एक एवं कक्षा दो के विद्यार्थियों के लिए मूल्यांकन का तरीका होना चाहिए
(a
) लिखित परीक्षण के आधार पर
(b) मौखिक परीक्षण के आधार पर
(c) लिखित एवं मौखिक परीक्षण के आधार पर
(d) प्रेक्षण के आधार पर
Ans: (d)


71. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 दस्तावेज में भाषा के लिए निहित है
(a
) एक भाषा (b) द्वि भाषा
(c) तीन भाषा (d) बहु भाषा
Ans: (c)


72. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा (एनसीएफ), 2005 के अनुसार शिक्षक की भूमिका है−
(a
) अधिनायकीय (b) अनुमतिपरक
(c) सुविधादाता (d) सत्तावादी
Ans : (c)


73. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 के अनुसार अधिगम अपने स्वभाव में ………… और …………. है।
(a
) निष्क्रिय; सरल (b) सक्रिय; सामाजिक
(c) निष्क्रिय; सामाजिक (d) सक्रिय; सरल
Ans : (b)


74. एन सी एफ 2005 के संबंध में निम्न में से कौन−सा कथन सही है?
(a
) वह भारत की विद्यालयी शिक्षा के संबंध में एक संवैधानिक संशोधन है
(b) यह एनसीईआरटी द्वारा तैयार किया गया दस्तावेज है‚ जो भारत की विद्यालयी शिक्षा के संबंध में संस्तुतियाँ प्रस्तुत करता है
(c) यह भारत में गुणात्मक शिक्षा के संबंध में यूनेस्कों और भारत द्वारा हस्ताक्षरित दस्तावेज है।
(d) उपरोक्त में से काई नहीं
Ans : (b)


75. एन सी एफ 2005 (NCF, 2005) की संस्तुतियों के अनुसार‚ कक्षा एक एवं कक्षा दो के विद्यार्थियों के लिए मूल्यांकन का तरीका होना चाहिए−
(a
) लिखित परीक्षण के आधार पर
(b) मौखिक परीक्षण के आधार पर
(c) लिखित एवं मौखिक परीक्षण के आधार पर
(d) प्रेक्षण के आधार पर
Ans : (d)


76. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005 (NCF-2005) के आधारभूत सिद्धांतों में‚ निम्नलिखित में से कौन−सा भाग सम्मिलित नहीं है?
(a
) अच्छी बाह्य परीक्षाओं का आयोजन करना
(b) रटने को महत्त्व प्रदान न करना
(c) पुस्तकों के इतर ज्ञान प्राप्त करना
(d) ज्ञान को वास्तविक जीवन से जोड़ना
Ans : (a)


77. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या के रूपरेखा 2005 की संस्तुतियों के संबंध में कौन−सा कथन सत्य नहीं है?
(a
) विश्वविद्यालयों को राजनीति से मुक्त रखना
(b) ज्ञान को बाह्य जीवन से जोड़ना
(c) राष्ट्र के प्रजातांत्रिक मूल्यों का सम्मान
(d) परीक्षाओं में लचीलापन
Ans : (a)


78. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा‚ 2005 के अनुसार गणित शिक्षण का मुख्य उद्देश्य है−
(a
) बच्चों को अंकगणित का ज्ञान देना।
(b) बच्चों में गणित के प्रति रूचि पैदा करना।
(c) बच्चों में तार्किक चिंतन तथा समस्या समाधान योग्यता का विकास करना।
(d) बच्चों का संवेगात्मक विकास करना।
Ans : (c)


79. ‘‘पाठ्यचर्या ऐसी हो जो पाठ्य-पुस्तक के ज्ञान को पुन: प्रस्तुत करने के स्थान पर बच्चों को अपनी आवाजें पाने‚ कार्य करने के लिए अपनी जिज्ञासा का पोषण करने‚ प्रश्न पूछने और जाँच-पड़ताल करने तथा अपने अनुभवों को बाँटने तथा विद्यालय के ज्ञान के साथ जोड़ने में सक्षम बनाए।’’ – राष्ट्रीय पाठयचर्या की रूपरेखा 2005‚ पृ.13 इस पृष्ठभूमि में‚ एक शिक्षक की प्राथमिक भूमिका क्या होनी चाहिए?
(a
) बच्चों को उनकी अपनी समझ और अपने ज्ञान को साझा करने के पर्याप्त अवसर देना।
(b) बच्चों के अनुभवों को निरस्त कर पाठ्य-पुस्तकों पर ध्यान केंद्रित करना।
(c) पाठ्यपुस्तक के अध्ययों को क्रमवार पूरा कराना।
(d) यह सुनिश्चित करना कि शिक्षिका अच्छे प्रश्न पूछे और शिक्षार्थी अपनी उत्तर पुस्तिका में उत्तर लिखें।
Ans: (a)


80. नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिनियम‚ 2009 दिव्यांग बच्चों की नि:शुल्क शिक्षा के अधिकारों को सुनिश्चित करता है−
(a
) 6 वर्ष से 18 वर्ष तक के लिए
(b) 3 वर्ष से 18 वर्ष तक के लिए
(c) 6 वर्ष से 14 वर्ष तक के लिए
(d) 6 वर्ष से 22 वर्ष तक के लिए
Ans. (a)


81. निम्नलिखित संरचनाओं में से शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 किसकी वकालत करता है?
(a
) समावेशी शिक्षा (b) पृथक्करण
(c) मुख्यधारा शिक्षण (d) एकीकृत शिक्षा
Ans : (a)


82. शिक्षा का अधिकार अधिनियम (RTE Act) किस वर्ष से प्रभावी हुआ ?
(a
) 2009 (b) 2010
(c) 2005 (d) 2001
Ans : (b)


83. शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 में उल्लेख की गई ‘समावेशी शिक्षा’ की अवधारणा निम्नलिखित में किस पर आधारित है?
(a
) अधिकार-आधारित मानवतावादी परिप्रेक्ष्य
(b) मुख्यत: व्यावसायिक शिक्षा उपलब्ध करा करके अशक्त बच्चों को मुख्यधारा में शामिल करना।
(c) व्यवहारवादी सिद्धांत
(d) अशक्त बच्चों के प्रति एक सहानुभूतिक अभिवृत्ति
Ans. (a)


84. संविधान के किस संशोधन से शिक्षा एक मौलिक अधिकार बन गयी है?
(a
) 86वें संशोधन (b) 25वें संशोधन
(c) 52वें संशोधन (d) 22वें संशोधन
Ans. (a)


85. शिक्षा का अधिकार अधिनियम-2009 के क्रियान्वयन के बाद कक्षा-कक्ष-
(a
) अप्रभावित हैं‚ क्योंकि शिक्षा का अधिकार विद्यालय में कक्षा की औसत आयु को प्रभावित नहीं करता
(b) जेंडर के अनुसार अधिक समजातीय है
(c) आयु के अनुसार अधिक समजातीय है
(d) आयु के अनुसार अधिक विषमजातीय है
Ans: (c)


86. बालकों का मुफ्त एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 में निम्न में से किस पर ध्यान नहीं दिया गया है?
(a
) अध्यापकों को प्रशिक्षण की सुविधा प्रदान करना
(b) घुमन्तू बालकों के प्रवेश को सुनिश्चित करना
(c) एकेडेमिक कैलेन्डर को निर्धारित करना
(d) 14 वर्ष के पश्चात की शिक्षा।
Ans: (d)


87. नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का बालकों का अधिकार‚ 2009 के अन्र्तगत‚ किसी भी अध्यापक को निम्न में से किस कार्य के लिये नहीं लगाया जा सकता?
(a
) दस वर्ष पश्चात होने वाली जनगणना में
(b) आपदा राहत कार्य में
(c) चुनाव सम्बन्धी कार्य में
(d) पल्स पोलियो कार्यक्रम में।
Ans: (d)


88. शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 में एक अध्यापक के लिए न्यूनतम कार्य घंटे प्रति सप्ताह निर्धारित किये गये हैं
(a
) चालीस घंटे (b) पैंतालीस घंटे
(c) पचास घंटे (d) पचपन घंटे।
Ans: (b)


89. शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 में एक अध्यापक को निम्न में से किस दायित्व को पूरा करना होगा?
(a
) विद्यालय में नियमित रूप से समय पर उपस्थित होना होगा
(b) पाठ्यक्रम का संचालन पूरा करना होगा
(c) सम्पूर्ण पाठ्यक्रम को निर्धारित समय पर पूरा करना होगा
(d) इनमें से सभी।
Ans: (d)


90. शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 में निर्दिष्ट किया गया है कि कक्षा-1 से कक्षा-5 तक यदि प्रवेश दिये गये विद्यार्थियों की संख्या दो सौ से अधिक है‚ तो विद्यार्थी- अध्यापक आवश्यक अनुपात होगा
(a
) तीस (b) चालीस
(c) पैंतालीस (d) पचास।
Ans: (b)


91. भारत के संविधान में किसके लिए नि:शुल्क अनिवार्य शिक्षा है?
(a
) सभी छात्रों के लिए
(b) 14 वर्ष तक के सभी बच्चों के लिए
(c) सभी छात्रों और प्रौढ़ो के लिए
(d) सभी नागरिकों के लिए
Ans: (b)


92. शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 लागू नहीं होता
(a
) नि:शक्त बच्चे
(b) 6-14 आयु वर्ग के बच्चे
(c) 14-18 वर्ष के आयु के बच्चे
(d) बच्चों की नियमित उपस्थिति
Ans: (c)


93. बच्चों के लिए नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 के लिए लागू है−
(a
) 6−14 वर्ष (b) 7−13 वर्ष
(c) 5−11 वर्ष (d) 6−12 वर्ष
Ans : (a)


94. शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 ने 6 से 14 वर्ष आयु के विद्यालय कभी न गए अथवा विद्यालयी शिक्षा अधूरी छोड़ने वाले बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने हेतु−
(a
) विशेष पाठ्यक्रम लागू करने पर जोर दिया है।
(b) विशेष प्रशिक्षण लागू करने पर जोर दिया है।
(c) अलग से विद्यालय खोलने की बात कही है।
(d) अलग से शिक्षक नियुक्त करने की बात कही है।
Ans : (b)


95. भारतीय संविधान के किस अनुच्छेद में 6-14 आयु- वर्ग के बच्चों के लिए नि:शुल्क व अनिवार्य शिक्षा का अधिकार शामिल किया गया है?
(a
) अनुच्छेद 26 (b) अनुच्छेद 15
(c) अनुच्छेद 45 (d) अनुच्छेद 21A
Ans : (d)


96. शिक्षा का अधिकार अधिनियम‚ 2009 के अनुसार विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को पढ़ना चाहिए−
(a
) व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्रों में जो उन्हें जीवन कौशलों के लिए तैयार करेंगे
(b) घर पर माता-पिता और देखभाल करने वालों के साथ जो उन्हें आवश्यक सहायता उपलब्ध कराएँ
(c) खासतौर पर उन्हीं के लिए बनाए गए विशेष विद्यालयों में
(d) समावेशी शिक्षा व्यवस्था में इस प्रावधान के साथ कि उनकी व्यक्तिगत आवश्यकताओं की पूर्ति की जा सके
Ans : (d)


97. नि:शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा के अधिकार 2009 में अनिवार्य शब्द का अर्थ है
(a
) उचित सरकारें दाखिले‚ उपस्थिति और प्रारम्भिक शिक्षा की पूर्णता को सुनिश्चित करेंगी।
(b) दण्डात्मक कार्य से बचने के लिए अपने बच्चें को विद्यालय भेजने के लिए अभिभावकों पर अनिवार्य रूप से जोर डाला गया है।
(c) अनिवार्य शिक्षा सतत् परीक्षण के माध्यम से प्रदान की जाएगी
(d) केन्द्र सरकार दाखिले‚ उपस्थिति और प्रारंभिक शिक्षा की पूर्णता को सुनिश्चित करेगी।
Ans : (a)


98. शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के क्रियान्वयन के बाद कक्षा−कक्ष
(a
) जेंडर के अनुसार अधिक समजातीय हैं
(b) आयु के अनुसार अधिक समजातीय हैं
(c) आयु के अनुसार अधिक विषमजातीय है
(d) अप्रभावित हैं‚ क्योंकि शिक्षा का अधिकार विद्यालय में कक्षा की औसत आयु को प्रभावित नहीं करता
Ans : (b)


99. आर.टी.ई. एक्ट 2009 के अनुसार प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों को प्रति सप्ताह कुल कितने घण्टे की योजना बनाकर कार्य करना है?
(a
) 30 घण्ट (b) 45 घण्टे
(c) 42 घण्टे (d) 50 घण्टे
Ans: (b)


100. आरटीई अधिनियम इस वर्ष में लागू किया गया था :
(a
) 2010 (b) 2008
(c) 2011 (d) 2009
Ans. (a)


101. प्रकृतिवाद के अनुसार शिक्षा का केन्द्र होना चाहिए
(a
) अध्यापक (b) बालक
(c) पाठ्यक्रम (d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (b)


102. बेसिक शिक्षा हेतु महात्मा गाँधी ने किस पाठ्यक्रम पर बल दिया है?
(a
) नृत्यकला केन्द्रित (b) हस्तकला केन्द्रित
(c) पुस्तककला केन्द्रित (d) संगीतकला केन्द्रित
Ans: (b)


103. विद्यार्थियों को स्वतंत्र रूप से चिंतन करने तथा प्रभावी शिक्षार्थी बनने में सक्षम बनाने हेतु शिक्षक के लिए महत्त्वपूर्ण है−
(a
) विद्यार्थियों को सिखाना कि किस प्रकार से अपने अधिगम का अनुवीक्षण करें।
(b) विद्यार्थियों के द्वारा प्राप्त की गई प्रत्येक सफलता के लिए उन्हें पुरस्कार देना।
(c) छोटी−छोटी इकाइयों या खंडों में जानकारी प्रदान करना।
(d) एक संघटित तरीके से जानकारी को प्रस्तुत करना ताकि पुन: स्मरण करने में आसानी हों।
Ans : (a)


104. बाल−केन्द्रित शिक्षा का समर्थन निम्नलिखित में से किस विचारक द्वारा किया गया?
(a
) चाल्र्स डार्विन (b) बी.एफ. स्किनर
(c) जॉन ड्यूवी (d) एरिक इरिकसन
Ans : (c)


105. प्रगतिशील शिक्षा के सन्दर्भ में निम्नलिखित में से कौन−सा कथन जॉन डीवी के अनुसार समुचित है?
(a
) कक्षा में प्रजातंत्र का कोई स्थान नहीं होना चाहिए
(b) विद्यार्थियों को स्वयं ही सामाजिक समस्याओं को सुलझाने में सक्षम होना चाहिए
(c) जिज्ञासा विद्यार्थियों के स्वभाव में अन्तनिर्हित नहीं है अपितु इसका कर्षण/संवद्र्धन करना चाहिए
(d) कक्षा में विद्यार्थियों का निरीक्षण करना चाहिए न कि सुनना चाहिए
Ans : (b)


106. जॉन ड्यूवी द्वारा समर्थित ‘लैब विद्यालय’ के उदाहरण हैं –
(a
) पब्लिक विद्यालय (b) सामान्य विद्यालय
(c) फैक्ट्री विद्यालय (d) प्रगतिशील विद्यालय
Ans: (d)


107. ‘‘प्रगतिशील शिक्षा के जनक’’ के रूप में याद किए जाने वाले सिद्धांतकार हैं-
(a
) फेडरिक फ्रोबेल (b) जॉन डीवी
(c) जीन पियाजे (d) ग्राहम गिब्स
Ans. (b)


108. जब शिक्षक को विद्यार्थियों एवं उनकी योग्यताओं के बारे में सकारात्मक विश्वास होता है तब विद्यार्थी−
(a
) निश्चिन्त हो जाते हैं तथा सीखने के लिए किसी भी तरह का प्रयास करना बंद कर देते हैं।
(b) का उत्साह भंग हो जाता है तथा वे दबाव में आ जाते हैं।
(c) किसी भी रूप में प्रभावित नहीं होते हैं।
(d) सीखने के लिए उत्सुक एवं प्रेरित रहते हैं।
Ans : (d)


109. एक शिक्षक को चाहिए कि−
(a
) वह विशेष संस्कृतियों/समुदायों के बच्चों को बढ़ावा दे।
(b) वह विद्यार्थियों के बीच सांस्कृतिक विभिन्नताओं तथा विविधता की अनदेखी करें।
(c) यह सम्प्रेषित करे कि वह कक्षाकक्ष में सभी संस्कृतियों का सम्मान करती है एवं महत्त्व देती है।
(d) वह विद्यार्थियों के बीच तुलना को अधिकतम करें।
Ans : (c)


110. एकल अभिभावक वाले बच्चे को पढ़ाते समय शिक्षक को
(a
) इस तथ्य की अनदेखी करना चाहिए और ऐसे बच्चे के साथ अन्य बच्चों के समान व्यवहार करना चाहिए
(b) इस प्रकार के बच्चे के साथ भिन्न प्रकार के व्यवहार करना चाहिए
(c) ऐसे बच्चे को कम गृहकार्य देना चाहिए
(d) स्थिर और एकरूप वातावरण उपलब्ध कराना चाहिए
Ans : (a)


111. बाल−केन्द्रित कक्षा की एक प्रमुख विशेषता है कि उसमें
(a
) शिक्षक की भूमिका ज्ञान को सीखने के लिए उसे प्रस्तुत करना है और शिक्षार्थियों का मानक मानदण्डों पर आकलन करना है
(b) शिक्षक के मार्गदर्शन से शिक्षार्थियों को अपनी स्वयं की समझ का निर्माण करने के लिए उत्तरदायी बनाया जाता है
(c) शिक्षक के द्वारा बल प्रयोग और मनोवैज्ञानिक नियंत्रण होता है‚ जो अधिगम पथ और बच्चों के व्यवहार को निर्धारित करता है
(d) शिक्षक बच्चों के लिए व्यवहार के समरूप तरीकों को निर्धारित करता है और जब वे उसका पालन करते हैं‚ तो उन्हें उपयुक्त पुरस्कार देता है
Ans : (b)


112. एक शिक्षार्थी केन्द्रित कक्षा−कक्ष में अध्यापिका करेगी
(a
) अधिगम को सुगम बनाने के लिए बच्चों को एक−दूसरे के साथ अंकों के लिए मुकाबला करने हेतु प्रोत्साहित करना
(b) मुख्य तथ्यों की व्याख्या करने के लिए व्याख्यान पद्धति का प्रयेाग करना और बाद में शिक्षार्थियों का उनकी सजगता के लिए आकलन करना
(c) वह अपने विद्यार्थियों से जिस प्रकार की अपेक्षा करती है उसे प्रदर्शित करना और तब बच्चों को वैसा करने के लिए दिशा−निर्देश देना
(d) इस प्रकार की पद्धतियों को नियोजित करना जिसमें शिक्षार्थी अपने स्वयं के अधिगम के लिए पहल करने में प्रोत्साहित हों
Ans : (d)


113. एक प्रभावशाली अध्यापिका होने के लिए यह महत्त्वपूर्ण है
(a
) पुस्तक के उत्तरों को लिखाने पर बल देना
(b) समूह गतिविधि के बजाय वैयक्तिक अधिगम पर ध्यान देना
(c) विद्यार्थियों के द्वारा प्रश्न पूछने के कारण उत्पन्न व्यवधान की अनदेखी करना
(d) प्रत्येक बच्चे के सम्पर्क में रहना
Ans : (d)


114. निम्नलिखित में से कौन−सा एक माध्यमिक विद्यालय की कक्षा−कक्ष में शिक्षक की भूमिका का सर्वोत्तम/उचित वर्णन करता है?
(a
) चर्चाओं के अवसर उपलब्ध कराना
(b) प्रथम स्थान के लिए शिक्षार्थियों को आपस में प्रतिस्पर्धा के लिए बढ़ावा देना
(c) बहु−परिप्रेक्ष्य को निरुत्साहित करना तथा एक−आयामी परिप्रेक्ष्य पर केन्द्रीभूत होना
(d) व्याख्यान देने के लिए पावरप्वॉइंट प्रेजेंटेशन का प्रयोग करना
Ans : (a)


115. कक्षा तक पहुँचने वाली बच्चों की भोली अवधारणाओं को जानना−
(a
) शिक्षक की योजना और शिक्षण में रुकावट बनता है
(b) शिक्षक के हौसले को पस्त कर देता है क्योंकि इससे उसका कार्यभार बढ़ता है
(c) शिक्षक के किसी उद्देश्य की पूर्ति नहीं करता
(d) शिक्षक के लिए अपने शिक्षण को अधिक सार्थक बनाने की योजना बनाने में सहायक होता है
Ans : (d)


116. किसी प्रगतिशील कक्षा की व्यवस्था में शिक्षक एक ऐसे वातावरण को उपलब्ध कराकर अधिगम को सुगम बनाता है‚ जो−
(a
) खोज को प्रोत्साहन देता है
(b) नियामक है
(c) समावेशन को हतोत्साहित करता है
(d) आवृत्ति को बढ़ावा देता है
Ans : (a)


117. शिक्षार्थियों के ज्ञान अर्जन में सहायता करने के क्रम में अध्यापकों को किस पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए?
(a
) सुनिश्चित करना कि शिक्षार्थी सब कुछ याद करते हैं
(b) शिक्षार्थी के द्वारा प्राप्त किए गए अंकों/ग्रेडों पर
(c) शिक्षार्थी को सक्रिय सहभागिता के लिए शामिल करना
(d) शिक्षार्थी के द्वारा अधिगम की अवधारणाओं में कुशलता प्राप्त करना
Ans: (c)


118. बच्चों के अधिगम को सुगम बनाने के लिए अध्यापकों को एक अच्छे कक्षायी परिवेश का सृजन करने की आवश्यकता होती है। इस प्रकार के अधिगम परिवेश का सृजन करने के लिए नीचे दिए गए कथनों में से कौनसा सही नहीं है?
(a
) बच्चे के प्रयासों को स्वीकृति
(b) अध्यापकों के अनुसार कार्य करना
(c) बच्चे को स्वीकार करना
(d) अध्यापक का सकारात्मक रुख
Ans: (b)


119. एक प्रभावी कक्षा में :
(a
) बच्चे अपने अधिगम को सुगम बनाने के लिए मार्गदर्शन एवं सहयोग हेतु शिक्षक से सहायता लेते हैं।
(b) बच्चे हमेशा उत्सुक और तैयार रहते है‚ क्योंकि शिक्षक उनकी प्रत्यास्मरण योग्यता का आकलन करने के लिए नियमित रूप से परीक्षा लेता रहता है।
(c) बच्चे शिक्षक से डरते हैं‚ क्योंकि वह मौखिक और शारीरिक दंड का प्रयोग करता है।
(d) बच्चे शिक्षक का सम्मान नहीं करते हैं और जैसा उन्हें अच्छा लगता है वैसा ही करते हैं।
Ans: (a)


120. बच्चों में ज्ञान की रचना करने और अर्थ का निर्माण करने की क्षमता होती है। इस परिप्रेक्ष्य में एक शिक्षक की भूमिका है−
(a
) तालमेल बैठाने वाले की
(b) संप्रेषक और व्याख्याता की
(c) सुगमकर्ता की
(d) निर्देशक की
Ans : (c)


121. भावात्मक एकता समिति के अध्यक्ष कौन थे? उत्तर: डा. सम्पूर्णानन्द UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-भावात्मक एकता को विकसित करने के लिए शिक्षा परम आवश्यक है। अत: भारत के केन्द्रिय शिक्षा मंत्रालय ने सन् 1961 में एक भावात्मक समिति स्थापित की जिसका उद्देश्य ऐसे सुझावों को देना था जिनसे सभी विघटनकारी प्रवृत्तियों का अंत हो जाये। इस समिति के अध्यक्ष स्वर्गीय डा. सम्पूर्णानन्द को बनाया गया।


123. राष्ट्रीय शिक्षा नीति‚ 1986 के अनुसार शिक्षा पर निवेश कुल राष्ट्रीय उत्पादन का प्रतिशत होना चाहिए
(a
) 6% (b) 10% (c) 4% (d) 3%
Ans: (a)


124. ‘ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड’ परिणाम था-
(a
) कोठारी आयोग का
(b) राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रचना – 2005
(c) राष्ट्रीय शैक्षिक योजना – 1986
(d) राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रचना – 2000
Ans: (c)


125. NCTE का पूर्ण रूप क्या है?
(a
) National Council of Technical Education
(b) National Curriculum for Technical Education
(c) National Council of Teacher Education
(d) National Curriculum for Teacher Education
Ans: (c)


126. सी.बी.एस.ई. द्वारा प्रस्तावित समूह-परियोजना गतिविधि ….. का एक सशक्त साधन है।
(a
) रोजमर्रा के शिक्षण से होने वाले तनाव को दूर करने
(b) अनेकता में एकता की संकल्पना का प्रचार-प्रसार करने
(c) सामाजिक भागीदारिता को सुगम बनाने
(d) शिक्षकों के भार को हल्का करने
Ans: (c)


129. एन. सी. ई. आर.टी. द्वारा राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा कब प्रस्तुत की गई ?
(a
) 1986 (b) 1992
(c) 2005 (d) 2009
Ans : (c)


130. एन.सी.ई.आर. टी. ने शैक्षिक संदर्भ में निम्नलिखित मूल्यों में से किसको स्वीकार किया है?
(a
) सफाई एवं सच्चाई (b) श्रम
(c) समानता एवं सहयोग (d) उपर्युक्त सभी
Ans : (d)


131. प्राथमिक विद्यालयों में मिड−डे मील कार्यक्रम प्रारंभ करने का प्रमुख कारण है−
(a
) समाज विस्तार करना
(b) रोजगार वृद्धि करना
(c) नामांकन संख्या बढ़ाना
(d) अध्यापकों का विकास करना
Ans : (c)


132. निम्नलिखित में से किस क्षेत्र में एन.सी.ई.आर.टी. मनोविज्ञान का प्रयोग कर रहा है?
(a
) पाठ्यपुस्तकों का निर्माण (b) विद्यालय संगठन
(c) विषय निर्धारण (d) वित्तीय सहायता
Ans: (a)


133. इनमें से कौन-सा अनुच्छेद यह कहता है कि धर्म और भाषा के आधार पर आधारित अल्पसंख्यक अपने अनुसार शिक्षा संस्थानों को स्थापित कर चला सकते हैं?
(a
) अनुच्छेद 29 (1) (b) अनुच्छेद 29 (2)
(c) अनुच्छेद 30 (1) (d) अनुच्छेद 30 (2)
Ans: (c)


134. निम्नलिखित में से कौन सी एजेंसी‚ भारत में स्कूली शिक्षा के लिए पाठ्यक्रम रूपरेखा तैयार करने के लिए उत्तरदायी है?
(a
) NCERT (b) NEUPA
(c) NCTE (d) RCI
Ans. (a)


135. सी.बी.एस.ई. द्वारा प्रस्तावित समूह−परियोजना गतिविधि…………. का एक सशक्त साधन हैं
(a
) अनकेता में एकता की संकल्पना का प्रचर−प्रसार करने
(b) सामाजिक भागीदारी को सुगत बनाने
(c) शिक्षकों के भार को हल्का करने
(d) रोजमर्रा के शिक्षण से होने वाले तनाव को दूर करने
Ans : (b)


136. NCTE का पूर्ण रूप क्या है?
(a
) National Council to Technical Education
(b) National Curriculum Technical Education
(c) National Council for Teacher Education
(d) National Curriculum for Teacher Education
Ans : (c)


137. राज्य स्तर पर कक्षा I से VIII तक की पाठ्यचर्या का निर्माण करती है−
(a
) एस सी ई आर टी (b) एन सी टी ई
(c) एन सी ई आर टी (d) सीमेंट
Ans : (a)


138. सी.बी.एस.ई. शिक्षार्थियों के लिए व्यक्तिगत गतिविधियों के स्थान पर सामूहिक गतिविधियों की संस्तुति करती है। ऐसा करने के पीछे विचार हो सकता है।
(a
) व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा के प्रति नकारात्मक संवेगात्मक प्रतिक्रियाओं से उबारना जो संपूर्ण अधिगम पर सामन्यीकृत हो सकती है
(b) प्रत्येक शिक्षार्थी के स्थान पर समूह में अवलोकन द्वारा शिक्षक के कार्य को सरल बनाने के लिए
(c) विद्यालयों के पास उपलब्ध समय को प्रासंगिक बनाना जबकि उनमें से अधिकांश के पास व्यक्तिगत गतिविधियों के लिए पर्याप्त समय नहीं होता
(d) गतिविधि की ढांचागत लागत को कम करना
Ans : (a)


<
–nextpage–>

08. बौद्धिकता के निर्माण का विवेचित संदर्श एवं बौद्धिकता मापन बुद्धि का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. तर्कसंगत चिंतन शब्द निम्न से संबंधित है:
(a
) व्यक्तित्व (b) मनोवृत्ति
(c) बुद्धि (d) प्रेरणा
Ans. (c)


2. निम्नलिखित कथनों में से कौन सा बुद्धि के बारे में सही है?
(a
) बुद्धि एक एकात्मक कारक तथा एक एकाकी विशेषक है।
(b) बुद्धि बहु−आयामी है तथा जटिल योग्यताओं का एक समूह है।
(c) बुद्धि एक निश्चित योग्यता है जो जन्म के समय ही निर्धारित होती है।
(d) बुद्धि को मानकीकृत परीक्षणों के प्रयोग से सटीक रूप से मापा एवं निर्धारित किया जा सकता है।
Ans. (b)


3. बुद्धि के लिए कौन-सा कथन सत्य नहीं है?
(a
) बुद्धि सीखने की योग्यता है
(b) बुद्धि समस्या हल करने की योग्यता है
(c) बुद्धि परिश्रम करने की योग्यता है
(d) बुद्धि नवीन परिस्थिति के साथ अनुकूलन करने की योग्यता है
Ans: (c)


4. निम्न में से कौन कथन बुद्धि के बारे में सत्य नहीं है?
(a
) यह एक व्यक्ति की मानसिक क्षमता है
(b) यह सामंजस्य/अनुकूलन स्थापित करने में सहायक है
(c) यह व्यवहार की गुणवत्ता से आँकी जाती है
(d) यह स्थाई एवं अपरिवर्तनशील विशेषता है।
Ans: (d)


5. मनुष्य का व्यवहार मुख्यत: किससे प्रेरित होता है?
(a
) कौशल (b) अभिक्षमता
(c) अभिवृत्ति (d) बुद्धि।
Ans: (d)


6. बुद्धि है−
(a
) सामर्थ्यों का एक समुच्चय
(b) एक अकेला और जाती विचार
(c) दूसरे को अनुकरण करने की योग्यता
(d) एक विशिष्ट योग्यता
Ans : (a)


7. मनोवैज्ञानिकों के अनुसार बुद्धि
(a
) सीखने की क्षमता है (b) अमूर्त चिन्तन की योग्यता है
(c) या तो (a) या (b) (d) (a) और (b)
Ans : (d)


8. हमारे पास बुद्धिमत्ता के लिए संस्कृति निष्पक्ष परीक्षण क्यों है?
(a
) बुद्धिमत्ता परीक्षण‚ भाषा और शिक्षा के अंतर से मुक्त होने चाहिए।
(b) सांस्कृतिक बोध बुद्धि का एक हिस्सा है।
(c) बुद्धि सांस्कृतिक−आधारित है।
(d) बुद्धिमत्ता को विकसित किया जा सकता है।
Ans. (a)


9. बुद्धिमता‚ _____ और पर्यावरण दोनों का एक उत्पाद है।
(a
) संस्कृति (b) समुदाय
(c) आनुवंशिकता (d) समाज
Ans. (c)


10. कई क्षमताओं को एक साथ रखा जाना ……. कहलाता है।
(a
) बुद्धि (b) रूचियाँ
(c) मनोवृत्ति (d) व्यक्तित्व
Ans. (a)


11. किस प्रकार के विकास से एकाग्रता तथा सृजनात्मकता का संबंध है?
(a
) सामाजिक विकास (b) नैतिक विकास
(c) बौद्धिक विकास (d) संवेगात्मक विकास
Ans: (c)


12. बुद्धि समावेश करती है-
(a
) अपसारी चिन्तन का
(b) अभिसारी चिन्तन का
(c) समालोचित चिन्तन का
(d) विचारशील चिन्तन का
Ans: (a)


13. निम्नलिखित में से बौद्धिक वातावरण को प्रभावित करने वाला सबसे महत्वपूर्ण कारक कौन-सा है?
(a
) विद्यालय का वातावरण
(b) परिवार का वातावरण
(c) पास-पड़ोस का वातावरण
(d) सांस्कृतिक वातावरण
Ans: (a)


14. एक जुड़वाँ भाइयों में से एक को सामाजिक−आर्थिक रूप से धनाढ्य परिवार द्वारा गोद लिया जाता है और दूसरे को एक निर्धन परिवार द्वारा। एक वर्ष के बाद उनके बुद्धि−लब्धांक के बारे में निम्नलिखित में से क्या अवलोकित होने की सर्वाधिक सम्भावना है?
(a
) धनी सामाजिक−आर्थिक परिवार वाले लड़के की अपेक्षा निर्धन परिवार वाला लड़का अधिक अंक प्राप्त करेगा
(b) सामाजिक−आर्थिक स्तर बुद्धि लब्धांक को प्रभावित नहीं करता
(c) निर्धन परविार वाले लड़के की अपेक्षा धनी सामाजिक− आर्थिक परिवार वाला लड़का अधिक अंक प्राप्त करेगा
(d) दोनों समान रूप से अंक प्राप्त करेंगे
Ans : (b)


15. बुद्धिलब्धि या आइ.क्यू. की आवधारणा दी गई थी−
(a
) गैलटॉन के द्वारा (b) बिने के द्वारा
(c) स्टर्न के द्वारा (d) टर्मन के द्वारा
Ans. (c)


16. मानसिक आयु का सम्प्रत्यय सबसे पहले किसने बताया−
(a
) बिने−साइमन परीक्षण−1905
(b) बिने−साइमन परीक्षण−1908
(c) बिने−साइमन परीक्षण−1911
(d) बिने−साइमन परीक्षण−1916
Ans. (b)


17. 1908 में प्रथम बिनेट−साइमन परीक्षण संशोधन निर्गत हुआ
(a
) 1911 (b) 1912
(c) 1913 (d) 1914
Ans. (a)


18. अमेरिका में प्रथम विश्व युद्ध के दौरान व्यक्ति की बुद्धिमत्ता का परीक्षण……….. में शुरू हुआ
(a
) अनुभव (b) समूचे
(c) संयोजन (d) समूहों
Ans. (d)


19. बुद्धि लब्धि मापने के जन्मदाता हैं
(a
) स्टर्न (b) बिने
(c) टरमैन (d) उपरोक्त में कोई नहीं
Ans : (c)


20. किसने सबसे पहले बुद्धि परीक्षण का निर्माण किया?
(a
) डेविड वैश्लर (b) एल्फ्रेड बिने
(c) चाल्स एडवर्ड स्पीयरमैन (d) रॉबर्ट स्टर्नबर्न
Ans : (b)


21. ‘स्टैनफोर्ड-बिने परीक्षण’ मापन करता है
(a
) व्यक्तित्व का (b) पढ़ने की दक्षता का
(c) बुद्धि का (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans : (c)


22. बुद्धिलब्धि अवधारणा के प्रथम प्रतिपादक कौन है?
(a
) जे.पी. गिलफोर्ड (b) अलफ्रेड बिने
(c) जे.एस. ब्रूनर (d) विलियम स्टर्न
Ans : (d)


23. मानसिक आयु का प्रत्यय दिया था –
(a
) बिने-साइमन ने (b) स्टर्न ने
(c) टर्मन ने (d) सिरिल बर्ट ने
Ans : (a)


24. मानसिक आयु के प्रत्यय का सर्वप्रथम प्रयोग किया
(a
) थॉर्नडाइक (b) गिल्फर्ड
(c) स्पीयरमैन (d) बिने-साइमन
Ans : (d)


25. किसने सबसे पहले बुद्धि परीक्षण का निर्माण किया?
(a
) एल्फ्रेड बिने (b) चाल्र्स एडवर्ड स्पीयरमैन
(c) रॉबटे स्टर्नबर्ग (d) डेविड वैश्लर
Ans: (a)


26. बुद्धि परीक्षणों के जनक ……………….. है।
(a
) फ्रांसिस गाल्टन (b) जेम्स कैटेल
(c) अल्फ्रेड बिने (d) कार्ल पियर्सन
Ans. (c)


27. प्राय: बालकों की बुद्धि का मापन किया जाता है
(a
) अ-वाचिक समूह बुद्धि परीक्षणों के द्वारा
(b) वाचिक समूह बुद्धि परीक्षणों के द्वारा
(c) अ-वाचिक व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षणों के द्वारा
(d) वाचिक व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षणों के द्वारा।
Ans: (a)


28. रेवन का प्रोग्रेसिव मैट्रिसिज परीक्षण ………….. परीक्षण का उदाहरण है।
(a
) व्यक्तित्व
(b) मौखिक बुद्धि−लब्धांक
(c) संस्कृतिक−मुक्त बुद्धि लब्धांक
(d) अ−समूह बुद्धि लब्धांक
Ans : (c)


29. वैश्लर के बालकों के लिए बुद्धि मापनी में उप− परीक्षणों की कुल संख्या है−
(a
) 5 (b) 8
(c) 11 (d) 14
Ans : (c)


30. बुद्धि का सामूहिक परीक्षण कौन-सा है?
(a
) स्टैनफोर्ड−बिने परीक्षण
(b) कोह ब्लॉक डिजाईन टेस्ट
(c) आर्मी बीटा परीक्षण
(d) वैश्लर वयस्क बुद्धि मापनी
Ans : (c)


31. बिने-साइमन परीक्षण द्वारा मापन किया जाता है
(a
) सामान्य बुद्धि का (b) विशिष्ट बुद्धि का
(c) अभिवृद्धि का (d) अभिक्षमता का
Ans : (b)


32. चेस तथा कार्ड को निम्न में किसमें वर्गीकृत किया जा सकता है?
(a
) लड़ाई वाले खेल (b) बौद्धिक खेल
(c) प्रायोगिक खेल (d) गतिमान खेल
Ans : (b)


33. प्रदर्शन बुद्धि को निम्न के द्वारा मापा जाता है-
(a
) मौखिक क्षमता (b) समझ
(c) संख्यात्मक क्षमता (d) चित्र व्यवस्था
Ans. (d)


34. 12 वर्ष से 16 वर्ष के बच्चों के लिए हिन्दी में डॉ. एस. जलोटा ने कौन-सा परीक्षण प्रतिपादित किया है?
(a
) अशाब्दिक बुद्धि परीक्षण
(b) साधारण मानसिक योग्यता परीक्षण
(c) आर्मी अल्फा परीक्षण
(d) चित्रांकन परीक्षण
Ans : (b)


35. भाटिया बैटरी का प्रयोग निम्न में से किसके मापन हेतु किया जाता है –
(a
) व्यक्तित्व (b) रुचि
(c) बुद्धि (d) अभिक्षमता
Ans : (c)


36. भाटिया बैटरी का प्रयोग निम्न में से किसके परीक्षण हेतु किया जाता है?
(a
) व्यक्तित्व (b) बुद्धि
(c) सृजनात्मकता (d) अभिवृत्ति
Ans : (b)


37. बुद्धिलब्धि (IQ) के आधार पर मन्दबुद्धिता के स्तर पर सही क्रम क्या है? उत्तर: जड़ बुद्धि‚ अल्प बुद्धि‚ मंद बुद्धि/ 71 से कम‚ 71-80‚ 80-91 UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-बुद्धिलब्धि के आधार पर मंदबुद्धिता के स्तर का सही क्रम है जड़ बुद्धि (Idiot)‚ अल्प बुद्धि (Dull) तथा मंद बुद्धि (Feeble minded) टरमैन ने सन् 1916 में स्टैनफोर्ड बिने परीक्षण के आधार पर बुद्धि लब्धि के वितरण की तालिका तैयार की जो निम्न हैबुद्धिलब्धि वर्ग 130 से अधिक – प्रतिभाशाली (Genius) 121-130 – प्रखर बुद्धि (Superior) 111-120 – तीव्र बुद्धि (Above Average) 91-110 – सामान्य बुद्धि (Average) 81-90 – मंद बुद्धि (Feeble minded) 71-80 – अल्प बुद्धि (Dull) 71 से कम – जड़ बुद्धि (Idiot, Imbecile)


38. बुद्धिलब्धि संबंधी विभिन्नताओं में कौन सम्मिलित नहीं है?
(a
) औसत बुद्धिमान (b) बुद्धिमान
(c) कला में रुचि (d) मंदबुद्धि
Ans: (c)


39. एक बच्चे की आयु 12 वर्ष तथा बुद्धि लब्धि 75 है‚ उसकी मानसिक आयु होगी−
(a
) 8 वर्ष (b) 9 वर्ष
(c) 10 वर्ष (d) 12 वर्ष
Ans. (b)


40. एक 25 वर्ष का लड़का‚ जिसकी मानसिक आयु 16 वर्ष है‚ उसका आई क्यू क्या होगा?
(a
) 64 (b) 75
(c) 80 (d) 100
Ans. (a)


41. अधिकांश लोगों का औसत कुछ बहुत ही उज्जवल होता है और कुछ बहुत ही पूर्ण रूप से स्थापित यह कथन किस सिद्धान्त पर आधारित है
(a
) बुद्धि का वितरण
(b) बुद्धि की वृद्धि
(c) बुद्धि और लैंगिक विभिन्नता
(d) बुद्धि और प्रजाति विभिन्नता
Ans. (a)


42. एक विद्यार्थी की वास्तविक आयु 10 वर्ष है तथा मानसिक आयु 12 वर्ष है। उसकी बुद्धिलब्धि होगी
(a
) 80 (b) 100
(c) 120 (d) 140
Ans: (c)


3. यदि एक बच्चे की मानसिक आयु 5 वर्ष तथा वास्तविक आयु 4 वर्ष है तो उस बच्चे की IQ होती है
(a
) 125 (b) 80
(c) 120 (d) 100
Ans: (a)


44. रमेश तथा अंकित की समान बुद्धि-लब्धि 120 है। रमेश अंकित से दो वर्ष छोटा है। यदि अंकित की आयु 12 वर्ष हो‚ तो रमेश की मानसिक आयु होगी
(a
) 9 वर्ष (b) 10 वर्ष
(c) 12 वर्ष (d) 14 वर्ष
Ans: (c)


45. एक बालक जिसकी बुद्धिलब्धि 105 है उसे वर्गीकृत किया जाएगा:
(a
) श्रेष्ठ बुद्धि (b) सामान्य से अधिक बुद्धि
(c) सामान्य बुद्धि (d) मन्द बुद्धि
Ans: (c)


46. एक बालक की वास्तविक आयु 12 वर्ष तथा मानसिक आयु 15 वर्ष है‚ तो उसकी बुद्धि-लब्धि होगी –
(a
) 125 (b) 120
(c) 80 (d) 100
Ans: (a)


7. निष्पत्ति लब्धि (AQ) का सूत्र होता है
(a
) AQ = 100 CA MA
(b) AQ = 100 EA CA
(c) AQ = 100 CA EA
(d) AQ = 100 MA EA
Ans: (d)


48. किसी बालक की वास्तविक आयु 8 वर्ष है और मानसिक आयु 12 वर्ष है‚ तो उसकी बुद्धिलब्धि होगी-
(a
) 135 (b) 140
(c) 145 (d) 150
Ans: (d)


9. 16 वर्षीय बच्चा बुद्धि लब्धि परीक्षण में 75 अंक प्राप्त करता है। उसकी मानसिक आयु ………. वर्ष होगी।
(a
) 15 (b) 12
(c) 8 (d) 14
Ans : (b)


50. जड़ बुद्धि वाले बालक का IQ (बुद्धि लब्धि) कितना होता है?
(a
) 111−120 (b) 91−110
(c) 71−80 (d) 71 से कम
Ans : (d)


51. एक 11 वर्षीय बच्चे ने ‘स्टैनफोर्ड−बिने बुद्धि मापनी’ में 130 अंक पाए। मान लीजिए कि एक सामान्य सम्भाव्य वक्र में = 100 तथा = 15 है‚ तो उन 11 वर्षीय बच्चों के प्रतिशत की गणना कीजिए जिनसे इस बच्चे ने बेहतर अंक प्राप्त किए।
(a
) 78 प्रतिशत (b) 80 प्रतिशत
(c) 98 प्रतिशत (d) 88 प्रतिशत
Ans : (c)


52. अधिकांश व्यक्तियों की बुद्धि औसत होती है‚ बहुत कम लोग प्रतिभा−संपन्न होते हैं और बहुत कम व्यक्ति मंद बुद्धि के होते हैं। यह कथन …………… के प्रतिस्थापित सिद्धांत पर आधारित है।
(a
) बुद्धि और जातीय विभिन्नताओं
(b) बुद्धि के वितरण
(c) बुद्धि की वृद्धि
(d) बुद्धि और लैंगिक विभिन्नताओं
Ans : (b)


53. एक बालक की मानसिक आयु 12 वर्ष और शारीरिक आयु 10 वर्ष है। उसका बुद्धिलब्धांक होगा−
(a
) 120 (b) 100
(c) 22 (d) 83
Ans : (a)


54. बच्चे की बुद्धिलब्धि 90 से 110 के मध्य है‚ वह है−
(a
) सामान्य बुद्धि (b) प्रखर बुद्धि
(c) उत्कृष्ट बुद्धि (d) प्रतिभाशाली
Ans : (a)


55. बुद्धि लब्धि की गणना का सही सूत्र निम्न में से कौनसा है?
(a
) 100 वास्तविक आयु मानसिक आयु (b) मानसिक आयु वास्तविक आयु
(c) 100 मानसिक आयु वास्तविक आयु (d) वास्तविक आयु 100 मानसिक आयु
Ans : (a)


56. कौन-सा बुद्धि लब्धि स्तर मन्दबुद्धि वाले बच्चों का प्रशिक्षण योग्य बुद्धि लब्धि स्तर कहलाता है?
(a
) 70-79 (b) 50-69
(c) 36-49 (d) 35 एवं निम्न
Ans : (*)


57. पाँच वर्ष के मोहन की मानसिक आयु आठ वर्ष है। उसकी बुद्धि लब्धि कितनी है?
(a
) 150 (b) 160
(c) 140 (d) 135
Ans : (b)


58. बुद्धि लब्धि निकालने का सूत्र है
(a
) मानसिक आयु वास्तविक आयु (b) मानसिक आयु वास्तविक आयु
(c) 100 वास्तविक आयु मानसिक आयु
(d) वास्तविक आयु + मानसिक आयु
Ans : (c)


59. टर्मन के अनुसार 90-100 बुद्धिलब्धि का बालक माना जाता है-
(a
) मन्द बुद्धि (b) सामान्य बुद्धि
(c) श्रेष्ठ बुद्धि (d) क्षीण बुद्धि
Ans : (b)


60. औसत बुद्धि वाले बालकों की बुद्धि लब्धि (I.Q.) …….. के बीच होगी।
(a
) 50-59 (b) 70-89
(c) 90-109 (d) 110-129
Ans : (c)


61. आठ वर्ष के सुधीर की मानसिक आयु दस वर्ष है। उसकी बुद्धिलब्धि कितनी है?
(a
) 80 (b) 100
(c) 110 (d) 125
Ans : (d)


62. बुद्धिलब्धि के सम्बन्ध में क्या सत्य है?
(a
) बौद्धिक आयु में व्युत्क्रमी सम्बन्धित
(b) कालानुक्रमिक आयु से प्रत्यक्षत: सम्बन्धित
(c) कालानुक्रमिक आयु से व्युत्क्रमी सम्बन्धित
(d) बौद्धिक तथा कालानुक्रमिक आयु दोनों से प्रत्यक्षत: सम्बन्धित
Ans : (c)


63. बुद्धि-लब्धांक के आधार पर विभिन्न समूहों में विद्यार्थियों का वर्गीकरण उनकी स्व-गरिमा को ….. है और उनके शैक्षणिक निष्पादन को ……. है।
(a
) घटाता; घटाता (b) घटाता; प्रभावित नहीं करता
(c) बढ़ाता; घटाता (d) बढ़ाता; बढ़ाता
Ans: (b)


64. यदि किसी बच्चे की मानसिक आयु 12 वर्ष है और कालानुक्रमिक आयु 10 वर्ष है तो उसका आईक्यू (बुद्धिमत्ता) ………….. होगा।
(a
) 80 (b) 120
(c) 125 (d) 100
Ans. (b)


65. किसी व्यक्ति के बुद्धिलब्धि को शुरू में उसकी…… आयु से विभाजित उस व्यक्ति की ………… आयु के अनुपात से दर्शाया जाता था।
(a
) वास्तविक इरादे‚ स्टीरियोटापिंग
(b) कालानुक्रमिक‚ स्नायविक
(c) कालानुक्रमिक‚ मानसिक
(d) मानसिक‚ कालानुक्रमिक
Ans. (d)


66. 13 वर्षीय मोहन नौंवी कक्षा का छात्र है‚ जिसकी मानसिक आयु 16 है। वह अपने बुद्धि स्कोर के आधार पर किस प्रकार का बच्चा है?
(a
) मूर्ख या मंद (b) प्रतिभावान
(c) औसत से ऊपर (d) वरिष्ठ
Ans. (d)


67. सभी मनुष्यों के बीच‚ बुद्धि का वितरण………….नहीं है।
(a
) मध्यम (b) समान
(c) उपयुक्त (d) एक जैसा
Ans. (b)


68. एक 20 साल की लड़की की मानसिक उम्र 12 साल है। उसकी बुद्धिलब्धि निकालिए।
(a
) 100 (b) 125
(c) 60 (d) 65
Ans. (c)


69. बुद्धि लब्धि है :
(a
) शारीरिक आयु/मानसिक आयु 100
(b) शारीरिक आयु 100 /मानसिक आयु
(c) मानसिक आयु 100 /शारीरिक आयु
(d) मानसिक आयु / शारीरिक आयु 100
Ans. (d)


70. बुद्धि लब्धि (IQ) की अवधारणा का श्रेय किसे दिया जाता है?
(a
) थियोडोर साइमन (b) स्पीयरमैन
(c) अल्फ्रेड बिने (d) विलियम स्टर्न
Ans. (d)


71. किसी व्यक्ति की मानसिक और कालानुक्रमिक आयु कौन-सी अवधारणा ध्यान में रखती हैं?
(a
) संज्ञानात्मक भागफल (b) बुद्धिलब्धि
(c) बौद्धिक भागफल (d) कार्यात्मकता भागफल
Ans. (b)


72. यदि बच्चे की कालानुक्रमिक आयु और मानसिक आयु 15 वर्ष है। तो उसे किस श्रेणी में वर्गीकृत किया जाएगा?
(a
) उच्च (b) सामान्य बुद्धि
(c) प्रतिभाशाली (d) सामान्य बुद्धि से नीचे
Ans. (b)


<
–nextpage–>

09. बहुआयामी बौद्धिकता बुद्धि का एक कारक सिद्धांत (बिने‚ टरमैन‚ स्टर्न)

1. बुद्धि के एकल कारक का सिद्धान्त किसने दिया था?
(a
) थार्नडाइक (b) पैवलॉव
(c) अल्फ्रेड बिने (d) फ्रीमैन
Ans : (c)


2. बुद्धि का एकल घटक या एकल अव्यय सिद्धान्त दिया था?
(a
) थार्नडाइक ने (b) पॉवलव ने
(c) एल्फ्रेड बिने (d) फ्रीमैन ने
Ans: (c)


3. निम्नलिखित को सुमेलित कीजिए सूची I सूची II
A. एक तत्व सिद्धान्त 1. गिलफोर्ड
B. बहुतत्व सिद्धान्त 2. बिने
C. समूह तत्व सिद्धान्त 3. थार्नडाइक
D. त्रिआयाम सिद्धान्त 4. थस्र्टन कूट A B C D A B C D
(a
) 4 3 2 1 (b) 4 1 2 3
(c) 3 4 2 1 (d) 1 2 3 4
Ans: (*)


4. बुद्धि का कौन-सा सिद्धान्त सामान्य बुद्धि ‘g’ और विशिष्ट बुद्धि ‘s’ की उपस्थिति का समर्थन करता है?
(a
) नियम प्रतिकूल सिद्धान्त
(b) गिलफार्ड के बुद्धि का सिद्धान्त
(c) स्पीयरमैन का द्विखण्ड सिद्धान्त
(d) वर्नोन का पदानुक्रमिक सिद्धान्त
Ans: (c)


5. ‘बुद्धि के द्विखण्ड सिद्धान्त’ का प्रतिपादन किसने किया?
(a
) स्पियरमैन (b) थर्सटन
(c) गिलफोर्ड (d) गेने
Ans: (a)


6. बुद्धि के द्विकारक सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
(a
) थॉर्नडाइक (b) स्पीयरमैन
(c) वर्नन (d) स्टर्न
Ans : (b)


7. स्पीयरमैन (1904) के अनुसार तर्क करने की क्षमता और समस्या समाधान करने की क्षमता कहलाती है
(a
) एस कारक (b) जी कारक
(c) विशिष्ट बुद्धि (d) सांस्कृतिक बुद्धि
Ans : (b)


8. बुद्धि की स्पीयरमैन परिभाषा में कारक `g’ है –
(a
) आनुवंशिक बुद्धि (b) उत्पादक बुद्धि
(c) सामान्य बुद्धि (d) वैश्विक बुद्धि
Ans: (c)


9. बहुकारक बुद्धि के प्रतिपादक कौन थे?
(a
) जीन पियाजे (b) बिने
(c) हॉवर्ड गार्डनर (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (d)


10. बुद्धि के बहुकारक सिद्धान्त के प्रतिपादक हैं
(a
) मैक्डूगल (b) टर्मन
(c) थॉर्नडाइक (d) बर्ट
Ans: (c)


11. संज्ञान किस बुद्धि के सिद्धांत का हिस्सा है−
(a
) प्रतिदर्श सिद्धांत
(b) समूहकारक सिद्धांत
(c) गिलफोर्ड का सिद्धांत
(d) फ्लूइड तथा क्रिस्टलाइज्ड का सिद्धांत
Ans : (c)


12. गिलफोर्ड ने ‘अपसारी चिन्तन’ पद का प्रयोग किसके समान अर्थ में किया है?
(a
) बुद्धि (b) सृजनात्मकता
(c) बुद्धि एवं सृजनात्मकता (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (b)


13. आर. बी. कैटल की तरल बुद्धि तुल्य है
(a
) वंशानुगत कारको के (b) पर्यावरणीय कारकों के
(c) बौद्धिक कारकों के (d) सामाजिक कारकों के
Ans: (a)


14. बुद्धि का तरल मोजेक मॉडल किसने दिया था?
(a
) कैटेल (b) गिल्फर्ड
(c) थस्र्टन (d) स्पियरमैन
Ans : (a)


15. बुद्धि के तरल क्रिस्टलीय प्रतिमान के प्रतिपादक कौन थे?
(a
) कैटेल (b) थॉर्नडाइक
(c) वर्नन (d) स्किनर
Ans : (a)


16. निम्न में से कौन−सा स्टर्नबर्ग का बुद्धि का त्रिस्तरीय सिद्धांत का एक रूप है?
(a
) व्यावहारिक बुद्धि (b) प्रायोगिक बुद्धि
(c) संसाधनपूर्ण बुद्धि (d) सहयोग की नैतिकता
Ans : (a)


17. इनमें में से कौन-सा त्रितंत्रीय सिद्धान्त में व्यावहारिक बुद्धि का अभिप्राय नहीं हैं?
(a
) पर्यावरण का पुनर्निर्माण करना
(b) केवल अपने विषय में व्यावहारिक रूप से विचार करना
(c) इस प्रकार के पर्यावरण का चयन करना जिसमें आप सफल हो सकते हैं
(d) पर्यावरण के साथ अनुकूलन करना
Ans: (b)


18. —- के अतिरिक्त बुद्धि के निम्नलिखित पक्षों को स्टेनबर्ग के त्रितंत्र सिद्धांत से संबोधित किया गया है।
(a
) संदर्भगत (b) अवयवभूत
(c) सामाजिक (d) आनुभविक
Ans: (c)


19. जो बुद्धि सिद्धांत में सम्मिलित मानसिक प्रक्रियाओं (जैसे परा−घटक) और बुद्धि द्वारा लिए जा सकने वाले विधिक रूपों (जैसे सृजनात्मक बुद्धि) की शामिल करता है‚ वह है
(a
) स्पीयरमैन का जी कारक
(b) स्टैनबर्ग का बुद्धिमत्ता का त्रितंत्र
(c) बुद्धि का सावेंट सिद्धांत
(d) थस्र्टन का प्राथमिक मानसिक योग्यताएँ
Ans : (b)


20. मेटा घटक‚ प्रदर्शन घटक और ज्ञान प्राप्ति घटक निम्न में से किसकी श्रेणियाँ हैं :
(a
) त्रिपक्षीय सिद्धांत (b) त्रिकोणीय सिद्धांत
(c) ऑलपोर्ट का सिद्धांत (d) आईसेंक का सिद्धांत
Ans. (b)


21. स्टेनबर्ग के बुद्धिमता के सिद्धांत में निम्नलिखित में से किस चरण में समस्या का समाधान ज्ञात करना शामिल है?
(a
) अनुप्रयोग (b) प्रतिचित्रण
(c) संकेतन (d) प्रतिक्रिया
Ans. (d)


22. हावर्ड गार्डनर के बहु−बुद्धि सिद्धांत के अनुसार‚ निम्नलिखित विशेषताओं से युक्त एक व्यक्ति की बुद्धि को किस प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है? विशेषताएँ : ‘‘दूसरों की मनोदशा‚ स्वभाव‚ प्रेरणा तथा अभिप्राय को उचित तरीके से पता लगाने एवं प्रतिक्रिया करने की योग्यता’’
(a
) अंतरावैयक्तिक (b) अंतर्वैयक्तिक
(c) नैदानिक (d) प्रकृतिवादी
Ans. (b)


23. एकाधिक बुद्धिमानी का सिद्धांत कहता है कि−
(a
) बुद्धि तेजी से बढ़ाई जा सकती है
(b) बुद्धि कई प्रकार की हो सकती है
(c) पेपर-पेंसिल परीक्षण सहायक नहीं हैं
(d) प्रभावी अध्यापन के द्वारा बुद्धि बढ़ाई जा सकती है
Ans. (b)


24. हावर्ड गार्डनर के बहु बुद्धि सिद्धांत के अनुसार‚ ‘तार्किक-गणितीय’ बुद्धि वाले एक व्यक्ति की क्या विशेषताएँ हो सकती हैं ?
(a
) दृश्य-स्थानिक परिवेश को सटीक रूप से ग्रहण करने की योग्यता।
(b) संगीतमय अभिव्यक्तियों के आवाज के स्तर‚ ताल एवं सौंदर्यपरक गुणों को उत्पन्न करने एवं प्रशंसा करने की योग्यता।
(c) पैटर्न को खोजने की एवं तर्क की लम्बी शृंखला को हल करने की क्षमता और संवेदनशीलता।
(d) ध्वनि‚ ताल तथा शब्दों के अर्थ के प्रति संवेदनशीलता।
Ans. (c)


25. किसने बहुविमात्मक प्रज्ञा का प्रत्यय दिया?
(a
) गोलमैन (b) स्पीयरमैन
(c) जॉन मेयर (d) गार्डनर
Ans. (d)


26. किसने ‘बहुबुद्धि सिद्धांत’ प्रतिपादित किया था?
(a
) अल्फ्रेड बिने (b) हॉवर्ड गार्डनर
(c) फ्रांसिस गाल्टन (d) बी. एस. ब्लूम
Ans: (b)


27. स्वयं की भावनाओं तथा संवेगों को नियंत्रित करने से सम्बन्धित बुद्धि को क्या कहा जाता है?
(a
) भाषायी बुद्धि (b) अंत: वैयक्तिक बुद्धि
(c) स्थानिक बुद्धि (d) वैयक्तिक बुद्धि
Ans: (b)


28. अन्तर्वैयक्तिक बुद्धि को प्रदर्शित करने वाला व्यवहार है
(a
) दूसरे के अन्तर्मन की इच्छाओं एवं मंशा का पता लगाना
(b) दूसरे के मूड को भाँप जाना
(c) मिलते जुलते संवेगों यथा उदासी एवं पछतावा में भेद कर पाना
(d) दूसरों के विचारों एवं व्यवहारों को प्रभावित करने के लिये उनसे सम्बन्धित जानकारी का प्रयोग करना।
Ans: (b)


29. हार्वर्ड गार्डनर द्वारा निम्न में से एक को छोड़कर बाकी सभी बुद्धि के प्रकार बताए गए हैं
(a
) भाषा (b) सृजनात्मकता
(c) अन्तर्वैयक्तिक कौशल (d) अन्त: वैयक्तिक कौशल
Ans: (b)


30. अन्तर्वैयक्तिक बुद्धि से तात्पर्य है
(a
) स्वयं की क्षमताओं एवं कमजोरियों की पहचान करना
(b) दूसरों को अभिप्रेरित करने का कौशल
(c) विभिन्न व्यक्तियों को समझने का कौशल
(d) दूसरों के साथ बातचीत करने का कौशल
Ans: (c)


31. कक्षा−अध्यापक ने राघव को अपनी कक्षा में अपने की−बोर्ड पर स्वयं द्वारा तैयार किया गया मधुर संगीत बजाते हुए देखा। कक्षा−अध्यापक ने विचार किया कि राघव में ………… बुद्धि उच्च स्तरीय थी।
(a
) शारीरिक−गतिबोधक (b) संगीतमय
(c) भाषायी (d) स्थानिक
Ans : (b)


32. एक शिक्षिका अपने शिक्षार्थियों की विभिन्न अधिगम− शैलियों को सन्तुष्ट करने के लिए वैविधपूर्ण कार्यों का उपयोग करती है। वह ………. से प्रभावित है
(a
) पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत
(b) कोह्लबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धांत
(c) गार्डनर के बहुबुद्धि सिद्धांत
(d) वागोत्स्की के सामाजिक−सांस्कृतिक सिद्धांत
Ans : (c)


33. शारीरिक गतिक बुद्धि रखने वाले बच्चे को अंतिम अवस्था निम्नलिखित में से कौन−सी हो सकती है?
(a
) कवि (b) वाचक
(c) राजनैतिक नेता (d) शल्य चिकित्सक
Ans : (d)


34. बहुबुद्धि सिद्धांत निम्नलिखित निहितार्थ देता है सिवाय
(a
) संवेगात्मक बुद्धि‚ बुद्धि−लब्धि से सम्बन्धित नहीं है
(b) बुद्धि प्रक्रमण संक्रियाओं का एक विशिष्ट समुच्चय है जिसका उपयोग एक व्यक्ति द्वारा समस्या समाधान के लिए किया जाता है
(c) विषयों को विभिन्न तरीकों से प्रस्तुत किया जा सकता है
(d) विविध तरीकों से सीखने का आकलन प्रस्तुत किया जा सकता है
Ans : (a)


35. हॉवर्ड गार्डनर के बहुबुद्धि सिद्धांत के अनुसार निम्नलिखित का मिलना कीजिए बुद्धि का प्रकार अंत व्यवस्था
(a
) संगीतात्मक (1) चिकित्सक
(b) भाषिक (2) कवि
(c) अंतर्वैयक्तिक (3) खिलाड़ी
(d) स्थानिक (4) वायलिन−वादक
(5) मूर्तिकार
(a) 2 4 1 5
(b) 5 2 4 1
(c) 4 2 1 5
(d) 4 2 5 3
Ans : (c)


36. हॉवर्ड गार्डनर का बहुबुद्धि सिद्धांत सुझाता है कि−
(a
) बुद्धि को केवल बुद्धिलब्धि परीक्षा से ही निर्धारित किया जा सकता है।
(b) शिक्षक को चाहिए कि विषय−वस्तु को वैकल्पिक विधियों से पढ़ाने के लिए बहुविधियों को एक रूपरेखा की तरह ग्रहण करे।
(c) क्षमता भाग्य है और एक अवधि के भीतर नहीं बदलती।
(d) हर बच्चे को प्रत्येक विषय आठ भिन्न तरीकों से पढ़ाया जाना चाहिए ताकि सभी बुद्धियां विकसित हों।
Ans : (b)


37. निम्नलिखित में से कौन−सा आलोचनात्म्क दृष्टिकोण ‘बहु−बुद्धि सिद्धांत’ (Theory of multiple intelligences) से सम्बद्ध नहीं है?
(a
) यह शोधाधारित नहीं है
(b) विभिन्न बुद्धियाँ भिन्न−भिन्न विद्यार्थियों के लिए विभिन्न पद्धतियों की माँग करती है
(c) प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्राय: एक क्षेत्र में ही अपने विशिष्टता प्रदर्शित करते हैं
(d) इसका कोई अनुभावात्मक आधार नहीं है
Ans : (c)


38. बुद्धि के बारे में निम्नलिखित में से कौन−सा कथन सर्वाधिक उपयुक्त है?
(a
) बुद्धि को केवल मानवीकृत बुद्धिलब्धि परीक्षणों के आयोजन के द्वारा विश्वसनीय रूप से निर्धारित किया जा सकता है
(b) बुद्धि मूलभूत रूप से स्नायु−तंत्र−सम्बन्धी कार्यप्रणाली है उदाहरणार्थ प्रक्रमण की गति‚ संवेदी−विभेद आदि
(c) बुद्धि विद्यालय में अच्छा प्रदर्शन करने की योग्यता है
(d) बुद्धि बहु−आयामी है और इसमें कई पहलू निहित हैं
Ans : (d)


39. निम्नलिखित में से कौन−सा एक उदाहरण भाषिक बुद्धि वाले व्यक्ति को दर्शाता है?
(a
) स्वर‚ राग और सुर के प्रति संवेदनशीलता
(b) ध्यान देने और दूसरे से अन्तर कर सकने की योग्यता
(c) तर्क की दीर्घ शृंखलाओं को सम्भाल सकने की योग्यता
(d) शब्दों के अर्थ‚ क्रम तथा भाषा के विविध प्रयोगों के प्रति संवेदनशीलता
Ans : (d)


40. अंतरवैयक्तिक बुद्धि से तात्पर्य है−
(a
) स्वयं की क्षमताओं एवं कमजोरियों की पहचान करना
(b) दूसरों को अभिप्रेरित करने का कौशल
(c) विभिन्न व्यक्तियों को समझने का कौशल
(d) दूसरों के साथ बातचीत करने का कौशल
Ans : (c)


41. संवेगात्मक बुद्धि‚ बहुबुद्धि सिद्धांत के किस क्षेत्र के साथ सम्बन्धित हो सकती है?
(a
) अन्तर्वैयक्तिक और अन्त:वैयक्तिक बुद्धि
(b) प्राकृतिक बुद्धि
(c) चाक्षुष−स्थानिक बुद्धि
(d) अस्तित्वपरक बुद्धि
Ans : (a)


42. ध्वनि सम्बन्धी जागरूकता निम्नलिखित में से किस क्षमता से सम्बन्धित है?
(a
) ध्वनि संरचना पर चिंतन करना व उसमें हेर−फेर करना
(b) सही−सही व धाराप्रवाह बोलना
(c) जानना‚ समझना व लिखना
(d) व्याकरण के नियमों में दक्ष होना
Ans : (a)


43. तार्किक गणितीय बुद्धि ………. से संबंधित है।
(a
) द्वि−कारक सिद्धांत (b) समूह कारक सिद्धांत
(c) पदानुक्रमिक सिद्धांत (d) बहु बुद्धि सिद्धांत
Ans : (d)


44. गार्डनर के बहु-बुद्धि के सिद्धान्त के अनुसार‚ वह कारक जो व्यक्ति के ‘आत्म-बोध’ हेतु सर्वाधिक योगदान देगा‚ वह हो सकता है –
(a
) संगीतमय (b) आध्यात्मिक
(c) भाषा-विषयक (d) अन्त:वैयक्तिक
Ans: (d)


45. ‘बहुबुद्धि के सिद्धान्त’ के संदर्भ में एयरफोर्स पायलट बनने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी बुद्धि की आवश्यकता है?
(a
) अंत:वैयक्तिक (b) भाषिक
(c) गतिक (d) अंतर-वैयक्तिक
Ans: (c)


46. हावर्ड गार्डनर का बुद्धि का सिद्धांत —- पर बल दता है
(a
) शिक्षार्थियों में अनुबंधित कौशलों
(b) सामान्य बुद्धि
(c) विद्यालय मे आवश्यक समान योग्यताओं
(d) प्रत्येक व्यक्ति की विलक्षण योग्यताओं
Ans: (d)


47. निम्नलिखित में से कौन-सा निरीक्षण हॉवर्ड गार्डनर के बहुविध-बुद्धि सिद्धान्त का समर्थन करता है?
(a
) मस्तिष्क के एक भाग में हुई क्षति केवल किसी एक विशिष्ट योग्यता को प्रभावित करती है न कि सम्पूर्ण को
(b) बुद्धि विश्लेषणात्मक सृजनात्मक एवं व्यवहारात्मक बुद्धियों की अंत:क्रिया है
(c) विभिन्न बुद्धियाँ अपने स्वरूप में पदानुक्रमात्मक हैं
(d) अनुदेशन के प्रारूप का निर्माण करते समय अध्यापकों को किसी एक विशिष्ट शैक्षिक नवाचार के सिद्धान्त का अनुपालन करना चाहिए
Ans: (a)


48. ‘बहु-बुद्धि सिद्धान्त’ को वैध नहीं माना जा सकता‚ क्योंकि
(a
) विशिष्ट परीक्षणों के अभाव में भिन्न बुद्धियों (different intelligences) का मापन सम्भव नहीं है
(b) यह सभी सात बुद्धियों को समान महत्व नहीं देता है
(c) यह केवल अब्राहम मैस्लोंके जीवन-भर के सुदृढ़ अनुभवात्मक अध्ययन पर आधारित है
(d) यह सर्वाधिक महत्वपूर्ण सामान्य बुद्धि ‘g’ के अनुकूल (सुसंगत) नहीं है
Ans: (a)


49. निम्नलिखित में से कौन-सा आलोचनात्मक दृष्टिकोण ‘बहु-बुद्धि सिद्धान्त’ (Theory of Multiple Intelligences) से सम्बद्ध नहीं है?
(a
) यह शोधाधारित नहीं है।
(b) विभिन्न बुद्धियाँ भिन्न-भिन्न विद्यार्थियों के लिए विभिन्न पद्धतियेां की मांग करती है
(c) प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्राय: एक क्षेत्र में ही अपनी विशिष्टता प्रदर्शित करते हैं।
(d) इसका कोई अनुभवात्मक आधार नहीं है
Ans : (c)


50. बहुविध बुद्धि सिद्धान्त के अनुसार सभी प्रकार के पशुओं‚ खनिजों और पेड़-पौधों को पहचानने और वर्गीकृत करने की योग्यता …… कहलाती है।
(a
) तार्किक-गणितीय बुद्धि (b) प्राकृतिक बुद्धि
(c) भाषिक बुद्धि (d) स्थानिक बुद्धि
Ans: (b)


51. निम्नलिखित में से कौन-सी बहुबुद्धि सिद्धान्त की आलोचना है?
(a
) बहुबुद्धि शिक्षार्थियों को अपने रुझान को खोजने में मदद उपलब्ध कराती है।
(b) यह व्यावहारिक बुद्धि पर आवश्यकता से अधिक बल देती है।
(c) यह आनुभविक साक्ष्यों को बिल्कुल भी समर्थन नहीं दे सकता।
(d) बहुबुद्धि केवल ‘प्रतिभाएँ’ हैं जो पूर्ण रूप में बुद्धि में विद्यमान रहती हैं।
Ans: (d)


52. बुद्धि के बारे में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सर्वाधिक उपयुक्त है?
(a
) बुद्धि को केवल मानकीकृत बुद्धिलब्धि परीक्षणों के आयोजन के द्वारा विश्वसनीय रूप से निर्धारित किया जा सकता है।
(b) बुद्धि मूलभूत रूप से स्नायु-तंत्र-संबंधी कार्यप्रणाली है। उदाहरणार्थ- प्रक्रमण की गति‚ संवेदी-विभेद आदि।
(c) बुद्धि विद्यालय में अच्छा प्रदर्शन करने की योग्यता है।
(d) बुद्धि बहु-आयामी है और इसमें कई पहलू निहित हैं।
Ans: (d)


53. गार्डनर ने सात अभियोग्यताओं का अधिमान निर्धारित किया‚ इसमें से कौन-सा नहीं है?
(a
) स्थान सम्बन्धी अभियोग्यता
(b) भावनात्मक अभियोग्यता
(c) अन्तर्वैयक्तिक अभियोग्यता
(d) भाषात्मक अभियोग्यता
Ans: (b)


54. भाषाई बुद्धिमत्ता से संपन्न व्यक्तियों में कौन-सी क्षमता होती है?
(a
) संख्यात्मक पद्धति के प्रति संवेदनशीलता
(b) लय/ताल बनाने की क्षमता
(c) संगीत की अभिव्यक्तियों के रूपों क सराहना
(d) ध्वनि‚ लय/ताल और शब्दों के अर्थों के प्रति संवेदनशीलता
Ans. (d)


55. ट्रैफिक में नेविगेट करने की कोशिश करते समय किस प्रकार की बुद्धि का उपयोग किया जाएगा?
(a
) अंतरावैयक्तिक बुद्धि (b) अंत:वैयक्तिक बौद्धिकता
(c) स्थानिक बुद्धि (d) प्राकृतिवादी बुद्धि
Ans. (c)


56. जब बच्चे यह पहचानते हैं कि प्रत्येक व्यक्ति दूसरे लोगों के विचारों और भावनाओं से अवगत हैं‚ तो यह कहा जाता है−
(a
) सामाजिक सूचना भूमिका लेना
(b) सामाजिक और पारंपरिक प्रणाली की भूमिका लेना
(c) आत्म प्रतिबिंब (सेल्फ रिफ्लेक्शन)
(d) आपसी भूमिका लेना
Ans. (c)


57. नृत्य प्रदर्शन के दौरान‚ गार्डनर के किस प्रकार के बहुबुद्धिमता का उपयोग किया जाता है?
(a
) प्राकृतिक बुद्धि (b) अंतरावैयक्तिक बुद्धि
(c) भाषागत बुद्धि (d) शारीरिक-गतिसंवेदी बुद्धि
Ans. (d)


58. एक बच्चा किस तरह का विद्यार्थी है जो विषय से संबंधित भौतिक गतिविधि करते हुए सबसे अच्छा सीखता है?
(a
) श्रव्य (b) पठन−लेखन
(c) दृश्य (d) गतिसंवेदी
Ans. (d)


59. गार्डनर के अनुसार‚ अध्यात्मिक बौद्धिकता है:
(a
) किसी की प्रारंभिक धारणाओं में परिवर्तन करने की क्षमता
(b) जीवन के उद्देश्य के संबंध में जटिल समस्यओं पर विचार करने की क्षमता
(c) प्राकृतिक दुनिया में विभेद करने की क्षमता
(d) अपनी स्वयं की शक्तियों‚ कमजोरियों‚ इच्छाओं और बुद्धिमता का ज्ञान
Ans. (b)


60. मूर्तिकारों में किस प्रकार की बुद्धिमत्ता होती है?
(a
) प्रकृतिवादी
(b) स्थानिक
(c) अंतर्वैयक्तिक
(d) शारीरिक−गतिक (बॉडली−कीनेस्थेटिक)
Ans. (b)


61. जॉन एक छात्र है जो अपनी व्यक्तिगत भावनाओं‚ एहसास और प्रेरणा से स्वाभाविक रूप से अवगत है। हावर्ड गार्डनर की थ्योरी ऑफ मल्टीपल इंटेलिजेंस (एकाधिक ज्ञान के सिद्धांत) के अनुसार‚ वह निम्न में से किस बुद्धिमता को प्रदर्शित करता है :
(a
) अन्तर वैयक्तिक बुद्धिमता (b) अंतरावैयक्तिक बौद्धिकता
(c) दृश्य-स्थानिक बुद्धिमत्ता (d) स्वाभाविक बुद्धिमत्ता
Ans. (b)


62. निम्नलिखित में से किस प्रकार की बुद्धि का उपयोग‚ यातायात के माध्यम से नेविगेट करने की कोशिश करते समय किया जाएगा?
(a
) प्राकृतिकवादी बुद्धि (b) स्थानिक बुद्धि
(c) अंतर्वैयक्तिक बुद्धि (d) भावनात्मक बुद्धि
Ans. (b)


63. बुद्धि के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा सही है?
(a
) बुद्धि अनुभव के परिणाम के रूप में व्यवहार में एक अपेक्षाकृत स्थायी परिवर्तन है।
(b) बुद्धि एक आनुवंशिक विशेषक है जिसमें मानसिक गतिविधियाँ जैसे स्मरण एवं तर्क शामिल होती हैं।
(c) बुद्धि बहु-आयामी है जिसमें बुद्धि परीक्षणों के द्वारा पूर्ण रूप से परिमेय न की जाने वाली कई योग्यताएँ शामिल हैं।
(d) बुद्धि अभिसारी रूप से सोचने की योग्यता है।
Ans : (c)


64. निम्न में से कौन बुद्धि परीक्षणों के दुरुपयोग का संकेत देता है?
(a
) उन्नति के लिये मापन में सहायक
(b) बुद्धि लब्धि का लेबल बालकों पर लगा कर अध्यापक अपनी अकुशलता को छिपाते हैं
(c) बालकों को वर्गीकृत करने में
(d) अधिगम प्रक्रिया को बेहतर बनाने के लिये।
Ans: (b)


65. बुद्धि लब्धांक सामान्यत: ………….. रूप से शैक्षणिक निष्पादन से सम्बन्धित होती है।
(a
) मध्यम (b) कम−से−कम
(c) पूर्ण (d) उच्च
Ans : (d)


66. निम्नलिखित में से कौन−सा कथन सत्य है?
(a
) लड़के अधिक बुद्धिमान होते हैं
(b) लड़कियाँ अधिक बुद्धिमान होती हैं
(c) बुद्धि का लिंग के साथ संबंध नहीं है
(d) सामान्यत: लड़के‚ लड़कियों से अधिक बुद्धिमान होते हैं
Ans : (c)


67. मानव बुद्धि एवं विकास की समझ शिक्षक को— के योग्य बनाती है।
(a
) निष्पक्ष रूप से अपने शिक्षण-अभ्यास
(b) शिक्षण के समय शिक्षार्थियों के संवेगों पर नियंत्रण बनाए रखने
(c) विविध शिक्षार्थियों के शिक्षण के बारे में स्पष्टता
(d) शिक्षार्थियों को यह बनाने कि वे अपने जीवन में कैसे सुधार कर सकते‚ है।
Ans: (c)


68. ____ बुद्धिमत्ता‚ तीव्रतर विकास से जुड़ी है।
(a
) कोई बुद्धि नहीं (b) मध्यम बुद्धि
(c) उच्च (d) मंद
Ans. (c)


69. आमतौर पर बौद्धिक स्तर की गणना‚ शैक्षणिक प्रदर्शन के साथ ………… सहसंबंधित होती है।
(a
) कम (b) अत्यधिक
(c) मध्यम रूप से (d) पूरी तरह से
Ans. (b)


<
–nextpage–>

10. व्यक्तित्व और उसका मापन व्यक्तित्व का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. एक बच्चे के मूल‚ जन्मजात स्वभाव को निरूपित करने के लिए किस पद का प्रयोग किया जाता है?
(a
) व्यक्तित्व (b) प्रकृति या मिजाज
(c) रुचि (d) संलग्न
Ans. (b)


2. ‘‘व्यक्ति में उन मनोशारीरिक अवस्थाओं का गतिशील संगठन‚ जो उसके पर्यावरण के साथ अद्वितीय सामंजस्य निर्धारित करता है।’’‚ कहलाता है।
(a
) व्यक्तित्व (b) समायोजन
(c) संवेदना (d) चरित्र
Ans : (a)


3. व्यक्तित्व के संगठन का स्वरूप है
(a
) सामाजिक-आर्थिक (b) मनोवैज्ञानिक-शारीरिक
(c) सामाजिक-राजनीतिक (d) मनोवैज्ञानिक-आध्यात्मिक
Ans : (b)


4. व्यक्तित्व के संदर्भ में कौन-सा कथन असत्य है?
(a
) व्यक्तित्व अपूर्व और विशिष्ट होता है।
(b) व्यक्तित्व वंशानुक्रम और वातावरण की संयुक्त उपज है।
(c) व्यक्तित्व व्यक्ति के अर्धचेतन और अचेतन व्यवहार तक फैला रहता है।
(d) व्यक्तित्व व्यक्ति के केवल बाहरी रुप तक सीमित होता है।
Ans: (d)


5. व्यक्तित्व स्थायी समायोजन है
(a
) पर्यावरण के साथ (b) जीवन के साथ
(c) प्रकृति के साथ (d) ये सभी
Ans: (d)


6. व्यक्तित्व विकास की अवस्था है
(a
) अधिगम एवं वृद्धि (b) व्यक्तिवृत्त अध्ययन
(c) उपचारात्मक अध्ययन (d) इनमें से कोई नहीं
Ans: (a)


7. बालक के व्यक्तित्व की नींव किस अवस्था में पड़ती है?
(a
) शैशवावस्था (b) गर्भकालीन अवस्था
(c) बचपनावस्था (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (c)


8. स्थायी विशेषताओं के पैटर्न के रूप में क्या वर्णित है जो एक व्यक्ति को परिभाषित करता है और स्थिरता एवं वैयक्तिकता का उत्पादन करता है?
(a
) व्यक्तित्व (b) अधिगम
(c) बुद्धि (d) प्रेरणा
Ans. (a)


9. किसी के व्यक्तित्व के विकास से _______ में सहायता होती है।
(a
) परिपक्वता की प्रक्रिया को तेज करने
(b) शरीर का कद बढ़ने
(c) सामाजिक स्थितियों से निपटनें
(d) जन्मजात विकारों पर काबू पाने
Ans. (c)


10. इनमें से क्या व्यक्तित्व लक्षण नहीं हैं?
(a
) विचार-भावना (b) आँकना-समझना
(c) संवेदना-अंत: प्रज्ञा (d) कद-रंग
Ans. (*)


11. व्यक्तित्व (पर्सनालिटी) शब्द निम्न से लिया गया है:
(a
) उपर्युक्त में से कोई नहीं (b) यूनानी
(c) लैटिन (d) जर्मन
Ans. (c)


12. शब्द ‘‘सामंजस्य’’ इससे संबंधित है-
(a
) व्यक्तित्व (b) मनोवृत्ति
(c) बुद्धि (d) प्रेरणा
Ans. (a)


13. सभी सामाजिक स्थितियों से निपटना आसान है‚ यदि आप अपने ………….. के बारे में जानते है।
(a
) रूचियों (b) खूबियों
(c) व्यक्तित्व (d) शौकों
Ans. (c)


14. साइजौइड वर्ग में किस प्रकार के बालक आते है?
(a
) मोटे‚ स्वस्थ तथा लम्बे शरीर वाले
(b) प्रतिभाशाली व प्रखर बुद्धि वाले
(c) दुबले‚ पतले तथा लम्बे शरीर वाले
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (d)


15. बहिर्मुखी व्यक्ति वह होते हैं?
(a
) जो सामाजिक व मित्रवत् होते हैं
(b) तनाव रहित होते हैं
(c) ये दोनों होते हैं
(d) इनमें से कोई नहीं
Ans: (c)


16. थॉर्नडाइक के व्यक्तित्व के वर्गीकरण का आधार है
(a
) शारीरिक गठन और शक्लसूरत
(b) रचनात्मकता और मौलिकता
(c) समायोजन और बुद्धि
(d) चिन्तन और कल्पना
Ans : (d)


17. आत्मकेन्द्रित व्यक्ति होता है
(a
) अन्तर्मुखी (b) बहिर्मुखी
(c) उभयमुखी (d) सामाजिक निर्भर
Ans : (a)


18. अपने ऊर्जाबल (Libido) को बाहर की ओर अभिव्यक्त करने वाले व्यक्ति का प्रकार होता है
(a
) ज्ञानात्मक व्यक्तित्व (b) कलात्मक व्यक्तित्व
(c) बहिर्मुखी व्यक्तित्व (d) धार्मिक व्यक्तित्व
Ans : (c)


19. अन्तर्मुखी‚ बहिर्मुखी तथा उभयमुखी व्यक्तित्व का वर्गीकरण ……… द्वारा किया गया है।
(a
) क्रेचनर (b) युंग
(c) शैल्डन (d) स्प्रेंजर
Ans : (b)


20. अन्तर्मुखी व्यक्तित्व एवं बहिर्मुखी व्यक्तित्व का वर्गीकरण किसने किया है?
(a
) फ्रायड (b) युंग
(c) मन (d) आलपोर्ट
Ans : (b)


21. ग्रन्थियों के आधार पर व्यक्तित्व के विभिन्न प्रकारों की चर्चा किसने की है?
(a
) क्रेशमर (b) युंग
(c) कैनन (d) स्प्रैन्जर
Ans : (a)


22. क्रेशमर ने व्यक्तित्व को निम्न में से किस प्रमुख प्रकार में वर्गीकृत किया है?
(a
) कृशकाय (दुर्बल) (b) सुडौलकाय
(c) गोलकाय (d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


23. विपिन एक दिवास्वपन है और पुस्तकों को पढ़ने में रुचि रखता है और गैर मित्रों से अपने विचार प्रस्तुत नहीं कर सकता है यह व्यक्तित्व का कौन-सा प्रकार है
(a
) बाह्यर्मुखी (b) अंतर्मुखी
(c) मध्यर्मुखी (d) खिलाड़ी प्रवृत्ति
Ans. (b)


24. निम्नलिखित में से कौन-सा लक्षण बहिर्मुखी व्यक्तित्व का नहीं है?
(a
) मिलनसार (b) नेतृत्व शक्ति
(c) आक्रामक स्वभाव (d) दिवास्वप्न देखनेवाला
Ans: (d)


25. व्यक्तित्व का ‘समाजशाध्Eाीय प्रकार का सिद्धान्त’ दिया गया-
(a
) हिप्पोक्रेटस के द्वारा (b) क्रेचमर के द्वारा
(c) शेल्डन के द्वारा (d) स्प्रेन्जर के द्वारा
Ans: (d)


26. बहिर्मुखी विद्यार्थी अन्तर्मुखी विद्यार्थी से किस विशेषता के आधार पर भिन्न होता है?
(a
) मजबूत भावनायें‚ पसंदगी एवं नापसंदगी
(b) मन ही मन पेरशान होने की अपेक्षा अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करता है
(c) अपने बौद्धिक कार्यों में डूबा रहता है
(d) बोलने की अपेक्षा लिखने में बेहतर।
Ans: (a)


27. मनोवैज्ञानिक थार्नडाइक ने व्यक्ति को किस आधार पर बाँटा है?
(a
) चिन्तन व कल्पना शक्ति के आधार पर
(b) प्रभुतापूर्ण व अधीनस्थपूर्ण के आधार पर
(c) स्वतंत्रता व निर्भरता के आधार पर
(d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (a)


28. ……….. वह है जो अधिक खुला‚ मिलनसार‚ उद्यमशील‚ हँसमुख और काफी आत्मविश्वास वाला है।
(a
) अंतर्मुखी (b) अंतर्मुखी−बहिर्मुखी
(c) बहिर्मुखी (d) उभयमुखी
Ans. (c)


29. एक बहिर्मुखी बच्चा कैसा होगा:
(a
) आपके आंतरिक मस्तिष्क से चिंतन को प्रवृत्त करे।
(b) बल्कि सिर्फ निरीक्षण करे।
(c) अधिक चिंतन और बातचीत कम करे।
(d) तीव्र वातावरण में रहना पसंद करे।
Ans. (d)


30. बड़े ५ मॉडल में‚ व्यक्ति के प्रकार …….. के आधार पर विशिष्ट किए जाते हैं।
(a
) सांस्कृतिक व्यक्तित्व (b) व्यक्तिगत विशिष्टता
(c) भावुक बौद्धिकता (d) सत्र आधारित
Ans. (b)


31. निम्नलिखित में से कौन-सा कारक बालक के व्यक्तित्व विकास को प्रभावित करता है?
(a
) आनुवंशिकता (b) भौतिक वातावरण
(c) सामाजिक वातावरण (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


32. ‘‘सामूहिक अचेतन’’ का सम्प्रत्यय………द्वारा दिया गया था।
(a
) पावलोव (b) स्किनर
(c) फ्रायड (d) युंग
Ans : (d)


33. मनोविश्लेषणात्मक परामर्श उपागम किसने शुरू किया?
(a
) एडलर (b) जुंग
(c) फ्रायड (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (c)


34. कौन व्यक्तित्व के गुण सिद्धांत से संबंधित नहीं है?
(a
) फ्रॉयड (b) आलपोर्ट
(c) कैटल (d) आइसेंक
Ans. (a)


35. एक चार−पाँच वर्ष के बालक में अपने पिता की अपेक्षा माता के प्रति अत्यधिक प्रेम की भावना विकसित हो जाती है। बालक के व्यवहार में होने वाले इस परिवर्तन को फ्रॉयड द्वारा क्या नाम दिया गया?
(a
) पराहम् (b) नार्सीसिज्म
(c) ओडिपस कॉम्पलेक्स (d) इलेक्ट्रा कॉम्पलेक्स
Ans. (c)


36. …………. के अनुसार इदम् अहम् तथा पराहम् व्यक्तित्व के तीन घटक हैं।
(a
) बन्डुरा (b) युंग
(c) एडलर (d) फ्रायड
Ans : (d)


37. निम्नलिखित में से कौन व्यक्तित्व का प्रक्षेपी परीक्षण नहीं है?
(a
) रोर्शा स्याही धब्बा परीक्षण (b) टी.ए.टी.
(c) शब्द साहचर्य परीक्षण (d) 16 पी.एफ. परीक्षण
Ans : (d)


38. …………ने सामूहिक अचेतन का सम्प्रत्यय दिया था।
(a
) युंग (b) फ्रायड
(c) एडलर (d) सलीवन
Ans : (a)


39. फ्रायड के अनुसार हमारे मूल्यों का आन्तरिकीकरण −− −−− में होता है।
(a
) इदम् (b) अहम्
(c) पराहम् (d) परिस्थितियों
Ans : (c)


40. एक सन्तुलित व्यक्तित्व वह है जिसमें
(a
) इदम् एवं परम अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।
(b) इदम् एवं अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है
(c) अहम् एवं परम् अहम् के बीच सन्तुलन स्थापित किया जाता है।
(d) मजबूत अहम् को बनाया जाता है।
Ans: (a)


41. कौन सिद्धान्त व्यक्त करता है कि मानव मस्तिष्क एक बर्फ की बड़ी चट्टान के समान है जो कि अधिकांशत: छिपी रहती है एवं उसमें चेतन के तीन स्तर है?
(a
) गुण सिद्धान्त (b) प्रकार सिद्धान्त
(c) मनोविश्लेषणात्मक सिद्धान्त (d) व्यवहारवाद सिद्धान्त।
Ans: (c)


42. जिन इच्छाओं की पूर्ति नहीं होती‚ उनका भण्डारगृह निम्न में से कौन-सा है?
(a
) इदम् (b) अहम्
(c) परम अहम् (d) इदम् एवं अहम् ।
Ans: (a)


43. अहम् ………. के नियम पर कार्य करता है− (a)सुख (b) नैतिकता (c)वास्तविकता (d) कल्पना
Ans : (c)


44. इदम्‚ अहम्‚ व पराअहम् किस संरचना के भाग हैं?
(a
) मन (b) व्यक्तित्व
(c) चेतना (d) रक्षात्मक मनोरचना
Ans : (b)


45. ‘‘सामूहिक अचेतन’’ का सम्प्रत्यय………….द्वारा दिया गया था।
(a
) पावलोव (b) स्किनर
(c) फ्रायड (d) युंग
Ans : (d)


46. नए लक्ष्यों की ओर ऊर्जा या उन आक्रामक लक्ष्यों को पुन: निर्देशित करना‚ जो अक्सर कलात्मक‚ बौद्धिक या सांस्कृतिक लक्ष्य होते हैं‚………….. कहलाता है।
(a
) उदात्तीकरण (b) प्रतिकरण
(c) संबंधन (d) युक्तिकरण
Ans. (a)


47. ………… का मानना था कि व्यक्तित्व‚ चरणों की एक शृंखला के माध्यम से विकसित होता है और बचपन के प्रभाव लंबे समय तक रहते हैं।
(a
) अल्बर्ट बंडूरा (b) जीन पियाजे
(c) सिगमंड फ्रायड (d) लिव वाइगोत्सकी
Ans. (c)


48. मनोलैंगिक विकास सिद्धांत के अनुसार‚ निम्नलिखित अवस्थाओं में से किसके निर्धारण (फिक्सेशन) से निर्भरता में सुधार होता है?
(a
) गुदा (एनल) (b) मौखिक (ओरल)
(c) सुषुप्ता (लैटेंसी) (d) लैंगिक (फेलिक)
Ans. (b)


49. फ्रायड ने किस पद का उपयोग मन की संरचना के अपने सिद्धांत का वर्णन करने के लिए किया?
(a
) चेतना (b) आइसबर्ग
(c) लिबिडो (d) लैंडस्केप
Ans. (b)


50. मनोलैंगिक विकास की फ्रायडियन अवस्था को क्या कहा जाता है जिसमें बच्चों को शौच के लिए प्रशिक्षित किया जाता है?
(a
) अव्यक्तावस्था (लैटेंसी)
(b) लिंग प्रधानावस्था (फेल्लिक)
(c) मुखावस्था (ओरल)
(d) गुदावस्था (एनल)
Ans. (d)


५१. ………. की आयु में बच्चे स्वयं को पहचान सकते हैं कि वह लड़का है या लड़की−
(a
) पांच वर्ष (b) चार वर्ष
(c) तीन वर्ष (d) छह वर्ष
Ans : (c)


52. मनोलैंगिक विकास की कौन सी अवस्था में बंध्याकरण चिंता (केस्ट्रेशन एंजाइटी) होती है?
(a
) गुदा (एनल) (b) मौखिक (औरल)
(c) सुषुप्ता (लैटेंसी) (d) लैंगिक (फेलिक)
Ans. (d)


53. बाल विकास की कौन-सी अवस्था में ओडीपस और इलेक्ट्रा जटिलता शुरू होती है
(a
) शैशवावस्था (b) बाल्यावस्था
(c) किशोरावस्था (d) वयस्क अवस्था
Ans. (a)


54. फ्रायड की विकास अवस्थओं के अनुसार‚ किस अवस्था को प्रारम्भिक विद्यालय आयु समझा जाता है?
(a
) मुखावस्था (b) गुदावस्था
(c) अव्यक्तावस्था (d) शैश्नावस्था
Ans: (c)


55. मानव व्यक्तित्व के मनो-लैंगिक विकास को निम्न में किसने महत्व दिया था –
(a
) कमेनियस (b) हॉल
(c) हालिंगवर्थ (d) फ्रायड
Ans : (d)


56. अपने आपको प्रेम करने की प्रवृत्ति को क्या कहते हैं?
(a
) आत्मकेन्द्रित प्रवृत्ति (b) अहंकारी प्रवृत्ति
(c) नार्सिसिज्म की प्रवृत्ति (d) हिप्नोटिज्म की प्रवृत्ति
Ans : (c)


57. मनोलैंगिक विकास में सुप्तावस्था का वर्ष-अन्तराल सम्बन्धित है
(a
) 2-5 वर्षों का (b) 6 से यौवन तक
(c) 18-20 वर्षों का (d) 20-22 वर्षों का
Ans : (b)


58. कैटेल ने अपने व्यक्तित्व के सिद्धांत में दोत लक्षण के कितने युग्म दिखाए?
(a
) 16 (b) 32
(c) 14 (d) 22
Ans. (a)


59. आत्म-सुधार को व्यक्तित्व के _______दृष्टिकोणों में महता दी जाती है−
(a
) संज्ञानात्मक (b) मनोविश्लेषणात्मक
(c) मानववादी (d) जैविक
Ans. (c)


60. मनोवैज्ञानिक विकास के निम्नलिखित चरणों में से कौन सा चरण बचपन में नहीं होता है?
(a
) स्वायत्तता बनाम शर्म
(b) विश्वास बनाम अविश्वास
(c) अंतरंगता बनाम अलगाव
(d) पहल बनाम अपराध बोध
Ans. (c)


61. एरिक एरिक्सन के अनुसार‚ एक व्यक्ति ……… विकासात्मक चरणों से होकर गुजरता है।
(a
) 7 (b) 9
(c) 4 (d) 8
Ans. (d)


62. मनोसामाजिक विकास का अंतिम चरण है-
(a
) पहचान बनाम भ्रम
(b) विश्वास बनाम अविश्वास
(c) उदारता बनाम ठहराव
(d) अखंडता बनाम निराशा
Ans. (d)


63. एरिक्सन के सिद्धान्त में‚ उन पहलुओं को आमतौर पर किशोरावस्था के दौरान विकसित करने पर ध्यान केंद्रित किया जाता है और फिर युवा व्यस्कता के दौरान ……….. कहा जाता है।
(a
) पहचान‚ मूल विश्वास (b) पहचान‚ आत्मीयता
(c) अंतरगंता‚ पहचान (d) मूल विश्वास‚ पहचान
Ans. (b)


64. मनोवैज्ञानिक विकास के किस चरण में बच्चे को शर्म और संदेह महसूस होता है?
(a
) प्रीस्कूल (b) किशोरावस्था
(c) स्कूल आयु (d) शुरुआती बाल्यकाल
Ans. (a)


65. पहचान बनाम भूमिका भ्रम……… आयु के बीच होती है।
(a
) शून्य से तीन (b) तीन से छह
(c) छह से बारह (d) बारह से बीस
Ans. (d)


66. विकास के मनोसामाजिक सिद्धान्त का प्रतिपादन……….. ने किया था।
(a
) एरिकसन (b) फ्रायड
(c) कोहलर (d) वाटसन
Ans : (a)


67. मनोसामाजिक सिद्धान्त निम्नलिखित में से किस पर बल देता है?
(a
) उद्दीपन व प्रतिक्रिया
(b) लिंगीय व प्रसुप्ति स्तर
(c) उद्यम के मुकाबले में हीनता स्तर
(d) क्रियाप्रसूत (सक्रिय) अनुबंधन
Ans: (c)


68. आइसेंक ने व्यक्तित्व के एक तीसरे आयाम की बात की है‚ वह कौन-सा है?
(a
) सहमतता (एग्रीएबलनेस)
(b) अंतर्विवेकशीलता (कोन्शीयसनेस)
(c) न्यूरोटिज्म
(d) साइकोटिज्म
Ans. (d)


69. समाजमितीय विधि में सुपर स्टार कौन होता है?
(a
) जिस व्यक्ति को अधिकतम् लोग पसन्द करें
(b) जिसे बहुयुग्मों द्वारा चुना जाये
(c) ये दोनों
(d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (a)


70. जुंग द्वारा सर्व प्रथम व्यक्तित्व के आकलन के लिए ‘शब्द संघ परीक्षण’ कब बनाया गया?
(a
) 1912 (b) 1922
(c) 1848 (d) 1910
Ans: (d)


71. रोर्शा इंकब्लॉट टेस्ट‚ जो कि एक व्यक्तित्व मूल्यांकन की विधि है‚ किसने निर्मित किया?
(a
) एसेन्क (b) आलपोर्ट
(c) हरमन रोर्शा (d) जीन पियाजे
Ans : (c)


72. निम्न में से कौन−सा व्यक्तित्व मापन की प्रक्षेपी तकनीकी है?
(a
) साक्षात्कार (b) प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण
(c) निर्धारण मापनी (d) अवलोकन
Ans. (b)


73. 16-PF का प्रयोग किसके मापन हेतु किया जाता है?
(a
) सृजनात्मकता (b) अभिरुचि
(c) व्यक्तित्व (d) दबाव
Ans : (c)


74. प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण (T.A.T.) का विकास ………. द्वारा किया गया था।
(a
) सायमण्ड (b) होल्ट्जमैन
(c) मूरे (d) बैलक
Ans : (c)


75. क्लाउड पिक्चर टेस्ट निम्न में से किसके मापन में प्रयुक्त होता है?
(a
) बुद्धि (b) व्यक्तित्व
(c) अभिक्षमता (d) अभिरुचि
Ans : (b)


76. निम्न में से कौन-सा शेष से भिन्न है?
(a
) टी. ए. टी. (b) 16-पी. एफ.
(c) रैवेन का परीक्षण (d) ड्रॉ-ए-मैन परीक्षण
Ans : (c)


77. रोर्शा इंकब्लॉट टेस्ट का प्रयोग निम्न में से किसके मापन हेतु किया जाता है?
(a
) व्यक्तित्व (b) बुद्धि
(c) अभिरुचि (d) अभिक्षमता
Ans : (a)


78. निम्न में कौन शेष से भिन्न है?
(a
) टी.ए.टी. (b) 16- पी. एफ.
(c) क्लाउड पिक्चर टेस्ट (d) ड्रा ए मैन टेस्ट
Ans : (b)


79. टी.ए.टी. …………द्वारा बनाया गया था।
(a
) रोर्शा (b) आल्पोर्ट
(c) मैस्लो (d) मूरे
Ans : (d)


80. बाल अन्तर्बोध (एपरसेप्शन) परीक्षण का निर्माण किसने किया?
(a
) मर्रे (b) बेलक
(c) रॉबर्ट (d) रोजनविग
Ans: (b)


81. व्यक्तिगत रूप से किसी व्यक्ति के अचेतन मन का अध्ययन करना कहलाता है
(a
) अवलोकनात्मक विधि (b) विषयपरक विधि
(c) प्रक्षेपण विधि (d) मनोविश्लेषणात्मक विधि
Ans. (c)


82. व्यक्तित्व मापन का स्याही धब्बा परीक्षण है
(a
) आत्मनिष्ठ परीक्षण (b) वस्तुनिष्ठ परीक्षण
(c) प्रक्षेपण परीक्षण (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans: (c)


83. एक बालक के व्यक्तित्व के मापन की सर्वाधिक वस्तुनिष्ठ विधि है
(a
) प्रक्षेपी विधि (b) साक्षात्कार विधि
(c) प्रश्नावली विधि (c) समाजमिति विधि Hariyana TET Paper -II (Class (VI-Viii) 2011
Ans: (a)


84. निम्न में से कौन-सी तकनीक प्रक्षेपण तकनीक नहीं है?
(a
) खेल तकनीक (b) शब्द साहचर्य परीक्षण
(c) चित्र साहचर्य परीक्षण (d) व्यक्तिगत अध्ययन।
Ans: (d)


85. बालक प्रसंगबोध परीक्षण 3 वर्ष से 10 वर्ष की आयु के बालकों के लिए बनाया गया है। इस परीक्षण में कार्ड में प्रतिस्थापित किये गये हैं
(a
) सजीव वस्तुओं के स्थान पर निर्जीव वस्तुओं को
(b) लोगों के स्थान पर जानवरों को
(c) पुरुषों के स्थान पर महिलाओं को
(d) वयस्क के स्थान पर बालकों को।
Ans: (b)


86. किस परीक्षण में 10 मसिलक्ष्य या स्याही धब्बे होते है?
(a
) रोर्शा परीक्षण (b) 16 पी. एफ.
(c) ई. पी. क्यू. (d) एम. एम. पी. आई.।
Ans: (a)


87. प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण (TAT) व्यक्तित्व को मापने की एक
(a
) आत्मनिष्ठ तकनीक है (b) वस्तुनिष्ठ तकनीक है
(c) प्रक्षेपीय तकनीक है (d) प्रयोगात्मक तकनीक है
Ans: (c)


88. एक समूह के समाजमिति विश्लेषण का उपयोग व्यक्तित्व को ____ विधि के रूप में मापने के लिए किया जाता है।
(a
) प्रेक्षण (b) वस्तुनिष्ठ
(c) व्यक्तिनिष्ठ (d) प्रक्षेपी
Ans. (b)


89. व्यक्तित्व मूल्यांकन के लिए एमबीटीआई का दृष्टिकोण ……………… है।
(a
) धारणा (b) प्रक्षेपीय
(c) संरचित (d) आंकना
Ans. (c)


90. व्यक्तित्व परीक्षण निम्न होना चाहिए :
(a
) लिंग पक्षपाती
(b) अधिक से अधिक प्रश्न वाला
(c) विश्वनीय और वैध
(d) नवाचारी
Ans. (c)


91. निम्नलिखित परीक्षणों में से किसमें अंतर्निहित व्यक्तित्व की कहानियों और व्याख्याओं का विश्लेषण शामिल होता है?
(a
) विषय आत्मबोधन परीक्षण
(b) स्याही-धब्बा परीक्षण
(c) शब्द संधि परीक्षण (वर्ड एसोसिएशन टेस्ट)
(d) कथा वाचक परीक्षण
Ans. (a)


92. व्यक्तित्व आधारित अनुमानी परीक्षणों से मूल्यांकन के परिणाम______ हैं।
(a
) सरल (b) विवादास्पद
(c) व्यर्थ (d) वस्तुनिष्ठ
Ans. (b)


93. निम्नलिखित में से कौन-सी प्रक्षेपण तकनीक व्यक्तित्व का आकलन करने के लिए होती है?
(a
) रोर्शा स्याही का धब्बा (रोर्शा इंकब्लॉट)
(b) साक्षात्कार
(c) प्रश्नावली
(d) प्रेक्षण
Ans. (a)


94. निम्नलिखित में से कौन सा कैटल द्वारा तैयार किया गया व्यक्तित्व परीक्षण है?
(a
) वाक्य पूर्णता परीक्षण
(b) एनईओ−एफएफआई
(c) सोलह व्यक्तित्व कारक प्रश्नावली (सिक्सटीन पर्सनालिटी फैक्टर्स क्वैश्चनॉयर)
(d) नियंत्रण का ठिकाना (लोकस ऑफ कंट्रोल)
Ans. (c)


95. व्यक्तित्व के आत्म-रिपोर्ट उपायों का एक उदाहरण हैं:
(a
) एमएमपीआई (b) वाक्य पूर्ण परीक्षण
(c) रोर्शा परीक्षण (d) टीएटी
Ans. (a)


<
–nextpage–>

11. भाषा एवं विचार भाषा विकास की आवश्यकता एवं महत्त्व

1. बच्चों के भाषायी विकास के लिए जरूरी है कि−
(a
) उनको अधिक−से−अधिक अपने विचार व्यक्त करने के अवसर देने चाहिए।
(b) भाषायी कौशलों के विकास हेतु गतिविधियां आयोजित की जानी चाहिए।
(c) लिखना‚ पढ़ना‚ बोलना तथा सुनने का अभ्यास करना चाहिए।
(d) उपरोक्त सभी।
Ans : (d)


2. विकासात्मक कार्य के प्रत्यय के प्रतिपादक थे
(a
) हॉलिंगवर्थ (b) हैविघस्र्ट
(c) जीन पियाजे (d) हाल
Ans : (b)


3. एक विद्यार्थी कहता है‚ “उसका दादा आया है”। एक शिक्षक होने के नाते आपकी प्रतिक्रिया होनी चाहिए।
(a
) ‘दादा आया है’ की जगह पर ‘दादाजी आए हैं’ कहना चाहिए
(b) आप अपनी भाषा पर ध्यान दीजिए।
(c) अच्छा‚ आपके दादाजी आए हैं।
(d) बच्चे‚ आप सही वाक्य नहीं बोल रहे।
Ans: (c)


4. पठन कौशल को इस प्रक्रिया द्वारा सबसे अच्छी तरह विकसित किया जा सकता है-
(a
) उत्तर लिखना
(b) वर्ड गेम खेलना/क्विज करना
(c) पाठ में शब्दों के उपयोग पर ध्यान केंद्रित करना
(d) शब्दावली अभ्यास करना
Ans. (c)


5. एक शिशु जन्म के पश्चात् प्रथम 15 माह में भाषा विकास की किस अवस्था में होता है? उत्तर: पूर्व-वाक अवस्था UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018
Ans. जन्म के उपरान्त के प्रथम पन्द्रह महिने में होने वाले भाषा विकास की अवस्था को पूर्व-वाक अवस्था (Pre-Speech Stage)


6. भाषा के अर्जन एवं विकास के लिए सर्वाधिक संवेदनशील अवधि कौन सी है?
(a
) मध्य बाल्यावस्था (b) किशोरावस्था
(c) जन्म पूर्व अवधि (d) प्रारंभिक बाल्यावस्था
Ans. (d)


7. अधिकांश बालक अपनी मातृभाषा सीख लेते है
(a
) एक वर्ष की आयु में (b) चार वर्ष की आयु में
(c) छ: वर्ष की आयु में (d) दो वर्ष की आयु में
Ans: (c)


8. अनुकरण की प्रक्रिया में सर्वप्रथम शिशु अनुकरण करता है
(a
) व्यंजन वर्णों का (b) स्वर वर्णों का
(c) स्वर व व्यंजन वर्णों का (d) शब्दों का।
Ans: (d)


9. सामान्य बुद्धि बालक प्राय: किस अवस्था में बोलना सीख जाते हैं?
(a
) 11 माह (b) 16 माह
(c) 34 माह (d) 51 माह।
Ans: (c)


10. दूसरे वर्ष में अन्त तक शिशु का शब्द भण्डार हो जाता है−
(a
) 100 शब्द (b) 60 शब्द
(c) 50 शब्द (d) 10 शब्द
Ans: (a)


11. भाषा के विकास के लिए प्रारम्भिक बचपन ……….. काल है।
(a
) कम महत्त्वपूर्ण (b) अमहत्त्वपूर्ण
(c) अतिसंवेदनशील (d) निरपेक्ष
Ans : (c)


12. भाषा विकास के लिए सबसे संवेदनशील समय निम्नलिखित में से कौन−सा है?
(a
) मध्य बचपन का समय (b) वयस्कावस्था
(c) प्रारंभिक बचपन का समय (d) जन्मपूर्व का समय
Ans : (c)


13. हिन्दी अक्षरों को बालक किस उम्र में पहचानने लगते हैं?
(a
) 3 वर्ष की आयु में (b) 4 वर्ष की आयु में
(c) 5 वर्ष की आयु में (d) 6 वर्ष की आयु में
Ans : (c)


14. कक्षा एक में बच्चों की भाषा कौशल का विकास क्रम में होना चाहिए?
(a
) सुनना‚ बोलना‚ पढ़ना‚ लिखना
(b) लिखना‚ पढ़ना‚ सुनना‚ बोलना
(c) सुनना‚ लिखना‚ बोलना‚ पढ़ना
(d) लिखना‚ बोलना‚ पढ़ना‚ सुनना
Ans : (a)


15. मध्य बाल्यावस्था में भाषा…… के बजाय….अधिक है−
(a
) अहकेंद्रित‚ समाजीकृत (b) समाजीकृत‚ अहंकेद्रित
(c) जीववादी‚ समाजीकृत (d) परिपक्व‚ अपरिपक्व
Ans : (b)


16. भाषा‚ निम्नलिखित में से किस प्रकार की विषय−वस्तु है?
(a
) श्रवण (b) रूढ़िवादी
(c) दृश्य (d) सांकेतिक
Ans. (d)


17. भाषा में अर्थ के अध्ययन को इस नाम से जाना जाता है।
(a
) मोर्फोलॉजी (b) लिंग्विस्टिक्स
(c) सिंटेक्स (d) सिमेंटिक्स
Ans. (d)


18. बच्चा किस उम्र में भाषा की समझ दिखाना शुरू कर देता है?
(a
) जन्म से ही (b) तीन महीने पर
(c) छ: महीने पर (d) नौ महीने पर
Ans. (c)


19. निम्नलिखित में से कौन एक प्रकार का प्रीलिंग्विस्टिक स्पीच नहीं है?
(a
) किलकना (b) बड़बड़ाना
(c) टेलीग्राफिक भाषण (d) रोना
Ans. (c)


20. भाषा के उद्गमन के दौरान‚ ‘‘शब्दजाल या जार्गन’’ अवधि इस दौरान होती है :
(a
) नौ महीने से एक वर्ष (b) जन्म से तीन महीने
(c) तीन से छ: महीने (d) छ: से नौ महीने
Ans. (d)


21. ………….. महीनों की आयु के बीच अधिकांश बच्चे शब्दों को मिलाकर छोटे−छोटे वाक्यों में बोलना शुरू कर देते हैं।
(a
) 12 से 18 (b) 18 से 24
(c) 24 से 30 (d) 30 से 36
Ans. (b)


22. किसका तात्पर्य उन विशिष्ट तरीकों से है जिनके द्वारा व्यक्ति अपनी अनुभूतियों को व्यक्त करता है?
(a
) आत्म नियंत्रण (b) अन्तनिरीक्षण
(c) आत्म सम्मान (d) आत्म प्रबलन।
Ans: (d)


23. भाषा विकास का सिद्धान्त नहीं है
(a
) अनुबंधन का सिद्धान्त
(b) अनुकरण का सिद्धान्त
(c) अतिरिक्त शक्ति का सिद्धान्त
(d) परिपक्वता का सिद्धान्त
Ans : (c)


24. निम्नलिखित में से कौन से युग्म के सही होने की संभावना सबसे कम है?
(a
) भाषा और विचार प्रारम्भ में दो − वाइगोत्स्की भिन्न गतिविधियाँ हैं
(b) भाषा विचार पर आधारित है। − पियाजे
(c) भाषा वातावरण में एक − बी. एफ. स्किनर उद्दीपक है।
(d) बच्चे भाषा के बारे में निश्चित − चॉम्स्की ज्ञान के साथ प्रवेश करते हैं।
Ans: (c)


25. भाषा-विकास के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा क्षेत्र पियाजे के द्वारा कम कर आँका गया?
(a
) आनुवंशिकता (b) सामाजिक अंत:क्रिया
(c) अहं-केंद्रित भाषा (d) विद्यार्थी द्वारा संक्रियात्मक रचना
Ans: (b)


26. भाषा विकास में यूनिवर्सल ग्रामर के सिद्धांत को किसने पेश किया?
(a
) पियाजे (b) वाइगोत्सकी
(c) स्किनर (d) चॉम्सकी
Ans. (d)


27. ‘महत्वपूर्ण अवधि की परिकल्पना’ ………….. के द्वारा प्रस्तावित की गई थी।
(a
) हेलेन केल्लर (b) नोंम चोंम्स्की
(c) ब्लूमफील्डस (d) एरिक लेनबर्ग
Ans. (d)


28. बच्चों में भाषा का विकास इस सिद्धांत के अंतर्गत होता है :
(a
) एकीकरण (b) एकरूप पैटर्न
(c) निरंतरता (d) व्यक्तिगत भिन्नता
Ans. (b)


29. जब कोई बच्चा किसी शब्द का गलत उच्चारण करता है तो आप क्या करेंगे?
(a
) कहेंगे कि ऐसे मत बोलो
(b) शुद्ध उच्चारण बतायेंगे
(c) गलत उच्चारण के लिए उसे डाटेंगे
(d) ध्यान नहीं देंगे
Ans: (b)


30. भाषा शिक्षण की प्रथम कक्षा किसे माना जाता है?
(a
) पूर्व प्राथमिक कक्षा को (b) प्लेवे विद्यालय को
(c) घर को (d) उपरोक्त सभी
Ans : (c)


31. वाणी दोष नहीं है−
(a
) ध्वनि परिवर्तन और अस्पष्ट उच्चारण
(b) धीमी या तेज गति से बोलना
(c) हकलाना और तुतलाना
(d) तीव्र अस्पष्ट वाणी
Ans : (b)


32. भाषा का वह घटक जो ध्वनि के अनुक्रम संचालन एवं उसकी संरचना से सम्बन्धित नियम की चर्चा करता है‚ उसे क्या कहते हैं?
(a
) अर्थविज्ञान (b) व्याकरण
(c) स्वर विज्ञान (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (c)


33. किसी भाषा के स्वीकृत ध्वनि संयोजनों को इसके ……………… नियमों के अन्तर्गत बनाया जाता है।
(a
) ध्वनि−संबंधी (b) व्याकरणिक
(c) वाक्यात्मक (d) विभक्ति−विषयक
Ans. (a)


34. ‘बोली जाने वाली भाषा’ की सबसे छोटी इकाई है−
(a
) अर्थ विज्ञान (b) रूपग्राम
(c) ध्वनिग्राम (d) वाक्य विन्यास
Ans. (c)


35. भाषा में अर्थ की सबसे छोटी इकाई ……….. है।
(a
) स्वनिम (b) संकेत प्रयोग विज्ञान
(c) वाक्य (d) रूपिम
Ans : (d)


36. थ‚ फ‚ च ध्वनियाँ हैं
(a
) स्वनिम (b) रूपिम
(c) लेखीम (d) शब्दिम
Ans : (a)


37. ‘मैडम चाय खाती हैं’ वाक्य –
(a
) अर्थ-विज्ञान एवं वाक्य-विन्यास दोनों की दृष्टि से सही है
(b) अर्थ-विज्ञान एवं वाक्य-विन्यास दोनों की दृष्टि से गलत है
(c) वाक्य-विन्यास की दृष्टि से सही है लेकिन अर्थ-विज्ञान की दृष्टि से गलत है
(d) अर्थ-विज्ञान की दृष्टि से सही है लेकिन वाक्य-विन्यास की दृष्टि से गलत है
Ans: (c)


38. किसी भाषा में‚ अर्थ को दर्शाने वाली सबसे छोटी इकाई को ………… कहा जाता है।
(a
) स्वनिम (फोनीम) (b) वाक्य विन्यास (सिंटेक्स)
(c) शब्द (वर्ड) (d) रूपिम (मॉर्फीम)
Ans. (d)


39. वाक्य को एक साथ रखने में सम्मिलित नियमों को निरूपित करने के लिए किस पद का प्रयोग किया जाता है?
(a
) टेलीग्राफ (b) रूपिम
(c) वाक्य-विन्यास (d) नेस्टेड संरचना
Ans : (c)


40. भाषा के विकास में‚ एक वाक्य के संरचनात्मक संगठन को ………. के रूप में जाना जाता है।
(a
) ध्वनिम (फीनोम्स) (b) वाक्यविन्यास (सिंटेक्स)
(c) तथ्यात्मक (प्रेग्मेटिक) (d) रूपिम (मॉर्फिम)
Ans. (b)


41. जब सोचने की प्रक्रिया किसी भाषा द्वारा प्रभावित होती है‚ तो ऐसी स्थिति को कहते हैं−
(a
) संस्कृति प्रभावित (b) भाषा निर्धारित
(c) संज्ञानात्मक पक्ष (d) सामाजिक−भाषायी उद्धृत
Ans. (b)


42. भाषा
(a
) हमारी विचार−प्रक्रिया को पूरी तरह से नियंत्रित करती है
(b) हमारी विचार−प्रक्रिया को प्रभावित करती है
(c) हमारी विचार−प्रक्रिया का निर्धारण नहीं कर सकती
(d) विचार−प्रक्रिया को प्रभावित नहीं करती
Ans : (b)


43. ‘भाषा सापेक्षतावादी परिकल्पना’ में मजबूत विश्वासियों का तर्क है कि ……………..
(a
) भाषा बोध को निर्धारित करती है
(b) भाषा विचार को निर्धारित करती है
(c) भाषा स्मरण शक्ति को प्रभावित करती है
(d) भाषा विचार को प्रभावित करती है
Ans. (b)


44. किसने प्रस्तावित किया कि भाषा और विचार स्वतंत्र होते हैं?
(a
) वाइगोत्सकी (b) पियाजे
(c) कोहलर (d) चॉमस्की
Ans. (d)


45. चिन्तन शक्ति के विकास की प्रक्रिया में निम्नलिखित में से कौन सा कथन गलत है?
(a
) ज्ञान व अनुभवों की यथेष्टता
(b) यथेष्ट अभिप्रेरणा
(c) यथेष्ट स्वतंत्रता व लचीलापन
(d) कम बुद्धि व ज्ञान
Ans: (d)


46. कॉल्सनिक के अनुसार संकल्पना का पुनर्गठन क्या है?
(a
) व्यवहार (b) शब्द
(c) चिन्तन (d) समस्याएँ
Ans: (c)


47. चिंतन अनिवार्य रूप से है एक
(a
) संज्ञानात्मक गतिविधि (b) मनोगतिक प्रक्रिया
(c) मनोवैज्ञानिक परिघटना (d) भावात्मक व्यवहार
Ans : (a)


48. ‘चिंतनशील सोच’ की चर्चा इनमें से किसने की है?
(a
) ड्यूवी (b) रॉस
(c) वुडवर्थ (d) ड्रेवर
Ans : (a)


49. बालक का चिन्तन किसके द्वारा प्रदर्शित नहीं होता?
(a
) आत्मकेन्द्रिकता (b) सजीवतावाद
(c) यथार्थवाद (d) वैयक्तिकवाद
Ans: (d)


50. चिंतन अनिवार्य रूप से है एक –
(a
) संज्ञानात्मक गतिविधि (b) मनोगतिक प्रक्रिया
(c) मनोवैज्ञानिक परिघटना (d) भावात्मक व्यवहार
Ans: (a)


51. निम्नलिखित में से कौन−सा गहन चिंतन कौशल का एक उदाहरण नहीं है?
(a
) तत्काल तैयार करना (b) वर्गीकृत करना
(c) लक्ष्यानुसरण (d) व्याख्यात्मक
Ans. (a)


52. मस्तिष्क का कौन-सा भाग चिंतन के लिए जिम्मेदार है?
(a
) मज्जा (मेडुल्ला)
(b) उपवल्कुटीय तंत्र (लिम्बिक सिस्टम)
(c) अनुमस्तिष्क (सेरेबेल्लम)
(d) प्रमस्तिष्क वल्कुट (सेरेब्रल कार्टेक्स)
Ans. (d)


53. निम्न में से कौन-सा चिन्तन की प्रक्रिया में सबसे कम महत्वपूर्ण है?
(a
) चित्र (b) प्रतीक एवं चिह्र
(c) मांसपेशीय क्रियायें (d) भाषा।
Ans: (c)


54. एक विद्यार्थी एक प्रकरण में मुख्य बिन्दुओं को रेखांकित करती है‚ उसका एक दृश्यात्मक प्रस्तुतीकरण बनाती है तथा प्रकरण की समाप्ति पर अपने दिमाग में उत्पन्न होने वाले प्रश्नों को प्रस्तुत करती है। वह –
(a
) विचारों के संघटन के द्वारा अपने चिन्तन को निर्देशित करने की कोशिश कर रही है।
(b) अनुरक्षण पूर्वाभ्यास की रणनीति का प्रयोग करने की कोशिश कर रही है।
(c) प्रेक्षण अधिगम सुनिश्चित कर रही है।
(d) केन्द्र-बिन्दु की विधि का प्रयोग करने की कोशिश कर रही है।
Ans: (a)


55. सृजनात्मक चिन्तन सदैव होता है
(a
) विनाशकारी (b) रचनात्मक
(c) अभिसारी (d) एकरसता
Ans: (b)


56. एक बच्ची कहती है‚ ‘‘धूप में कपड़े जल्दी सूख जाते हैं।’’ वह………की समझ को प्रदर्शित कर रही है।
(a
) प्रतीकात्मक विचार (b) अहंकेंद्रित चिंतन
(c) कार्य-कारण (d) विपर्यय चिंतन
Ans : (c)


57. एक छात्र को पाई के मान का मूल्यांकन करने के लिए विभिन्न प्रणाली को ज्ञात करने के लिए कहा जाता है। इसमें मुख्य रूप से निम्नलिखित में से कौन सा ऑपरेशन शामिल होगा?
(a
) मूल्यांकन (b) अभिसारी चिंतन
(c) अपसारी चिंतन (d) अधिगम
Ans. (c)


58. जब बच्चे प्राप्त की गई सूचनाओं की व्याख्या करने के लिए अपने अनुभवों के आधार पर सोचते हैं‚ तो उसे ……………… कहा जाता है।
(a
) प्रतिक्रियावादी सोच (b) सृजनात्मक सोच
(c) अमूर्त सोच (d) मूर्त सोच
Ans. (d)


59. ‘निम्न में से किस प्रश्न’ द्वारा सृजनात्मक चिन्तन को सर्वाधिक अच्छे ढंग से अनुमानित किया जा सकता है?
(a
) इसे कौन बता सकता है?
(b) सही उत्तर बताएँ।
(c) क्या आप इसका उत्तर बता सकते हैं?
(d) इसे कितने भिन्न तरीकों से हल किया जा सकता है?
Ans. (d)


60. एक पाँच वर्ष के बालक का चिन्तन निम्न में से किस प्रकार का होता है?
(a
) परावर्तित चिन्तन (b) निर्देशित चिन्तन
(c) मूर्त चिन्तन (d) तार्किक चिन्तन
Ans: (a)


61. प्रवाहपूर्णता‚ व्याख्या‚ मौलिकता और लचीलापन ………. के साथ सम्बन्धित तत्व है।
(a
) प्रतिभा (b) गुण
(c) अपसारी चिन्तन (d) त्वरण
Ans : (c)


62. निम्नलिखित में से कौन-सा सृजनात्मक से सम्बन्धित है?
(a
) अपसारी चिन्तन (b) अभिसारी चिन्तन
(c) सांवेगिक चिन्तन (d) अहंवादी चिन्तन
Ans : (a)


63. ‘ऑउट ऑफ-द-बॉक्स’ चिन्तन किससे सम्बन्धित है?
(a
) अनुकूल चिंतन (b) स्मृति-आधारित चिंतन
(c) अपसारी चिंतन (d) अभिसारी चिंतन
Ans: (c)


64. शब्दों की भाषा इसके लिए आवश्यक नहीं है:
(a
) वैचारिक चिंतन (b) अवधारणात्मक चिंतन
(c) कल्पनाशील चिंतन (d) साहचर्य चिंतन
Ans. (c)


65. निम्नलिखित में से कौन रचनात्मक चिंतन का उदाहरण है?
(a
) तर्क करना (b) समय प्रबंधन
(c) सक्रिय श्रवण (d) पूछ−ताछ
Ans. (d)


66. किस प्रकार का चिंतन सृजनशीलता से संबंधित होता है?
(a
) अभिसारी सोच
(b) अलग सोच
(c) अंतर्दृष्टि सोच(इनसाइटफुल थिकिंग)
(d) पारमार्थिक सोच (ट्रांसडक्टिव थिंकिंग)
Ans. (b)


67. ‘ऑउट−ऑफ−द−बॉक्स’ चिन्तन किससे सम्बन्धित है?
(a
) अनुकूल चिन्तन (b) स्मृति−आधारित प्रश्न
(c) अपसारी चिन्तन (d) अभिसारी चिन्तन
Ans : (c)


68. चिंतन के सूचना प्रक्रमण सिद्धांत में निम्नलिखित चरण आते हैं: (क) प्रतिक्रिया क्रियान्वयन (ख) प्रतिक्रिया चयन (ग) श्रेणीकरण (घ) पूर्व-प्रक्रमण इन चरणों का सही क्रम है
(a
) ग‚ घ‚ ख‚ क‚ (b) ख‚ घ‚ ग‚ क
(c) ग‚ क‚ घ‚ ख (d) घ‚ ग‚ ख‚ क
Ans: (d)


69. विभिन्न मुद्दों और विमर्शों पर उनके लिए कारण प्रस्तुत करते हुए बच्चों को अपनी व्यक्तिगत राय को व्यक्त करने के लिए प्रोत्साहित करने वाले प्रश्न किसको बढ़ावा देते है?
(a
) बच्चों का मानकीकृत आकलन
(b) विश्लेषणात्मक और आलोचनात्मक चिंतन
(c) अभिसारी चिंतन
(d) जानकारी का पुन:स्मरण
Ans: (b)


70. मान लीजिए आप विद्यालय शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष हैं‚ आप अपने अधिकार−क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले विद्यालयों की शिक्षा की संपूर्ण गुणवत्ता को सुधारने के लिए क्या योजना बनाएंगे। इस प्रकार का प्रश्न ………….. का एक उदाहरण है।
(a
) निम्न स्तरीय अपसारी (b) उच्च स्तरीय अभिसारी
(c) उच्च स्तरीय अपसारी (d) निम्न स्तरीय अभिसारी
Ans : (c)


71. कल्पना के विकास के लिए
(a
) ज्ञानेन्द्रियों को प्रशिक्षित करना चाहिए
(b) कहानी सुनना चाहिए
(c) रचनात्मक प्रवृत्ति के विकास पर ध्यान देना चाहिए
(d) उपरोक्त सभी क्रियाएँ करनी चाहिए
Ans : (d)


72. सामान्य से विशेष की तर्क की प्रक्रिया निम्नलिखित में से कौन-सी पद्धति में है?
(a
) आगमनात्मक (b) निगमनात्मक
(c) (a) और (b) दोनों (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (b)


73. संक्षिप्त रूप PSRN जोकि विकास से सम्बन्धित है‚ व्याख्या करता है
(a
) समस्या हल‚ तार्किकता व आंकिक क्षमता
(b) समस्या हल‚ सम्बन्ध और आंकिक क्षमता
(c) बौद्धिक क्षमता‚ तार्किकता और आंकिक क्षमता
(d) बौद्धिक क्षमता‚ तार्किकता और अंक ज्ञान
Ans: (a)


74. निगमनात्मक तर्कणा में शामिल है/हैं-
(a
) विशिष्ट से सामान्य की ओर तर्कणा
(b) ज्ञान का सक्रिय निर्माण और पुनर्निमाण
(c) अन्वेषणपरक सीखना और स्वत: खोजपरक सम्बन्धी पद्धतियाँ
(d) सामान्य से विशिष्ट की ओर तर्कणा
Ans: (d)


75. आगमनात्मक तर्क के स्तरों में कौन-सी शामिल नहीं है?
(a
) अवलोकन (b) प्रयोग
(c) सामान्यीकरण (d) कल्पना
Ans : (d)


76. किसी विशेष परिस्थिति में किसी दिए गए सामान्य सिद्धांत को लागू करने की क्षमता को………… कहा जाता है।
(a
) आगमन तर्क (b) आपवादिक तर्क
(c) निगमन तर्क (d) तार्किक तर्क
Ans. (c)


77. शिक्षक बच्चों की जटिल अवधारणाओं की समझ को किस प्रकार सहज कर सकते हैं?
(a
) बार-बार यांत्रिक अभ्यास के द्वारा
(b) अन्वेषण एवं परिचर्चा के लिए अवसर उपलब्ध करके।
(c) एक व्याख्यान देकर के।
(d) प्रतियोगितात्मक अवसरों की व्यवस्था करके।
Ans. (b)


78. विद्यार्थियों में संप्रत्ययात्मक विकास को प्रोत्साहन देने के लिए निम्नलिखित में से कौन−सी विधि सबसे गलत है?
(a
) यदि करने के लिए कहकर विद्यार्थियों के गलत विचारों को सही विचारों में बदलना
(b) विद्यार्थियों को बहुत−से उदाहरण देना और उन्हें तर्कशक्ति का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना
(c) जब तक विद्यार्थियों में वांछित संप्रत्ययात्मक परिवर्तन न हो जाए‚ तब तक दंड का उपयोग करना
(d) पुराने प्रत्ययों से किसी संदर्भ के बिना नये प्रत्ययों को अपने आप समझाना चाहिए।
Ans : (c)


79. विद्यार्थियों को स्पष्ट उदाहरण एवं गैर-उदाहरण देने के क्या परिणाम हैं?
(a
) यह अवधारणाओं की समझ में अभाव पैदा करता है।
(b) यह अवधारणात्मक समझ के बजाय कार्यविधिक/ प्रक्रियात्मक ज्ञान पर ध्यान केद्रित करता है।
(c) अवधारणात्मक परिवर्तनों को प्रोत्साहित करने के लिए यह एक प्रभावशाली तरीका है।
(d) यह विद्यार्थियों के दिमाग में भ्रांतियाँ उत्पन्न करता है।
Ans. (c)


80. विद्यार्थियों में प्रत्यय निर्माण के लिए शिक्षक
(a
) की शिक्षण विधि सरल से जटिल की ओर होनी चाहिए
(b) को विद्यार्थी को व्यापक अनुभव का अवसर प्रदान करना चाहिए
(c) को विद्यार्थी को निर्मित प्रत्ययों के अन्तरण का अवसर देना चाहिए
(d) को उपरोक्त सभी क्रियाएँ करनी चाहिए
Ans : (d)


81. अपने चिंतन में अवधारणात्मक परिवर्तन लाने हेतु शिक्षार्थियों को सक्षम बनाने के लिये शिक्षिका को
(a
) उन बच्चों को पुरस्कार देना चाहिये जिन्होंने अपने चिंतन में परिवर्तन किया है।
(b) बच्चों को स्वयं चिंतन करने के लिये हतोत्साहित करना चाहिए कि वे शिक्षिका को सुनें और उसका अनुपालन करें।
(c) व्याख्यान के रूप में व्याख्या प्रस्तुत करनी चाहिए।
(d) स्पष्ट और आश्वस्त करने वाली व्याख्या देनी चाहिए तथा शिक्षार्थियों के साथ चर्चा करनी चाहिए।
Ans : (d)


82. अपनी कक्षा के बच्चों को उनकी अपनी अवधारणाओं को बदलने में आप किस प्रकार सहायता करेंगे?
(a
) बच्चों को सूचनाएँ लिखाकर उन्हें याद करने को कहकर।
(b) यदि बच्चों की अवधारणाएँ गलत हों तो उन्हें दंड देकर।
(c) तथ्यात्मक जानकारी देकर
(d) अवधारणाओं के बारे में बच्चों को अपनी समझ को व्यक्त करने का अवसर देकर।
Ans: (d)


83. एक बच्चा खिड़की के सामने से एक कौवे को उड़ता हुआ देखता है और कहता है‚ ‘‘एक पक्षी’’। इससे बच्चे के विचार के बारे क्या पता चलता है?
(a
) बच्चे की स्मृतियां पहले से भंडारित होती हैं।
(b) बच्चे में ‘पक्षी’ का प्रत्यय विकसित हो चुका है।
(c) बच्चे ने अपने अनुभव बताने के लिए भाषा के कुछ उपकरणों का विकास कर लिया है।
(a) B और C (b) A, B और C
(c) केवल B (d) A और B
Ans : (a)


84. प्रत्ययों का बनते रहना एक………… प्रक्रिया है−
(a
) विषम (b) अनियमित
(c) सामयिक (d) संचयी
Ans : (d)


85. निम्नलिखित में से कौन मूर्तवाचक अवधारणा का उदाहरण नहीं है?
(a
) योग्यता (b) कुर्सी
(c) बल (d) गति
Ans: (a)


86. संप्रत्यय निर्माण का प्रथम सोपान है−
(a
) सामान्यीकरण (b) विभेदीकरण
(c) प्रत्यक्षीकरण (d) पृथक्करण
Ans : (c)


87. सिद्धान्त चित्र……….के द्वारा नवीन अवधारणाओं की समझ बढ़ाते हैं।
(a
) विशिष्ट विवरण पर एकाग्रता केन्द्रित करने
(b) अध्ययन के लिए शैक्षणिक विषय-वस्तु की प्राथमिकता तय करने
(c) तर्कपूर्ण ढंग से सूचनाओं को व्यवस्थित करने की योग्यता को बढ़ाने
(d) विषय-क्षेत्रों के बीच ज्ञान के स्थानांतरण
Ans: (c)


88. अवधारणाओं का विकास मुख्य रूप से…..का हिस्सा है।
(a
) शारीरिक विकास (b) सामाजिक विकास
(c) संवेगात्मक विकास (d) बौद्धिक विकास
Ans: (d)


89. विद्यार्थियों में संप्रत्ययात्मक विकास को प्रोत्साहन देने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी विधि सबसे प्रभावी है?
(a
) पुराने प्रत्ययों से किसी संदर्भ के बिना नए प्रत्ययों को अपने आप समझा जाना चाहिए
(b) याद करने के लिए कहकर विद्यार्थियों के गलत विचारों को सही विचारों में बदलना
(c) विद्यार्थियों को बहुत-से उदाहरण देना और उन्हें तर्कशक्ति का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना
(d) जब तक विद्यार्थियों में वांछित संप्रत्ययात्मक परिवर्तन न हो जाए‚ तब तक दंड का उपयोग करना
Ans : (c)


90. अपने चिंतन में अवधारणात्मक परिवर्तन लाने हेतु शिक्षार्थियों को सक्षम बनाने के लिए शिक्षक को
(a
) उन बच्चों को पुरस्कार देना चाहिए जिन्होंने अपने चिन्तन में परिवर्तन किया है
(b) बच्चों को स्वयं चिन्तन करने के लिए हतोत्साहित करना चाहिए और उनसे कहना चाहिए कि वे शिक्षिका को सुनें और उसका अनुपालन करें
(c) व्याख्यान के रूप में व्याख्या प्रस्तुत करनी चाहिए
(d) स्पष्ट और आश्वस्त करने वाली व्याख्या देनी चाहिए तथा शिक्षार्थियों के साथ चर्चा करनी चाहिए।
Ans : (d)


91. ज्ञान के एक बड़े असम्बद्ध भाग को प्रस्तुत करना:
(a
) अपने तरीके से जानकारी को व्यवस्थित करने में शिक्षार्थियों की सहायता करेगा।
(b) शिक्षिका के कार्य को कठिन और शिक्षार्थियों के कार्य को आसान बनाएगा।
(c) शिक्षार्थियों के लिए अवधारणात्मक समझ को प्राप्त करने को कठिन बनाएगा।
(d) शिक्षार्थियों के लिए प्रत्यास्मरण को आसान बनाएगा।
Ans: (c)


92. अनेक घटनाओं के बारे में बच्चों के द्वारा बनाए गए ‘सहजानुभूत सिद्धांतों’ के संदर्भ में एक शिक्षिका को क्या करना चाहिए?
(a
) बार−बार याद करने के द्वारा एक सही सिद्धांत से ‘बदल’ देना चाहिए।
(b) प्रतिकूल प्रमाण एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करके बच्चों के इन सिद्धांतों को चुनौती देनी चाहिए।
(c) बच्चों के इन सिद्धांतों को अनदेखा करना चाहिए।
(d) बच्चों को दंडित करना चाहिए।
Ans. (b)


<
–nextpage–>

12. समाज निर्माण में लैंगिक मुद्दे समाज निर्माण में लिंग (जेंडर) की भूमिका

1. बच्चे ……….को छोड़कर अन्य सभी के द्वारा लिंग भूमिकाएँ ग्रहण करते हैं।
(a
) मीडिया (b) समाजीकरण
(c) संस्कृति (d) ट्यूशन
Ans. (d)


2. ‘‘पुरुष और महिला की भूमिकाओं का निर्धारण समाज करता है।’’ यह कथन बताता है कि−
(a
) लैंगिकता एक अंतर्निहित अवतरण है
(b) लैंगिकता एक आनुवंशिक प्रतिभा है
(c) लैंगिकता एक अंतर्ज्ञानी अवतरण है
(d) लौं fगकता एक सामाज्fा क अवतरण है
Ans. (d)


3. जेंडर−
(a
) एक मनोवैज्ञानिक सत्ता है।
(b) एक सामाजिक संरचना है।
(c) एक आर्थिक अवधारणा है।
(d) एक जैविक निर्धारक है।
Ans : (b)


4. कक्षा−कक्ष में शिक्षक और विद्यार्थी किस प्रकार जेंडर को …………….. करते हैं‚ यह सीखने के वातावरण
(a
) परिभाषित‚ को कम प्रभावी बनाता है
(b) व्याख्यायित‚ पर कोई प्रभाव नहीं डालता
(c) निर्मित‚ पर प्रभाव डालता है
(d) रूपांतरित‚ को क्षुब्ध करता है
Ans : (c)


5. सामाजिक भूमिकाओं के कारण न कि जीववैज्ञानिक संपत्ति के कारण सौंपी गई विशिष्टताएं………… कहलाती हैं?
(a
) जेंडर भूमिका अभिवृत्ति (b) जेंडर भूमिका दबाव
(c) जेंडर भूमिका रूढ़िबद्धता (d) जेंडर भूमिका नैदानिकी
Ans : (c)


6. बालिका शिक्षा को महत्ता देना उचित है‚ क्योंकि
(a
) बालिकाएँ बालकों से अधिक बुद्धिमती होती है
(b) बालिकाएँ बालकों से अल्पसंख्यक होती है
(c) अतीत में बालिकाओं को बुरी तरह से विभेदित किया जाता है
(d) किसी सामाजिक परिवर्तन के नेतृत्व में केवल बालिकाएँ ही समर्थ होती है
Ans : (d)


7. व्यक्तियों में _______ उत्पन्न भिन्नताओं को लिंग (जेंडर) संदर्भित करता है।
(a
) शैक्षिक रूप से (b) भावनात्मक रूप से
(c) जैविक रूप से (d) सामाजिक रूप से
Ans. (d)


८. निम्नलिखित में से कौन-सा सामाजिक आर्थिक स्थिति से प्रभावित नहीं होता है?
(a
) पड़ोस की पसंद (b) स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता
(c) लिंग (d) पोषण
Ans : (c)


9. अनेक शोध अध्ययनों से पता चलता है कि शिक्षक लड़कियों की अपेक्षा लड़कों से अधिक पारस्परिक क्रिया करते हैं। इसका सही विवेचन क्या है?
(a
) लड़कियों की तुलना में लड़कों को अधिक अवधान की आवश्यकता होती है।
(b) यह शिक्षण में लिंग पक्षपात का एक उदाहरण है।
(c) कक्षा में लड़कियों की तुलना में लड़कों को अधिक आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।
(d) लड़कियों की तुलना में लड़कों में शैक्षिक क्षमताएँ काफी अधिक होती हैं।
Ans. (b)


10. कक्षा में परिचर्चा के दौरान एक शिक्षक प्राय: लड़कियों की तुलना में लड़कों पर अधिक ध्यान देता है। यह किसका उदाहरण है?
(a
) जेंडर संबद्धता (b) जेंडर समरूपता
(c) जेंडर पक्षपात (d) जेंडर पहचान
Ans. (c)


11. एक अच्छा विद्यालय निम्न में से किससे बचता है?
(a
) सामाजिक जिम्मेदारी से (b) लैंगिक समानता से
(c) लैंगिक पक्षपात से (d) लैंगिक संवेदनशीलता से
Ans: (c)


12. लिंग भेद है−
(a
) शारीरिक संरचना (b) सहज गुण
(c) सामाजिक संरचना (d) जैविक सत्ता
Ans : (c)


13. लिंग (जेण्डर) पक्षपात ……….. की ओर संकेत करता है।
(a
) आनुवंशिक विभिन्नताएँ जो लड़कों और लड़कियों में मौजूद हैं
(b) ध्Eिायोचित और पुरुषोचित विशेषताओं में सापेक्षिक रूप से स्वयं का बोध
(c) अपने शरीर−विज्ञान के कारण लड़कों और लड़कियों के बीच विभिन्नताओं की स्वीकृति
(d) सांस्कृतिक अभिवृत्तियों के कारण अपेक्षाओं पर आधारित लड़कों और लड़कियों से भिन्न व्यवहार करना
Ans : (d)


14. जब एक शिक्षक यह समझता है कि स्वाभाविक रूप से लड़के गणित में लड़कियों से अच्छे हैं‚ यह दर्शाता है कि अध्यापक है
(a
) लिंग (जेण्डर) पक्षपाती (b) शिक्षाप्रद
(c) सही दृष्टिकोण वाला (d) नीतिपरक
Ans : (a)


15. विद्यालय में लिंग−भेदभाव से बचने का सर्वोत्तम तरीका हो सकता है
(a
) पुरुष एवं महिला शिक्षकों को समान संख्या में भर्ती करना
(b) विद्यालय में लिंग−भेदभाव को दूर करने के लिए नियम बनाना और सख्ती से उसका पालन करवाना
(c) संगीत प्रतियोगिता के लिए लड़कियों की अपेक्षा अधिक लड़कों का चयन करना
(d) शिक्षकों द्वारा उनके लिंग−पक्षपातपूर्ण व्यवहारों का अधिसंज्ञान
Ans : (d)


16. निम्न में से कौन-सी व्यूह रचना/अभिलक्षण लैंगिक अन्तरों को मद्देनजर रखते हुए लैंगिक समता की भावना के विपरीत है?
(a
) विद्यार्थियों को बतायें कि रूढ़िबद्ध विषयों में सफलता हासिल कर सकते है
(b) प्रारम्भिक विद्यालयी वर्षों में लड़के एवं लड़कियों में शारीरिक एवं गामक कौशलों के विकास की सम्भाव्य क्षमता समान होती है
(c) लड़कों की समस्याओं के समाधान और विश्व पर नियंत्रण रखने के लिये उनकी योग्यता पर उनको आत्मविश्वास विकसित करने के लिये सहयोग प्रदान करें
(d) लड़के एवं लड़कियों दोनों के कम आक्रामक एवं एक दूसरे के साथ अन्त:क्रिया करने के सम्मत सामाजिक तरीकों को सिखाया जाये।
Ans: (c)


17. एक व्यक्ति के लिंग के आधार पर‚ उस व्यक्ति के खिलाफ पूर्वाग्रह (पक्षपात)_____ होता है।
(a
) लैंगिक रूढ़िबद्धता (जेंडर स्टीरियोटाइप)
(b) लैंगिक भेदभाव (जेंडर बाइअस)
(c) लैंगिक पहचान (जेंडर आईडेंडिटी)
(d) लैंगिक मुद्दा (जेंडर मुद्दा)
Ans. (b)


18. नकारात्मक दृष्टिकोणों का वर्णन करने के लिए किस पद का उपयोग किया जाता है‚ जिसे लोग उनके लिंग के आधार पर किसी व्यक्ति के लिए करते हैं?
(a
) पितृसत्ता (b) जातिगत भूमिकाएँ
(c) लिंगभेद (d) समाजीकरण
Ans. (c)


19. एक उभयलिंगी व्यक्तित्व−
(a
) दाी लक्षणों वाले पुरुषों को संदर्भित करता है
(b) में आमतौर पर माने गए मर्दाना और दाी गुणों का समायोजन होता है
(c) में दृढ़ और अहंकारी होने की आदत है
(d) समाज में प्रचलित रुढ़िवादी लिंग भूमिकाओं का पालन करता है।
Ans. (b)


20. निम्न में से कौन-सा कथन सत्य है?
(a
) लड़के अधिक बुद्धिमान होते है
(b) लड़कियाँ अधिक बुद्धिमान होती है
(c) बुद्धि का लिंग के साथ सम्बन्ध नहीं है
(d) सामान्यत: लड़के लड़कियों से अधिक बुद्धिमान होते है
Ans: (c)


21. सहयोगात्मक रणनीति की किस श्रेणी में महिलाएँ निम्न से सम्बन्धित नहीं होती?
(a
) स्वीकार्यता (b) प्रतिरोध
(c) क्रान्ति (d) अनुकूलन
Ans: (c)


22. समाचार−पत्रों से कहानियों एवं कतरनों का चयन करना एवं प्रस्तुत करना जो पुरुष एवं महिलाओं दोनों को गैर−परम्परागत भूमिकाओं में चित्रित करते हैं‚ निम्नलिखित में से किसके लिए एक प्रभावी रणनीति है?
(a
) लैंगिक/जेंडर स्थिरता को बढ़ाने के लिए
(b) रूढ़िवादी लैंगिक/जेंडर भूमिकाओं को प्रोत्साहन देने के लिए
(c) लैंगिक/जेंडर रूढ़ियों का सामना करने के लिए।
(d) लैंगिक जेंडर पक्षपात को बढ़ाने के लिए।
Ans. (c)


23. खिलौने‚ पहनावे की वस्तुएँ‚ घरेलू सामग्रियाँ‚ व्यवसायों एवं रंगों को विशिष्ट लिंग के साथ संबंधित करना क्या प्रदर्शित करता है?
(a
) जेंडर रूढ़िवादिता (b) जेंडर सिद्धांत
(c) जेंडर प्रासंगिकता (d) विकसित जेंडर पहचान
Ans : (a)


24. बच्चों में जेंडर रूढ़िवादिता एवं जेंडर-भूमिका अनुरुपता को कम करने के लिए निम्नलिखित में से कौन सी पद्धति प्रभावशाली है?
(a
) जेंडर- पृथक खेल समूह बनाना।
(b) जेंडर-पृथक बैठने की व्यवस्था करना।
(c) जेंडर−पक्षपात के बारे में परिचर्चा करना।
(d) जेंडर-विशिष्ट भूमिकाओं को महत्त्व देना।
Ans. (c)


25. समाज में विभिन्न लिंगों के लिए उपयुक्त मानी जाने वाली प्रारूपिक विशेषताओं के बारे में जन सामान्य की अवधारणाओं को क्या कहते हैं ?
(a
) जेंडर भूमिकाएँ (b) जेंडर पहचान
(c) जेंडर रूढ़िवादिताएँ (d) जेंडर विभेदीकरण
Ans. (c)


26. हाल ही में पाठ्यचर्या में ऐसी कहानियों को शामिल करने के लिए विवेकशील प्रयास किया गया है जिसमें पिता घर के कार्यों में लगा रहता है और माता साहसी गतिविधियों को करती है। यह कदम किसलिए महत्त्वपूर्ण है?
(a
) यह जेंडर रूढ़िवादिता को समाप्त करता है।
(b) यह जेंडर स्थिरता को प्रोत्साहित करता है।
(c) यह जेंडर विभेदीकरण को बढ़ाता है।
(d) यह जेंडर पक्षपात को सशक्त बनाता है।
Ans. (a)


27. विज्ञान के प्रयोगों में‚ सामान्यत: लड़के उपकरणों का नियंत्रण अपने हाथों में लेते हैं और लड़कियों से आंकड़ों को रिकॉर्ड करने अथवा बर्तनों को धोने के लिए कहते हैं। यह प्रवृत्ति यह दर्शाती है कि
(a
) लड़के उपकरणों को ज्यादा कुशलता से संभाल सकते हैं‚ लेकिन वे इस प्रकार के कार्यों को करने में प्राकृतिक रूप से सक्षम होते हैं
(b) लड़कियाँ नाजुक होने के कारण ऐसे काम करना पसंद करती हैं जिनमें ऊर्जा की खपत कम होती है
(c) लड़कियाँ बेहतरीन अवलोकनकर्ता होती हैं ओर बिना किसी गलती के आँकड़ों का रिकार्ड रखती हैं
(d) पुरुष और ध्Eाी की रूढ़िबद्ध भूमिकाएं विद्यालय में भी होती हैं
Ans : (d)


28. मोनिका‚ जो गणित की शिक्षिका है‚ राधिका से एक प्रश्न पूछती है। राधिका से कोई उत्तर न मिलने पर वह तुरन्त मोहन से दूसरा प्रश्न पूछती है। जब उसे महसूस होता है कि मोहन उत्तर बताने में संघर्ष कर रहा है तो वह अपने प्रश्न के शब्दों को बदलती है। मोनिका की यह प्रवृत्ति यह प्रदर्शित करती है कि वह
(a
) अपने सवाल के प्रति थोड़ा घबरा गई है
(b) मोहन का पक्ष लेकर लिंग भूमिकाओं में रूढ़िबद्धता को बढ़ावा दे रही है
(c) राधिका को किसी उलझनपूर्ण स्थिति में नहीं डालना चाह रही
(d) इस तथ्य से पूर्णत: परिचित है कि राधिका सवालों के जवाब देने के योग्य नहीं है
Ans : (b)


29. एक सह-शिक्षा में लड़कों से शिक्षक यह कहता है‚ ‘‘लड़के बनो और लड़कियों जैसा व्यवहार मत करो।’’ यह टिप्पणी
(a
) जातीय भेद−भाव का परिचायक है
(b) लड़के−लड़कियों के साथ व्यवहार का एक अच्छा उदाहरण है
(c) लड़के−लड़कियों में भेद−भाव की रूढ़िबद्ध धारणा प्रकट करता है
(d) लड़कियों पर लड़कों की जीव वैज्ञानिक महत्ता को उजागर करता है
Ans : (c)


30. विद्यालय−यात्रा पर जाने के लिए पोती को अपने पिता से बहस करते हुए देखकर दादी कहती है‚ ‘‘तुम अच्छी लड़की की तरह आज्ञाकारी क्यों नहीं हो? तुम लड़कों की तरह व्यवहार करोगी‚ तो तुम से कौन शादी करेगा?’’ यह कथन निम्नलिखित में से किसको प्रतिबिम्बित करता है?
(a
) लड़कियों और लड़कों के स्वाभाव के बारे में रूढ़िबद्ध धारणा
(b) लिंग समरूपता
(c) लड़की के लिंग की गलत पहचान
(d) बच्चों के पालन−पोषण में परिवार की कठिनाइयाँ
Ans : (a)


31. एक अच्छी पाठ्य−पुस्तक ………….. से बचाती है।
(a
) लैंगिक समानता (b) सामाजिक उत्तरदायित्व
(c) लैंगिक पूर्वाग्रह (d) लैंगिक संवेदनशीलता
Ans : (c)


32. राज्य स्तर की एक एकल−गायन प्रतियोगिता के लिए विद्यार्थियों को तैयार करते समय एक विद्यालय लड़कियों को वरीयता देता है। यह दर्शाता है−
(a
) प्रगतिशील (b) वैश्विक प्रवृत्तियां
(c) प्रयोजनात्मक उपगाम (d) लैंगिक पूर्वाग्रह
Ans : (d)


33. निम्नलिखित में से कौन−सा समाज लिंग समानता का मानदण्ड हो सकता है?
(a
) विद्यालय में पुरुष और महिला शिक्षकों की संख्या की तुलना
(b) कक्षा 12 में लड़कों और लड़कियों द्वारा समान संख्या प्राप्त विशिष्ट योग्यता
(c) कक्षा 12 तक पहुँचने वाले लड़कों और लड़कियों की संख्या की तुलना
(d) क्या छात्राओं को विद्यालय से बाहर आयोजित प्रतियोगिताओं में भाग लेने की अनुमति दी जाती है?
Ans : (c)


34. छात्राएँ
(a
) गणित के सवाल अच्दे से सीखती है लेकिन उन्हें तब कठिनाई आती है जब उनसे उनके तर्क के बारे में पूछा जाता है
(b) अपनी आयु के लड़कों की तरह गणित में अच्छी हैं
(c) अपनी आयु के लड़कों की तुलना में स्थानिक अवधारणाओं में कम कुशलतापूर्ण निष्पादन करती है
(d) भाषिक और संगीत सम्बन्धी अधिक क्षमताएँ रखती हैं
Ans : (b)


35. लड़कों एवं लड़कियों के विषय में कुछ कथन नीचे दिए गए हैं। आपके अनुसार इनमें से कौन−सा सही है?
(a
) लड़कों को घर के बाहर कार्यों में सहायता करनी चाहिए
(b) लड़कों को घर के कार्यों में सहायता करनी चाहिए
(c) सभी लड़कों को विज्ञान तथा लड़कियों को गृह विज्ञान पढ़ाया जाना चाहिए
(d) लड़कियों को घर के कार्यों में सहायता करनी चाहिए
Ans : (b)


36. कक्षा VIII की एक पाठ्य−पुस्तक में इस प्रकार के चित्र हैं− शिक्षिका एवं घरेलू काम करने वाली के रूप में महिला‚ जबकि डॉक्टर एवं पायलट के रूप में पुरुष। इस प्रकार के चित्रण से बढ़ सकती/सकता है
(a
) लिंग भूमिका−निर्वाह खेल (b) लिंग स्थिरता
(c) लिंग सशक्तीकरण (d) लिंग रूढ़िबद्धता
Ans : (d)


37. ‘‘प्राय: लड़कियाँ गणित में कमजोर होती हैं‚’’ यह−
(a
) अनुसंधान आधारित धारणा है।
(b) लैंगिक पूर्वाग्रह पर आधारित धारणा है।
(c) सत्य धारणा है।
(d) उपरोक्त सभी
Ans : (b)


38. ‘पुरुष स्त्रियों की अपेक्षा ज्यादा बुद्धिमान होते हैं।’ यह कथन –
(a
) लैंगिक पूर्वाग्रह को प्रदर्शित करता है
(b) बुद्धि के भिन्न पक्षों के लिए सही है
(c) सही है
(d) सही हो सकता है
Ans: (a)


39. कक्षा में जेंडर रूढ़िबद्धता से बचने के लिए एक शिक्षक को
(a
) लड़कों को जोखिम उठाने और निर्भीक बनने के लिए प्रोत्साहित करना।
(b) लकड़े-लड़कियों को एक साथ अ-पारंपरिक भूमिकाओं में रखना चाहिए।
(c) ‘अच्छी लड़की’ ‘अच्छा लड़का’ कहकर शिक्षार्थियों के अच्छे कार्य की सराहना करनी चाहिए।
(d) कुश्ती में भाग लेने के लिए लड़कियों को निरूत्साहित करना।
Ans: (b)


40. अध्यापिका ने एक कमेटी के प्रधान को ‘सभापति’ के स्थान पर ‘सभाध्यक्ष’ लिखा। यह संकेत करता है कि अध्यापिका
(a
) एक अधिक उपयुक्त पारिभाषिक शब्द का पालन करती है
(b) भाषा पर अच्छा अधिकार रखती है
(c) एक लिंग −मुक्त भाषा का प्रयोग कर रही है
(d) लिंग पूर्वाग्रह से ग्रस्त है
Ans: (c)


41. एक पाठ्यपुस्तक ने लड़को को बुद्धिमान और प्रमुख पात्र‚ जबकि लड़कियों को नम्र और भावनात्मक रूप में चित्रित किया। यह…………का उदाहरण है।
(a
) लिंग रूढ़िवादिता (b) लिंग भेद
(c) लिंग समरूपता (d) लिंग संवेदनशीलता
Ans. (a)


42. आपकी कक्षा के एक विद्यार्थी को विभिन्न दोतों से बार-बार यह बताया गया है कि उसके सामाजिक वर्ग के लोग शैक्षिक क्षेत्र में निम्न स्तरीय प्रदर्शन करते हैं। इस रूढ़िवादिता एवं परिणामिक रूढ़िवादी आशंका के प्रभाव को कम करने के लिए एक शिक्षक को क्या पहल करना चाहिए?
(a
) विभिन्न सामाजिक वर्गों के विद्यार्थियों के बीच प्रतियोगिता आयोजित करनी चाहिए।
(b) विद्यार्थी से पढ़ाई छोड़कर किसी अन्य क्षेत्र में शामिल होने के लिए सलाह देनी चाहिए।
(c) विभिन्न सामाजिक वर्गों के रोल मॉडल से संबंधित कहानियों एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करना चाहिए।
(d) इस प्रकार के सरोकारों को अनदेखा करना चाहिए।
Ans. (c)


43. किसी विशेष जातीय या धार्मिक समूह के सदस्यों के प्रति प्रतिकूल रवैये को दर्शाने के लिए किस शब्द का प्रयोग किया जाता है?
(a
) पूर्वाग्रह (b) नस्लवाद
(c) दुश्मनी (d) कट्टरता
Ans. (a)


<
–nextpage–>

13. व्यक्तिगत विभिन्नताएँ व्यक्तिगत विभिन्नताओं का अर्थ एवं स्वरूप

1. वैयक्तिक भिन्नता का क्या अर्थ है?
(a
) दो व्यक्तियों में शारीरिक भिन्नता होना
(b) कोई दो व्यक्ति शारीरिक‚ मानसिक योग्यता और संवेगात्मक दशा में समान और एक जैसे नहीं होते हैं
(c) कोई दो व्यक्ति शारीरिक और मानसिक योग्यता में समान और एक जैसे होते हैं
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans : (b)


2. लम्बाई‚ भार‚ त्वचा का रंग‚ पैर‚ आंखों एवं बालों का रंग में विविधता तथा विचलन को कहते हैं?
(a
) भावनात्मक अंतर (b) भौतिक अंतर
(c) मानसिक अंतर (d) इनमें कोई नहीं
Ans : (b)


3. व्यक्ति में वे भिन्नतायें जिससे वह कद वजन‚ त्वचा का रंग‚ आँखों व बालों का रंग पैर आदि से दूसरे से अलग होते हैं :
(a
) भावनात्मक भेद (b) शारीरिक भेद
(c) मानसिक भेद (d) इनमें कोई नहीं
Ans : (b)


4. वह कथन जो वैयक्तिक विभिन्नता के सन्दर्भ में सत्य नहीं है‚ वह है-
(a
) व्यक्तिविशेष प्रकार में भिन्न होते हैं
(b) व्यक्तिविशेष कोटि में भिन्न होते हैं
(c) व्यक्तिविशेष प्रकार व कोटि दोनों में भिन्न होते हैं
(d) व्यक्ति विशेष न तो कोटि और न ही प्रकार में भिन्न होते है
Ans: (d)


5. ‘‘हममें से कुछ लोग‚ कुछ जो लम्बे हैं तथा कुछ जो छोटे हैं‚ कुछ जो गोरे हैं तथा कुछ जो काले हैं‚ कुछ लोग मजबूत हैं तथा कुछ कमजोर है’’ यह कथन किस स्थापित सिद्धान्त पर आधारित है?
(a
) बुद्धि व लैंगिक विभिन्नता पर
(b) बुद्धि व प्रजाति विभिन्नता पर
(c) वैयक्तिक विभिन्नता पर
(d) वैयक्तिक प्रगतिशीलता पर
Ans: (c)


6. हम सभी अपनी बुद्धि‚ प्रेरणा‚ अभिरुचि आदि के सन्दर्भ में भिन्न होते हैं। यह सिद्धांत सम्बन्धित है
(a
) वैयक्तिक भिन्नता से (b) बुद्धि के सिद्धांतो से
(c) वंशान्ुा क्रम से (d) पर्यावरण से
Ans : (a)


7. विकास के वैयक्तिक विभिन्नता को समझने के लिए क्या महत्त्वपूर्ण है?
(a
) पर्यावरणीय कारकों पर विचार करना जो लोगों को प्रभावित करते हैं।
(b) शरीर एवं दिमाग के परिपक्वन पर विचार करना।
(c) वंशागत विशेषताओं के साथ−साथ पर्यावरणीय कारकों एवं उनकी पारस्परिक क्रिया पर विचार करना।
(d) वंशागत विशेषताओं पर विचार करना जो प्रत्येक व्यक्ति को जीवन में विशेष शुरुआत देती हैं।
Ans. (c)


8. मार्गरेट मीड के अनुसार वैयक्तिक भिन्नताओं के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण कारक है−
(a
) जैविक (b) मनोवैज्ञानिक
(c) सजातीय (d) सांस्कृतिक
Ans : (d)


9. वैयक्तिक विभिन्नताओं का प्राथमिक कारण क्या है?
(a
) पर्यावरणीय प्रभाव
(b) आनुवंशिकता एवं पर्यावरण के बीच जटिल पारस्परिक क्रिया।
(c) लोगों के द्वारा माता-पिता से प्राप्त आनुवंशिक संकेत पद्धति (कोड)
(d) जन्मजात विशेषताएँ
Ans. (b)


10. आमतौर पर‚ सभी कक्षाओं में विविधता होगी। उस आयाम को पहचानें जो बहुत अधिक विविधता से संबंधित कई समस्याओं को प्रस्तुत नहीं करता है।
(a
) सांस्कृतिक पृष्ठभूमि (b) भौगोलिक स्थिति
(c) सामाजिक मान्यताएं (d) पुष्ट योग्यताएं
Ans. (b)


11. व्यक्तिगत विभिन्नताओं का क्षेत्र है-
(a
) लिंग-भेद (b) शारीरिक रचना
(c) मानसिक योग्यताए (d) ये सभी
Ans: (d)


12. एक कक्षा में वैयक्तिक विभिन्नताओं के क्षेत्र हो सकते हैं :
(a
) रुचियों के (b) सीखने के
(c) चरित्र के (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


13. आज के कक्षाओं में छात्र के बीच‚ सांस्कृतिक‚ जातीय और नस्लीय………. की एक विस्तृत श्रंृखला होने की संभावना है।
(a
) सक्रियता (b) समानताएं
(c) विविधता (d) निरंतरता
Ans. (c)


14. व्यक्तिगत विविधताओं वाले बच्चों को पढ़ाने के लिए ऐसे विद्यालय होने चाहिए जहाँ शिक्षक−
(a
) व्यक्तिगत विविधताओं के आधार पर वर्गीकृत की गई कक्षाओं के विभिन्न वर्गों में पढ़ा सकें
(b) विविध अधिगम आवश्यकताओं के अनुसार विभिन्न शिक्षण−अधिगम प्रविधियों का प्रयोग करने में प्रशिक्षित हों।
(c) विशिष्ट व्यक्तिगत विविधताओं वाले बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रशिक्षित हों
(d) बच्चों को समरूप अधिगमकर्ता बनाने में प्रशिक्षित हों
Ans. (b)


15. वैयक्तिक विभिन्नता के मिलने के सम्बन्ध में एक अध्यापक की भूमिका होनी चाहिए
(a
) व्यक्ति के दृष्टिकोण‚ अभिरुचि और योग्यता को जानने का प्रयास
(b) व्यक्ति आधारित पाठ्यक्रमों को उनकी आवश्यकता के अनुसार जानने की कोशिश
(c) उपरोक्त दोनों
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (c)


16. एक अध्यापक किसी भी समूह में समुदाय आधारित व्यक्तिगत विभिन्नताओं को समझ सकता है –
(a
) आँखों के सम्पर्क के आधार पर
(b) बुद्धि के आधार पर
(c) भाषा एवं अभिव्यक्ति के आधार पर
(d) गृह कार्य के आधार पर।
Ans: (c)


17. व्यक्तिगत विभिन्नताओं से सम्बन्धित निम्न में से कौन-सा कथन सही है?
(a
) यदि विद्यार्थियों का बुद्धि स्तर समान है तब भी उपलब्धि में विभिन्नता हो सकती है।
(b) सभी बालकों में कुछ भी समानता नहीं होती।
(c) व्यक्तिगत विभिन्नताओं के वक्र खींच कर दिखाने पर वह एक दिशा की ओर झुक जाता है।
(d) व्यक्तिगत विभिन्नतायें वंशक्रम के कारण होती हैं।
Ans: (a)


18. प्रजातिगत व्यक्तिगत विभिन्नताओं को समझने में निम्न में से क्या मददगार साबित नहीं होता?
(a
) मूल्य व्यवस्था
(b) शाब्दिक एवं अ-शाब्दिक सम्प्रेषण
(c) अधिगम की प्रक्रियायें एवं विभिन्न व्यवस्थायें
(d) बुद्धि।
Ans: (d)


19. शिक्षार्थियों में बहुत विभिन्नताएँ होती हैं। इनसे किसके/किनके लिए शिक्षक को संवदेनशील होने की आवश्यकता है?
I. संज्ञानात्मक क्षमताओं और सीखने के स्तरों पर आधारित भिन्नताएँ। II. भाषा‚ जाति‚ लिंग‚ धर्म समुदाय की विविधता पर आधारित भिन्नताएँ। नीचे दिए गए कूट के आधार पर सही उत्तर चुनिए।
(a
) केवल II (b) I और II दोनों
(c) न तो I और न ही II (d) केवल I
Ans : (b)


20. भारत में अधिकांश कक्षाएँ बहुभाषी होती हैं इसे शिक्षक द्वारा ………… के रूप में देखा जाना चाहिए।
(a
) परेशानी (b) समस्या
(c) संसाधन (d) बाधा
Ans : (c)


21. एक कक्षा में बहुभाषी विद्यार्थी हैं; यह स्थिति उत्पन्न करती है
(a
) शिक्षण अधिगम प्रक्रिया में बाधा
(b) विद्यार्थियों के मध्य सामंजस्य की समस्या
(c) अध्यापक में कुण्ठा
(d) सीखने के समृद्ध संसाधन
Ans: (d)


22. अध्ययन की दृष्टि से व्यक्तिगत विभिन्नताओं का महत्व है-
(a
) विद्यार्थियों की व्यक्तिगत शिक्षण व्यवस्था
(b) व्यक्तिगत रूचियों के अनुसार गृह कार्य देना
(c) विद्यार्थियों का समरूप समूहों में वर्गीकरण
(d) उपर्युक्त सभी
Ans: (d)


23. विद्यालयों को किसके लिए वैयक्तिक भिन्नताओं को पूरा करना चाहिए?
(a
) वैयक्तिक शिक्षार्थी को विशिष्ट होने की अनुभूति कराने के लिए
(b) वैयक्तिक शिक्षार्थियों के मध्य खाई को कम करने के लिए
(c) शिक्षार्थियों के निष्पादन और योग्यताओं को समान करने के लिए
(d) यह समझने के लिए कि क्यों शिक्षार्थी सीखने के योग्य या अयोग्य हैं
Ans : (d)


24. समान आयु के बच्चें में भी आकृति‚ योग्यता‚ स्वभाव‚ रुचि‚ प्रवृत्ति और अन्य बातों में बहुत अन्तर होता है इस सन्दर्भ में विद्यालय की क्या भूमिका है?
(a
) बच्चों के आकलन के लिए नियामक मानक स्थापित करना
(b) सुनिश्चित करना कि शिक्षक मानकीकृत निर्देश और पाठ्य−पुस्तकों का उपयोग करे
(c) सुनिश्चित करना कि सभी बच्चों का विकास एक ही प्रकार से हो
(d) सुनिश्चित करना कि प्रत्येक बच्चे को अपनी क्षमताओं के अनुसार विकास के अवसर मिलें
Ans : (d)


25. शिक्षार्थी वैयक्तिक भिन्नता प्रदर्शित करते हैं। अत: शिक्षक को
(a
) अधिगम की एकसमान गति पर बल देना चाहिए
(b) सीखने के विविध अनुभवों को उपलब्ध कराना चाहिए
(c) कठोर अनुशासन सुनिश्चित करना चाहिए
(d) परीक्षाओं की संख्या बढ़ा देनी चाहिए
Ans : (b)


26. पढ़ाते समय सामान्य कक्षा में अध्यापक का सर्वाधिक ध्यान किस मनोवैज्ञानिक तथ्य पर होना चाहिए?
(a
) शिक्षण तकनीक (b) शारीरिक क्षमता
(c) वैयक्तिक विभिन्नता (d) पारिवारिक स्थिति
Ans : (c)


27. भारतीय समाज की बहुभाषिक विशेषता को ….. देखा जाना चाहिए।
(a
) विद्यार्थियों को सीखने के लिए अभिप्रेरित करने हेतु शिक्षकयोग्यता की चुनौती के रूप में
(b) शिक्षार्थियों के लिए विद्यालयी जीवन को एक जटिल अनुभव के रूप में बनाने के लिए कारक के रूप में
(c) शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में बाधा के रूप में
(d) विद्यालयी जीवन को समृद्ध बनाने के संसाधन के रूप में
Ans: (d)


28. सह-शैक्षणिक क्षेत्रों में निष्पादन के आधार पर शैक्षणिक क्षेत्रों में निष्पादन के स्तर को बढ़ाने का औचित्य स्थापन किस आधार पर किया जा सकता है
(a
) यह हाथ से किए जाने वाले श्रम के प्रति सम्मान विकसित करता है।
(b) यह वैयक्तिक भिन्नताओं को संतुष्ट करता है
(c) यह हाशियाकृत विद्यार्थियों के लिए प्रतिपूरक भेदभाव की नीति का अनुगमन करता है
(d) यह सार्वभौमिक धारण (retention) को सुनिश्चित करता है।
Ans: (b)


29. शिक्षार्थियों में वैयक्तिक भिन्नताओं को संबोधित करने के लिए एक विद्यालय किस प्रकार का सहयोग उपलब्ध करवा सकता है?
(a
) सभी शिक्षार्थियों के लिए समान स्तर की पाठ्यचर्या का अनुगमन करना
(b) बाल-केन्द्रित पाठ्यचर्या का पालन करना और शिक्षार्थियों को सीखने के अनेक अवसर उपलब्ध करवाना।
(c) शिक्षार्थियों में वैयक्तिक भिन्नताओं को समाप्त करने के लिए हर संभव उपाय करना।
(d) धीमी गति से सीखने वाले शिक्षार्थियों को विशेष विद्यालयों में भेजना।
Ans: (b)


30. योग्यता व योग्यता समूहीकरण के परिप्रेक्ष्य में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य है?
(a
) विद्यार्थी सम-समूहों से बेहतर सीखते हैं
(b) अबाध व प्रभावी शिक्षण हेतु कथा को समरूपी (प्दस्दुाहादल्े) होना चाहिए
(c) छात्र असहिष्णु होते हैं व भेदों को स्वीकार नहीं करते
(d) विभिन्न योग्यता वाले समूहों को ग्रहण करने के लिए अध्यापकों को बहु-स्तरीय शिक्षा को अपनाना चाहिए
Ans: (d)


31. वैयक्तिक अंतरों का ज्ञान शिक्षकों की मदद किसमें करता है?
(a
) पिछड़े शिक्षार्थियों के साथ कठोर परिश्रम करने की निरर्थकता को समझने में‚ क्योंकि वे बाकी कक्षा के समान कभी नहीं हो सकते
(b) वैयक्तिक अंतरों को शिक्षार्थियों की असफलता की स्वीकृति एवं उत्तरदायी ठहराने में
(c) सभी शिक्षार्थियों को समान रूप से लाभ पहुँचाने के लिए अपनी प्रस्तुति-शैली को एकरूप बनाने में
(d) सभी शिक्षार्थियों की व्यक्तिगत आवश्यकताओं का आकलन करने और उसके अनुरूप उन्हें पढ़ाने में
Ans: (d)


32. अनुसंधान से पता चला है कि विद्यालयों में अनेक स्तरों पर विभेदीकरण पाया जाता है। उच्च प्राथमिक स्तर पर इनमें से कौन-सा विभेदीकरण का एक उदाहरण नहीं है?
(a
) बहुत से अध्यापक पढ़ाने के लिए केवल व्याख्यान विधि का प्रयोग करते हैं।
(b) मध्यान्ह भोजन के दौरान दलित बच्चों को अलग बैठाया जाता है।
(c) लड़कियों को गणित तथा विज्ञान विषयों को लेने के लिए प्रोत्साहित नहीं किया जाता है।
(d) अध्यापकों की निम्न सामाजिक-आर्थिक परिवेश से आए बच्चों से बहुत कम अपेक्षाएँ होती हैं।
Ans: (a)


33. एक बहु-सांस्कृतिक कक्षा-कक्ष में एक अध्यापिका सुनिश्चित करेगी कि आकलन में निम्नलिखित में से सम्मिलित हो –
(a
) अपने आकलन उपकरण की विश्वसनीयता तथा वैधता
(b) अधिगम के न्यूनतम स्तरों के लिए अनुपालन करते हुए विद्यालय प्रशासन की अपेक्षाओं को पूरा
(c) आकलन उपकरण के मानकीकरण
(d) अपने विद्यार्थियों को सामाजिक-सांस्कृतिक पृष्ठभूमि
Ans: (d)


34. भारत में भाषिक विभिन्नता बहुत है। इस संदर्भ में विशेषकर कक्षा I और II के प्राथमिक स्तर पर बहुभाषिक कक्षाओं के बारे में सर्वथा उपयुक्त कथन है−
(a
) शिक्षार्थियों को अपनी मातृभाषा या स्थानीय भाषा का प्रयोग करने पर दंडित किया जाए।
(b) विद्यालय में उन्हीं बच्चों को प्रवेश दिया जाए जिनकी मातृभाषा वही हो जो शिक्षा के लिए अपनाई जा रही हो
(c) शिक्षक को सभी भाषाओं का सम्मान करना चाहिए और सभी भाषाओं में अभिव्यक्ति के लिए बच्चों को प्रोत्साहित करना चाहिए।
(d) जो बच्चे कक्ष में मातृभाषा का उपयोग करते हैं अध्यापक को उनकी उपेक्षा करनी चाहिए।
Ans : (c)


35. शिक्षार्थियों (अधिगमकत्र्ता) की वैयक्तिक विभिन्नताओं के संदर्भ में शिक्षिका को चाहिए−
(a
) विविध प्रकार की अधिगम परिस्थितियों को उपलब्ध कराना
(b) निगमनात्मक पद्धति के आधार पर समस्याओं का समाधान करना
(c) कलनविधि (एल्गोरिथ्म) का अधिकतर प्रयोग करना।
(d) बाद करने के लिए शिक्षार्थियों को तथ्य उपलब्ध कराना।
Ans : (a)


36. जिस कक्षाकक्ष में विविध पृष्ठभूमि से विद्यार्थी आते हों‚ वहाँ एक प्रभावी शिक्षक−
(a
) समान आर्थिक पृष्ठभूमि के विद्यार्थियों का समूह बनाएगा और उन्हें एक साथ रखेगा
(b) वंचित पृष्ठभूमि के विद्यार्थियों को कठिन परिश्रम करने के लिए कहेगा ताकि वे अपने साथियों के बराबर पहुँच सकें
(c) समूह में वैयक्तिक भिन्नता को बताने के लिए उनकी सांस्कृतिक जानकारी पर ध्यान देगा
(d) सांस्कृतिक जानकारी की अनदेखी करेगा और एक सर्वमान्य तरीके से अपने सभी विद्यार्थियों के साथ व्यवहार करेगा।
Ans : (d)


37. एक शिक्षिका अपनी कक्षा में विविधता को संबोधित कर सकती है −
A. भिन्नताओं को स्वीकार करके और उसे महत्व देकर
B. बच्चों की सामाजिक-सांस्कृतिक पृष्ठभूमि का शिक्षा- शाध्Eाीय संसाधन के रूप में प्रयोग करके
C. विभिन्न अधिगम शैलियों को समायोजित करके
D. मानक निर्देश देकर और निष्पादन हेतु सर्वमान्य मानदण्ड निर्धारित करके नीचे दिए गए कूट के आधार पर सही उत्तर चुनिए।
(a
) A, B और C (b) A, B, C और D
(c) A, B और D (d) B, C और D
Ans : (a)


38. ‘‘विविध प्रकार की सामाजिक‚ आर्थिक और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि के बच्चों से युक्त कक्षा सभी विद्यार्थियों के अधिगम अनुभवों को बढ़ाती है।’’ यह कथन है−
(a
) गलत‚ क्योंकि यह बच्चों के लिए दुविधा उत्पन्न कर सकता है और वे स्वयं को अलग-अलग महसूस कर सकते हैं
(b) सही‚ क्योंकि बच्चे अपने साथियों से अनेक कौशल सीखते है
(c) सही‚ क्योंकि इससे कक्षा अधिक श्रेणीबद्ध दिखाई देती है
(d) गलत‚ क्योंकि यह अनावश्यक स्पर्धा की ओर ले जाता है
Ans : (b)


39. अपनी कक्षा की वैयक्तिक भिन्नताओं से निपटने के लिए शिक्षक को चाहिए कि−
(a
) शिक्षण और आकलन के समान और मानक तरीके हों
(b) बच्चों को उनके अंकों के आधार पर अलग कर उनको नामित करें
(c) बच्चों से बातचीत करें और उनके दृष्टिकोण को महत्व दें
(d) विद्यार्थियों के लिए कठोर नियमो को लागू करें
Ans : (c)


40. अध्यापन के समय अध्यापक को निम्नलिखित में से किसका सर्वाधिक ध्यान रखना चाहिए?
(a
) विषय-वस्तु
(b) विद्यार्थियों की आयु
(c) वैयक्तिक भिन्नता
(d) विद्यार्थियों की पारिवारिक पृष्ठभूमि
Ans : (c)


41. शिक्षा के क्षेत्र में बहुसांस्कृतिक जागरूकता में उनके_______ के संदर्भ में छात्रों में मतभेदों की समझ और सराहना शामिल है।
(a
) कौशल और क्षमताएँ
(b) विशेष आवश्यकताएँ और उपहार
(c) सामाजिक आर्थिक स्थिति और धार्मिक पृष्ठभूमि
(d) व्यवहार और स्वभाव
Ans. (c)


42. शिक्षकों को शिक्षार्थी की ……… के साथ डील करना पड़ता है।
(a
) समावेशिता (b) विविधता
(c) विचलन (d) प्रतिभाशीलता
Ans. (b)


43. नृत्य‚ ड्रामा एवं शिल्पकला का प्रयोग किया जाता है
(a
) विशिष्ट गुणों के विकास हेतु
(b) व्यक्तित्व को ढालने के लिए
(c) दबी एवं बर्दाश्त न की जा सकने वाले अंतनोंद के प्रगटीकरण हेतु
(d) इनमें से सभी
Ans: (d)


<
–nextpage–>

14. अभियोग्यता/अभिक्षमता‚ अभिवृत्ति तथा मूल्य अभियोग्यता/अभिक्षमता का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. क्षेत्र विशेष में बालक की विशिष्ट योग्यता तथा विशिष्ट क्षमता को कहते हैं−
(a
) मूल्य (b) अभिप्रेरणा
(c) अभिक्षमता (d) रुचि
Ans. (c)


2. अभियोग्यता के सम्बन्ध में सही कथन क्या है?
(a
) समायोजन करने की क्षमता का नाम अभियोग्यता है
(b) सीखने की क्षमता का नाम अभियोग्यता है
(c) संक्षिप्त तार्किकता (Abstract Reasoning) की क्षमता का नाम अभियोग्यता है
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


3. मानव जाति में अभिक्षमता किस प्रकार से वितरित है?
(a
) वितरण सामान्य है।
(b) वितरण अस्तव्यस्त है।
(c) वितरण विषम है
(d) वितरण विविधतापूर्ण है
Ans. (d)


4. विभेदक परीक्षण का उपयोग किस मनोवैज्ञानिक ने भारतीय अनुकूलन के अनुसार विकसित किया है?
(a
) होरेस (b) वालाश
(c) जे. पी. गिलफोर्ड (d) जे. एम. ओझा।
Ans: (d)


5. किस अभिक्षमता को ए. एस. टी. के नाम से जाना जाता है?
(a
) विभेदक अभिक्षमता
(b) सामान्य अभिक्षमता
(c) अभिक्षमता सर्वेक्षण परीक्षण
(d) व्यावसायिक अभिक्षमता
Ans: (c)


6. शिक्षक पात्रता परीक्षण किस प्रकार के परीक्षण का एक उदाहरण है?
(a
) अभियोग्यता (b) सृजनशीलता
(c) बुद्धि (d) व्यक्तित्व
Ans. (a)


7. एक योग्यता परीक्षण एक बच्चे के ………. को मापता है−
(a
) पूरे वर्ष में प्राप्त ज्ञान
(b) समस्याओं को हल करने के लिए आवश्यक कौशल
(c) आलोचनात्मक सोच का कौशल
(d) कुछ कार्यों को करने की क्षमता
Ans : (d)


8. मिनेसोटा पेपर फॅार्म बोर्ड परीक्षण‚ एक परीक्षण है जो किसी की___ को मापता है।
(a
) मौखिक तर्क (b) योग्यता
(c) व्यक्तित्व (d) अंग्रेजी कौशल
Ans. (b)


9. एक योग्यता परीक्षा में‚ किसी व्यक्ति के भविष्य की उपलब्धियों की संभावनाओं का कोई भी अनुमान ______ है।
(a
) एक संभावना
(b) एक निश्चितता
(c) एक प्रश्न
(d) एक धारणा
Ans. (a)


10. निम्नलिखित में से कौन-सी अभिवृत्ति की विशेषता नहीं हैं?
(a
) यह प्रेरणात्मक होती है।
(b) यह हमारे व्यवहार का आधार होती है।
(c) यह अस्थायी होती है।
(d) यह सीखी जाती है।
Ans: (c)


11. विद्यार्थियों की अभिवृत्तियों में परिवर्तन के लिए निम्न में से किस विधि का प्रयोग अध्यापक को नहीं करना चाहिए?
(a
) दबाव से किसी बात या विचार के लिए राजी करना
(b) किसी विचार को दोहराना अथवा दृढ़तापूर्वक व्यवहार
(c) किसी प्रशंसनीय व्यक्ति के द्वारा समर्थन एवं स्वीकृति
(d) संदेश के साथ साहचर्य स्थापित करना।
Ans: (a)


12. अभिवृत्ति सम्प्रत्यय है
(a
) संज्ञानपरक (b) क्रियापरक
(c) संवेगात्मक (d) ये सभी
Ans : (d)


13. अभिवृत्ति है
(a
) एक भावात्मक प्रवृत्ति जो अनुभव के द्वारा संगठित होकर किसी मनोवैज्ञानिक वस्तु के प्रति पसंदगी या नापसंदगी के रूप में प्रतिक्रिया करती है
(b) एक ऐसी विशेषता जो व्यक्ति की योग्यता का परिचायक है जिसे किसी प्रदत्त क्षेत्र में विशिष्ट प्रशिक्षण‚ ज्ञान अथवा कौशल से सीखा जा सकता है
(c) व्यक्ति की बीजभूत क्षमता जो कि विशिष्ट प्रकार की होती है
(d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


14. पृथक-पृथक समजातीय समूहों के व्यक्तियों के प्रति बच्चों की अभिवृत्ति साधारणतया आधारित होती है
(a
) उनके अभिभावकों की चित्तवृत्ति पर
(b) उनमें समकक्षियों की अभिवृत्ति पर
(c) दूरदर्शन के प्रभाव पर
(d) उनके सहोदरों की अभिवृत्ति पर
Ans : (a)


15. थस्र्टन तथा लिकर्ट निम्न में किसके मापन से सम्बन्धित है?
(a
) बुद्धि (b) अभिवृत्ति
(c) मूल्य (d) व्यक्तित्व
Ans : (b)


16. किस पेशे में अभिवृत्ति जांच का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है।
(a
) मार्गदर्शन परामर्शक (b) चिकित्सक
(c) वकील (d) इंजीनियर
Ans. (a)


17. निम्नलिखित में से किसका उपयोग मनोवृत्ति के परीक्षणों में किया जाता है?
(a
) अभिक्षमता परीक्षण
(b) उपलब्धि परीक्षण
(c) बुद्धिमता परीक्षण (आईक्यू टेस्ट)
(d) लिकर्ट स्केल
Ans. (d)


18. …………. को मापने के लिए क्रम निर्धारण मान (रेटिंग स्केल) का उपयोग किया जाता है।
(a
) बुद्धि (b) अभिवृत्ति
(c) उपलब्धि (d) कौशल
Ans. (b)


19. ‘बॉब एक मॉडल हवाई जहाज को एक साथ रख सकते हैं।’ यह कथन‚ अभिवृत्ति परीक्षण की किस विशेषता का संकेत है?
(a
) लिपिकीय चिंतन (b) स्थानिक चिंतन
(c) संगठनात्मक चिंतन (d) बौद्धिक चिंतन
Ans. (b)


20. चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करना किस मूल्य से सम्बन्धित है? उत्तर: प्रजातांत्रिक मूल्य से UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करना प्रजातांत्रिक मूल्य से सम्बन्धित है। प्रजातांत्रिक मूल्य से तात्पर्य है‚ प्रजातंत्र के मूल सिद्धान्तों यथा- स्वतंत्रता‚ समानता‚ बंधुत्वता एवं न्याय आदि में विश्वास और आस्था व्यक्त करना। कोठारी कमीशन ने अपने सुझाव में शिक्षा द्वारा प्रजातंत्र की सुदृढ़ता लाने की बात कही थी।


21. एक शिक्षक‚ विद्यार्थियों में सामाजिक मूल्यों को विकसित कर सकता है−
(a
) अनुशासन की अनुभूति को विकसित कर
(b) आदर्श रूप से बर्ताव कर
(c) महान व्यक्तियों के बारे में बोलकर
(d) उन्हें अच्छी कहानियाँ सुनाकर
Ans : (b)


22. मूल्यों के वर्गीकरण में सम्मिलित नहीं है
(a
) आध्यात्मिक मूल्य
(b) येन केन प्रकारेण धनार्जन का मूल्य
(c) नैतिक मूल्य
(d) सांस्कृतिक मूल्य
Ans : (b)


23. मानवीय मूल्यों‚ जो प्रकृति में सार्वत्रिक हैं‚ के विकास का अर्थ है
(a
) मतारोपण (b) अंगीकरण
(c) अनुकरण (d) अभिव्यक्ति
Ans : (b)


24. सामाजिक मूल्यों में बदलाव को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है :
(a
) असमानता को कम करना (b) सामाजिक परिवर्तन
(c) सामाजिक गतिशीलता (d) संस्कृति का संचरण
Ans. (c)


<
–nextpage–>

15. आकलन/मूल्यांकन आकलन/मापन/मूल्यांकन का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. परम शून्य स्थित होती है−
(a
) नामित स्केल में (b) अंतरित स्केल में
(c) क्रमित स्केल में (d) आनुपातिक स्केल में
Ans : (d)


2. यह खुले तौर पर अवलोकित किया जाता है कि मापन की तुलना में ………….. शामिल होता है
(a
) सरकार (b) वातावरण
(c) अधिगम (d) मूल्यांकन
Ans. (d)


3. अपने मूल्य की निष्पक्ष प्रशंसा की अभिवृत्ति एक मानसिक …………… के विचार से पाई जा सकती है।
(a
) मूल्यांकन (b) व्यवहार
(c) माप (d) प्रतिफल
Ans. (c)


4. ‘‘वे सभी क्रियाकलाप जो शिक्षक व शिक्षार्थी द्वारा स्वयं को आकलित करने के लिये किये जाते हैं‚ जो एक प्रतिपुष्टि के रूप में शिक्षण व अधिगम क्रियाकलापों को सुधारने हेतु सूचना प्रदान करते हैं।’’ उसे क्या कहा जाता है?
(a
) उपलब्धि परीक्षण (b) आकलन
(c) परीक्षा (d) अधिगम
Ans: (b)


5. व्यक्तिगत भिन्नताओं के मापन की सर्वोत्तम मापनी है-
(a
) नमित मापनी (b) अन्तराल मापनी
(c) क्रमसूचक मापनी (d) समानुपाती मापनी
Ans: (b)


6. विद्यार्थी और शिक्षक के बीच की एक संवादात्मक प्रक्रिया जो उनके सीखने के वातावरण में बदलाव लाती है‚ वह है-
(a
) मूल्यांकन (b) आकलन
(c) a व b दोनों (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans: (c)


7. आकलन
(a
) बच्चों को लेवल (नाम देने) और वर्गीकृत करने की अच्छी रणनीति है
(b) बच्चों में प्रतियोगितात्मक भावना को सक्रिय रूप से बढ़ावा देना है
(c) सीखने को सुनिश्चित करने के लिए तनाव और दबाव को उत्पन्न करता है
(d) सीखने में सुधार का एक तरीका है
Ans : (d)


8. आकलन के बारे में निम्नलिखित कथनों में कौन−से कथन सही हैं?
(1) आकलन से विद्यार्थियों को यह सहायता मिलनी चाहिए कि वे अपनी शक्तियों और रिक्तियों को देख सकें और शिक्षक तदनुसार उन्हें ठीक कर सकें।
(2) आकलन तभी सार्थक होता है जब विद्यार्थियों का तुलनात्मक मूल्यांकन भी हो।
(3) आकलन केवल स्मरण शक्ति का ही नहीं‚ बोधन और अनुप्रयोग का भी होना चाहिए।
(4) आकलन तब तक उद्देश्यपूर्ण नहीं हो सकता जब तक उससे भय और चिंता का संचार न हो।
(a
) 1 और 2 (b) 2 और 3
(c) 2 और 4 (d) 1 और 3
Ans : (d)


9. निम्नलिखित मापन के स्तरों में सबसे अच्छा कौन है?
(a
) नामिक (b) अनुपात
(c) क्रमिक (d) अन्तराल
Ans : (b)


10. वह मापनी जिसमें अन्तराल के समस्त गुण के साथ परम शून्य भी हो‚ कहलाती है−
(a
) नामित मापनी (b) क्रमसूचक मापनी
(c) अन्तराल मापनी (d) अनुपात मापनी
Ans : (d)


11. निम्नलिखित में से कौन सी कार्य विधि (ऑपरेशन) हमें जानकारी को मान्य करने में मदद करती है?
(a
) मूल्यांकन (b) अपसारी चिंतन
(c) अभिसारी चिंतन (d) संज्ञान
Ans. (a)


12. मूल्यांकन को−
(a
) शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया का एक भाग होना चाहिए।
(b) केवल नम्बरों के संदर्भ में करना चाहिए।
(c) वस्तुनिष्ठ प्रकार के लिखित कार्यों पर आधारित होना चाहिए।
(d) एक अलग गतिविधि के रूप में लेना चाहिए।
Ans : (a)


13. बच्चों के मूल्यांकन के लिए निम्नलिखित में से कौन से कारण होने चाहिए?
(i) बच्चों को ‘गैर-उपलब्धि वाले’‚ ‘निम्न-उपलब्धि वाले’‚ ‘औसत’ एवं ‘उच्च−उपलब्धि वाले’ के रूप में अलग करना एवं नाम देना। (ii) कक्षा में शिक्षण−अधिगम प्रक्रियाओं में सुधार करना। (iii) समय के साथ बच्चों में होने वाले अधिगम परिवर्तनों एवं प्रगति के बारे में पता लगाना। (iv) बच्चे की क्षमताओं‚ संभावनाओं‚ सशक्त पक्षों एवं चुनौतीपूर्ण पक्षों के बारे में माता−पिता के साथ चर्चा करना।
(a
) (i), (ii), (iii) (b) (ii), (iii), (iv)
(c) (ii), (iv) (d) (i), (ii), (iii), (iv)
Ans. (b)


14. आकलन का प्राथमिक उद्देश्य क्या होना चाहिए?
(a
) विद्यार्थियों के प्राप्तांकों के आधार पर उनको नामांकित करना।
(b) रिपोर्ट कार्ड में उत्तीर्ण या अनुत्तीर्ण अंकित करना।
(c) विद्यार्थियों के लिए श्रेणी निश्चित करना।
(d) संबंधित अवधारणाओं के बारे में बच्चों की स्पष्टता तथा भ्रांतियों को समझना।
Ans. (d)


15. विज्ञान में मूल्यांकन-
(a
) पूर्णतया वैज्ञानिक तथा बहुविकल्पीय परीक्षण होना चाहिए
(b) विद्यार्थियों की क्रियाकलापों के अन्त में होना चाहिए
(c) सभी क्रियाकलापों का एकीकृत भाग होना चाहिए
(d) केवल विषय व प्रत्ययों को शामिल करें तथा प्रक्रिया व अभिवृत्ति को छोड़ दें
Ans: (c)


16. ………….. की उपलब्धि का सफल अभ्यास एक वास्तविक परीक्षण है।
(a
) शिक्षक (b) प्रधानाध्यापक
(c) अधिगम (d) मूल्यांकन
Ans. (c)


17. मूल्यांकन का उद्देश्य है−
(a
) बालकों को धीमी गति से सीखने वाले एवं प्रतिभाशाली बालकों के रूप में लेबल करना
(b) जिन बालकों को उपचारात्मक शिक्षा की आवश्यकता है‚ उनकी पहचान करना
(c) अधिगम की कठिनाइयों व समस्या वाले क्षेत्रों का पता लगाना
(d) उत्पादक जीवन जीने के लिए शिक्षा किस सीमा तक तैयार कर पाई है‚ का पुष्टिपोषण प्रदान करना।
Ans: (d)


18. मूल्यांकन का उद्देश्य है−
(a
) बच्चे को उत्तीर्ण/अनुत्तीर्ण घोषित करना
(b) बच्चा क्या सीखा है जानना
(c) बच्चे के सीखने में आई कठिनाइयों को जानना
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


19. मूल्यांकन प्रक्रिया के तीन महत्वपूर्ण बिन्दु हैं
(a
) उद्देश्य‚ अधिगम अनुभव व मूल्यांकन के उपकरण
(b) छात्र‚ अध्यापक व उद्देश्य
(c) छात्र‚ समाज व अधिगम के अनुभव
(d) छात्र‚परीक्षा व परिणाम
Ans: (a)


20. मूल्यांकन किया जाना चाहिए
(a
) मूल्यांकन से बच्चे पढ़ेंगे
(b) पता लगता है बच्चों की उपलब्धि का
(c) बच्चों के सीखने के स्तर का ज्ञान होता है
(d) शिक्षकों की उपलब्धि का पता लगता है।
Ans: (c)


21. आकलन उद्देश्यपूर्ण होता है यदि−
(a
) इससे विद्यार्थियों और शिक्षकों को प्रतिपुष्टि (फीडबैक) प्राप्त हो।
(b) यह केवल एक बार वर्ष के अंत में हो।
(c) विद्यार्थियों की उपलब्धियों में अंतर करने के लिए तुलनात्मक मूल्यांकन किया जाए।
(d) इससे विद्यार्थियों में भय और तनाव का संचार हो।
Ans : (a)


22. मूल्यांकन से अभिप्राय है−
(a
) छात्रों की आवश्यकता का पता लगाना
(b) छात्रों की बुद्धि का पता लगाना
(c) छात्रों के अधिगम की सफलता व असफलता का अध्ययन करना
(d) स्वास्थ्य परीक्षण करना।
Ans : (c)


23. अधिगम में आकलन किस लिए आवश्यक होता है?
(a
) ग्रेड एवं अंकों के लिए
(b) जाँच परीक्षण के लिए
(c) प्रेरणा के लिए
(d) पृथक्करण और श्रेणीकरण के उद्देश्य को प्रोत्साहन देने के लिए
Ans : (c)


24. निम्नलिखित में से कौन−सा आकलन करने का सर्वाधिक उपयुक्त तरीका है?
(a
) आकलन शिक्षण−अधिगम में अन्तर्निहित प्रक्रिया है
(b) आकलन एक शैक्षणिक सत्र में दो बार करना चाहिए− शुरु में और अन्त में
(c) आकलन शिक्षक के द्वारा नहीं बल्कि किसी बाह्य एजेन्सी के द्वारा कराना चाहिए
(d) आकलन सत्र की समाप्ति पर करना चाहिए
Ans : (a)


25. शैक्षिक विकास में मूल्यांकन का अर्थ है
(a
) छात्रों की प्रगति का आकलन
(b) कक्षा अभिलेखों का मूल्यांकन
(c) कार्य निष्पादन का मूल्यांकन
(d) ज्ञान क्षमता का मूल्यांकन
Ans : (a)


26. आकलन शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया का अभिन्न अंग है क्योंकि:
(a
) आकलन से अध्यापक बच्चों के अधिगम को समझता है और उससे अपने शिक्षण की प्रतिपुष्टि भी करता है।
(b) आकलन ही एकमात्र तरीका है जो आश्वस्त करता है कि शिक्षकों ने पढ़ाया और बच्चों ने सीखा।
(c) आज के समय में केवल अंक ही शिक्षा में महत्त्वपूर्ण हैं।
(d) बच्चों को अंक दिए जाने चाहिए ताकि वे समझ सकें कि अपने सहपाठियों की तुलना में कहाँ पर हैं।
Ans: (a)


27. मूल्यांकन (assessment) का मुख्य उद्देश्य होना चाहिए –
(a) यह निर्णय लेना कि क्या विद्यार्थी को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया जाना चाहिए
(b) सीखने में होने वाली कमियों का निदान और उपचार करना
(c) शिक्षार्थियों की त्रुटियाँ निकालना
(d) शिक्षार्थियों की उपलब्धि को मापना
Ans: (b)


28. निम्नलिखित में से कौन-सा ब्लूम के पुनर्संशोधित वर्गीकरण में ‘मूल्यांकन’ (evaluating) के क्षेत्र को प्रदर्शित करता है?
(a) आँकड़ों का प्रयोग करते हुए ग्राफ (graph) अथवा चार्ट (chart) का निर्माण करना
(b) एक समाधान की तार्किक सुसंगतता का परीक्षण करना
(c) प्रदत्त आँकड़ों की प्रासंगिकता का मूल्यांकन करना
(d) वस्तुओं के श्रेणीकरण हेतु एक नूतन पद्धति का निर्माण करना
Ans: (b)


29. अर्जित ज्ञान का परीक्षण करने के लिए कौन-सी विधि है
(a
) आकलन विधि (b) प्रोजेक्ट विधि
(c) प्रश्नोत्तर उत्तरोत्तर विधि (d) अवलोकनात्मक विधि
Ans. (a)


30. योगात्मक मूल्यांकन का उद्देश्य है−
(a
) समय विशेष एवं विभिन्न कार्यों पर एक विद्यार्थी ने कितना अच्छा निष्पादित किया है‚ का पता लगाना
(b) अधिगम को सुगम बनाना व ग्रेड न प्रदान करना
(c) ऐसे विद्यार्थी का पता लगाना जो अपने साथियों के समकक्ष सम्प्राप्ति में कठिनाई अनुभव कर रहा है
(d) अगली इकाई के अनुदेशन से पूर्व प्रगति का पता लगाना।
Ans: (a)


31. निम्नलिखित में से कौन-सा अधिगम के आकलन को उजागर करता है?
(a
) शिक्षक किसी विद्यार्थी के निष्पादन का आकलन दूसरों के निष्पादन की तुलना में करता है।
(b) शिक्षक विद्यार्थियों की चिंतन प्रक्रियाओं पर ध्यान देने के अलावा उनकी अवधारणात्मक समझ का भी आकलन करता है।
(c) शिक्षक ‘मानक’ उत्तरों से विद्यार्थियों के उत्तरों की तुलना करके उनका आकलन करता है।
(d) शिक्षक पाठ्य-पुस्तकों में दी गई जानकारी के आधार पर विद्यार्थियों का आकलन करता है।
Ans : (b)


32. क्रिस्टीना अपनी कक्षा को क्षेत्र-भ्रमण पर ले जाती है और वापस आने पर अपने विद्यार्थियों के साथ भ्रमण पर चर्चा करती है। यह ….. की ओर संकेत करता है।
(a
) आकलन के लिए सीखना
(b) आकलन का सीखना
(c) सीखने का आकलन (Assessment)
(d) सीखने के लिए आकलन
Ans: (c)


३३. जब सेमेस्टर के अंत में परीक्षण दिए जाते हैं‚ तो इसे जाना जाता है−
(a
) सारांशित आकलन (b) नैदानिक आकलन
(c) अंतरिम आकलन (d) रचनात्मक आकलन
Ans : (a)


34. बेंचमार्क ऑकलन को यह भी कहा जाता है :
(a
) योगात्मक आकलन (b) निदानात्मक आकलन
(c) अंतरिम आकलन (d) निर्माणात्मक आकलन
Ans. (c)


35. शिक्षक सीखने के लिए मूल्यांकन और सीखने के मूल्यांकन दोनों का उपयोग कर सकते हैं−
(a
) बच्चों की प्रगति और उपलब्धि स्तर को जानने में
(b) बच्चे की सीखने की जरूरतों को जानने में और तदनुसार शिक्षण रणनीति का चयन करने में
(c) आवधिक अंतरालों पर बच्चे के प्रदर्शन का आकलन करने और उसके प्रदर्शन को प्रमाणित करने में
(d) बच्चों की प्रगति की निगरानी करने और उनके सीखने के अंतराल को भरने के लिए उचित लक्ष्य निर्धारित करने में
Ans. (b)


36. कक्षा नायक (उपदेशक) द्वारा प्रयुक्त मूल्यांकन का प्रकार जो अनुदेशन के समय सीखने के विकास में किया जाता है‚ कहलाता है
(a
) नैदानिक मूल्यांकन (b) फॉर्मेटिव मूल्यांकन
(c) प्लेसमेन्ट मूल्यांकन (d) संकलित मूल्यांकन
Ans: (b)


37. निर्माणात्मक मूल्यांकन का उद्देश्य है
(a
) प्रगति पर गौर करना एवं उपचारात्मक अनुदेशन की योजना बनाना
(b) विद्यार्थियों की समझ का पता लगाना
(c) अध्यापक के उद्देश्यों की पूर्ति का पता लगाना
(d) ग्रेड्स प्रदान कराना।
Ans: (a)


38. निम्नलिखित में से कौन−सा कथन सत्य है?
(a
) रचनात्मक आकलन का मुख्य उद्देश्य है विद्यार्थियों की उपलब्धि का श्रेणीकरण
(b) रचनात्मक आकलन समय−समय पर शिक्षार्थियों के विकास का सार प्रस्तुत करता है
(c) रचनात्मक आकलन कभी−कभी संकलनात्मक हो सकता है एवं इसी प्रकार विपरीत
(d) संकलनात्मक आकलन से अभिप्राय है कि आकलन अधिगम का एक निरन्तर व अभिन्न अंग है।
Ans : (c)


39. जब एक बावर्ची खाना पकाते समय खाने को चखता है तो वह ………………. के समान है।
(a
) सीखने का आकलन
(b) सीखने के लिए आकलन
(c) सीखने के रूप में आकलन
(d) आकलन और सीखना
Ans : (b)


40. …………… के अतिरिक्त निम्नलिखित सभी सीखने के रूप में आकलन को बढ़ावा देते हैं
(a
) शिक्षार्थियों को आंतरिक पृष्ठपोषण लेने के लिए कहना
(b) अवसर लेने हेतु शिक्षार्थियों के लिए एक सुरक्षित वातावरण का निर्माण करना
(c) पढ़ाए गए विषय पर मनन करने के लिए शिक्षार्थियों को कहना
(d) जितनी संभावना हो शिक्षार्थियों को लगातार परीक्षण लेना
Ans : (d)


41. सीखने के लिए आकलन
(a
) अभिप्रेरणा को बढ़ावा देता है
(b) अलग करने और रैंक देने के प्रयोजन के लिए किया जाता है
(c) ग्रेड्स को पूरी तरह से महत्त्व देने पर बल देता है
(d) विशिष्ट होता है और अपने आप में की गई आकलन गतिविधि है
Ans : (a)


42. निम्नलिखित में से कौन−सा एक उपयुक्त रचनात्मक आकलन कार्य नहीं है?
(a
) खुले अन्त वाले प्रश्न
(b) परियोजना
(c) अवलोकन
(d) विद्यार्थियों का योग्यता क्रम निर्धारित करना
Ans : (d)


43. शिक्षण में अध्यापकों के द्वारा विद्यार्थियों का आकलन इस अन्तर्दृष्टि को विकसित करने के लिए किया जा सकता है :
(a
) उन विद्यार्थियों की पहचान करना जिन्हें उच्चतर कक्षा में प्रोन्नत करना है
(b) उन विद्यार्थियों को प्रोन्नत न करना जो विद्यालय के स्तर के अनुकूल नहीं है
(c) शिक्षार्थियों की आवश्यकता के अनुसार शिक्षण उपागम में परिवर्तन करना
(d) कक्षा में ‘प्रतिभाशाली’ तथा ‘कमजोर’ विद्यार्थियों के समूह बनाना
Ans: (c)


44. एक शिक्षक कक्षा के कार्य को एकत्र करता है और उन्हें पढ़ता है‚ उसके बाद योजना बनाता है और अपने अगले पाठ को शिक्षार्थियों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए समायोजित करता है। वह………..कर रहा/रही है।
(a
) सीखने के रूप में आकलन
(b) सीखने के लिए आकलन
(c) सीखने के समय आकलन
(d) सीखने का आकलन
Ans: (b)


45. एक अध्यापक/अध्यापिका विद्यार्थियों को किसी विषय की अपनी अवबोधनात्मकता को प्रतिबिम्बित करते हुए संकल्पनात्मक मानचित्र (concept map) का निर्माण करने को कहना/कहता है। वह –
(a) विद्यार्थियों की स्मृतियों को मंथर गति से जागृत कर रहा/रही है
(b) रचनात्मक आकलन कर रहा/रही है
(c) छात्रों की मुख्य बिन्दुओं का सार लेखन की क्षमता का परीक्षण कर रहा/रही है
(d) छात्रों की उपलब्धि के मूल्यांकन हेतु शीर्षकों (rubrics) के विकास का प्रयास कर रहा/रही है
Ans: (b)


46. सीखने के लिए आकलन निम्नलिखित का ध्यान रखता है सिवाय
(a
) विद्यार्थियों की क्षमताएँ (b) विद्यार्थियों की आवश्यकताएँ
(c) विद्यार्थियों की त्रुटियाँ (d) विद्यार्थियों की अधिगम-शैलियाँ
Ans: (b)


47. सीखने …… आकलन‚ आकलन और अनुदेशन के बीच …… के दृढ़ीकरण द्वारा सीखने को प्रभावित करता है।
(a
) का; अंतर (b) का; भिन्नता
(c) के लिए; सम्बन्धों (d) के लिए; अंतर
Ans: (c)


48. निम्नलिखित में से कौन-सा रचनात्मक आकलन (Formative Assessment) के लिए उचित उपकरण नहीं है?
(a) सत्र परीक्षा (b) प्रश्नोत्तरी और खेल
(c) दत्त कार्य (d) मौखिक प्रश्न
Ans: (a)


49. छात्रों के अधिगम के परिणाम के विषय में आकलन को ___ मूल्यांकन के रूप में जाना जाता है।
(a
) नैदानिक (b) बेंचमार्क
(c) रचनात्मक (d) उपचारात्मक
Ans. (d)


50. अधिगम के लिए एक प्रारंभिक ऑकलन का प्राथमिक ध्येय होना चाहिए :
(a
) बच्चे की कक्षा में उपस्थिति की जाँच करना
(b) स्मरण शक्ति कौशल की जाँच करना
(c) लेखन कला को सुधारने में मदद करना
(d) अधिगम में अंतराल को समझना
Ans. (d)


51. बाल−केंद्रित शिक्षा में आम तौर पर निम्न शामिल होता है-
(a
) तुरंत या मौके पर मूल्यांकन
(b) कोई मूल्यांकन नहीं
(c) अधिक योगात्मक मूल्यांकन
(d) अधिक रचनात्मक मूल्यांकन
Ans. (d)


52. राउंड रोबिन चार्ट……… के रूप में प्रयुक्त किए जाते हैं।
(a
) योगात्मक ऑकलन (b) निदानात्मक ऑकलन
(c) अंतरिम ऑकलन (d) रचनात्मक ऑकलन
Ans. (d)


53. अधिगम के लिए आंकलन में शामिल है:
(a
) कुछ मानदंडों के अनुसार सफलता के विभिन्न स्तरों पर उदाहरण को साझा करना
(b) छात्रों के काम के विपरीत ग्रेड या अंकन प्रदान करना
(c) योगात्मक मूल्यांकन का योगात्मक उपयोग
(d) परीक्षण और परीक्षा का उपयोग
Ans. (a)


54. अधिगमकर्ताओं की उपलब्धि का आकलन शिक्षकों की सहायता करता है−
(a
) अधिगमकर्ताओं के प्रदर्शन का रिकॉर्ड रखने में
(b) शिक्षण−अधिगम विधियों की प्रभावशीलता का मूल्यांकन करने में
(c) कक्षाओं में अधिगमकर्ताओं के क्षमता समूह बनाने में
(d) शिक्षण के लिए गतिविधियों की सूची तैयार करने में
Ans. (b)


55. विद्यार्थियों की उपलब्धि का मूल्यांकन करने के लिए शालाओं में उपयोग में आने वाली विधियाँ हैं-
(a
) परिमाणात्मक एवं निरीक्षण विधि
(b) परिमाणात्मक एवं गुणात्मक विधि
(c) गुणात्मक एवं साक्षात्कार विधि
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans: (b)


56. विद्यालय आधारित आकलन मुख्य रूप से किस सिद्धांत पर आधारित होता है?
(a
) आकलन बहुत किफायती (मितव्ययी) होना चाहिए
(b) बाह्य परीक्षकों की अपेक्षा शिक्षक अपने शिक्षार्थियों की क्षमताओं को बेहतर जानते हैं
(c) किसी भी कीमत पर विद्यार्थियों को अच्छे ग्रेड मिलने चाहिए
(d) विद्यालय‚ बाह्य परीक्षा निकायों की अपेक्षा ज्यादा सक्षम हैं
Ans : (b)


57. विद्यालय आधारित आकलन
(a
) परिणामों की अपेक्षा तकनीकों पर केन्द्रित है
(b) क्या आकलित किया जाएगा− इस पर शिक्षार्थियों को कम नियंत्रण प्रदान करता है
(c) रचनात्मक प्रतिपुष्टि उपलब्ध कराते हुए सीखने में संवद्र्धन करता है
(d) परीक्षा के लिए शिक्षण को बढ़ावा देता है क्योंकि उसमें निरन्तर परीक्षण होता है
Ans : (c)


58. वे शिक्षक जो विद्यालय आधारित आकलन के अंतर्गत कार्य करते हैं-
(a
) उन्हें प्रत्येक शिक्षार्थी को प्रत्येक विषय में परियोजना कार्य देना पड़ता है।
(b) शिक्षार्थियों के मूल्यों और अभिवृत्तियों का आकलन करने के लिए रोजाना उनका सूक्ष्म अवलोकन करते हैं।
(c) व्यवस्था के लिए स्वामित्व की भावना रखते हैं।
(d) उन पर अधिक कार्य का बोझ रहता है‚ क्योंकि उन्हें सोमवार की परीक्षा सहित अक्सर परीक्षा लेनी पड़ती है।
Ans: (c)


59. विद्यालय आधारित आकलन−
(a
) शिक्षार्थियों और शिक्षकों को अगंभीर और लापरवाह बनाता है।
(b) शिक्षा-बोर्ड की जवाबदेही कम कर देता है।
(c) सार्वभौमिक राष्ट्रीय मानकों की प्राप्ति में बाधा उत्पन्न करता है।
(d) परिचित वातावरण में अधिक सीखने में सभी शिक्षार्थियों की मदद करता है।
Ans: (d)


60. सहयोगी अधिगम में‚ यह बेहतर है कि छात्र ……….. के माध्यम से जाएं।
(a
) स्वत: आंकलन (b) रचनात्मक आंकलन
(c) साथी आंकलन (d) योगात्मक आंकलन
Ans. (c)


61. निम्नलिखित में से कौन-सा सतत और व्यापक मूल्यांकन से संबंधित नहीं है?
(a
) इसे भारत के शिक्षा के अधिकार अधिनियम द्वारा अनिवार्य किया गया है।
(b) यह शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया का एक अभिन्न अंग है।
(c) यह विभिन्न शिक्षा-क्षेत्रों में बच्चे की उपलब्धि पर केंद्रित है।
(d) यह बच्चों को धीमे‚ खराब या बुद्धिमान के रूप में चिह्नित करने में उपयोगी होता है।
Ans. (d)


62. किसी बच्चे का विद्यालय के मैदान में खेलते हुए निरीक्षण करना‚ किस प्रकार का निरीक्षण है?
(a
) औपचारिक (b) अनौपचारिक
(c) सहभागी (d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (b)


63. सतत् एवं समग्र मूल्यांकन में क्या शामिल है?
(a
) केवल संकलनात्मक आकलन
(b) न तो संरचनात्मक न ही संकलनात्मक आकलन
(c) विविध प्रकार की रणनीतियों का प्रयोग करते हुए दोनों संरचनात्मक एवं संकलनात्मक आकलन का प्रयोग करना।
(d) केवल संरचनात्मक आकलन
Ans. (c)


64. अधिकतर बच्चों ने अंग्रेजी के परीक्षण में कम ग्रेड हासिल किए अध्यापक उनके कम ग्रेड के लिए क्या करेगा।
(a
) निदानात्मक मूल्यांकन (b) निपुणता परीक्षण
(c) उपलब्धि परीक्षण (d) अभिक्षमता परीक्षण
Ans. (a)


65. निम्न में से कौन सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन (सी.सी.ई.) का भाग नहीं हो सकता है?
(a
) संचित अभिलेख (b) दत्त कार्य
(c) अभिभावक-शिक्षक बैठक (d) एनेकडॉटल रिकार्ड
Ans: (a)


66. निम्नलिखित में से कौन सा कथन सतत् व व्यापक मूल्यांकन के लिए सही नहीं है?
(a
) यह एक विद्यालय आधारित मूल्यांकन है
(b) यह विद्यार्थियों में तनाव को कम करता है
(c) इसमें नम्बरों के स्थान पर ग्रेड का प्रयोग होता है
(d) इससे शिक्षकों पर बोझ बढ़ जाता है
Ans: (d)


67. पद ‘व्यापक मूल्यांकन’ का तात्पर्य है
(a
) अलग-अलग समय किया जाने वाला मूल्यांकन
(b) अध्यापकों के एक समूह द्वारा किया जाने वाला मूल्यांकन
(c) लंबी अवधि के कई टेस्ट
(d) विद्यार्थी की संवृद्धि के शैक्षणिक व सहशैक्षणिक आयामों का मूल्यांकन
Ans: (d)


68. CCE में‚ औपचारिक और योग्यात्मक निर्धारण का कुल मूल्य होता है
(a
) क्रमश: 40% और 60% (b) क्रमश: 60% और 40%
(c) क्रमश: 50% और 50% (d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (a)


69. परीक्षा के स्थान पर सतत् और व्यापक मूल्यांकन गुणवत्ता मूलक शिक्षा के लिए अधिक उपयुक्त है‚ क्योंकि इसमें :
(a
) संज्ञानात्मक क्षेत्र का मूल्यांकन किया जाता है।
(b) सहसंज्ञानात्मक क्षेत्र का मूल्यांकन किया जाता है।
(c) मूल्यांकन सतत् एवं व्यापक क्षेत्रों का होता है।
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


70. सतत् व्यापक मूल्यांकन में ‘व्यापक’ शब्द का अभिप्राय है
(a
) संज्ञानात्मक (b) सह-संज्ञानात्मक
(c) (a) और (b) दोनों (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (c)


71. सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन से तात्पर्य है
(a
) नियमित रूप से मासिक परीक्षा लेना
(b) सीखने की प्रक्रिया के दौरान शैक्षिक एवं सह-शैक्षिक क्षेत्रों की नियमित रूप से आकलित करना
(c) नियमित रूप से कक्षा में गतिविधियाँ आयोजित करना
(d) अंक या ग्रेड प्रदान करना
Ans: (b)


72. बच्चों को सीखने-सिखाने की प्रक्रिया के दौरान‚ वे उस कार्य को किस प्रकार से कर रहे हैं‚ इसकी जानकारी इन्हें
(a
) कार्य समाप्त होने के पश्चात् दी जानी चाहिए
(b) कार्य करते समय सतत् रूप से दी जानी चाहिए
(c) कार्य के बीच में एक बार दी जानी चाहिए
(d) इसकी कोई आवश्यकता नहीं है
Ans: (b)


73. सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन में‚ व्यापक मूल्यांकन शब्दावली का तात्पर्य है−
(a
) सभी विषयों का मूल्यांकन
(b) सह−शैक्षिक क्षेत्र का मूल्यांकन
(c) शैक्षिक एवं सह−शैक्षिक क्षेत्र का मूल्यांकन
(d) शैक्षिक क्षेत्र का मूल्यांकन
Ans : (c)


74. बच्चों का मूल्यांकन होना चाहिए−
(a
) बोर्ड परीक्षा द्वारा
(b) सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन द्वारा
(c) गृह परीक्षा द्वारा
(d) लिखित एवं मौखिक परीक्षा द्वारा
Ans : (b)


75. निम्नलिखित में से कौन−सी आकलन पद्धति विद्यार्थियों की सर्वोत्तम क्षमता को पोषित करेगी?
(a
) जब विद्यार्थियों को बहुविकल्पीय प्रश्नों के माध्यम से किए गए परीक्षण के रूप में तथ्यों को दोहराने की आवश्यकता होती है
(b) जब परीक्षा के अंकों और विद्यार्थियों की योग्यता के बीच सकारात्मक सह−सम्बन्ध पर बल दिया जाता है
(c) जब संकल्पनात्मक परिवर्तन तथा विद्यार्थियों के वैकल्पिक समाधानों को आकलन की विभिनन विधियों के द्वारा आकलित किया जाता है
(d) जब कक्षा में विद्यार्थी के द्वारा प्राप्त किए गए अंक और स्थान सफलता का एकमात्र निर्धारक होते हैं
Ans : (c)


76. सतत एवं व्यापक मूल्यांकन किस लिए आवश्यक है?
(a
) शिक्षण के साथ परीक्षण का तालमेल बैठाने के लिए
(b) शिक्षा बोर्ड की जवाबदेही कम करने के लिए
(c) जल्दी-जल्दी की जाने वाली गलतियों को सुधारना
(d) यह समझने के लिए कि अधिगम का किस प्रकार अवलोकन किया जाता है‚ दर्ज किया जाता है व सुधार किया जा सकता है।
Ans: (d)


77. सतत् और व्यापक मूल्यांकन —– पर बल देता है।
(a
) बोर्ड परीक्षाओं की अनावश्यकता पर
(b) सीखने को सुनिश्चित करने के लिए व्यापक स्केल पर निरंतर परीक्षण
(c) सीखने को किस प्रकार अवलोकित‚रिकॉर्ड और सुधारा जाए इस पर
(d) शिक्षण के साथ परीक्षाओं का सामंजस्य
Ans: (c)


78. आकलन को ‘उपयोगी और रोचक’ प्रक्रिया बनाने के लिए —-के प्रति सचेत होना चाहिए।
(a
) विद्यार्थियों को बुद्धिमान या औसत शिक्षार्थी की उपाधि देना
(b) शैक्षिक और सह-शैक्षिक क्षेत्रों में विद्यार्थी के सीखने के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए विविध तरीकों को प्रयोग करना
(c) प्रतिपुष्टि (फीडबैक) देने के लिए तकनीकी भाषा का प्रयोग करना
(d) अलग-अलग विद्यार्थियों में तुलना करना
Ans: (b)


79. सतत् और व्यापक मूल्यांकन की योजना में ‘व्यापक’ शब्द ….. के अलावा निम्नलिखित के द्वारा समर्थित किया जाता है।
(a
) जे. पी. गिलफोर्ड का बुद्धि-संरचना का सिद्धान्त
(b) एल. एल. थस्टर्न का प्राथमिक मानसिक योग्यताओं का सिद्धान्त
(c) बहुबुद्धि सिद्धान्त
(d) सूचना प्रक्रमण सिद्धान्त
Ans: (a)


80. सतत् एवं व्यापक मूल्यांकन के लिए निम्नलिखित में क्या मात्रात्मक पूर्वापेक्षा का हिस्सा नही हैं?
(a
) कक्षाएं (b) विद्यालय
(c) शिक्षक (d) पाठ्यक्रम
Ans. (d)


81. विद्यालयी क्षेत्र में रचनात्मक निर्धारकों को जानने के लिए इनमें से कौन-सा उपागम नहीं है?
(a
) वार्तालाप कौशल (b) बहुविकल्पीय प्रश्न
(c) परियोजना कार्य (d) मौखिक प्रश्न
Ans: (b)


82. निम्नलिखित में से कौन-सा प्रश्नावली विधि का दोष नहीं है?
(a
) अच्छे प्रश्न बनाना एक कठिन कार्य है।
(b) इस विधि से अनेक व्यक्तियों के विचार जाने जा सकते हैं।
(c) हो सकता है कि सम्मिलित प्रश्न सुनियोजित न हों।
(d) हो सकता है कि लोग प्रश्नों के उत्तर‚ देने में रुचि न रखते हों।
Ans: (b)


83. रचनात्मक उत्तरों के लिए चाहिए−
(a
) मुक्त उत्तरीय प्रश्न (b) तथ्यपरक प्रश्न
(c) सीमित उत्तर वाले प्रश्न (d) प्रत्यक्ष प्रश्न
Ans: (a)


84. सर्वाधिक प्रभावी मूल्यांकन पद्धति है
(a
) वार्षिक परीक्षा प्रणाली (b) सपुस्तक परीक्षा प्रणाली
(c) सेमेस्टर प्रणाली (d) वस्तुनिष्ठ प्रश्नपत्र पद्धति
Ans: (d)


85. निबन्धात्मक प्रश्नों के लिए निम्नलिखित में से कौन सबसे अच्छा विकल्प है?
(a
) न्यूटन के गति के नियम की चर्चा करे।
(b) न्यूटन के गति के तीनों नियमों की व्याख्या करें।
(c) न्यूटन के गति का नियम क्या है?
(d) न्यूटन के गति के नियम पर एक लेख लिखें।
Ans: (d)


86. निम्न में से वस्तुनिष्ठ परीक्षणों के गुण के सम्बन्ध में सही कथन है
I. इनका अंकन शीघ्रता एवं सुगमता से किया जा सकता है II. ये परीक्षकों के व्यक्तिगत प्रभाव से प्रभावित नहीं होते हैं। III. वस्तुनिष्ठता के कारण ये अधिक विश्वसनीय एवं वैध होते हैं। IV. उपरोक्त में से कोई नहीं
(a
) केवल I (b) I, II एवं III
(c) केवल IV (d) II एवं III
Ans (b)


87. परीक्षा में विद्यार्थियों से किस प्रकार के प्रश्न पूछने चाहिए?
(a
) स्मृति एवं समझ आधारित
(b) वस्तुनिष्ठ एवं विषयगत
(c) समझ एवं अनुप्रयोग आधारित
(d) केवल वस्तुनिष्ठ
Ans : (c)


88. बहुविकल्पी प्रश्न बच्चों ………….. की योग्यता का आकलन करते हैं।
(a
) सही उत्तर का निर्माण करना
(b) सही उत्तर की व्याख्या करना
(c) सही उत्तर की पहचान करना
(d) सही उत्तर का प्रत्यास्मरण करना
Ans : (c)


89. किस प्रकार के प्रश्नों को वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की श्रेणी में रखा जाता है?
(a
) लघुउत्तरात्मक प्रश्न (b) मुक्त उत्तर वाला प्रश्न
(c) सत्य या असत्य (d) निबंधात्मक प्रश्न
Ans: (c)


90. विद्यार्थियों से प्रतिक्रिया प्राप्त करने का आदर्श ‘प्रतीक्षा समय’ …… के सही अनुपात में होना चाहिए।
(a
) पिछले पाठों के प्रश्नों का उत्तर देने के लिए विद्यार्थियों द्वारा लिया गया समय
(b) वास्तविक जीवन में प्रश्न की प्रासंगिकता
(c) पाठ्यचर्या में प्रकरण विशेष के लिए आवंटित समय
(d) प्रश्न का कठिनाई स्तर
Ans: (d)


91. सृजनात्मक उत्तरों के लिए आवश्यक है –
(a
) मुक्त-उत्तर वाले प्रश्न
(b) एक अत्यंत अनुशासित कक्षा
(c) प्रत्यक्ष शिक्षण एवं प्रत्यक्ष प्रश्न
(d) विषय-वस्तु आधारित प्रश्न
Ans: (a)


92. दबाव को कम करने एवं परीक्षाओं में सफलता के लिए आवश्यक है
(a
) कम अवधि की परीक्षाओं में अंतरण
(b) विद्यालयी शिक्षा की विभिन्न चरणों में परीक्षाओं का आयोजन
(c) वार्षिक एवं अद्र्धवार्षिक परीक्षायें
(d) विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं के लिए विभिन्न एजेन्सियों की स्थापना।
Ans: (a)


93. जैक गणित में एक कमजोर छात्र है। निम्नलिखित में से कौन सा परीक्षण उपरोक्त कथन का सर्वोत्तम समर्थन करता है?
(a
) बुद्धि परीक्षण (b) अभिवृत्ति परीक्षण
(c) उपलब्धि परीक्षण (d) कौशल आधारित परीक्षण
Ans. (c)


94. प्रमापीकृत परीक्षण क्यों कराए जाते हैं?
(a
) मन्द बुद्धि बालकों की पहचान के लिए
(b) प्रतिभाशाली बालकों की पहचान के लिए
(c) पिछड़े बालकों की पहचान के लिए
(d) बहरे बालकों की पहचान के लिए
Ans: (b)


95. एक प्रमाणीकृत पठन परीक्षण लेने के लिए पाँचवीं कक्षा को प्रस्तुत करने में शिक्षक को अधिकाधिक परामर्श दिया जाता है कि
(a
) बच्चों को बोलना कि परीक्षण बहुत महत्वपूर्ण है तथा वह उसमें अच्छा प्रदर्शन करेगा
(b) पूर्ववर्ती परीक्षा से प्रधान प्रश्नों को चिन्ह्रित करना एवं छात्रों को उन्हें उत्तर देने की अनुमति देना
(c) निम्न कोटि के पाठकों को प्रशिक्षण देना ताकि कक्षा के शेष बच्चे किसी भी तरीके से अच्छा करें।
(d) परीक्षण में आने वाले समान प्रकार के प्रश्नों के उत्तर देने के लिए छात्रों को अभ्यास कराना
Ans : (d)


96. मानकीकृत परीक्षणों की आलोचनाओं में से एक यह है कि−
(a
) मुख्य रूप से मुख्यधारा की संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हैं और इसलिए पक्षपाती हैं
(b) उनकी भाषा को समझना मुश्किल है
(c) परीक्षण बड़ी आबादी पर लागू नहीं किए जा सकते हैं
(d) वे बच्चे की क्षमता की स्पष्ट तस्वीर नहीं देते हैं
Ans. (a)


97. कौन सा मूल्यांकन पूर्व निर्धारित मानकों के एक निश्चित सेट के विरुद्ध छात्र के प्रदर्शन को मापता है?
(a
) सामान्य-संदर्भित आंकलन
(b) मानदंड-संदर्भित आंकलन
(c) नैदानिक आंकलन
(d) उपलब्धि का आंकलन
Ans. (b)


98. एक परीक्षण तैयार करने के बाद‚ एक शिक्षक प्राप्तांकों की निरन्तरता को जाँचने के लिये एक ही आयु वर्ग के बच्चों पर प्रशासित करता है। वह निम्न को जाँचना चाह रहा है
(a
) वैधता (b) विश्वसनीयता
(c) वस्तुनिष्ठता (d) उपयोगिता
Ans: (b)


99. एक शिक्षक प्रश्न-पत्र बनाने के बाद‚ यह जाँच करता है कि क्या प्रश्न परीक्षण के विशिष्ट उद्देश्यों की परीक्षा ले रहे हैं। वह मुख्य रूप से प्रश्न-पत्र की/के ………….. बारे में चिंतित है।
(a
) सम्पूर्ण विषय-वस्तु को शामिल करने
(b) प्रश्नों के प्रकार
(c) विश्वसनीयता
(d) वैधता
Ans: (d)


100. निम्न में से कौन-सा एक उत्तम परीक्षण की विशेषताओं से भिन्न है?
(a
) विश्वसनीयता (b) वैधता
(c) वस्तुनिष्ठता (d) अभिक्षमता
Ans : (d)


101. यदि उन्हीं छात्रों को वही परिणाम लगातार प्राप्त होता है तो यह एक ………….. आकलन है
(a
) वैध (b) अवैध
(c) विश्वसनीय (d) अविश्वसनीय
Ans. (c)


102. यह एक ………… आकलन है जिनमें से एक मापन के लिए अभिप्रेत है।
(a
) वैध (b) अवैध
(c) विश्वसनीय (d) अविश्वसनीय
Ans. (a)


103. निम्न में से कौन-सा लक्षण किसी मापक उपकरण के लिए सर्वाधिक वांछनीय है?
(a
) विश्वसनीयता (b) वैधता
(c) वस्तुनिष्ठता (d) मानक
Ans : (b)


104. विभेदकारी परीक्षण अन्तर करता है-
(a
) कमजोर विद्यार्थियों में (b) सामान्य विद्यार्थियों में
(c) प्रतिभाशाली विद्यार्थियों में (d) उपर्युक्त सभी
Ans: (d)


105. निम्नलिखित में से कौन सी मूल्यांकन की प्रविधि है?
(a
) प्रश्नावली (b) साक्षात्कार
(c) मत सूची (d) ये सभी
Ans: (d)


106. एक उच्च प्राथमिक विद्यालय के संरचनात्मक कक्षा− कक्ष में अपने स्वयं के आकलन में विद्यार्थियों की भूमिका में निम्नलिखित में से क्या देखा जाएगा?
(a
) एक विस्तृत दिशा-निर्देश बनाना कि किस प्रकार से विद्यार्थियों की उपलब्धि तथा कक्षा में प्रतिष्ठा को अंको के साथ सह−सम्बद्ध किया जाएगा
(b) शिक्षण अधिगम में आकलन की भूमिका को नकारना
(c) विद्यार्थी अपने आकलन के एकमात्र निर्धारक होंगे
(d) विद्यार्थी अध्यापक के साथ आकलन के लिए योजना बनाएंगे
Ans : (d)


107. केवल कागज-पेंसिल जाँचो द्वारा आंकलन
(a
) आकलन को सीमित कर देता है
(b) सकल आकलन को बढ़ावा देता है
(c) समग्र मूल्यांकन को सुविधा प्रदान करता है
(d) निरंतर मूल्यांकन को सुविधा प्रदान करता है
Ans : (a)


108. ‘अधिगमकर्ता का स्व-नियमन’ का क्या अर्थ है?
(a
) विद्यार्थी निकाय द्वारा बनाए गए नियम एवं विनियम
(b) विद्यार्थियों के व्यवहार के लिए विनियमों का निर्माण करना
(c) स्व-अनुशासन और नियंत्रण
(d) अपने सीखने का स्वयं अनुवीक्षण करने की योग्यता
Ans: (d)


109. शिक्षार्थियों का ‘आत्म-नियम’…..की ओर संकेत करता है।
(a
) विद्यार्थी-निकाय द्वारा बनाए गए नियम-विनिमय
(b) स्व-अनुशासन और नियंत्रण
(c) अपने सीखने का स्वयं पर्यवेक्षण करने की उनकी योग्यता
(d) विद्यार्थियों के व्यवहार के लिए विनिमय बनाना
Ans: (c)


110. ‘समाजमिति तकनीक’ का प्रयोग किया जाता है−
(a
) आर्थिक स्तर की जाँच में (b) समाज के सर्वेक्षण में
(c) समाजीकरण की जाँच में (d) उपरोक्त सभी
Ans : (c)


111. कौन सा अभिलेख छात्रों की योग्यता‚ रूचि‚ क्षमताओं एवं प्रतिक्रियाओं की जाँच करने हेतु रखा जाता है? उत्तर: संचयी अभिलेख UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-विद्यालय में प्राय: छात्रों से सम्बन्धित विभिन्न सूचनाओं के क्रमबद्ध रूप से एकत्रित किया जाता है। छात्रों के अधिगम को निर्देशित व सुलभ बनाने के लिए जो अभिलेख या प्रपत्र तैयार किया जाता है उसे संचयी या उपाख्यानात्मक अभिलेख कहा जाता है। यह अभिलेख छात्रों की योग्यता‚ रूचि‚ क्षमताओं एवं प्रतिक्रियाओं की जाँच के लिए रखा जाता है।


112. छात्र की प्रयोगात्मक दक्षता के आकलन का यथोचित् रूप है
(a
) साक्षात्कार (b) अवलोकन
(c) प्रश्नावली (d) लिखित परीक्षा
Ans: (b)


113. कक्षा में शिक्षार्थियों से कहा गया है कि वे अपने समाज के लिए कर सकते हैं− इसे दर्शाने के लिए एक नोटबुक में अपने कार्य को विविध शिल्पकृतियों को संयोजित करें। यह किस प्रकार की गतिविधि है?
(a
) निबन्धात्मक आकलन (b) घटनावृत्त अभिलेख
(c) समस्या−समाधान आकलन (d) पोर्टफोलियों आकलन
Ans : (d)


114. विद्यार्थियों के पोर्टफोलियों के लिए सामग्री का चयन करते समय ___ का ___ जरूर होना चाहिए।
(a
) अन्य शिक्षकों; समावेशन (b) विद्यार्थियों; समावेशन
(c) अभिभावकों; समावेशन (d) विद्यार्थियों; बहिष्करण
Ans: (b)


115. …….. के अलावा निम्नलिखित घटना/वृत्तांत रिकॉर्ड की विशेषताएँ हैं।
(a
) यह पर्याप्त विस्तार से पूर्ण तथ्यात्मक प्रतिवेदन है
(b) यह व्यवहार का व्यक्तिनिष्ठ साक्ष्य है और इसलिए यह शैक्षणिक क्षेत्र के लिए प्रतिपुष्टि (फीडबैक) उपलब्ध नहीं कराता
(c) यह घटनाओं का सही वर्णन है
(d) यह बच्चे के व्यक्तिगत विकास अथवा सामाजिक अंत:क्रियाओं को वर्णित करता है
Ans: (b)


116. ग्रेडिंग‚ कोडिंग‚ अंकन और क्रेडिट संचय प्रणालियाँ ……………….. के कुछ उदाहरण हैं।
(a
) परीक्षा के उत्तर−पत्रों के मूल्यांकन की प्रक्रिया
(b) कक्षा में बच्चों की स्थिति की निरूपण विधि
(c) आलेख−पत्र (रिपोर्ट कार्ड) में अकादमिक प्रगति को दर्शाने
(d) अधिगमकर्ताओं की उपलब्धि के आकलन की गणन− विधि
Ans. (d)


117. ‘‘ग्रेड अंकों से कैसे अलग है?’’ यह प्रश्न निम्न में से किस प्रकार के प्रश्नों से सम्बन्ध रखता है?
(a
) विश्लेषणात्मक (b) मुक्त-अंत
(c) समस्या-समाधान (d) अपसारी
Ans: (a)


118. निम्नलिखित में से किसमें बुद्धि परीक्षण का उपयोग नहीं होता है?
(a
) छात्रवृत्ति के लिए छात्रों का चयन
(b) शिक्षक के प्रदर्शन का मूल्यांकन
(c) एक छात्र की ग्रेडिंग
(d) एक छात्र की सफलता का पूर्वानुमान करना
Ans. (c)


<
–nextpage–>

16. समावेशी शिक्षा की अवधारणा एवं विशेष आवश्यकता वाले बच्चों की समझ विशिष्ट बालक

1. विशिष्ट बालकों के अन्तर्गत निम्न में से कौन−सा बालक आता है?
(a
) पिछड़ा बालक (b) प्रतिभाशाली बालक
(c) मन्द बुद्धि बालक (d) ये सभी
Ans : (d)


2. निम्नलिखित में से कौन-सा विशिष्ट बालकों का प्रकार नहीं माना जाता है?
(a
) धीमी गति से सीखने वाले (b) सृजनशील बालक
(c) शारीरिक रुप से विकलांग (d) साधन-सम्पन्न बालक
Ans: (d)


3. ………यह विचारधारा है कि सभी बच्चों को एक नियमित विद्यालय व्यवस्था में समान शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार हो।
(a
) मुख्यधारा शिक्षा (b) विशेष शिक्षा
(c) बहुल-सांस्कृतिक शिक्षा (d) समावेशी शिक्षा
Ans : (d)


4. समावेशी शिक्षा से तात्पर्य है-
(a
) नियमित विद्यालयों में सभी प्रकार के बालकों का बिना किसी भेदभाव के स्वागत करना
(b) शिक्षण का एक विशेष तरीका‚ जिससे सभी बालक सीख सकें
(c) कड़ी दाखिला प्रक्रिया को बढ़ावा देना
(d) शिक्षण के लिए विशेष विद्यालयों का प्रयोग करना
Ans: (a)


5. शिक्षा में समावेशन का अर्थ है
(a
) शारीरिक अयोग्य बालकों को शिक्षा प्रदान करना
(b) मंदबुद्धि बालकों को शिक्षा प्रदान करना
(c) लड़के‚ लड़कियों व वयस्को को शिक्षा प्रदान करना
(d) सभी विद्यार्थियों को शिक्षा की मुख्य धारा प्रणाली में स्वीकारना
Ans: (d)


6. विशेष शिक्षा सम्बन्धित हैं
(a
) मेधावी छात्र के लिए शिक्षा से
(b) कम योग्य छात्रों के लिए शैक्षिक कार्यक्रम से
(c) शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम से
(d) पिछड़ी बुद्धि के छात्रों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम से
Ans: (b)


7. नि:शक्त बालकों की शिक्षा के लिए प्रावधान किया जा सकता है
(a
) समावेशित शिक्षा द्वारा (b) मुख्य धारा में डालकर
(c) समाकलन द्वारा (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


8. वर्तमान में नि:शक्त बच्चों की शिक्षा के लिए कहा गया है
(a
) समावेशी शिक्षा (b) विशेष शिक्षा
(c) समेकित शिक्षा (d) कोई नहीं
Ans: (a)


9. निम्नलिखित में से कौन−सा एक कथन ‘समावेशन’ का सबसे अच्छा वर्णन करता है?
(a
) यह एक विश्वास है कि बच्चों को अपनी योग्यताओं के अनुसार अलग किया जाना चाहिए
(b) यह एक विश्वास है कि कुछ बच्चे कभी कुछ सीख ही नहीं सकते
(c) यह एक दर्शन है कि सभी बच्चों को नियमित विद्यालय प्रणाली में समान शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार है
(d) यह एक दर्शन है कि विशेष बच्चे ‘ईश्वर के विशेष उपहार’ हैं
Ans : (c)


10. विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को शिक्षा उपलब्ध कराई जानी चाहिए
(a
) अन्य सामान्य बच्चों के साथ
(b) विशेष विद्यालयों में विशेष बच्चों के लिए विकसित पद्धतियों द्वारा
(c) विशेष विद्यालयों में
(d) विशेष विद्यालयों में विशेष शिक्षकों द्वारा
Ans : (a)


11. समावेशी शिक्षा
(a
) हाशिए पर स्थित वर्गों से शिक्षकों को सम्मिलित करने से सम्बन्धित है
(b) कक्षा में विविधता का उत्सव मनाती है
(c) दाखिले सम्बन्धी कठोर प्रक्रियाओं को बढ़ावा देती है
(d) तथ्यों की शिक्षा (मतारोपण) से सम्बन्ति है
Ans : (b)


12. समावेशी शिक्षा मानती है कि हमें …….को……. के अनुरूप बदलना है।
(a
) व्यवस्था/बच्चे (b) परिवेश/परिवार
(c) बच्चे/व्यवस्था (d) बच्चे/व्यवस्था
Ans : (a)


13. ‘सभी के लिए विद्यालयों में सभी की शिक्षा’ निम्नलिखित में से किसके लिए प्रचार वाक्य हो सकता है?
(a
) सशक्तिशील शिक्षा (b) समावेशी शिक्षा
(c) सहयोगात्मक शिक्षा (d) पृथक् शिक्षा
Ans : (b)


14. विशेष रूप से जरूरतमन्द बच्चों की शिक्षा का प्रबन्ध होना चाहिए−
(a
) दूसरे सामान्य बच्चों के साथ
(b) विशेष विद्यालयों में विशेष बच्चों के लिए विकसित विधियों द्वारा
(c) विशेष विद्यालयों में
(d) विशेष विद्यालयों में विशेष शिक्षकों द्वारा
Ans : (a)


15. समन्वित शिक्षा की सफलता निर्भर करती है−
(a
) समुदाय के समर्थन पर
(b) पाठयपुस्तकों की उत्कृष्टता पर
(c) शिक्षण-अधिगम वस्तु की गुणवत्ता पर
(d) शिक्षकों में अभिवृत्तिगत परिवर्तन पर
Ans : (d)


16. एक समावेशी कक्षा वह है‚ जहाँ –
(a
) तब तक आकलन की पुनरावृत्ति होती रहती है जब तक प्रत्येक अधिगमकर्ता न्यूनतम श्रेणी प्राप्त न कर ले
(b) विद्यार्थियों का भार कम करने के लिए अध्यापक केवल अनुमोदित पुस्तकों से ही पढ़ाते हैं
(c) समस्याओं का अधिकाधिक समाधान करने की सम्भावना की दृष्टि से बच्चों की सक्रिय भागीदारिता रहती है
(d) अध्यापक प्रत्येक अधिगमकर्ता के लिए वैविध्यपूर्ण व सार्थक अधिगमात्मक अनुभवों हेतु परिवेश का निर्माण करते हैं
Ans: (d)


17. समावेशी शिक्षा उस विद्यालयी शिक्षा व्यवस्था की ओर संकेत करती है जो –
(a
) विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को विशिष्ट विद्यालयों के माध्यम से शिक्षा देने को प्रोत्साहित करती है।
(b) केवल बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर बल देती है
(c) जो सभी निर्योग्य बच्चों को शामिल करती है
(d) जो उनकी शारीरिक‚ बौद्धिक‚ सामाजिक‚ भाषिक या अन्य विभिन्न योग्यता स्थितियों को ध्यान में रखे बगैर बच्चों को शामिल करती है
Ans: (d)


18. समेकित शिक्षा इंगित करती है−
(a
) सभी बच्चों के लिए एकसमान शिक्षण विधि
(b) सामान्य बच्चों एवं भिन्न रूप से योग्य बच्चों के लिए एक ही स्कूल
(c) सामान्य बच्चों एवं भिन्न रूप से योग्य बच्चों के लिए पृथक् स्कूल
(d) सामान्य बच्चों एवं भिन्न रूप से योग्य बच्चों के लिए एकसमान सुविधा
Ans: (b)


19. विशेष शिक्षा इससे संबंधित है-
(a
) प्रतिभाशाली बच्चों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम
(b) शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम
(c) प्रतिभाशाली लोगों के लिए शिक्षा
(d) विकलांगों के लिए शैक्षिक कार्यक्रम
Ans. (d)


२०. नियमित विद्यालयों में आम तौर पर विकासशील बच्चे के साथ-साथ विशेष बच्चों को शिक्षित करना …………… है−
(a
) व्यक्तिगत शिक्षा (b) सामान्य शिक्षा
(c) विशेष शिक्षा (d) समावेशी शिक्षा
Ans : (d)


21. शिक्षा-शाध्Eा का वह प्रकार जिसमें विशिष्ट शिक्षा की आवश्यकता होती है
(a
) विशेष लोगों को दी जाती है
(b) विकलांग व्यक्तियों को दी जाती है
(c) बुद्धिमान व्यक्तियों को दी जाती है
(d) स्थानीय मुखिया द्वारा संस्थापित होती है
Ans: (b)


22. समावेशित विद्यालय योजना के सन्दर्भ में कौन सा कथन गलत है?
(a
) समानता की भावना का विकास
(b) धनात्मक आत्मसम्मान का विकास
(c) विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों में आत्म-हीनता की भावना का विकास
(d) विशेष बालकों के नैतिक आचरण को उठाना
Ans: (c)


23. एक समावेशी कक्षा के लिये‚ शिक्षकों को‚ किस प्रकार की तैयारी की आवश्यकता नहीं होती है?
(a
) व्यावहारिक व सामाजिक संक्रियाओं की सम्पूर्ण भागीदारी
(b) समस्यागत क्षेत्रों के बालकों से शीघ्र व सतत सम्पर्क
(c) निदानात्मक व उपचारात्मक प्रक्रियाओं का अधिकतर प्रयोग
(d) धैर्यशीलता का कम होना
Ans: (d)


24. समायोजन शिक्षा का मुख्य कार्य है−
(a
) विद्यालय न आने वाले बच्चों को विद्यालय में लाना
(b) विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को मुख्य धारा में लाना
(c) विशेष व सामान्य बच्चों के साथ−साथ पढ़ने की सुविधा देना
(d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


25. सफल समावेशन को निम्नलिखित की आवश्यकता होती है सिवाय
(a
) पृथक्करण (b) अभिभावकों की भागीदारी
(c) क्षमता−सम्वद्र्धन (d) संवेदनशील बनाना
Ans : (a)


26. एक समावेशी विद्यालय
(a
) शिक्षार्थियों को निर्योग्यता के अनुसार उनकी सीखने की आवश्यकताओं को निर्धारित करता है
(b) शिक्षार्थियों की क्षमताओं की परवाह किए बिना सभी के अधिगम−परिणामों को सुधारने के लिए प्रतिबद्ध होता है
(c) शिक्षार्थियों के मध्य अन्तर करता है और विशेष रूप से सक्षम बच्चों के लिए कम चुनौतीपूर्ण उपलब्धि लक्ष्य निर्धारित करता है
(d) विशेष रूप से योग्य शिक्षार्थियों के अधिगम−परिणामों को सुधारने के लिए विशिष्ट रूप से प्रतिबद्ध होता है
Ans : (b)


27. समावेशी शिक्षा के पीछे मूलाधार यह है कि
(a
) समाज में विभिन्नता है और विद्यालयों को इस विभिन्नता के प्रति संवेदनशील होने के लिए समावेशी होने की आवश्यकता है
(b) प्रत्येक बच्चे के निष्पादन के लिए मानक एकसमान तथा मानकीकृत होने चाहिए
(c) हमें विशेष आवश्यकता है और सुविधाओं तक उनकी पहुँच होनी चाहिए
(d) विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के लिए अलग विद्यालयों की व्यवस्था करना लागत प्रभावी नहीं है
Ans : (a)


28. जिन विद्यालयों में समेकित शिक्षा दी जाती है उसके शिक्षकों को किस क्षेत्र विशेष में प्रशिक्षित करना चाहिए?
(a
) विशेष आवश्यकता वाले बच्चों की पहचान और शिक्षण
(b) व्याख्यान विधि द्वारा शिक्षण
(c) क्रियात्मकता के साथ शिक्षण
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans : (a)


29. एक समावेशी विद्यालय ……. के अतिरिक्त निम्नलिखित प्रश्नों पर मनन करता है।
(a
) क्या हम अधिगमयोग्य परिवेश की योजना बनाने और उसे प्रदान करने के लिए समूह में कार्य करते हैं?
(b) क्या हम विशेष बालक को बेहतर देखभाल उपलब्ध कराने के लिए उचित तरीके से उन्हें अलग करते हैं?
(c) क्या हम शिक्षार्थियों की विविध आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए युक्तियाँ अपनाते हैं?
(d) क्या हम यह विश्वास करते हैं कि सभी शिक्षार्थी सीख सकते हैं?
Ans: (b)


३०. समावेशी शिक्षण का उद्देश्य ………… को समाप्त करना और यह सुनिश्चित करना है कि सभी बच्चे को उनके शिक्षित होने का अधिकार प्राप्त हो−
(a
) असमानता (b) चुनौती
(c) समस्या (d) अंतर
Ans : (a)


31. किसी प्रकार की असमर्थता के बावजूद‚ सभी बच्चे निम्न में सक्षम होते हैं-
(a
) चलने (b) सुनने
(c) सीखने (d) देखने
Ans. (c)


32. २०वीं शताब्दी के पहले छमाही के दौरान‚…….. छात्रों‚ जिनकी पहचान विशेष आवश्यकता रखने वालों के रूप में की गई थी‚ उन्हें स्कूलों में कुछ या कोई विशेष सेवा नहीं मिली थी।
(a
) औसत से अधिक (b) असाधारण
(c) मानसिक रूप से मंद (d) गरीब
Ans. (b)


33. आपकी कक्षा में आप पाते हैं कि पढ़ाई में लम्बे अन्तराल के कारण कुछ विद्यार्थी एक प्रसंग को नहीं समझ पा रहे हैं। आप क्या करेंगे? (DSSSB Assistant Primary Teacher (PRT))
(a) उन लोगों की मदद के लिए अतिरिक्त कक्षाओं की व्यवस्था
(b) अभिभावकों से कहेंगे कि घर पर मदद की व्यवस्था करें
(c) अपनी कक्षा को जारी रखेंगे
(d) प्रधानाध्यापक से मदद लेंगे
Ans. (a)


34. समावेशी शिक्षा………….. के सिद्धांत पर आधारित है।
(a
) सामाजिक संतुलन
(b) समता एवं समान अवसर
(c) सामाजिक अस्तित्व एवं वैश्वीकरण
(d) विश्व बंधुता
Ans. (b)


35. एक समावेशी कक्षा में शिक्षक को क्या करना चाहिए−
(a
) अशक्त अधिगमकत्र्ताओं के प्रति दया एवं सहानुभूति का भाव प्रदर्शित करना चाहिए।
(b) बच्चों को ‘अपाहिज बच्चा’‚ ‘मंद बुद्धि बच्चा’ आदि के रूप में वर्गीकृत करना चाहिए।
(c) केवल प्रतिभाशाली एवं योग्य बच्चों पर ध्यान देना चाहिए।
(d) यह विश्वास करना चाहिए कि प्रत्येक बच्चे में अपनी योग्यताओं एवं शक्ति के अनुसार सीखने की क्षमता है।
Ans. (d)


36. निम्न में से क्या समावेशी कक्षा में शिक्षक की भूमिका नहीं है?
(a
) बच्चे की आवश्यकता के अनुरूप बैठने की पर्याप्त व्यवस्था करनी चाहिए
(b) शिक्षक को नि:शक्त बच्चों पर ध्यान नहीं देना चाहिए
(c) शिक्षक को बच्चों को प्रोत्साहित करना चाहिए
(d) शिक्षक को सीखने में अक्षम को अतिरिक्त समय देना चाहिए
Ans. (b)


37. विशिष्ट बालकों की शिक्षा हेतु शिक्षक को ध्यान देना चाहिए−
(a
) अपने पहनावे पर (b) अनुशासन पर
(c) व्यक्तिगत आवश्यकताओं पर (d) पाठ्यक्रम पर
Ans : (c)


38. एक समावेशी कक्षा में किसी शिक्षिका की सबसे महत्त्वपूर्ण भूमिका है :
(a
) यह सुनिश्चित करना कि शिक्षिका कक्षा को मानक निर्देश दे रही है।
(b) बच्चे के माता-पिता के व्यवसाय को जानना ताकि शिक्षिका प्रत्येक बच्चे के भावी व्यवसाय को जान सके।
(c) सुनिश्चित करना कि प्रत्येक बच्चे को अपनी संभावना को प्राप्त करने का अवसर मिले।
(d) कक्षा के लिए ऐसी योजना बनाना कि प्रत्येक बच्चा समान गति से आगे बढ़े।
Ans : (c)


39. अध्यापक को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उसकी कक्षा के सभी शिक्षार्थी अपने आपको स्वीकृत और सम्मानित समझें। इसके लिए शिक्षक को चाहिए कि वह−
(a
) कड़े नियम बनाए और जो बच्चे उनका पालन न करें उन्हें दंड दे।
(b) वंचित पृष्ठभूमि से आने वाले बच्चों का तिरस्कार करें ताकि वे अनुभव करें कि उन्हें अधिक कठोर परिश्रम करना है।
(c) उन शिक्षार्थियों का पता लगाए जो अच्छी अंग्रेजी बोल सकते हों और संपन्न घरों से हों तथा उन्हें आदर्श के रूप में प्रस्तुत करें।
(d) अपने शिक्षार्थियों की सामाजिक और सांस्कृतिक पृष्ठभूमि की जानकारी प्राप्त करें और कक्षा में विविध मतों को प्रोत्साहित करें।
Ans : (d)


40. विशेष आवश्यकताओं वाले बच्चों से व्यवहार करने के लिए निम्नलिखित दार्शनिक दृष्टिकोणों में से किसका अनुसरण किया जाना चाहिए?
(a
) उन्हे किसी प्रकार की शिक्षा की आवश्यकता ही नहीं होती
(b) उन्हें समावेशी शिक्षा का और नियमित विद्यालयों में अध्ययन करने का अधिकार प्राप्त है
(c) उन्हें पृथक करे उनकी शिक्षा किसी भिन्न शैक्षिक संस्थाओं में होनी चाहिए
(d) उन्हें केवल व्यावसायिक प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए
Ans : (b)


41. एक शिक्षिका की कक्षा में कुछ शारीरिक विकलांगता वाले बच्चे हैं। निम्नलिखित में से उसके लिए क्या कहना सबसे उचित होगा?
(a
) पोलियोग्रस्त बच्चे अब एक गाना प्रस्तुत करेंगे।
(b) पहिया-कुर्सी वाले बच्चे हॉल में जाने के लिए अपने समवयस्क साथी बच्चों से मदद ले सकते हैं।
(c) शारीरिक रूप से असुविधाग्रस्त बच्चे कक्षा में ही कोई वैकल्पिक गतिविधि कर सकते हैं।
(d) मोहन खेल के मैदान में जाने के लिए आप अपनी बैसाखियों का प्रयोग क्यों नहीं करते?
Ans: (c)


42. एकल अभिभावक वाले बच्चे को पढ़ाते समय शिक्षक को –
(a
) स्थिर और एकरूप वातावरण उपलब्ध कराना चाहिए
(b) इस तथ्य को अनदेखा करना चाहिए और ऐसे बच्चे के साथ अन्य बच्चों के समान व्यवहार करना चाहिए
(c) इस प्रकार के बच्चे के साथ भिन्न प्रकार से व्यवहार करना चाहिए
(d) ऐसे बच्चे को कम गृह कार्य देना चाहिए
Ans: (b)


43. जब एक निर्योग्य बच्चा पहली बार विद्यालय आता है तो शिक्षक को क्या करना चाहिए?
(a
) बच्चे की निर्योग्यता के अनुसार उसे विशेष विद्यालय में भेजने का प्रस्ताव देना चाहिए
(b) उसे अन्य विद्यार्थियों से अलग रखना चाहिए
(c) सहकारी योजना विकसित करने के लिए बच्चें को मातापिता के साथ चर्चा करनी चाहिए
(d) प्रवेश-परीक्षा लेनी चाहिए
Ans: (c)


44. एक शिक्षक को स्कूल में प्रथम बार आए विशेष आवश्यकता वाले बच्चे के साथ करना चाहिए-
(a
) उसकी विशेष आवश्यकता के अनुसार विशेष स्कूल में जाने की सलाह
(b) अन्य बच्चों से अलग करना
(c) बच्चे के अभिभावक से सहयोगी योजना की चर्चा
(d) बच्चे की विशेष आवश्यकता के स्तर की जाँच के लिए प्रवेश परीक्षा
Ans: (c)


45. विविध शिक्षार्थियों वाली एक समावेशी कक्षा में सहयोगी अधिगम और समवयस्कों से सीखना−
(a
) सक्रिय रूप से निरूत्साहित किया जाना चाहिए और प्रतियोगिता को बढ़ावा देना चाहिए।
(b) केवल कभी−कभी ही प्रयोग किया जाना चाहिए‚ क्योंकि यह सहपाठियों से तुलना को बढ़ावा देता है।
(c) सक्रिय रूप से प्रोत्साहित किया जाना चाहिए जिससे समवस्यकों की स्वीकार्यता बढ़े।
(d) कार्यान्वित नहीं किया जाना चाहिए और विद्यार्थियों को क्षमताओं के अनुसार अलग−अलग किया जाना चाहिए।
Ans : (c)


46. कौन−सा समावेशी शिक्षा का सिद्धांत नहीं है?
(a
) शिक्षार्थियों के बीच कोई भेदभाव नहीं
(b) विशेष बच्चों के लिए अलग कक्षा
(c) समान शैक्षिक अवसर
(d) सभी बच्चों की खानपान संबंधी जरूरतों का ध्यान रखना
Ans. (b)


४७. आईईपी ………. अनुदेश का प्रमुख रूप है−
(a
) सहकर्मी शिक्षक (b) वैयक्तिकृत
(c) पहचान (d) आंकलन
Ans : (b)


48. समावेशी शिक्षा में योजना को………. के द्वारा पालन किया जाना चाहिए।
(a
) सार-कथन (b) मूल्यांकन
(c) कार्यान्वयन (d) आंकलन
Ans. (c)


49. एक शिक्षक के रूप में जब आप एक समावेशी कक्षा में काम कर रहे होते हैं‚ तो आपकी भूमिका होनी चाहिए।
(a
) दंड देने वाला (b) देखभाल करने वाला
(c) अन्वेषक (d) सहायक
Ans. (d)


50. विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को पढ़ाने के लिए निम्नलिखित में से कौन सी व्यूहरचना अधिक उपयुक्त है?
(a
) अधिकतम बच्चों को सम्मिलित करते हुए कक्षा में चर्चा करना
(b) विद्यार्थियों को सम्मिलित करते हुए अध्यापक द्वारा निर्देशन
(c) सहकारी अधिगम तथा पीअर ट्यूटरिंग (सहपाठियों द्वारा अनुविक्षण)
(d) अध्यापन के लिए योग्यता आधारित समूहीकरण।
Ans: (c)


51. विविध अधिगमकर्ताओं के लिए सुगम्य स्वरूपों में शिक्षण−अधिगम सामग्रियाँ प्रदान करने का तात्पर्य …………….. से है।
(a
) सार्वभौमिक समावेशी शिक्षा के नैतिक विचार
(b) शिक्षण व्यावसायिकता की सार्वभौमिक संहिता
(c) शिक्षण के सार्वभौमिक मानववादी दृष्टिकोण
(d) अधिगम की सार्वभौमिक संरचना
Ans. (d)


52. सहयोगात्मक अधिगम एवं हमउम्र साथियों के द्वारा शिक्षण का एक समावेशी कक्षा में किस प्रकार से उपयोग करना चाहिए?
(a
) सक्रिय रूप से हतोत्साहित करना चाहिए।
(b) कभी−कभी प्रयोग करना चाहिए।
(c) प्रयोग नहीं करना चाहिए।
(d) सक्रिय रूप से आगे बढ़ाना चाहिए।
Ans. (d)


53. निम्नलिखित में से कौन सा समावेशी कक्षा में सबसे अधिक महत्त्वपूर्ण है?
(a
) मानकीकृत परीक्षण
(b) प्रतियोगी अधिगम को बढ़ावा देना
(c) विशिष्ट शिक्षा योजना
(d) एकरूप निर्देश
Ans. (c)


54. अतिसंवेदनशील बच्चों को सीखने में मदद करने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सा तरीका उपयुक्त तरीका नहीं है?
(a
) एक कार्य को छोटे-छोटे प्रबंधनीय खंडों में तोड़ना
(b) अधिगम के वैकल्पिक तरीकों की पेशकश
(c) उनके दैनिक कार्यक्रम में शारीरिक गतिविधि का समावेश
(d) बेचैन होने पर अक्सर उन्हें फटकार लगाना
Ans. (d)


55. एक समावेशी कक्षा में‚ एक शिक्षक को विशिष्ट शैक्षिक योजनाओं को−
(a
) सक्रिय रूप से तैयार करना चाहिए।
(b) तैयार करने के लिए हतोत्साहित होना चाहिए।
(c) तैयार नहीं करना चाहिए।
(d) कभी-कभी तैयार करना चाहिए।
Ans. (a)


56. एक उच्च प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक के रूप में आपके पास कक्षा में कुछ बच्चे हैं जो प्रथम पीढ़ी के रूप में विद्यालय आ रहे हैं। आपके द्वारा निम्नलिखित में से किसे किए जाने की सम्भावना सर्वाधिक है?
(a
) कक्षा गतिविध के समय और गृहकार्य के लिए उन्हें बुनियादी सहयोग और अन्य सहायता उपलब्ध कराएँगे
(b) उन्हें याद करने के लिए और उत्तर को पाँच बार अपनी उत्तर पुस्तिका में लिखने के लिए गृहकार्य देंगे
(c) बच्चों से कहेंगे कि उनमें आगे पढ़ने की क्षमता नहीं है और अब उन्हें माता−पिता के काम में सहायता करनी चाहिए
(d) माता−पिता की बुलाएँगे और उनसे अपने बच्चों का ट्यूशन लगाने को नम्रतापूर्वक कहेंगे
Ans : (a)


57. एक 40 मिनट की कक्षा में सभी विद्यार्थियों व मुख्यत: विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों की माँग को पूरा करते हुए आप किस प्रकार पढ़ायेंगे?
(a
) वैयक्तिकता पर ध्यान देकर
(b) कक्षा में समांगी समूह बनाकर
(c) सभी विद्यार्थियों के लिये क्रियाकलाप आयोजित कराकर परन्तु विशेष आवश्यकता वाले विद्यार्थियों पर ध्यान केन्द्रित करते हुए
(d) कक्षा के किसी योग्य विद्यार्थी को जिम्मेदारी सौंपते हुए
Ans: (c)


58. एक शिक्षक के रूप में‚ समस्याग्रस्त स्थिति में छात्रों की मदद करने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?
(a
) इनाम देकर
(b) दंड देकर
(c) समाधान प्रदान करके
(d) हल करने के लिए इसी प्रकार की समस्या देकर
Ans. (d)


59. निम्नलिखित में से कौन समावेशी शिक्षा में एक शिक्षण कौशल नहीं है?
(a
) ब्लैकबोर्ड
(b) पूछताछ
(c) समस्या समाधान
(d) सुदृढ़ या प्रबलन
Ans. (a)


60. एक शिक्षक एक समावेशी कक्षा में विशेष योग्यता वर्ग वाले अधिगमकत्र्ताओं की आवश्यकताओं को किस प्रकार से बता सकता है/ संबोधित कर सकता है?
(a
) विद्यार्थियों को निर्देश देने के लिए एक रूप तरीकों का प्रयोग करना।
(b) अत्यधिक लिखित गृहकार्य देना तथा उत्तरों को अन्य प्रतिभाशाली विद्यार्थियों से नकल करने पर दबाव डालना।
(c) प्रत्येक विद्यार्थी के अधिगम के सशक्त पक्षों एवं कमजोरियों के विश्लेषण के आधार पर विशिष्ट अधिगम उद्देश्यों को विकसित करना।
(d) आकलन के लिए पेपर-पेंसिल टेस्ट का प्रयोग करना तथा अभ्यास एवं रटने पर बल देना।
Ans. (c)


61. भारतीय पुनर्वास परिषद्’ की स्थापना किस उद्देश्य के लिए हुई है?
(a
) दूरस्थ शिक्षा
(b) पर्यावरण शिक्षा
(c) दिव्यांगजन की शिक्षा
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans : (c)


62. ‘राष्ट्रीय अस्थि विकलांग संस्थान’ स्थित है−
(a
) देहरादून में
(b) मुम्बई में
(c) कोलकाता में
(d) सिकंदराबाद में
Ans : (c)


63. भारतीय पुनर्वास परिषद’ की स्थापना किस प्रकार के बच्चों की शिक्षा के लिए की गई है? उत्तर: दिव्यांग बच्चो हेतु/शारीरिक रूप से अक्षम बच्चो के लिए UP Assistant Teacher 27 May 2018 व्याख्या-‘भारतीय पुनर्वास परिषद’ की स्थापना का मुख्य उद्देश्य दिव्यांग व्यक्तियों के पुनर्वास के क्षेत्र में प्रशिक्षण नीतियों और कार्यक्रमों को विनियमित करना है। भारतीय पुनर्वास परिषद को एक पंजीकृत सोसायटी के रूप में सन 1986 में स्थापित किया गया था। सितम्बर 1992 में भारतीय पुनर्वास परिषद अधिनियम संसद द्वारा पारित किया गया जिसके द्वारा यह परिषद् एक सांविधिक निकाय के रूप में 22 जून सन् 1993 को अस्तित्व में आयी।


64. भारतीय संविधान के अनुच्छेद 41 व 46 किसके कल्याण से सम्बन्धित हैं?
(a
) आर्थिक रूप से पिछड़े व्यक्तियों से
(b) विकलांग व्यक्तियों से
(c) धार्मिक रूप से पिछड़े व्यक्तियों से
(d) क्षेत्रीय रूप से पिछड़े व्यक्तियों से
Ans : (a)


65. नि:शक्त बच्चों के लिए समेकित शिक्षा की केंद्रीय प्रायोजित योजना का उद्देश्य है ….. में नि:शक्त बच्चों को शैक्षिक अवसर उपलब्ध कराना।
(a
) मुक्त विद्यालयों
(b) ‘ब्लाइंड रिलीफ एसोसिएशन’ के विद्यालयों
(c) नियमित विद्यालयों
(d) विशेष विद्यालयों
Ans: (c)


66. दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम वर्ष …………….. में लागू किया गया है।
(a
) 1992 (b) 1995
(c) 1999 (d) 2016
Ans. (d)


<
–nextpage–>

17. अलाभान्वित एवं वंचित वर्गों सहित विविध पृष्ठभूमियों के अधिगमकर्ताओं की पहचान एवं शिक्षा अलाभान्वित बालक/अपवंचित बालक (अनुसूचित जाति‚ अनुसूचित जनजाति‚ अल्पसंख्यक बालक‚ कमजोर वर्ग के बालक आदि की पहचान)

1. राज साझा करने के लिए बिल्कुल तैयार नहीं है और एकांत गतिविधि पसन्द करता है। यह इंगित करता है कि वह है (DSSSB Assistant Primary Teacher (PRT))
(a) एक लोकप्रिय बच्चा (b) एक तिरस्कृत बच्चा
(c) एक ईष्र्यालु बच्चा (d) एक खुशहाल बच्चा
Ans. (b)


2. कुपोषण के प्रभाव के बारे में निम्न में से कौन-सा कथन सत्य नहीं है?
(a
) जीवन के बाद के वर्षों में यह मस्तिष्क की कोशिकाओं को प्रभावित करता है।
(b) यह बालकों की सीखने की योग्यताओं को प्रभावित करता है।
(c) बालक निराश एवं आशंकित रहते हैं।
(d) यह कद को प्रभावित करता है।
Ans: (a)


3. निम्न में से कौन-सी विशेषता सामाजिक रूप से वंचित वर्ग के विद्यार्थियों की नहीं है?
(a
) बालकों को देखभाल के अनुभव उन्हें स्कूल के लिए प्रभावशाली ढंग से तैयार नहीं करते
(b) नियमित स्वास्थ्य सम्बन्धी देखभाल नहीं मिलती
(c) व्यापक एवं विविध अनुभवों को प्राप्त करने का मौका नहीं मिलता
(d) विद्यालय में अच्छा करने के लिये अभिप्रेरित नहीं किया जाता।
Ans: (b)


4. सांस्कृतिक तथा भाषिक रूप से वैविध्यपूर्ण कक्षा में यह निश्चित करने से पहले कि शिक्षार्थी विशिष्ट शिक्षा वर्ग में आता है या नहीं‚ एक शिक्षक को करना चाहिए −
(a
) अक्षमता स्थापित करने से पहले शिक्षार्थी की मातृभाषा का मूल्यांकन करना चाहिए।
(b) पारंगत मनोविज्ञानियों का उपयोग।
(c) वातावरणीय कारकों को अप्रभावी बनाने के लिए बच्चे को अलग कर देना चाहिए।
(d) माता-पिता को इसमें सम्मिलित नहीं करना चाहिए क्योंकि उनके पास अपना कार्य होता है।
Ans: (a)


5. ‘कमजोर वर्ग के बालक’ से तात्पर्य है
(a
) ऐसे अभिभावकों के बालक से जिनकी वार्षिक आय कम है
(b) ऐसे अभिभावकों के बालक से जो वंचित वर्ग में आते हैं
(c) ऐसे अभिभावकों के बालक से जो गरीबी रेखा से नीचे की सीमा में आते हैं
(d) ऐसे अभिभावकों के बालकों से जो सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम सीमा की वार्षिक आय की सीमा से नीचे के वर्ग में आते है।
Ans: (d)


6. वंचित समूहों के बच्चों को अच्छा पोषण‚ अच्छी स्वास्थ्य देखभाल तक पहुंच और …….. के अवसरों की संभावना कम होती है।
(a
) खेलने (b) सीखने
(c) अध्ययन (d) आनंद
Ans. (b)


7. सामाजिक-आर्थिक रूप से वंचित पृष्ठभूमि से आने वाले बच्चों को कक्षा के माहौल की आवश्यकता होती है‚ जो−
(a
) उन्हें अच्छा व्यवहार सिखाता है
(b) उनके सांस्कृतिक और भाषाई ज्ञान को महत्व देता है तथा उनका उपयोग करता है
(c) उनके भाषा के उपयोग को हतोत्साहित करता है ताकि वे मुख्यधारा की भाषा सीख सकें
(d) बच्चों को उनकी क्षमताओं के आधार पर वर्गीकृत करता है
Ans. (b)


8. शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में‚ वंचित समूह से संबंधित विद्यार्थियों के द्वारा सहभागिता कम होने की स्थिति में एक शिक्षक को क्या करना चाहिए?
(a
) इन विद्यार्थियों से अपनी अपेक्षाओं को कम करना चाहिए।
(b) अपनी शिक्षण पद्धिति पर विचार करना चाहिए तथा बच्चों की सहभागिता में सुधार करने के लिए नए तरीके ढूँढ़ने चाहिए।
(c) बच्चों को विद्यालय छोड़ने के लिए कहना चाहिए।
(d) इस स्थिति को जैसी है‚ स्वीकार कर लेना चाहिए।
Ans. (b)


9. एक शिक्षक समाज के ‘वंचित वर्ग’ के बच्चों की आवश्यकताओं को प्रभावपूर्ण तरीके से पूरा कर सकता है
(a
) उन्हें कक्षा−कक्ष में अलग स्थान पर बैठाकर‚ ताकि वे अन्य बच्चों से मेल−जोल न करें
(b) अन्य बच्चों को वंचित पृष्ठभूमि वाले बच्चों के प्रति सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार करने के लिए कहकर
(c) कक्षा−कक्ष के प्रत्येक बच्चे की आवश्यकतानुसार अपना शिक्षण−कौशल अपनाकर
(d) उनकी पृष्ठभूमि की उपेक्षा करके तथा उन्हें विद्यालय में कार्य करने के लिए कहकर
Ans : (c)


10. विद्यालय में नियमित उपस्थिति के लिए वंचित बच्चों को प्रोत्साहित करने का निम्नलिखित में से कौन−सा तरीका सर्वाधिक उपयुक्त होगा?
(a
) बच्चों को विद्यालय आने की अनुमति न देने को कानून दण्डनीय अपराध बनाया जाए
(b) विद्यालय द्वारा बच्चों को एकत्रित करने वाले एक व्यक्ति को नियुक्त किया जाए जो प्रतिदिन घरों से बच्चों को लेकर आए
(c) बच्चों को आकर्षित करने के लिए प्रतिदिन 5 रु. देना
(d) आवासीय विद्यालय खोलना
Ans : (d)


11. वंचित शिक्षार्थियों के साथ व्यवहार करने के सन्दर्भ में अध्यापक/अध्यापिका को निम्नलिखित मूल्यों में से किसमें विश्वास व्यक्त करना चाहिए?
(a
) विद्यार्थी से किसी प्रकार की मांग न होना
(b) विद्यार्थियों द्वारा स्वीकृति हेतु आघात्मकता (shocked) व क्रोध का प्रयोग करना।
(c) छात्रों की सफलता हेतु व्यक्तिगत उत्तरदायित्व
(d) समुचित व्यवहार की उच्च अपेक्षाएं
Ans : (c)


12. वंचित समूहों के विद्यार्थियों को सामान्य विद्यार्थियों के साथ−साथ पढ़ाना चाहिए। इसका अभिप्राय है
(a
) समावेशी शिक्षा (b) विशेष शिक्षा
(c) एकीकृत शिक्षा (d) अपवर्जन शिक्षा
Ans : (a)


13. असंगठित घर से आने वाला बच्चा सबसे अधिक कठिनाई का अनुभव करेगा
(a
) सुनिर्मित पाठों में (b) स्वतन्त्र अध्ययन में
(c) नियोजित निर्देश में (d) अभ्यास पुस्तिकाओं में
Ans : (b)


14. ‘वंचित वर्ग’ की पृष्ठभूमि के बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए शिक्षक को चाहिए कि
(a
) उन्हें बहुत-सा लिखित कार्य दे
(b) उनके बारे में अधिक जानकारी जुटाने का प्रयास करें और उन्हें कक्षा में होने वाली चर्चा में शामिल करें।
(c) उन्हें कक्षा में अलग बिठाए
(d) उन पर ध्यान न दें क्योंकि वे दूसरे शिक्षार्थियों के साथ अंतर्क्रिया नहीं कर सकते।
Ans : (b)


15. शिक्षार्थियों को सबसे कम प्रतिबंधित विद्यालय वातावरण में रखने के माध्यम से‚ विद्यालय−
(a
) लड़कियों और अलाभान्वित वर्गों के लिए शैक्षिक अवसरों को समान करता है।
(b) वंचित वर्ग के बच्चों के जीवन को सामान्य करता है‚ जो इन बच्चों के समुदायों और अभिभावकों के साथ विद्यालय के सम्बन्ध को बढ़ा रहा है
(c) विज्ञान मेला और प्रश्नोत्तरी जैसी गतिविधियों में अलाभान्वित वर्ग के बच्चों को भागीदार बनाता है
(d) दूसरे बच्चों को संवेदनशील बनाता है कि वे अलाभान्वित बच्चों को दबाएँ नहीं उन्हें नीचा न दिखाएँ
Ans: (d)


16. एक अध्यापिका समाज के ‘वंचित वर्गों’ से आए बच्चों की आवश्यकताओं के प्रति प्रभावशाली तरीके से प्रतिक्रिया निम्नलिखित द्वारा कर सकती है –
(a
) ‘अन्य बच्चों’ को ‘वंचित वर्ग से आए बच्चों’ के साथ सहयोग करने के लिए कहना तथा विद्यालय के तरीकों को सीखने में उनकी सहायता करने के लिए कहना
(b) विद्यालयी व्यवस्था तथा स्वयं के उन तौर-तरीकों के बारे में विचार करना जिनसे पक्षपात एवं रूढ़िबद्धताएँ झलकती हैं
(c) उनके प्रताड़ित होने के अवसरों को कम करने के लिए यह सुनिश्चित करना कि बच्चे आपस में अन्योन्यक्रिया करने का मौका न पाएँ
(d) वंचित वर्ग से आए बच्चों को विद्यालय के नियमों एवं अपेक्षाओं के प्रति संवेदनशीलता बनाना ताकि वे उनका अनुपालन करें
Ans: (b)


17. सामाजार्थिक मुद्दो से जूझ रहे उन बच्चों को जिनकी प्रतिभा प्रभावित हो सकती है को………..सहायता करता है।
(a
) स्वअधिगम मॉडल (b) विभेदित निर्देश
(c) पाठ्यचर्या का विस्तार (d) संज्ञानात्मक वर्गीकरण
Ans: (a)


18. वंचित पृष्ठभूमि के छात्रों को सीखने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। सबसे संभावित कारक जो उन्हे प्रभावित कर रहा है‚ वह है−
(a
) व्यक्तिगत आवश्यकताएँ (b) नींद की कमी
(c) तनाव (d) संज्ञानात्मक क्षमता
Ans. (a)


19. वह बालक जो अपनी कालानुक्रमिक आयु के बालकों की तुलना में शैक्षिक कमी को दर्शाता है‚ उसे क्या कहते हैं?
(a
) प्रतिभाशाली बालक (b) पिछड़ा बालक
(c) असाधारण बालक (d) इनमें से कोई नहीं
Ans: (b)


20. मन्द अधिगमकर्ता जिनकी शैक्षिक उपलब्धि सामान्य योग्यता से कम रह जाती है कहे जाते हैं
(a
) पिछड़े (b) विशेष
(c) बाल अपराधी (d) मानसिक रूप से कमजोर
Ans: (a)


21. निम्न में से कौन-सी पिछड़े हुये बालकों की विशेषता नहीं है?
(a
) अपनी प्रकृति प्रदत्त योग्यताओं से कम स्तर की शैक्षिक उपलब्धि का प्रदर्शन करते हैं
(b) सामान्य विद्यालयी कार्य के साथ वे गति नहीं रख पाते।
(c) अपनी आयु के बालकों से काफी पिछड़ जाते हैं।
(d) कम बुद्धि रखते हैं।
Ans : (d)


22. जो बालक स्कूल के जीवन के मध्य में अपनी आयु स्तर की कक्षा से एक नीचे की कक्षा का कार्य करने में असमर्थ हो‚ वह है-
(a
) पिछड़ा बालक
(b) मानसिक रूप से मन्द बालक
(c) समस्यात्मक बालक
(d) मादक दव्य का सेवन करने वाला बालक
Ans: (a)


23. समान आयु वर्ग से सम्बद्ध अन्य सहपाठियों से जब किसी छात्र की तुलना की जाती है तो उसमे एक स्पष्ट शैक्षिक कमी (त्रुटि) दृष्टिगोचर होती है। ऐसे बच्चे को कहते हैं?
(a
) प्रतिभाशाली बालक (b) पिछड़ा बालक
(c) अपवादी बालक (d) इनमें कोई नहीं
Ans: (b)


24. पिछड़े बालक ऐसे बच्चे हैं
(a
) सीखने की गति धीमी हो
(b) बुद्धि लब्धि स्तर 80-90
(c) मानसिक रूप से अस्वस्थ और असमायोजित व्यवहार
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


25. सिरिल बर्ट के अनुसार पिछड़े बालकों की बुद्धिलब्धि होती है
(a
) 120 से अधिक (b) 85 से कम
(c) 120 से कम (d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (b)


26. इनमें से कौनसा शैक्षिक पिछड़ेपन का कारण नहीं होता है?
(a
) परिवार की गरीब सामाजिक-आर्थिक स्थिति
(b) विद्यालय का खराब शैक्षिक वातावरण
(c) परिवार का व्यवसाय
(d) परिवार का खराब भावनात्मक वातावरण
Ans: (c)


27. इनमें से किस घटक के प्रभाव से शैक्षिक पिछड़ापन नहीं उत्पन होगा?
(a
) परिवार की खराब सामाजिक-आर्थिक स्तर
(b) स्कूल (विद्यालय) की सोचनीय शैक्षिक माहौल
(c) परिवार का पेशा
(d) परिवार की सोचनीय भावनात्मक वातावरण
Ans: (c)


28. एक मन्द गति से सीखने वाले बालक को जरूरत होती है
(a
) अतिरिक्त सहायता की (b) विशेष सहायता की
(c) किसी सहायता की नहीं (d) कुछ सहायता की
Ans: (b)


29. हस्तशिल्प की शिक्षा दी जानी चाहिए
(a
) सामान्य बालक को (b) पिछड़े बालक को
(c) मंद बुद्धि बालक को (d) प्रखर बुद्धि बालक को।
Ans: (b)


30. मानसिक रूप से पिछड़े बालकों के लिये निम्न में से कौन-सी व्यूह रचना कार्य करेगी?
(a
) कार्यों को मूर्त रूप से समझाना
(b) विद्यार्थियों को लक्ष्य निर्धारित करने के लिये प्रोत्साहित करना
(c) स्व-अध्ययन के अवसर प्रदान करना
(d) सहायता के लिये बाहर से संसाधनों को प्राप्त करना।
Ans: (a)


31. पिछड़े बच्चों के लिए शैक्षिक लब्धि की अवधारणा किसने दी है?
(a
) गॉर्डन (b) शोनेल
(c) बर्टन हॉल (d) सिरिल बर्ट
Ans : (d)


32. ‘मन्दितमना’ बालकों की शिक्षा हेतु कौन−सा उपागम उपयुक्त कहा जा सकता है?
(a
) वैयक्तिक अनुदेशन (b) त्वरण उपागम
(c) संवर्धन उपागम (d) उच्चस्तरीय पाठ्यचर्या
Ans. (a)


33. निम्न में से कौन-सी मानसिक मन्दता की विशेषता नहीं है?
(a
) बुद्धि लब्धि का 25 से 70 के मध्य होना
(b) धीमी गति से सीखना एवं दैनिक जीवन की क्रियाओं को न कर पाना
(c) वातावरण के साथ अनुकूलन में कठिनाई
(d) अन्तर्वैयक्तिक सम्बन्धों का कमजोर होना।
Ans: (d)


34. निम्न में से कौन-सी अक्षमता केवल जन्मजात होती है?
(a
) दृष्टि दोष (b) श्रवण दोष
(c) मूक-बधिर (d) मन्द बुद्धि
Ans: (d)


35. आशा 14 वर्ष की आयु में वह सब कार्य करती है जो अधिकतर 6-7 वर्ष के बच्चे करते हैं आशा की यह अवस्था का कारण है-
(a
) मानसिक अक्षमता (b) अपंगता
(c) आनुवंशिकता (d) कुपोषण
Ans: (a)


36. _____ विकास के विभिन्न पहलुओं में मंदता से जुड़ी है।
(a
) मध्यम बुद्धि (b) कोई बुद्धि नहीं
(c) उच्च बुद्धि (d) मंद बुद्धि
Ans. (d)


37. आपको अपनी कक्षा में दो मन्द बुद्धि बच्चों को बैठाने के लिए बोला गया है। आप
(a
) उन्हें अपने विद्यार्थी के रूप में ग्रहण करने से इनकार करेंगे
(b) प्रधानाध्यापक को उन्हें किसी और कक्षा में जोकि मन्द बुद्धि बालकों के लिए विशेष रूप से चिह्रित है‚ में बैठाने के लिए बोलेंगे
(c) ऐसे विद्यार्थियों को सिखाने की तकनीक सीखेंगे
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans : (c)


38. सामान्यत: कुसमायोजित बच्चे यहाँ देखे जाते हैं :
(a
) बिखरे परिवार में (b) ग्रामीण क्षेत्रों में
(c) इनमें से कोई नहीं (d) गरीब परिवार में
Ans. (a)


<
–nextpage–>

18. अधिगम कठिनाइयों ‘क्षति’ आदि से सम्बन्धित बालक अधिगम अक्षमता का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. एक विद्यार्थी कक्षा में निम्नलिखित लक्षण प्रदर्शित करता है : –पढ़ने के प्रति चिंता –शब्दों या अक्षरों को पहचानने में कठिनाई –निम्न स्तरीय शब्दावली कौशल –पहले पढ़े हुए पाठ को समझने या याद करने में कठिनाई ये किसके सूचक हैं?
(a
) एक सृजनात्मक विद्यार्थी के
(b) अधिगम अशक्तता वाले विद्यार्थी के
(c) ‘मानसकि क्षति’ वाले विद्यार्थी के
(d) एक ‘स्वलीन’ विद्यार्थी के
Ans. (b)


2. युवा अधिगमकर्ताओं में निम्न में से कौन पढ़ने में कठिनाई का द्योतक नहीं है?
(a
) अक्षर व शब्द अभिज्ञान में कठिनाई
(b) पठन गति व प्रवाह में कठिनाई
(c) शब्दों व विचारों को समझने में कठिनाई
(d) स्पेलिंग निरन्तरता में कठिनाई
Ans: (c)


3. अधिगम निर्योग्यताओं वाले बालकों में प्रक्रमण सम्बन्धी निम्न में से किस प्रकार की कमी पायी जाती है?
(a
) संख्याओं सम्बन्धी सूचनाओं को याद करने में‚ समय एवं दिशा की कम समझ
(b) प्राय: अत्यधिक सक्रिय व्यवहार
(c) मांसपेशियों पर कम नियन्त्रण
(d) कम मानसिक सक्रियता।
Ans: (a)


4. अधिगम निर्योग्य का लक्षण है
(a
) भागने की प्रवृत्ति होना।
(b) अशान्त‚ ऊर्जावान एवं विध्वंसक होना।
(c) अवधान सम्बन्धी बाधा/ विकार।
(d) अभिप्रेरणा का अभाव।
Ans: (c)


5. अधिगम−अक्षमताएं
(a
) सामान्य या अधिक बुद्धि−लब्धांक वाले बच्चों में भी पाई जाती है।
(b) समय व हस्तक्षेप के स्वरूप की उपेक्षा करते हुए भी अपरिवर्तनशील नहीं होती है
(c) वस्तुपरक तथ्य है तथा संस्कृति की इनमें कोई भूमिका नहीं है
(d) पठन−अक्षमता के पर्याय हैं
Ans : (a)


6. अधिगम निर्योग्यता
(a
) समुचित निवेश के साथ सुधार योग्य नहीं होता
(b) एक स्थिर अवस्था है
(c) एक चर अवस्था है
(d) जरूरी नहीं कि कार्य−पद्धति की हानि करें
Ans : (b)


7. इनमें से कौन−सी अशक्तता वाले बच्चे की एक विशेषता है?
(a
) 50 से नीचे की बुद्धिलब्धि
(b) धाराप्रवाह रूप से पढ़ने तथा शब्दों पर पलटकर जाने में कठिनाई
(c) अन्य बच्चों को धमकाना तथा आक्रामक कार्यों में लगे रहना
(d) एक ही प्रकार की गत्यात्मक क्रिया को बार−बार दोहराना
Ans : (b)


8. एक बच्चे को कॉपी में लिखने में विपरीत छवियाँ‚ दर्पण छवि आदि जैसी गलतियाँ मिलती हैं। इस प्रकार का बच्चा लक्षण प्रदर्शित कर रहा है
(a
) अधिगम में असुविधा के
(b) अधिगम में अशक्तता के
(c) अधिगम में कठिनाई के
(d) अधिगम में समस्या के
Ans : (b)


9. वर्तनी‚ वाचन एवं गणना में कठिनाई‚ सामान्य बुद्धि एवं अच्छी अनुकूलनात्मक योग्यता विशेषता है
(a
) धीमी गति से सीखने वालों की
(b) सामान्य/औसत अधिगमकत्र्ता की
(c) मानसिक रूप से पिछड़े बालकों की
(d) अधिगम निर्योग्य बालकों की।
Ans: (d)


10. सीखने की अक्षमता वाले छात्र को स्कूल से संबंधित क्षेत्र जैसे− पढ़ना‚ लिखना‚ तर्क करना‚ सुनना या गणित में महत्वपूर्ण ………….. होती हैं।
(a
) समक्ष (b) जानकारी
(c) समस्याएँ (d) कठिनाईयाँ
Ans. (d)


11. ‘पठनवैफल्य’ बच्चों के प्राथमिक लक्षण क्या हैं?
(a
) धाराप्रवाह पढ़ने की अक्षमता
(b) एक ही गतिविषयक कार्य को बार-बार दोहराना।
(c) न्यून-अवधान विकार
(d) अपसारी चिंतन; पढ़ने में धारा प्रवाहिता।
Ans. (a)


12. पढ़ने और लिखने की अक्षमता है−
(a
) ऑटिज्म (b) डिस्लेक्सिया
(c) डिस्प्रेक्सिया (d) एप्रक्सिया
Ans : (b)


13. सम्प्रेषण सम्बन्धी अक्षमता है−
(a
) डिस्फेशिया (b) डिस्ग्रेफिया
(c) डिस्लेक्सिया (d) डिस्कैल्क्युलिया
Ans. (a)


14. डिस्लेक्सिया में यह करने में कठिनाई होती है−
(a
) पढ़ने/वर्तनी में (b) व्यक्त करने में
(c) खड़े होने में (d) बोलने में
Ans. (a)


15. डिस्ग्राफिया मुख्यत: किस कठिनाई से जुड़ा है?
(a
) पठन की (b) लिखने की
(c) चित्रकला करने की (d) सुनने की
Ans: (b)


16. यदि एक बच्चा 16 को 61 लिखिता है तथा b और d के मध्य अन्तर नहीं कर पाता हो‚ तो यह है
(a
) दृष्टि-दोष (b) सीखने में अक्षम
(c) मानसिक दोष (d) मानसिक क्षय
Ans: (b)


17. डिस्लेक्सिया क्या है?
(a
) पढ़ने की अक्षमता (b) लिखने की अक्षमता
(c) सीखने की अक्षमता (d) सुनने की अक्षमता
Ans: (a)


18. यदि आपकी कक्षा का बच्चा ‘C’ को ‘D’ तथा ‘D’ को ‘C’ लिखे/ पढ़े‚ तो वह कौन-से रोग से पीड़ित है?
(a
) मलेरिया (b) डिसलेक्सिया
(c) फाइलेरिया (d) टायफाइड
Ans: (b)


19. निम्न में से कौन-सा विशिष्ट अधिगम विकलांगता का उदाहरण है?
(a
) मानसिक मन्दता
(b) डिसलेक्सिया
(c) एटेंशन डेफिसिट हाइपर डिसआर्डर
(d) आटिस्म
Ans: (b)


20. डिस्लेक्सिया मुख्य रूप से ……………… की समस्या से संबंधित है।
(a
) सुनने (b) पढ़ने
(c) बोलने (d) बोलने व सुनने
Ans : (b)


21. डिस्लेक्सिया का संबंध है−
(a
) पढ़ने की अक्षमता से (b) लिखने की अक्षमता से
(c) आंकिक अक्षमता से (d) तार्किक अक्षमता से
Ans : (a)


22. एक बच्चा जो ………… से ग्रस्त है‚ वह ‘saw’ और ‘was’ और nuclear और ‘unclear’ में अन्तर नहीं कर सकता।
(a) शब्द ‘जम्बलिंग’ विकार (b) डिस्लेक्सिमिया
(c) डिस्मोरफीमिया (d) डिस्लेक्सिया
Ans : (d)


23. शारीरिक रूप से अक्षम बच्चों को सामान्यत: ………… होते हैं।
(a
) डिस्केलकुलिया (b) डिस्लेक्सिया
(c) डिस्ग्राफिया (d) डिस्थीमिया
Ans : (c)


24. …………. के अतिरिक्त निम्नलिखित सभी के कारण अधिगम अक्षमता उत्पन्न हो सकती है?
(a
) सांस्कृतिक कारक (b) सेरेब्रल डिस्फंक्शन
(c) संवेगात्मक विघ्न (d) व्यवहारगत विघ्न
Ans : (a)


25. एक औसत बुद्धि वाला बच्चा यदि भाषा को पढ़ने एवं समझने में कठिनाई प्रदर्शित करता है‚ तो यह संकेत देता है कि बच्चा…….. का लक्षण प्रदर्शित कर रहा है।
(a
) लेखन−अक्षमता (डिस्प्रफिया)
(b) गणितीय−अक्षमता (डिस्कैल्कुलिया)
(c) गतिसमन्वय−अक्षमता (डिस्प्रैक्सिया)
(d) पठन−अक्षमता (डिस्लैक्सिया)
Ans : (d)


26. डिसलेक्सिया सम्बन्धित है−
(a
) मानसिक विकार से (b) गणितीय विकार से
(c) पठन विकार से (d) व्यावहारिक विकार से
Ans : (c)


27. शब्दों में अक्षरों के क्रम को पढ़ने में कठिनाई का अनुभव करना और अक्सर चाक्षुष स्मृति का ह्रास…….से सम्बन्धित है।
(a
) डिस्केल्कुलिया (b) डिस्ग्राफिया
(c) डिस्प्राक्सिया (d) डिस्लेक्सिया
Ans: (d)


28. सीखने-संबंधी निर्योग्यताएँ सामान्यत:
(a
) औसत से श्रेष्ठ बुद्धि-लब्धि वाले बच्चों में पाई जाती है।
(b) लड़कियों की तुलना में अधिकतर लड़कों में पाई जाती है
(c) अधिकतर उन बच्चों में पाई जाती है जो शहरी क्षेत्रों की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्रों से सम्बन्ध रखते हैं
(d) उन बच्चों में पाई जाती हैं विशेषत: जिनके पैत्रिक अभिभावक इस प्रकार की समस्याओं से ग्रसित होते है
Ans: (d)


29. निम्नलिखित में से ……. के अतिरिक्त सभी के कारण अधिगम अक्षमता उत्पन्न हो सकती है –
(a
) जन्म से पहले माँ द्वारा मदिरा सेवन
(b) मंदबुद्धिता
(c) शैशवकाल के समय दिमागी बुखार
(d) शिक्षक की शिक्षण-शैली
Ans: (d)


30. गतिक कौशलों में अधिगम निर्योग्यता—कहलाती है।
(a
) डिस्फे़िजया (b) डिस्पे्रक्सिया
(c) डिस्केलकुलिया (d) डिस्लेक्सिया
Ans: (b)


31. विकृत लिखावट से सम्बन्धित लिखने की योग्यता में कमी किसका एक लक्षण है?
(a
) डिस्ग्राफिया (b) डिस्प्रैक्सिया
(c) डिस्कैल्कुलिया (d) डिस्लेक्सिया
Ans: (a)


३२. अधिगम अक्षमता का कारण होता है−
(a
) समय से पूर्व जन्म (b) मलेरिया
(c) कक्षा का माहौल (d) विकास संबंधी समस्याएं
Ans : (d)


33. मौलिक गणितीय संक्रियाओं को करने में असमर्थता द्वारा पहचाने जाने वाले विकार का नाम क्या है?
(a
) डिस्लेक्सिया (b) डिस्मॉर्फिया
(c) डिसग्राफिया (d) डिस्कैलक्युलिया
Ans. (d)


34. भाषा-अवबोधन से सम्बद्ध विकार है
(a
) चलाघात (apraxia)
(b) पठन-वैकल्य (dyslexia)
(c) वाक-सम्बद्ध रोग (aspeechxia)
(d) भाषाघात (aphasia)
Ans : (d)


35. छोटे शिक्षार्थियों में निम्नलिखित में से कौन-सा लक्षण ‘पठन-कठिनाई’ का नहीं है?
(a
) शब्दों और विचारों को समझने में कठिनाई
(b) सुसंगत वर्तनी में कठिनाई
(c) वर्ण एवं शब्द पहचानने में कठिनाई
(d) पठन-गति और प्रवाह में कठिनाई
Ans: (a)


36. अधिगमकत्र्ताओं एवं उनकी प्राथमिक विशेषताओं के मिलान युग्मों में से निम्नलिखित में से कौन सा सही है?
(a
) ‘पठन−अक्षमता’ अधिगमकर्ता − धारा प्रवाह पढ़ने एवं लिखने में कमी है।
(b) सृजनात्मक अधिगमकर्ता− अतिसक्रिय; कार्य को पूरा करने में धीमें हैं।
(c) अवधानात्मक कमी अधिगमकत्र्ता− उच्च अभिप्रेरणा‚ लम्बे समय तक अवधान बनाए रख सकते हैं।
(d) श्रव्य क्षतिपूर्ति अधिगमकत्र्ता− दृश्य सूचनाओं को समझ नहीं सकते हैं।
Ans. (a)


37. कम गति से सीखने वाले बच्चों की मुख्य विशेषता होती है
(a
) उनमें किसी-न-किसी प्रकार की अक्षमता होती है जो उसके ज्ञानार्जन व शैक्षिक उपलब्धि को प्रभावित करती है
(b) उनमें कक्षा में समायोजन में कोई कठिनाई उत्पन्न नहीं होती
(c) उन्हें केवल गणित में कठिनाई होती है
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (a)


38. अधिगम−निर्योग्यता वाले बच्चे
(a
) कुछ भी नहीं सीख सकते
(b) अधिगम के कुछ पक्षों से संघर्ष करते हैं
(c) बहुत सक्रिय होते हैं‚ लेकिन उनकी बुद्धि लब्धि कम होती है
(d) बहुत बुद्धिमान तथा परिपक्व होते हैं
Ans : (b)


39. अधिगम अशक्तता वाले
(a
) बच्चों को एकसमान दिखाई देने वाले अक्षरों और वर्णों में भ्रम होता है
(b) बच्चे दृश्य शब्दों (साइट वर्ड्स) को आसानी से पहचानते और समझते हैं
(c) बच्चों का मानसिक विकास मन्द होता है
(d) बच्चे निम्न बुद्धिलब्धि वाले होते हैं
Ans : (a)


40. निम्नलिखित में से कौन-सा व्यवहार बच्चे की अधिगम-निर्योग्यता की पहचान करता है।
(a
) मनोभाव का जल्दी-जल्दी बदलना (मूड स्विंग्स)
(b) अपमानजनक व्यवहार
(c) शब्दों को सही तरह से न समझ पाना तथा शब्दों को सही तरह से न लिख पाना
(d) (a) और (b)
Ans : (c)


41. गणित के अधिगम निर्योग्यता का आकलन निम्न में से किस परीक्षण द्वारा सर्वाधिक उचित तरीके से किया जा सकता है?
(a
) निदानात्मक परीक्षण (b) स्क्रीनिंग परीक्षण
(c) उपलब्धि परीक्षण (d) अभिक्षमता परीक्षण
Ans: (a)


42. अधिगम-निर्योग्यता वाले बच्चों की प्रगति का निरीक्षण करने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी पद्धति सबसे उपयुक्त है?
(a
) व्यक्ति (केस) अध्ययन
(b) घटनावृत्त अभिलेख (वास्तविक रिकार्ड)
(c) व्यवहार-रेटिंग स्केल
(d) संरचित व्यवहारपरक अवलोकन
Ans: (d)


43. शैक्षिक समस्याओं से ग्रस्त बालकों को किस समस्या का सामना करना पड़ता है?
(a
) कान व उससे जुड़ी नसों का सही प्रकार से काम नहीं करना
(b) भाषा के बोलने में असामान्यता का होना
(c) मानसिक सक्रियता का कम होना
(d) व्यावहारिक एवं सामाजिक बुद्धि में कमी का होना
Ans: (b)


44. यदि आपकी कक्षा में कोई बच्चा अधिगम अक्षम हो‚ तो आप क्या करेंगे?
(a
) उसकी ओर कोई ध्यान नहीं देंगे
(b) उसकी अक्षमता किस प्रकार की है यह जानकर उसको सिखाने का प्रयास करेंगे
(c) उसकी अतिरिक्त कक्षा लेंगे
(d) उसकी बैठक व्यवस्था कक्षा के बुद्धिमान बच्चों के साथ करेंगे
Ans: (b)


45. अधिगम निर्योग्यता वाले शिक्षार्थियों द्वारा एक पूर्ण और उत्पादक जीवन जीने के अवसरों को बढ़ाने का सबसे सही तरीका है
(a
) इस तरह के शिक्षार्थियों की कमजोरियों पर ध्यान केन्द्रित करना
(b) इस तरह के शिक्षार्थियों से उच्च अपेक्षाओं को बनाए रखना
(c) विविध कौशलों और युक्तियों का शिक्षण करना जिसे सभी सन्दर्भों में लागू किया जा सकता है
(d) इन बच्चों को अपने लक्ष्यों का निर्धारण करने के लिए प्रोत्साहित करना
Ans : (c)


46. बच्चों में शब्द खोजने की समस्या का निदान ………… होता है।
(a
) डिस्लेक्सिया (b) डिस्कैलक्यूलिया
(c) डिस्नोमिया (d) डिस्टोपिया
Ans. (c)


47. निम्नलिखित में से कौन-सा स्तम्भ-क के बच्चों को स्तम्भ-ख में उनकी प्राथमिक विशेषताओं के सही मिलान को प्रस्तुत करता है? स्तम्भ-क स्तम्भ-ख
I. प्रतिभाशाली A. धाराप्रवाह पढ़ने में कमी है। II. अधिगम अशक्तता B. मूल समाधानों के बारे में सोच सकता है। III. सृजनात्मक C. आसानी से विचलित होने की आदत है। IV. अवधान कमी D. शीघ्रता से एवं अतिसक्रियता स्वतंत्र रूप से व्यतिक्रम (ADHD) सीखने की योग्यता I II III IV
(a
) D A B C
(b) D C A B
(c) A B D C
(d) D C B A
Ans : (a)


48. निम्नलिखित में से कौन सा कथन असत्य है?
(a
) अक्षम व्यक्तियों के प्रति विपरीत विचार एवं भावना बच्चा बड़ों से सीखता है
(b) विशेष आवश्यकता वाले बच्चे दूसरे क्षेत्रों में कार्य करने में अक्षम होते है
(c) शारीरिक अक्षमता वाला बच्चा मानसिक अक्षमता नहीं रखता
(d) a एवं b दोनों
Ans: (b)


49. जो बच्चे सामान्य बच्चों से काफी हटके होते हैं‚ उन्हें इस रूप में जाना जाता है:
(a
) स्वपरायण बच्चे (ओटिस्टिक चिल्ड्रेन)
(b) आसमान्य बच्चे
(c) बुद्धिमान बच्चे
(d) असाधरण बच्चे
Ans. (d)


50. ‘दृश्य रूप से बाधित’ विद्यार्थियों के साथ कार्य करते समय एक शिक्षक को किस प्रकार के अनुदेशन अनुकूलन करने चाहिए?
(a
) कई प्रकार की दृश्य प्रस्तुतियों का प्रयोग करना।
(b) स्वयं अभिविन्यास करना ताकि विद्यार्थी उसे ध्यान से देख सकें।
(c) अनेक प्रकार के लिखित कार्यों‚ विशेष रूप से वर्कशीटों पर ध्यान केन्द्रित करना।
(d) स्पष्ट रूप से बोलना तथा छूकर महसूस करने वाली सामग्रियों का अधिक मात्रा में प्रयोग करना।
Ans. (d)


50. ‘ब्रेल लिपि’ के जनक हैं−
(a
) चाल्र्स ब्रेल (b) लुई ब्रेल
(c) बारबियर ब्रेल (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (b)


51. ब्रेल प्रणाली के बारे में सिखाये जाने के बाद‚ विद्यार्थियों को नेत्रहीन विद्यार्थियों के स्कूल ले जाया गया। इससे छात्रों को मदद मिलेगी−
(a
) दोस्तों के साथ मजे करने में
(b) सभी प्रकार के चुनौतीपूर्ण विद्यार्थियों के लिए सम्मान का विकास करने में
(c) कक्षा अधिगम को वास्तविक जीवन स्थितियों से जोड़ने में
(d) नेत्रहीन चुनौती वाले विद्यार्थियों के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करने में
Ans. (d)


53. जब एक अध्यापक एक नेत्रहीन चुनौतीपूर्ण बालक को दूसरे बच्चों के समूह की गतिविधियों में शामिल करता है तो वह है (DSSSB Assistant Nursery Teacher)
(a) समावेशी शिक्षा की भावना के अनुसार अभिनय करना
(b) नेत्रहीन चुनौतीपूर्ण शिक्षार्थी के प्रति सहानुभूति विकसित करने के लिए सभी शिक्षार्थियों की सहायता करना
(c) नेत्रहीन चुनौतीपूर्ण शिक्षार्थी पर तनाव बढ़ने की सम्भावना
(d) कक्षा के लिए सीखने के लिए बाधाएं बनाना
Ans. (a)


54. एक व्यक्ति वैधानिक रूप से दृष्टि-बाधित है‚ यदि उसका विजन क्षेत्र 20 डिग्री है‚ जबकि उसकी विजुअल एक्यूइटी –
(a
) अत्यधिक उपयुक्त सुधार के साथ‚ ठीक आँख में 6/6 से कम है
(b) अत्यधिक उपयुक्त सुधार के साथ‚ ठीक आँख में 6/7 से कम है
(c) अत्यधिक उपयुक्त सुधार के साथ‚ ठीक आँख में 6/30 से कम है
(d) अत्यधिक उपयुक्त सुधार के साथ‚ ठीक आँख में 6/60 से कम है
Ans: (d)


55. निम्नलिखित में से कौन-सा संकेत बच्चों में दृष्टि बाधिता की समस्या सूचित नहीं करता?
(a
) दिशा-निर्देश के अनुसरण में समस्या
(b) उदासी
(c) ठोकर लगने का भय
(d) दूरी मापने में असमर्थता
Ans: (a)


56.ब्रेल लिपि का प्रयोग निम्न में से किनके लिए किया जाता है?
(a
) शारीरिक नि:शक्त (b) दृष्टिबाधित
(c) वाचनबाधित (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (b)


57. आंशिक दृष्टि दोष युक्त बालक का कक्षा व्यवहार कैसा होता है?
(a
) वह पुस्तक को आँखों के निकट लाकर पढ़ता है
(b) वह शिक्षक से अक्षर स्पष्ट न दिखने की शिकायत करता है
(c) श्यामपट्ट पर लिखे हुए को नोट बुक में नहीं उतार पाता है
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


58. एक बच्चा जो आंशिक रूप से देख सकता है
(a
) बिना किसी विशेष प्रावधान के उसे ‘नियमित’ विद्यालय में डालना चाहिए
(b) उसे शिक्षा नही देनी चाहिए‚ क्योंकि वह उसके किसी काम नहीं आएगी
(c) उसे अलग संस्थान में डालने की आवश्यकता है
(d) विशेष प्रावधान करते हुए उसे ‘नियमित’ विद्यालय में रखना चाहिए।
Ans : (d)


59. दृष्टि दोष से युक्त बच्चों को आकृतियों का ज्ञान देना चाहिए−
(a
) मौखिक व्याख्यान द्वारा
(b) त्रि−आयामी आकृतियों के स्पर्श के द्वारा
(c) क्षेत्र भ्रमण द्वारा
(d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (b)


60. ‘राष्ट्रीय दृष्टि बाधितार्थ संस्थान’ (NIVH) स्थित है−
(a
) शिमला में (b) कोलकाता में
(c) देहरादून में (d) दिल्ली में
Ans : (c)


61. कक्षा पाँच के न्यून दृष्टि वाले बच्चे को
(a
) निम्न स्तर के कार्य के लिए माफ करना उचित है
(b) उसके दैनिक कार्य में उसके माता-पिता तथा मित्रों को सहायता करनी चाहिए
(c) कक्षा में सामान्य रूप से बर्ताव करना चाहिए एवं ऑडियो सीडी के जरिए सहायता प्रदान करनी चाहिए
(d) कक्षा में विशेष बर्ताव करना चाहिए
Ans : (c)


62. कोई शिक्षिका अपनी कक्षा में फर्नीचर की तीखी धार वाले किनारों को रुई से ढँका रखने को कहती है और ‘छुओ तथा अनुभव करो’ वाले सूचना-पट्टों का उपयोग करने को कहती है। वह किस वर्ग के विशेष शिक्षार्थियों की आवश्यकता पूर्ति करने का प्रयास कर रही है?
(a
) सामाजिक रूप से वंचित शिक्षार्थी
(b) दृष्टि विकलांग शिक्षार्थी
(c) श्रवण विकलांग शिक्षार्थी
(d) सीख न सकने वाले शिक्षार्थी
Ans : (b)


63. पाँचवीं कक्षा के ‘दृष्टिबाधित’ विद्यार्थी−
(a
) के माता-पिता और मित्रों द्वारा उसे दैनिक कार्यों को करने में सहायता की जानी चाहिए
(b) के साथ कक्षा में सामान्य रूप से व्यवहार किया जाना चाहिए और श्रव्य सी.डी. के माध्यम से सहायता उपलब्ध कराई जानी चाहिए
(c) के साथ कक्षा में विशेष व्यवहार किया जाना चाहिए
(d) को निचले स्तर के कार्य करने की छूट मिलनी चाहिए
Ans: (b)


64. जब एक शिक्षिका दृष्टिबाधित शिक्षार्थी को कक्षा के अन्य शिक्षार्थियों के साथ सामूहिक गतिविधियों में शामिल करती है‚ तो वह –
(a
) कक्षा के लिए सीखने हेतु बाधाएँ उत्पन्न कर रही है
(b) समावेशी शिक्षा की भावना के अनुसार कार्य कर रही है
(c) सभी शिक्षार्थियों में दृष्टिबाधित शिक्षार्थी के प्रति सहानुभूति विकसित करने में मदद कर रही है
(d) दृष्टिबाधित शिक्षार्थी पर सम्भवत: तनाव बढ़ा रही है
Ans: (b)


65. कम सुनने वाले बच्चों के चेहरे पर दिखने वाली प्रमुख हताशा है (DSSSB Assistant Nursery Teacher)
(a) अन्य छात्रों के साथ परीक्षा लेने में असमर्थता
(b) लिखने की पाठ्यपुस्तक पढ़ने में असमर्थता
(c) खेल में भाग लेने की अक्षमता
(d) दूसरों के साथ जानकारी साझा करने में असमर्थता
Ans. (d)


66. चिह्र भाषा एवं श्रवण-दृश्य विधियों का प्रयोग किन बालकों की शिक्षा के लिए उपयोगी है?
(a
) प्रतिभाशाली (b) मन्दित श्रवण वाले
(c) पिछड़ा बालक (d) समस्यात्मक बालक
Ans: (b)


67. श्रवणबाधित बच्चों को पढ़ाने के लिए क्या प्रयुक्त की जाती है?
(a
) ब्रेललिपि (b) सांकेतिक भाषा
(c) यंत्र (d) उपरोक्त सभी
Ans: (b)


68. निम्न में से कौन-सी इकाई का उपयोग सुनने की क्षमता की जाँच हेतु किया जाता है?
(a
) डेसीमीटर (b) डेसीबल
(c) डेसीपाइन (d) डेसीबिन्दु
Ans: (b)


69. सुनने में असमर्थ बच्चा−
(a
) केवल अकादमिक शिक्षा से लाभ नहीं उठा पाएगा‚ उसे उसके स्थान पर व्यावसायिक शिक्षा दी जानी चाहिए।
(b) नियमित विद्यालय में बहुत अच्छा कर सकता है यदि उसे उपयुक्त सुविधा और साधन उपलब्ध कराए जाएं।
(c) नियमित विद्यालय में अपने सहपाठियों के समान सभी प्रदर्शन नहीं कर सकेगा।
(d) श्रवण असमर्थता वाले बच्चों के विद्यालय में ही भेजा जाना चाहिए‚ नियमित विद्यालय में नहीं।
Ans : (b)


70. किस प्राकर के बच्चों की शिक्षा हेतु सांकेतिक भाषा का प्रयोग किया जाता है?
(a
) दृष्टि दोष युक्त बच्चे (b) मूक−बधिर
(c) मन्द बुद्धि (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (b)


71. श्रवण ह्रास से ग्रसित बच्चे कक्षा में किस से सबसे मुख्य नैराश्य (कुण्ठा) का सामना करते हैं?
(a
) दूसरों के साथ सम्प्रेषण करने तथा सूचनाओं को बांटने में अक्षमता
(b) दूसरे विद्यार्थियों के साथ परीक्षा देने में अक्षमता
(c) प्रस्तावित पाठ्य−पुस्तक को पढ़ने की अक्षमता
(d) खेल−कूल में भागीदारिता निभाने में अक्षमता
Ans : (a)


72. माध्यमिक विद्यालय की कक्षा में शिक्षिका के पास एक ‘बधिर’ बच्चा है। उसके लिए यह महत्वपूर्ण है कि
(a
) वह बच्चे को उस स्थान पर बैठाए जहाँ से यह शिक्षिका के होंठ तथा चेहरे के भाव साफ तौर पर देख सके
(b) विद्यालय सलाहकार (काउंसलर) से कहे कि वे बच्चे के अभिभावकों से बात करे तथा उन्हें अपने बच्चे को विद्यालय से हटाने के लिए कहे
(c) उसके प्रति संकेत करे जिसे वह बच्चा बार-बार भी नहीं कर पा रहा
(d) बच्चे को डाँट-फटकार कर उसे अलग स्थान पर बैठाए ताकि वह बधिर केन्द्र में प्रवेश ले ले
Ans : (a)


73. वाक् बाधित बच्चों का विकास किया जा सकता है उनको
(a
) कक्षा में अपने विचार को प्रदर्शित करने के लिए प्रोत्साहित करके
(b) सही ध्वनि के उच्चारण के लिए सहायता करके
(c) उनके द्वारा कथित गलतियों को सुनने में सहायता करके
(d) मूल्यांकन के लिए विशेषज्ञ के पास भेजकर
Ans: (b)


74. निम्नलिखित में से किस पद्धति का उपयोग करते हुए हकलाने (stuttering) की समस्या से निबटा जा सकता है?
(a
) अनुश्रुत वाक् (Dictated speech)
(b) प्रवर्द्धित वाक् (Prolonged speech)
(c) परिणामकारी वाक् (Pragmatic speech)
(d) लम्बित वाक् (Protracted speech)
Ans: (b)


75. ऑर्थोटिक उपकरणों को मुख्य रूप से _____ के लिए डिजाइन किया गया है।
(a
) इनमें से कोई नहीं
(b) शरीर के अंगों को समर्थन देने
(c) शरीर के हिस्से की मरम्मत करने
(d) न होने वाले अंगों की जगह लगाने
Ans. (b)


76. _______ के मामले में शरीर के चार अंग प्रभावित होते हैं ।
(a
) ट्राईप्लेगिया (b) बाइप्लेगिया
(c) क्वाड्रीप्लेगिया (d) हैमीप्लेगिया
Ans. (c)


77. एडीआईपी योजना का मुख्य उद्देश्य‚ लोकोमोटर दिव्यांगता वाले व्यक्तियों को………….. प्रदान करना है।
(a
) दिव्यांगता प्रमाणपत्र (b) रोजगार
(c) शिक्षा (d) सहायक और उपकरण
Ans. (d)


78. लोकोमोटर दिव्यांगता वाले व्यक्तियों का व्यावसायिक प्रशिक्षण ______ डोमेन से अधिक संबंधित है।
(a
) संज्ञानात्मक (b) इनमें से कोई नहीं
(c) प्रभावी (d) साइकोमोटर
Ans. (d)


79. एकाग्रता-समय के साथ मेल बैठाने के लिए एक दत्त कार्य को पूरा करने के लिए आवंटित समय को घटाना और चरणबद्ध तरीके से इस एकाग्रता-समय को बढ़ाना निम्नलिखित में से किस प्रकार के विकार से निपटने के लिए सर्वाधिक उपयुक्त है?
(a
) अशांतकारी व्यवहार सम्बन्धी विकार
(b) डिस्फेंसिया
(c) संवेदी एकीकरण विकार
(d) एकाग्रता-ह्रास अतिक्रियाशील विकार
Ans: (d)


80. निम्नलिखित में से कौन-सा विकासात्मक विकार का उदाहरण नहीं है?
(a
) आत्मविमोह (Autism)
(b) प्रमस्तिष्क घात (Cerebral palsy)
(c) पर-अभिघातज तनाव (Post- traumatic
(d) न्यून अवधान सक्रिय विकास (Attention deficit hyperactivity disorder)
Ans :(c)


81. हृदय विकार के साथ कौन सी आनुवंशिक समस्या सम्बन्धित है?
(a
) टर्नर सिंड्रोम (b) डाउन सिंड्रोम
(c) ऑटिज्म (d) एडीएचडी
Ans. (b)


82. इनमें से कौन-सा जीडीडी के लिए एक कारण हो सकता है?
(a
) बचपन का संक्रमण
(b) बचपन का मोटापा
(c) सख्त परवरिश
(d) चीनी और एडिटिव्स का अत्यधिक सेवन
Ans. (a)


83. एक्स-रे विकिरण को ……….. विकार के मुख्य कारण के रूप में जिम्मेदार ठहराया जाता है−
(a
) मोंन्गोलिज्म (b) बौनापन
(c) जलशीर्ष (d) लघुशीर्षता
Ans : (d)


84. ऑटिज्म एक…………… है।
(a
) ध्यान-अभाव अति सक्रियता विकार
(b) द्विध्रुवी विकार (बाइपोलर डिस्ऑर्डर)
(c) विपक्षी उद्दंड विकार (अपोजिशनल डिफेंट डिस्ऑर्डर)
(d) न्यूरो विकास विकार
Ans. (d)


85. आप एक माँ को अपने बेटे राज से निपटने के लिए एक व्यवहार कार्यक्रम विकसित करने में मदद कर रहे हैं‚ राज को अपोजिशनल डिफेंट डिसऑर्डर है। निम्नलिखित में से कौन सा इस कार्यक्रम का सबसे महत्वपूर्ण घटक है?
(a
) सख्त परवरिश (b) निरोध
(c) सकारात्मक सुदृढ़ीकरण (d) सजा
Ans. (c)


८६. फेनीलकेटनुरिया से उत्पन्न बौद्धिक विकलांगता को न्यूनतम किया जा सकता है−
(a
) सामाजिक संपर्क (b) कक्षा शिक्षण
(c) पर्यावरणीय कारक (d) प्रगतिशील शिक्षा
Ans : (c)


87. बच्चों में पश्च-आघात तनाव विकार (पोस्ट ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर) के लक्षण क्या हैं?
(a
) घटना से जुड़े स्थानों या लोगों से बचना।
(b) बार-बार कुछ कहने या उसके बारे में सोचना
(c) दूसरों में बिल्कुल रूचि न होना
(d) दूसरों से नाराज होना
Ans. (a)


88. वह स्थिति जिसमें कोई व्यक्ति जागरूकता खो देता है और अपनी स्वयं की पहचान को छोड़ देता है‚……. के रूप में जाना जाता है।
(a
) आघात (b) दमन
(c) अभिघात (d) फ्यूग
Ans. (d)


89. एक बच्चा बल्लेबाजी के लिए अपनी बारी का इंतजार नहीं कर सकता और अक्सर मैदान पर दौड़ता है जबकि कोई पहले से ही बल्लेबाजी कर रहा होता है। बच्चा किस समस्या से जूझ रहा होगा?
(a
) डिसग्राफिआ
(b) ध्यानाभाव एवं अतिसक्रियता विकार
(c) ध्यान अभाव विकार
(d) ओटिज्म/आत्मविमोह
Ans. (b)


90. द्विध्रुवी विकार (बाइपोलर डिस्ऑर्डर) किस प्रकार का विकार है?
(a
) मनोदशा (मूड) (b) अधिगम
(c) व्यक्तित्व (d) विचार (थॉट)
Ans. (a)


91. तीव्र मूड स्विंग निम्न का लक्षण है:
(a
) अधिगम अक्षमता (b) द्विध्रुवीय विकार
(c) आचरणगत विकार (d) असामाजिक व्यक्तित्व
Ans. (b)


९२. निम्नलिखित में से कौन-सा एक गतिसंवेदी अधिगमकर्ता के लिए अनुपयुक्त है?
(a
) उन्हें गतिविधियों के माध्यम से अधिगम का अवसर प्रदान करना।
(b) क्षेत्र भ्रमण‚ नाटक‚ नृत्य आदि में भाग लेना।
(c) अधिगम के लिए अवधारणा मानचित्रण पद्धति का उपयोग करना।
(d) शिक्षण के लिए समस्या समाधान विधि का उपयोग करना।
Ans : (c)


93. जीडीडी एक विकास संबंधी अक्षमता है जो ……… देखने को मिलती है।
(a
) ५ वर्ष से छोटे बच्चों में
(b) १२-१४ वर्ष की आयु में
(c) ५ वर्ष से अधिक की आयु के बच्चों में
(d) १८ वर्ष से ऊपर की आयु में
Ans. (a)


94. निम्नलिखित में से कौन−सा विकासात्मक विकार का उदाहरण नहीं है?
(a
) आत्मविमोह (Autism)
(b) प्रमस्तिष्क घात (Cerebral palsy)
(c) पर−अभिघातज तनाव (Post–traumatic stress)
(d) न्यून अवधान सक्रिय विकास (Attention deficit hyperactivity disorder)
Ans : (c)


<
–nextpage–>

19. प्रतिभावान‚ सृजनात्मक तथा विशेष क्षमता वाले बालक प्रतिभाशाली बालक का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. बच्चों में प्रतिभाशालिता ………….. के कारण हो सकती है।
(a
) आनुवंशिकता और वातावरण के बीच अंत:क्रिया
(b) एक संसाधन-समृद्ध वातावरण
(c) सफल माता-पिता
(d) एक अनुशासित दिनचर्या
Ans. (a)


2. गिफ्टेड (मेधावी) होने का लक्षण है
I. अभिव्यक्ति में नव्यता II. जिज्ञासा III. वाचालता IV. अति सक्रियता
(a
) I और IV (b) I और II
(c) III और IV (d) II और III
Ans: (b)


3. प्रतिभाशाली बच्चे का गुण है− (DSSSB Assistant Teacher Education Department)
(a) अपनी उम्र के अन्य बच्चों की तुलना में बहुत पीछे रहते हैं
(b) कम बुद्धि लब्धि
(c) तीव्र निर्णय लेना तथा आत्मविश्वास होना
(d) दूसरों में अन्त: क्रिया करने में असमर्थ
Ans. (c)


4. प्रतिभावान बालक की बुद्धिलब्धि होती है
(a
) 130 (b) 140
(c) 125 (d) 120
Ans: (b)


5. प्रतिभाशाली बालक
(a
) तीव्र और आसानी से सीखते हैं
(b) जो सुनते या पढ़ते हैं बिना रटे कण्ठस्थ कर लेते हैं
(c) वस्तु चिन्तन करते हैं
(d) कम समय में ही अभिप्रेरण का अनुसरण करते हैं
Ans: (a)


6. निम्नलिखित में से कौन−सी विशेषता प्रतिभावान शिक्षार्थी की है?
(a
) यदि कक्षा की गतिविधियाँ अधिक चुनौतीपूर्ण नहीं होती हैं‚ तो वह कम प्रेरित अनुभव करता है और ऊब जाता है।
(b) वह बहुत ही तुनकमिजाज होता है
(c) वह रस्मी व्यवहार करता है जैसे हाथ थपथपाना‚ डोलना आदि।
(d) वह आक्रामक और कुण्ठित हो जाता है।
Ans : (a)


7. प्रतिभाशाली शिक्षार्थी ……….. है।
(a
) अभिसारी चिंतक (b) अपसारी चिंतक
(c) बहिर्मुखी (d) बहुत परिश्रमी
Ans : (b)


8. प्रतिभाशाली बालकों में निम्न विशेषता होती है?
(a
) अधिक महत्त्वाकांक्षा (b) बुद्धिलब्धि 130 से अधिक
(c) विस्तृत शब्दकोष (d) उपरोक्त सभी
Ans : (d)


9. इनमें से कौन−सी विशेषता प्रतिभाशाली बच्चों की नहीं है?
(a
) उच्च आत्म क्षमता
(b) निम्न औसतीय मानसिक प्रक्रियाएँ
(c) अन्तर्दृष्टिपूर्वक समस्याओं का समाधान करना
(d) उच्चतर श्रेणी की मानसिक प्रक्रियाएँ
Ans : (b)


10. अध्यापक के दृष्टिकोण में प्रतिभाशीलता किसका संयोजन है?
(a
) उच्च योग्यता−उच्च सृजनात्मकता−उच्च वचनबद्धता
(b) उच्च प्रेरणा−उच्च सृजनात्मकता−उच्च क्षमता
(c) उच्च योग्यता−उच्च क्षमता−उच्च वचनबद्धता
(d) उच्च क्षमता−उच्च सृजनात्मकता−उच्च स्मरण शक्ति
Ans : (a)


11. ‘प्रतिभाशाली होने’ का संकेत निम्न में से क्या नहीं है?
(a
) विचारों में सृजनात्मकता (b) दूसरों के साथ लड़ना
(c) अभिव्यक्ति में अनूठापन (d) कौतूहल
Ans : (b)


12. रेनजुली प्रतिभाशाली की अपनी ………. परिभाषा के लिए जाने जाते हैं।
(a
) चार-पंक्तिय (टीयर) (b) चार-स्तरीय
(c) त्रि-वृत्तीय (d) त्रि-मुखी
Ans: (c)


13. —— के कारण प्रतिभाशालिता होती है।
(a
) मनो-सामाजिक कारकों (b) आनुवंशिक रचना
(c) वातावरणीय अभिपे्ररणा (d) (b) और (c) का संयोजन
Ans: (d)


14. —- ‘प्रतिभाशाली’ होने का संकेत नहीं है।
(a
) दूसरों के साथ झगड़ना (b) अभिव्यक्ति में नवीनता
(c) जिज्ञासा (d) सृजनात्मक विचार
Ans: (a)


15. 140 से अधिक बुद्धिलब्धि (IQ) वाले बच्चों को किस श्रेणी में रखेंगे?
(a
) मूर्ख (b) मन्दबुद्धि
(c) सामान्य बुद्धि (d) प्रतिभाशाली
Ans : (d)


16. प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान करने में कौन-सा आईक्यू स्कोर प्रवृत्त होता है?
(a
) 170 या अधिक (b) 130 या अधिक
(c) 70 या अधिक (d) 120 या अधिक
Ans. (b)


17. प्रतिभाशाली बच्चों का अपने क्षमता का अहसास होता है जब (DSSSB Assistant Nursery Teacher)
(a) जब वे अन्य बच्चों के साथ सीखते हैं
(b) जब वे अन्य बच्चों से अलग होकर सीखते हैं
(c) जब वे निजी कक्षा लेते हैं
(d) जब उनका लगातार परीक्षण होता है
Ans. (a)


18. प्रतिभाशाली बच्चों की पहचान की विधि है
(a
) अवलोकन (b) बुद्धि परीक्षण
(c) व्यक्तित्व परीक्षण (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


19. प्रतिभावान बालक की पहचान अवलोकन द्वारा नहीं की जा सकती क्योंकि
(a
) अवलोकन वस्तुनिष्ठ तकनीक नहीं है
(b) अवलोकन व्यक्तिनिष्ठ प्रविधि है
(c) अवलोकन सिर्फ विशेषज्ञों द्वारा ही किया जा सकता है
(d) उपरोक्त में से सभी
Ans: (d)


20. एक प्रतिभाशाली बालक की आप मदद कर सकते हैं
(a
) उस पर अधिक ध्यान देकर
(b) उसे अधिक पुस्तके देकर
(c) उसे अधिक समय देकर
(d) उसे संबंधित अधिगम अनुभव देकर
Ans: (a)


21. निम्न में से कौन−सा बुद्धिमान बच्चे का लक्षण नहीं है?
(a
) वह जो लम्बे निबन्धों को बहुत जल्दी रटने की क्षमता रखता है
(b) वह जो प्रभावपूर्ण एवं उचित तरीके से सम्प्रेषण करने की क्षमता रखता है
(c) वह जो अमूर्त रूप से सोचता रहता है
(d) वह जो परिवेश में स्वयं को समायोजित कर सकता है
Ans : (a)


22. प्रतिभाशाली बच्चों के संदर्भ में संवद्र्धन का अर्थ है
(a
) आकलन की प्रक्रिया का संवद्र्धन करना
(b) शैक्षणिक गतिविधियों के संपादन में संवद्र्धन करना
(c) सह−शैक्षणिक गतिविधियों के संपादन की गति को बढ़ाना
(d) ऐसे विद्यार्थियों को वर्तमान स्तर/ग्रेड को छोड़कर अपने उच्च स्तर/ग्रेड में प्रोन्नत करना
Ans : (d)


23. प्रतिभाशाली बच्चे
(a
) मानव के लिए महत्त्वपूर्ण किसी भी क्षेत्र में अस्वभावत: अच्छा निष्पादन करते हैं
(b) सामान्यत: शारीरिक रूप से कमजोर होते हैं और सामाजिक अंत: क्रिया में अच्छे नहीं होते
(c) सामान्यत: अपने शिक्षकों को पसंद नहीं करते
(d) बिना किसी सहायता के अपने सामथ्र्य का पूर्ण विकास करते हैं
Ans : (d)


24. प्रतिभाशाली विद्यार्थी
(a
) स्वभाव के अन्तर्मुखी होते हैं
(b) अपनी आवश्यकताओं को दृढ़तापूर्वक नहीं कह पाते
(c) अपने निर्णयों में आत्मनिर्भर होते हैं
(d) शिक्षकों से स्वतंत्र होते हैं
Ans : (d)


25. प्रतिभाशाली विद्यार्थी अपनी क्षमताओं को तब विकसित कर पाएंगे जब
(a
) बार−बार उनकी परीक्षा होगी
(b) वे अन्य विद्यार्थियों के साथ अधिगम−प्रक्रिया से जुड़ते हैं
(c) उन्हें अन्य विद्यार्थियों से अलग किया जाएगा
(d) वे निजी कोचिंग कक्षाओं में पढ़ेंगे
Ans : (b)


26. निम्नलिखित में से किस समूह के बच्चों को समायोजन की समस्या होती है?
(a
) औसत बुद्धि के बच्चे (b) ग्रामीण बच्चे
(c) अध्ययनशील बच्चे (d) कुशाग्र बुद्धि के बच्चे
Ans : (d)


27. प्रतिभाशाली शिक्षार्थी (को)
(a
) अधिगम-निर्योग्य नहीं हो सकते।
(b) ऐसे सहयोग की आवश्यकता होती है जो सामान्यत: विद्यालयों द्वारा उपलब्ध नहीं कराए जाते।
(c) शिक्षक के बिना अपने अध्ययन को व्यवस्थित कर लेते हैं।
(d) अन्य शिक्षार्थियों के लिए अच्छे मॉडल बन सकते हैं।
Ans: (b)


28. कक्षा में सृजनात्मक और प्रतिभाशाली बच्चों के लिए आवश्यक हस्तक्षेप निर्भर करता है−
(a
) शिक्षक द्वारा अनुकूलित और प्रेरक निर्देशन तरीकों के उपयोग पर
(b) उन्हें अतिरिक्त समय दिए जाने पर
(c) उनके प्रति स्नेही होने के नाते पर
(d) उन्हें अन्य बच्चों को पढ़ाने की ़िजम्मेदारी देने पर
Ans. (a)


29. सम्पुष्ट कार्यक्रम जरूरी होते है-
(a
) कमजोर अधिगमकर्ताओं के लिए
(b) प्रतिभाशाली बालकों के लिए
(c) साधारण बालकों के लिए
(d) शारीरिक रूप से अयोग्य बालकों के लिए
Ans: (b)


30. प्रतिभावान बच्चों की शिक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रावधान है
(a
) योग्यता के आधार पर समूह बनाना
(b) दोहरी कक्षोन्नति देना
(c) कार्यक्रम को समृद्ध बनाना
(d) विशिष्ट विद्यालयों का प्रावधान करना
Ans: (c)


31. पृथक कक्षाओं एवं संवर्धन कार्यक्रमों का प्रयोग शिक्षा के लिये किया जाता है
(a
) प्रतिभाशाली बालकों के लिये
(b) निम्न शैक्षिक उपलब्धि वाले बालकों के लिये
(c) प्रतिभाशाली एवं निम्न शैक्षिक उपलब्धि वाले बालकों के लिये
(d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


32. आपकी कक्षा के कुछ छात्र अति मेधावी हैं‚ आप उन्हें किस तरह पढ़ाएँगे?
(a
) कक्षा के साथ
(b) उच्च कक्षा के साथ
(c) समृद्धिकरण कार्यक्रमों के द्वारा
(d) जब वे चाहें
Ans: (c)


33. एक मेधावी छात्र अध्ययन में बेहतर उपलब्धि हासिल नहीं कर पा रहा है। शिक्षक को निम्न में से उसके लिए कौन-सी गतिविधि अपनानी चाहिए?
(a
) उसके बेहतर प्रदर्शन की प्रतिज्ञा
(b) उसकी कम उपलब्धि के कारण का पता करना
(c) उसे परीक्षा में कृपांक देना
(d) उसके अभिभावक से कहना कि वह उसे स्कूल से निकाल लें
Ans: (b)


34. प्रतिभाशाली बच्चों के लिए सबसे अच्छे शैक्षिक कार्यक्रम वे होते हैं जो−
(a
) प्रत्यास्मरण के द्वारा ज्ञान की प्रवीणता पर बल देते हैं।
(b) उन्हें अधिगम के न्यूनतम मानकों तक कम करने को प्रेरित करने के लिए उपहारों और पुरस्कारों का उपयोग करते हैं।
(c) उनके चिंतन को प्रेरित कर उन्हें विविध विचारों में व्यस्त रहने के अवसर देते हैं।
(d) उनके आक्रामक व्यवहार को नियंत्रित करते हैं।
Ans : (c)


35. प्रतिभाशाली शिक्षार्थियों के लिए
(a
) अभिक्षमता को कौशल के रूप में समझना सही है
(b) प्रगति के निरीक्षण करने की आवश्यकता नहीं है
(c) शिक्षक को अनुकूलन करना चाहिए जिससे शिक्षार्थी में बदलाव आता है
(d) शिक्षक को पहल करनी चाहिए और समस्या−समाधान में मुख्य भूमिका निभानी चाहिए
Ans : (c)


36. निम्नलिखित में से कौन−सा प्रदत्तकार्य प्रतिभाशाली विद्यार्थी के लिए उपयुक्त है?
(a
) विभिन्न विषयों (themes) को ध्यान में रखते हुए विज्ञान की एक नई आदर्शात्मक पुस्तक का निर्माण करना।
(b) सम्पूर्ण कक्षा की अपेक्षा उसे अपनी पाठ्य−पुस्तक को शीर्घ समाप्त करने देना।
(c) अन्य विद्यार्थियों की तुलना में समान प्रकार के परन्तु अपेक्षाकृत अधिक अभ्यास
(d) उसे अपने समवयस्की साथियों को अनुविक्षण देने के लिए कहना ताकि उसकी शक्तियों को दिशा मिल सके तथा वह व्यस्त रह सके।
Ans : (a)


37. निम्नलिखित में से प्रतिभाशाली अधिगमकत्र्ताओं के लिए क्या समुचित है?
(a
) वे अन्यों को भी कुशल−प्रभावी बनाते हैं तथा सहयोगी अधिगम के लिए आवश्यक है
(b) वे सदैव अन्यों का नेतृत्व करते हैं और कक्षा में अतिरिक्त उत्तरदायित्व ग्रहण करते हैं
(c) अपनी उच्चस्तरीय संवेदनात्मकता के कारण वे भी निम्न श्रेणी पा सकते हैं
(d) बुनियादी तौर पर उनकी मस्तिष्कीय शक्ति के कारण ही उनका महत्त्व है
Ans : (c)


38. प्रतिभाशाली शिक्षार्थियों को ……… से जुड़े प्रश्नों पर अधिक समय देने के लिए कहा जा सकता है।
(a
) समझ (b) सृजन
(c) विश्लेषण (d) स्मरण
Ans: (b)


39. प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी गतिविधि सर्वाधिक उपयुक्त है?
(a
) अभी हाल ही में हुए मैच का प्रतिवेदन लिखना
(b) दी गई संकल्पनाओं के आधार पर मौलिक नाटक लिखना
(c) पाँच पाठों के अंत में दिए गए अभ्यासों को एक बार में हल करना
(d) शिक्षक दिवस पर कक्षा को पढ़ाना
Ans: (b)


40. एक शिक्षिका अपनी कक्षा को प्रतिभाशाली बच्चों की योग्यताओं (potential) की उपलब्धि चाहती है। अपने उद्देश्य की प्राप्ति के लिए उसे निम्नलिखित में से क्या नहीं करना चाहिए?
(a) विशेष ध्यान के लिए उन्हें समकक्षियों से अलग करना
(b) उनकी सृजनात्मकता को समृद्ध करने के लिए उन्हें चुनौती देना
(c) गैर-शैक्षणिक गतिविधियों में आनंद लेना सिखाना
(d) तनाव को नियंत्रित करना सिखाना
Ans: (a)


41. आप देखते हैं कि एक छात्र बुद्धिमान है। आप
(a
) उसके साथ सन्तुष्ट रहेंगे
(b) उसे अतिरिक्त गृहकार्य नहीं देंगे
(c) वह जैसे अधिक प्रगति कर सके उस तरह से उसे अनुप्रेरित करेंगे
(d) उसके अभिभावकों को सूचित करेंगे कि वह बुद्धिमान है
Ans : (c)


42. रिक्त स्थान भरिए: ‘‘प्रतिभाशाली बालकों के शिक्षण में मानसिक उद्वेलन तकनीक…?…. चिन्तन के महत्व पर बल देता है।’’ उत्तर: सृजनात्मक/अपसारी UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-प्रतिभाशाली बालकों के शिक्षण में मानसिक उद्वेलन तकनीक सृजनात्मक चिन्तन के महत्व पर बल देता है। मानसिक उद्वेलन तकनीक सृजनात्मकता को बढ़ावा देने हेतु एक विशिष्ट तकनीक है। इस तकनीक में किसी बालक या समूह को किसी समस्या पर विचार प्रस्तुत करने के लिए प्रेरित किया जाता है। बालक या समूह द्वारा बिना किसी पूर्वाग्रह के अपने विचार प्रस्तुत किया जाता है जिसकी शिक्षक द्वारा विश्लेषण‚ संश्लेषण तथा मूल्यांकन किया जाता है।


43. विचार विमर्श और उत्तेजना के बृहत्तर अवसर प्रदान करने के लिए क्षमता समूहन‚………….. का एक प्रकार का पृथक्करण है।
(a
) वंचित (b) सामान्य
(c) पश्चवर्ती (d) प्रतिभावान
Ans. (d)


44. एक समस्या को मूल एवं अपसारी समाधानों के साथ करने की योग्यता निम्नलिखित में से किसकी एक प्राथमिक विशेषता है−
(a
) क्षतिग्रस्त बच्चों की
(b) सृजनात्मक बच्चों की
(c) अधिगम अशक्तता वाले बच्चों की
(d) अहंकेंद्रित बच्चों की
Ans. (b)


45. रूही हमेशा समस्या के एकाधिक समाधानों के बारे में सोचती है। इनमें से काफी समाधान मौलिक होते हैं। रूही किन गुणों का प्रदर्शन कर रही है?
(a
) अनम्य विचारक (b) आत्म-केन्द्रित विचारक
(c) सृजनात्मक विचारक (d) अभिसारिक विचारक
Ans. (c)


46. सृजनात्मक समस्या समाधान की वह अवस्था‚ जिसमें व्यक्ति समस्या पर ध्यान नहीं देता है‚ है−
(a
) अनुवादन (b) प्रदीप्ति
(c) उद्भवन (d) आयोजन
Ans : (c)


47. सृजनात्मक समस्या समाधान की वह अवस्था जिसमें व्यक्ति असंगत सूचनाओं पर ध्यान नहीं देता‚ उसे कहते हैं−
(a
) आयोजन (b) अनुवादन
(c) प्रबोधन (d) उद्भवन
Ans. (d)


48. सृजनशीलता के पोषण के लिए एक अध्यापक को निम्न में से किस विधि की सहायता लेनी चाहिए?
(a
) ब्रेन स्टार्मिग/विचारावेश (b) व्याख्यान विधि
(c) दृश्य-श्रव्य सामग्री (d) इनमें से सभी
Ans: (a)


49. अलग-अलग सोच वाले पैटर्न उन बच्चों की पहचान करते हैं‚ जो−
(a
) विकलांग हैं (b) डिस्लेक्सिक हैं
(c) सृजनात्मक हैं (d) प्रत्यास्थी हैं
Ans. (c)


50. सृजनशील बालक के बारे में कौन-सा कथन सत्य नहीं है?
(a
) सृजनशील बालक जिज्ञासु होता है
(b) सृजनशील बालक साहसी नहीं होता है
(c) सृजनशील बालक बहिर्मुखी होता है
(d) सृजनशील बालक महत्त्वाकांक्षी होता है
Ans: (b)


51. सृजनात्मक बालक में निम्न में से कौन-सा गुण नहीं पाया जाता है?
(a
) खोजपूर्ण प्रवृत्ति (b) अच्छी अन्तर्दृष्टि
(c) क्रियाशीलता (d) सीमित रुचियाँ
Ans: (d)


52. समस्या के अर्थ को जानने की योग्यता‚ वातावरण के दोषों‚ कमियों एवं रिक्तियों के प्रति सजगता‚ विशेषता है
(a
) प्रतिभाशाली बालकों की (b) सामान्य बालकों की
(c) सृजनशील बालकों की (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (c)


53. निम्नलिखित में से कौन-सा तरीका अध्यापिका के द्वारा एक सृजनात्मक बच्चे की पहचान करने के लिए सर्वाधिक उपयुक्त होगा?
(a
) यह अवलोकन करना कि बच्ची समूह कार्यों में साथियों के साथ किस प्रकार से प्रतिक्रिया करती है
(b) मानकीकृत बुद्धि परीक्षणों को देना
(c) वस्तुनिष्ठ प्रकार के परीक्षणों को देना
(d) बच्चे को विस्तृत रूप से अवलोकन करना‚ विशेष रूप से उस समय जब वह समस्याओं को हल करती है
Ans: (d)


54. सृजनात्मक शिक्षार्थी वह है जो –
(a
) परीक्षा में हर बार अच्छे अंक प्राप्त करने के योग्य हैं
(b) पाश्र्व (लेट्रल) चिंतन और समस्या-समाधान में अच्छा है
(c) ड्राइंग और पेंटिंग में बहुत विलक्षण है
(d) बहुत बुद्धिमान है
Ans: (b)


55. बच्चे तब सर्वाधिक सृजनशील होते हैं‚ जब वे किसी गतिविधि में भाग लेते हैं।
(a
) शिक्षक की डाँट से बचने के लिये
(b) दूसरों के सामने अच्छा करने के दबाव में आकर
(c) अपनी रुचि से
(d) पुरस्कार के लिए
Ans : (c)


56. सृजनात्मकता को …………….. की अवधारणा से संबंधित माना जाता है।
(a
) द्रव बौद्धिकता (b) रवादार बौद्धिकता
(c) अभिसृत सोच (d) विविध सोच
Ans. (d)


57. रिक्त स्थान भरिए: ‘‘मौलिकता‚ नमनीयता तथा प्रवाह….?….. के घटक है। उत्तर: सृजनात्मकता UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-मौलिकता‚ नमनीयता‚ प्रवाह‚ विस्तारण‚ विविधता आदि सृजनात्मकता के प्रमुख घटक है। गिलफोर्ड के अनुसार- ‘- ‘‘सृजनात्मकता वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा कुछ नया निर्मित होता है- विचार‚ वस्तु जिसमे पुराने तत्वों को नवीन तरीके से व्यवस्थित किया जाता है‚ नवीन सृजन किसी समस्या का समाधान प्रस्तुत करता हो।’’


58. अलग ढंग से कार्य करने तथा नये तरीकों का इस्तेमाल करने की योग्यता कहलाती है−
(a
) सृजनात्मकता (b) व्यक्तित्व विकास
(c) नवीनता (d) जागरूकता
Ans : (a)


59. निम्नलिखित में से कौन−सा समूह सृजनात्मकता के तत्त्वों के सम्बन्ध में सही है?
(a
) प्रवाह‚ विविधता‚ मौलिकता‚ सहकार्यता
(b) प्रवाह‚ विविधता‚ मौलिकता‚ विस्तारण
(c) बारम्बारता‚ विविधता‚ मौलिकता‚ विस्तारण
(d) प्रवाह‚ व्यवहार्यता‚ मौलिकता‚ विस्तारण
Ans. (b)


60. एक शिक्षिका अपनी कक्षा में सृजनात्मक विद्यार्थियों को किस प्रकार से प्रोत्साहित कर सकती है?
(a
) अभिसारी चिंतन को हतोत्साहित करके
(b) अनेक परिप्रेक्ष्यों को प्रोत्साहित करके तथा मूल विचारों को महत्त्व देकर।
(c) विद्यार्थियों को जोखिम लेने एवं चुनौतियों का सामना करने से हतोत्साहित करके।
(d) अपसारी चिंतन पर बल देकर
Ans. (b)


61. सृजनात्मकता के बारे में क्या गलत है?
(a
) सृजनात्मकता तथा बुद्धि सदैव साथ-साथ चलते हैं
(b) सृजनात्मकता में लचीलापन होता है
(c) सृजनात्मकता सार्वभौमिक प्रत्यय है
(d) सृजनात्मकता में अहम् का समावेश होता है
Ans: (d)


62. निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a
) सृजनशीलता किसी भी कला में मौलिकता होती है।
(b) सृजनशीलता के लिए चिन्तन आवश्यक नहीं है।
(c) सृजनशीलता किसी पूरा किये गये काम का एक नया परिणाम होता है।
(d) सृजनशीलता में समाज या किसी समूह के लिए उपयोगिता होनी चाहिए।
Ans: (b)


63. निम्न में से कौन सृजनात्मकता का एक लक्षण नहीं है?
(a
) लचीलापन (b) मौलिकता
(c) विस्तारण (d) सततता
Ans: (d)


64. सृजनात्मकता की विशेषता है –
(a
) मौलिकता (b) प्रवाहशीलता
(c) लचीलापन (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


65. सृजनशीलता के पोषण हेतु‚ एक अध्यापक को अपने विद्यार्थियों को रखना चाहिए
(a
) कार्य केन्द्रित (b) लक्ष्य केन्द्रित
(c) कार्य केन्द्रित एवं लक्ष्य केन्द्रित (d) पुरस्कार प्रेरित
Ans: (b)


66. वह विचारात्मक प्रक्रिया जिसमें नूतन‚ वास्तविक तथा उपयोगी अवधारणाओं का प्रस्तुतीकरण निहित हो‚ कही जाती है
(a
) रचनात्मकता (b) अभिनव
(c) बुद्धिमत्ता (d) नवविचार
Ans: (a)


67. निम्नलिखित में से क्या बच्चों के सृजनात्मकता के विकास में सहायक नहीं है?
(a
) खेल (b) भाषण
(c) कहानी लेखन (d) निर्माण संबंधी क्रियाएँ
Ans: (b)


68. निम्न में से कौन-सी सृजनात्मकता की विशेषता नहीं है?
(a
) मौलिकता (b) उत्पादकता
(c) अपरिवर्तनशीलता (d) नवीन ज्ञान की खोज
Ans: (c)


69. सृजनात्मकता की पहचान होती है
(a
) पुराने व्यवहार से (b) चित्रकला से
(c) संगीत से (d) नवीन परिणाम से।
Ans: (d)


70. निम्नलिखित में सृजनशीलता का प्रमुख तत्व क्या नहीं है?
(a
) मौलिकता (b) अनुशासन
(c) धाराप्रवाहिता (d) लचीलापन
Ans: (b)


71. सृजनात्मकता क्या है?
(a
) बुद्धि का एक प्रकार जो उन कौशलों से सम्बन्धित है जो संचित किए गए ज्ञान और अनुभव पर निर्भर होते हैं
(b) बुद्धि का एक प्रकार जो संसाधन की गति को शामिल करते हुए सूचना−प्रक्रमण कौशलों पर अत्यधिक निर्भर होता है
(c) समस्याओं के मौलिक और अपसारी समाधानों को पहचानने‚ अथवा तैयार करने की योग्यता
(d) सृजनात्मकता 200 से ऊपर बुद्धिलब्धि से सर्वाधिक बेहतर ढंग से परिभाषित होती है
Ans : (c)


72. यह आवश्यक नहीं है कि उच्च बुद्धि लब्धि वाले बच्चे ……… में भी उच्च होंगे।
(a
) सृजनशीलता (b) अध्ययन
(c) विश्लेषण करने (d) अच्छे अंक प्राप्त करने
Ans : (a)


73. बुद्धि एवं सृजनात्मकता में किस प्रकार का सहसम्बन्ध पाया गया है?
(a
) धनात्मक (b) ऋणात्मक
(c) शून्य (d) ये सभी
Ans : (a)


74. सृजनात्मक मुख्य रूप से ……………. से संबंधित है
(a
) मॉडलिंग (b) अनुकरण
(c) अभिसारी चिंतन (d) अपसारी (बहुविध) चिंतन
Ans : (d)


75. निम्न में से कौन−सा शिक्षार्थियों में सृजनात्मकता का पोषण करता है?
(a
) अच्छी शिक्षा के व्यावहारिक मूल्यों के लिए विद्यार्थियों का शिक्षण
(b) प्रत्येक शिक्षार्थी की अन्तर्जात प्रतिभाओं का पोषण
(c) विद्यालयी जीवन के प्रारम्भ से उपलब्धि के लक्ष्यों पर बल देना
(d) परीक्षा में अच्छे अंकों के लिए विद्यार्थियों की कोचिंग करना
Ans : (b)


76. सृजनात्मकता क्या है?
(a
) बुद्धि का एक प्रकार जो उन कौशलों से संबंधित है‚ जो संचित किए गए ज्ञान और अनुभव पर निर्भर होते हैं।
(b) बुद्धि का एक प्रकार जो संसाधन की गति को शामिल करते हुए सूचना-प्रक्रमण कौशलों पर अत्यधिक निर्भर होता है।
(c) समस्याओं के मौलिक और अपसारी समाधानों को पहचानने अथवा तैयार करने की योग्यता।
(d) सृजनात्मकता 200 से ऊपर की बुद्धिलब्धि से सर्वाधिक बेहतर ढंग से परिभाषित होती है।
Ans: (c)


77. सृजनात्मक शिक्षार्थी है−
(a
) अभिसारी चिंतक (b) अपसारी चिंतक
(c) बहिर्मुखी (d) बहुत परिश्रमी
Ans : (b)


78. निम्न में कौन सृजनात्मकता से सम्बन्धित नहीं है?
(a
) मौलिकता (b) प्रवाह
(c) मितव्ययिता (d) उपयोगिता
Ans : (c)


79. उत्सुकता परीक्षण निम्न में किसका घटक है?
(a
) सृजनात्मकता (b) अभिप्रेरण
(c) रुचि (d) बुद्धि
Ans : (a)


80. निम्न में से कौन−सी सृजनात्मकता की विशेषता नहीं है?
(a
) मौलिकता (b) उत्पादकता
(c) अपरिवर्तनशीलता (d) नवीन ज्ञान की खोज
Ans : (c)


81. निम्न में से कौन−सी परिस्थिति सृजनात्मकता को बढ़ाने में सहायक होगी?
(a
) सीखने हेतु सीमित अवसर हों।
(b) बच्चों को उत्तर याद करने के लिए कहा जाए।
(c) समस्या का समाधान बता दिया जाए।
(d) जब बच्चों को स्वयं करके सीखने के लिए अधिक−से− अधिक अवसर दिए जाएं।
Ans : (d)


82. सृजनात्मक चिंतन की अवस्था जिसमें व्यक्ति चेतन तथा अचेतन स्तरों पर समस्या सुलझाने में प्रयासरत रहता है :
(a
) अंतर्दृष्टि (b) उद्भवन
(c) प्रदीप्ति (d) सत्यापन
Ans : (b)


83. विज्ञान एवं कला प्रदर्शनियाँ‚ संगीत एवं नृत्य प्रस्तुतियाँ तथा विद्यालय−पत्रिका निकालना‚ ………. के लिए है।
(a
) शिक्षार्थियों को सृजनात्मक मार्ग उपलब्ध कराने
(b) विभिन्न व्यवसायों के लिए विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करने
(c) विद्यालय का नाम रोशन करने
(d) अभिभावकों को संतुष्ट करने
Ans : (a)


84. छायांकित क्षेत्र सामान्य वितरण में उन शिक्षार्थियों को प्रदर्शित करता है जो – – – – में आते हैं।
(a
) 2σ – 3σ के बीच (b) 3σ के बाद
(c) σ – 2σ के बीच (d) σ = 0 पर
Ans: (b)


<
–nextpage–>

20. समायोजन व मानसिक स्वास्थ्य समायोजन का अर्थ एवं विशेषताएँ

1. समायोजन से तात्पर्य स्वयं का विभिन्न परिस्थितियों में अनुकूलन करना है ताकि सन्तुष्ट किया जा सके
(a
) दूसरों को (b) प्रेरकों को
(c) उद्देश्यों को (d) आवश्यकताओं को।
Ans: (d)


2. किसी भी परिस्थिति में समायोजित होने वाले बच्चों के लचीलेपन को_____ के रूप में जाना जाता है।
(a
) दृढ़ता (b) वांछनीयता
(c) अक्षमता (d) ढलनशीलता
Ans. (d)


3. निम्न में से कौन-सा तरीका प्रत्यक्ष समायोजन का है?
(a
) प्रक्षेपण (b) दमन
(c) प्रतिगमन (d) लक्ष्यों का प्रतिस्थापन।
Ans: (d)


4. कौन-से गुण अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के नहीं हैं?
(a
) नियमित जीवन‚ संवेगात्मक परिपक्वता
(b) आत्मविश्वास‚ सहनशीलता
(c) बहुत विनीत‚ स्वयं में सीमित
(d) वास्तविकता की स्वीकृति‚ स्व-मूल्यांकन की योग्यता
Ans : (c)


5. मानसिक स्वास्थ्य और………. में घनिष्ठ सम्बन्ध है।
(a
) अभिवृत्ति (b) स्वीकार्यता
(c) बचने (d) समायोजन
Ans : (d)


6. मानसिक स्वास्थ्य विज्ञान का प्रमुख उद्देश्य है
(a
) बालक के मानसिक स्वास्थ्य की रक्षा करना
(b) कुसमायोजन का निराकरण करना
(c) (a) और (b) दोनों
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans : (c)


7. निम्न में से कौन-सा कथन किसी व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य को उत्तम रूप से प्रदर्शित करता है?
(a
) पूर्ण अभिव्यक्ति‚ संगतिकरण और सामान्य लक्ष्य की ओर निर्देशन
(b) मानसिक विकारों का न होना
(c) व्यक्तित्व के विकारों से मुक्ति
(d) इनमें से सभी।
Ans: (d)


8. एक बालक जो शारीरिक दोषों से ग्रस्त है उसमें उत्पन्न होती है-
(a
) संवेगात्मक स्थिरता (b) अच्छी आदतें
(c) मिथ्याभिमान (d) हीनता की भावना
Ans: (d)


9. किसी भी बालक के मानसिक रूप से अस्वस्थ होने का कारण है
(a
) परिवार का वातावरण (b) कक्षा का वातावरण
(c) पास-पड़ोस का वातावरण (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


10. बालक का मानसिक स्वास्थ्य निर्भर करता है
(a
) विद्यालय पर (b) परिवार पर
(c) समुदाय पर (d) इनमें से सभी पर।
Ans: (d)


11. आधुनिक युग में मानसिक स्वास्थ्य पर किसका सबसे बुरा प्रभाव पड़ता है?
(a
) शिक्षा का (b) जीवन की अस्थिरता का
(c) आराधना का (d) भौतिकता का।
Ans: (b)


12. निम्नलिखित में से कौन-सा बालक के मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव डालने वाला कारक नहीं है?
(a
) परिवार में गरीबी (b) कक्षा में नींद आना
(c) स्नेह का आभाव (d) पारिवारिक क्लेश
Ans: (b)


13. मानसिक रूप से स्वस्थ अध्यापक की विशेषता क्या है?
(a
) वह संवेगात्मक रूप से सन्तुलित है
(b) उसे अपने विषय का गहन ज्ञान है
(c) वह अत्यधिक संवेदनशील है
(d) वह सख्त अनुशासन पसन्द है
Ans: (a)


14. विद्यार्थियों के अच्छे मानसिक स्वास्थ्य को बनाये रखने के लिए निम्न में से कौन-सा तरीका अधिक महत्वपूर्ण है?
(a
) सहशैक्षिक क्रियाओं का प्रावधान
(b) अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता
(c) रुचियों की भिन्नता
(d) अध्यापक की भूमिका एवं विद्यालयी वातावरण।
Ans: (d)


15. मानसिक रूप से स्वस्थ्य अध्यापक की विशेषता क्या है?
(a
) वह संवेदनात्मक रूप से संतुलित है
(b) उसे अपने विषय का गहन ज्ञान है
(c) वह अत्यधिक संवेदनशील है
(d) वह सख्त अनुशासन पसंद है
Ans : (a)


16. विद्यार्थियों के अच्छे मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए क्या महत्वपूर्ण नहीं है?
(a
) सहशैक्षिक गतिविधियों का प्रावधान
(b) पाठ्यक्रम का दोहराना
(c) अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता देना
(d) रुचियों में भिन्नता का ध्यान रखना
Ans: (b)


17. किसी इच्छा या आवश्यकता में रुकावट पड़ने पर उससे उत्पन्न होने वाला सांवेगिक तनाव —– कहलाता है –
(a
) द्वन्द्व (b) कुण्ठा
(c) चिन्ता (d) तनाव
Ans : (b)


18. निम्नलिखित में से मानसिक विकार के लक्षणों को सभी दर्शाते हैं सिवाय
(a
) भग्नाशा के (b) तनाव के
(c) सम्बन्ध के (d) चिन्ता के
Ans : (c)


19. कक्षा 4 का एक बच्चा सदैव चिन्तित और कुण्ठित रहता है‚ आप
(a
) उसके अभिभावक से शिकायत करेंगे
(b) मनोचिकित्सक के पास ले जाएँगे
(c) स्वयं परामर्शदाता की भूमिका का निर्वाह करेंगे
(d) उसे उसके भाग्य पर छोड़ देंगे
Ans : (c)


20. अवधान के आन्तरिक अथवा व्यक्तिनिष्ठ निर्धारक हैं−
(a
) रुचि‚ लक्ष्य‚ अभिवृत्ति (b) उद्दीपक‚ वस्तु‚ प्रविधि
(c) प्रकाश‚ ध्वनि‚ गंध (d) पुरस्कार‚ दण्ड‚ प्रोत्साहन
Ans : (a)


21. शारीरिक निर्योग्यता वाले व्यक्ति के लिए निम्न में से कौन-सी युक्ति रक्षा तंत्र में सबसे संतोषजनक होगी?
(a
) तादात्मीकरण (b) विवेकीकरण
(c) अतिकल्पना (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (c)


22. ‘‘अंगूर खट्टे हैं’’…………का उदाहरण है।
(a
) दमन (b) प्रतिगमन
(c) यौक्तिकीकरण (d) प्रतिक्रिया निर्माण
Ans : (c)


23. कुछ लोगों का कहना है कि जब बालकों को गुस्सा आता है तो वे खेलने के लिए चले जाते हैं। जब तक कि पहले से अच्छा महसूस नहीं करते‚ उनके व्यवहार में से कौन प्रतिरक्षा तन्त्र प्रतिलक्षित होता है?
(a
) प्रक्षेपण (b) विस्थापन
(c) प्रतिक्रिया निर्माण (d) उदात्तीकरण।
Ans: (b)


24. निम्न का मिलान करते हुये दी गई तालिका में से सही उत्तर का चयन करें: सूची-अ सूची-ब
(L) मन तरंग को एक रक्षा तंत्र के 1. नकारना रूप में वर्गीकृत कर सकते हैं
(M) रक्षात्मक तन्त्र व्यक्ति का 2. पलायन बचाव करती है
(N) उदात्तीकरण को रक्षात्मक तंत्र 3. प्रतिस्थापन के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है
(O) क्षतिपूर्ति को रक्षात्मक तंत्र 4. चिन्ता। के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है कोड: L M N O L M N O
(a
) 1 4 4 3 (b) 3 1 4 2
(c) 2 4 3 1 (d) 3 2 3 1
Ans: (c)


25. रक्षा तंत्र बहुत सहायता करता है
(a
) हिंसा से निपटने में (b) दबाव से निपटने में
(c) थकान से निपटने में (d) अजनबियों से निपटने में।
Ans: (b)


26. एंटी−तनाव दवा‚ एक ऐसी दवा है जिसका प्राथfमक व्यवहार प्रभाव‚ चिंता को कम करता है लेकिन यह केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र (सीएनएस) के रूप में कार्य करता है:
(a
) उत्प्रेरक (b) अवसादक
(c) उत्तेजक (d) संशोधक
Ans. (b)


27. व्यक्तियों के शारीरिक बीमारियों में कितने प्रतिशत तक दबाव की भूमिका महत्वपूर्ण है?
(a
) 45 से 65 (b) 51 से 69
(c) 52 से 71 (d) 50 से 70
Ans: (d)


28. स्नायुवीय (न्यूरोटिस्जिम) अनुभव में‚ व्यक्ति को सर्वाधिक क्या अनुभव होता है?
(a
) अनियंत्रित प्रसन्नता (b) मिश्रित भाव
(c) उच्च तनाव और घबराहट (d) सकारात्मकता
Ans. (c)


29. निम्नलिखित में से कौन सा एक वह कारक नहीं है जो तनाव के विरूद्ध एक बच्चे की रक्षा करेगा?
(a
) परिवार (b) बुद्धि
(c) आधिकारवादी परवरिश शैली (d) सहकर्मी रिश्ते
Ans. (c)


३०. शिक्षार्थियों में तनाव से निपटने का एक प्रभावी तरीका है−
(a
) दिनचर्या स्थापित करना
(b) सभी बड़े परीक्षणों को वर्ष के अंत के लिए स्थगित करना
(c) सख्त नियम बनाना
(d) उन्हें जब चाहे काम करने की आजादी देना
Ans : (a)


31. क्लौस्ट्रफोबिया संलग्न स्थानों का एक डर है। इसका एक उदाहरण है:
(a
) वैश्विक विकास में देरी (b) जुनूनी-बाध्यकारी विकार
(c) तनाव विकार (d) ऑटिज्म
Ans. (c)


32. …………… के अतिरिक्त निम्नलिखित कुछ तकनीकें हैं जो परीक्षा के कारण होने वाली चिंता को दूर करती हैं।
(a
) प्रश्न−पत्र की संरचना (पैटर्न) से परिचित कराना
(b) परिणाम के बारे में बहुत अधिक सोचना
(c) समर्थन प्राप्त करना
(d) विशिष्टताओं पर बल देना
Ans : (b)


33. ओसीडी का अर्थ है-
(a
) ऑब्सेसिव कंडक्ट डिस्ऑर्डर
(b) ऑब्सेसिव कम्पल्सिव डिस्ऑर्डर
(c) अपोजिशनल कम्पल्सिव डिसीज
(d) अपोजिशनल कॉग्नीटिव डिस्ऑर्डर
Ans. (b)


34. जुनूनी−बाध्यकारी विकार (ओसीडी) का सफलतापूर्वक इलाज निम्न का उपयोग करके किया जा सकता है−
(a
) संज्ञानात्मक व्यवहार सिद्धांत
(b) मसाज थैरेपी
(c) एंटीडिप्रेसेंट दवा
(d) प्रणालीगत परिवार थेरेपी
Ans. (a)


35. बच्चे को चोट लगने के बारे में लगभग प्रतिदिन चिंता होती है। इसका कारण ______ है।
(a
) स्वलीनता
(b) ध्यानाभाव एवं अतिसक्रियता विकार
(c) चिंता विकार
(d) अधिगम अक्षमता
Ans. (c)


36. असमान्यता को परिभाषित करते समय इनमें से किसमें नाखुशी शामिल है :
(a
) स्वयं/अन्य के लिए घातक (b) विचलन
(c) विकार (d) अत्यधिक पीड़ा
Ans. (d)


37. कुछ बच्चे लंबे समय तक घर से दूर रहने के बाद भी‚ घर से दूर होने पर अत्यधिक चिंता का अनुभव करते हैं। वे किस से पीड़ित हो सकते हैं?
(a
) स्कूल फोबिया (b) सामाजिक चिंता
(c) आचरण विकार (d) अलगाव की चिंता
Ans. (d)


38. एक चिंता विकार की विशेषता है :
(a
) एक अत्यधिक या उत्तेजित स्थिति जो कि आशंका‚ अनिश्चितता और भय की भावनाओं की विशेषता है।
(b) विकृत चिंतन
(c) अत्यधिक जाँच द्वारा वर्गीकृत एक भावनात्मक स्थिति
(d) पैनिक अटैक की वजह से एक भावनात्मक स्थिति
Ans. (a)


<
–nextpage–>

21. समस्याग्रस्त बालक पहचान एवं निदानात्मक पक्ष समस्यात्मक बालक का अर्थ एवं प्रकार

1. दुबले-पतले एवं क्षीण शरीर तथा कमजोर हृदय वाले बच्चों को कहा जाता है
(a
) समस्यात्मक बालक (b) अपंग बालक
(c) पिछड़ा बालक (d) नाजुक बालक।
Ans: (a)


2. समस्या बालक है−
(a
) चोरी करने वाला
(b) झूठ बोलने वाला
(c) माता-पिता का कहना न मानने वाला
(d) इनमें से सभी।
Ans: (d)


3. उपचारात्मक विधि का प्रयोग जिनके लिए किया जाता है‚ वे हैं
(a
) सामान्य बच्चे
(b) समस्यात्मक बच्चे
(c) सामान्य तथा समस्यात्मक बच्चे
(d) प्रतिभाशाली बच्चे
Ans: (b)


4. बच्चों की झूठ बोलने की आदत को सुधार सकते हैं−
(a
) उन्हें दंड देकर
(b) झूठ के कुप्रभावों पर भाषण देकर
(c) सच बोलने वाले बच्चो के उदाहरण देकर
(d) सच बोलने वाले बच्चे को पारितोषिक देकर
Ans: (d)


5. समस्यात्मक बालक के व्यवहार में परिवर्तन लाने हेतु आप क्या प्रयास करेंगे?
(a
) बालक के वातावरण और दृष्टिकोण में परिवर्तन लाने का प्रयास करेंगे।
(b) बालक को दंड देकर सुधारने का प्रयास करेंगे।
(c) उस पर घ्यान नहीं देंगे।
(d) उसकों कक्षा में आगे की पंक्ति में स्थान देंगे।
Ans: (a)


6. आपकी कक्षा के एक विद्यार्थी में झूठ बोलने की आदत है। आप उसके साथ कैसा व्यवहार करेंगे?
(a
) झूठ न बोलने के लिए कहेंगे
(b) उसे सजा देंगे
(c) उसकी उपेक्षा करेंगे
(d) उसे विश्वास में लेंगे एवं परामर्श देंगे
Ans: (d)


7. छात्रों में चोरी करने की आदत को कैसे दूर किया जा सकता है?
(a
) बालकों को पारितोषिक देकर (b) उदाहरण देकर
(c) ताड़ना देकर (d) सजा देकर।
Ans: (b)


8. आप एक अतिसक्रिय बालक को कैसे सही दिशा में लाएँगे?
(a
) उसे पहली पंक्ति में बिठाएँगे तथा उस पर कड़ी नजर रखेंगे
(b) उसे कक्षा में कोने में बैठने की जगह निर्धारित करेंगे
(c) उसे श्यामपट्ट आदि साफ करने का काम देंगे
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans : (c)


9. निम्नलिखित में से कौन-सा उपागम अशांतकारी व्यवहार सम्बन्धी विकार वाले बच्चों के साथ व्यवहार करने के लिए बच्चे को उसके आस-पास के लोगों और सामाजिक संस्थाओं के साथ अंत:क्रिया करने का सुझाव देता है?
(a
) मनोगत्यात्मक (b) पर्यावरणीय
(c) जीव वैज्ञानिक (d) व्यवहारवादी
Ans: (b)


10. यदि शिक्षक कक्षा में एक छात्र को समस्यात्मक बालक के रूप में पाता है‚ तो उसे
(a
) बच्चे को दण्ड देना चाहिए
(b) बच्चे को नजरअंदाज कर देना चाहिए
(c) बच्चे को परामर्श देना चाहिए
(d) तत्काल घर वापस भेज देना चाहिए
Ans. (c)


<
–nextpage–>

22. बाल−अपराध‚ कारण एवं प्रकार

1. आई. पी. सी. का अर्थ है :
(a
) इण्डियन पोस्टल कोड (b) इंडियन पेनल कोड
(c) इण्डियन पब्लिक कोर्ट (d) इनमें से कोई नहीं
Ans: (b)


2. सामाजिक नियमों व कानूनों के विरुद्ध व्यवहार करने वाला बालक कहलाता है-
(a
) पिछड़ा बालक (b) मंदबुद्धि बालक
(c) जड़बुद्धि बालक (d) बाल अपराधी
Ans: (d)


3. बालक में अपराधी प्रवृत्ति के विकसित होने का मुख्य कारण है
(a
) परिवार का वातावरण (b) अनुशासनहीनता
(c) आर्थिक अभाव (d) दोषपूर्ण पाठ्यक्रम
Ans: (a)


4. अपराधी बालक कौन होते हैं?
(a
) जो असामाजिक कार्य करते हैं
(b) जो शिक्षक के लिए सिरदर्द होते हैं
(c) जो कक्षा में अव्वल आते हैं
(d) जो समाज में रहना पसंद नहीं करते हैं
Ans : (a)


<
–nextpage–>

23. निर्देशन एवं परामर्श निर्देशन का अर्थ प्रकार एवं आवश्यकता

1. वह प्रक्रिया जिसमें व्यक्ति उसके स्वयं के प्रयासों के द्वारा अपनी क्षमताओं को पहचानता है व उनको विकसित करता है‚ ताकि वह वातावरण में समायोजित हो सके :
(a
) मार्गदर्शन (b) परामर्श
(c) अभिप्रेरणा (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (a)


2. किसी व्यक्तिगत समस्या हेतु 1:1 निर्देशन कहलाता है:- उत्तर: व्यक्तिगत निर्देशन UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-किसी व्यक्तिगत समस्या हेतु 1:1 निर्देशन व्यक्तिगत निर्देशन कहलाता है। इस विधि में एक समय में केवल एक छात्र को ही निर्देशन दिया जाता है। महँगी होने के कारण इस विधि का प्रयोग कम किया जाता है।


3. व्यावसायिक निर्देशन का प्रयोग सर्वप्रथम किसने किया?
(a
) मायर (b) पारसन्स
(c) हॉक (d) ब्रेवर
Ans : (b)


4. विलियमसन के अनुसार‚ निम्नलिखित में से कौन निर्देशात्मक परामर्श का लाभ है?
(a
) भावनात्मक पहलू के बजाय बौद्धिकता पर जोर दिया जाता है।
(b) कुशल और आश्वस्त होने के लिए परामर्श लेने वाले का मार्गदर्शन नहीं करता है।
(c) परामर्श लेने वाले को निर्भर बनाना
(d) पहल को दबाना
Ans. (a)


5. एक छात्र को मार्गदर्शन देने के लिए एक अध्यापक को जानना अत्यावश्यक है
(a
) अधिगम की कठिनाई को (b) उसके व्यक्तित्व को
(c) उसके घर के वातावरण को (d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


6. परामर्श का उद्देश्य है
(a
) बच्चे को समझना
(b) बच्चे की कमियों का कारण पता करना
(c) बच्चे को समायोजन में सहायता प्रदान करना
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


7. निम्नलिखित में से कौन-सी ग्रहणशील परामर्श दृष्टिकोण (इलेक्टिक काउंसिलिंग एप्रोच) की सीमा है?
(a
) इस परामर्श दृष्टिकोण की गत्यात्मक विशेषता को नियंत्रित करने के लिए अत्यधिक कुशल परामर्शदाताओं की आवश्यकता होती है
(b) परामर्श का अधिक सुविधाजनक दृष्टिकोण
(c) अत्यधिक प्रभावी और व्यावहारिक दृष्टिकोण
(d) परामर्श के अधिक लक्ष्य और समन्वित दृष्टिकोण
Ans. (a)


8. परामर्श में ______ शामिल होता है।
(a
) परामर्शदाता और व्यक्ति के बीच विचारों का आदान− प्रदान और परामर्श
(b) केवल व्यक्ति को परामर्शदाता से सलाह लेना चाहिए।
(c) केवल परामर्शदाता के साथ व्यक्ति द्वारा समस्या साझा करना।
(d) जरूरत वाले बच्चों के साथ मुद्दों की पहचान करने वाले विद्यालय
Ans. (a)


9. निम्नलिखित में से कौन-सा तरीका है जिससे कि शिक्षक विद्यालयी शिक्षा में विशेष आवश्यकताओं वाले बच्चों का मार्गदर्शन कर सकते हैं?
(a
) अधिक चुनौतीपूर्ण कार्य देना
(b) अधिक परीक्षण देना
(c) सहयोग और सुझाव देना
(d) अधिक गृहकार्य प्रदान करना
Ans. (c)


10. जब शिक्षक विद्यालयी शिक्षा में विशेष आवश्यकताओं वाले बच्चों के मार्गदर्शन और परामर्श में व्यस्त रहते हैं‚ तो निम्न में से क्या सत्य है?
(a
) शिक्षक का अपना व्यावसायिक विकास स्पष्ट है।
(b) शिक्षक प्रोत्साहन‚ मान्यता और पदोन्नति पा सकते हैं।
(c) शिक्षक के मार्गदर्शन में‚ छात्र अधिगम की प्रक्रिया में सुरक्षित और अधिक व्यस्त महसूस करेंगे।
(d) शिक्षक के मार्गदर्शन में‚ छात्रों को विशेष अवधान प्राप्त होता है।
Ans. (c)


11. अगर शिक्षक छात्र को विषय चुनने में मदद करे तो यह उसकी कौन सी भूमिका है? उत्तर: परामर्शदाता की/ सुविधा प्रदाता की UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-अगर शिक्षक छात्रों को विषय चुनने में मदद करे तो यह उसकी प्ररामर्शदाता या सुविधाप्रदाता की भूमिका को दर्शाता है। एक कुशल शिक्षक अपने विद्यार्थियों के बौद्धिक विकास के साथसाथ परामर्श सुविधाएँ भी प्रदान करता है। यह परामर्श सुविधाएँ दो प्रकार की होती है- शैक्षिक परामर्श और गैर शैक्षिक परामर्श। शैक्षिक परामर्श के अंतर्गत पाठ्यक्रमों की उपयुक्तता व भावी संभावनाएँ‚ अध्ययन की तैयारी‚ प्रवेश के अवसर‚ उन्नयन के अवसर आदि परामर्श शामिल किये जाते हैं जबकि गैर शैक्षिक परामर्श भावात्मक मुद्दो से सम्बन्धित होता है।


12. आपकी कक्षा की एक लड़की की रुचि स्पोर्ट्स में है और वह स्पोर्ट्स में अपने कैरियर को बढ़ाना चाहती है। आप उसे क्या परामर्श देंगे?
(a
) लड़कियों का खेल जगत में कोई भविष्य नहीं है
(b) उसे अपनी आकांक्षा की पूर्ति हेतु कठोर परिश्रम करना चाहिए
(c) उसे सिर्फ पढ़ाई में ध्यान लगाने को कहेंगे
(d) लड़कियाँ खेलों में उत्कृष्ट नहीं कर सकती क्योंकि वे शारीरिक रूप से कमजोर होती है
Ans: (b)


13. विद्यार्थियों को दिये जाने वाले परामर्श की सर्वाधिक उपयोगिता यह है कि
(a
) इससे उनका ज्ञान बढ़ता है
(b) उनका कौशल बढ़ता है
(c) उनमें आत्मविश्वास की अभिवृद्धि होती है
(d) वे दुनियादारी में सफल बन जाते हैं
Ans: (c)


14. एक बच्चा प्राय: अपने सहपाठियों के साथ झगड़ता है‚ आप क्या करेंगे?
(a
) आप बच्चे को सजा देंगे
(b) आप बच्चे को विद्यालय से निकाल देंगे
(c) आप कारण पता लगाने का प्रयास करेंगे तथा उसे परामर्श देंगे
(d) आप उसके माता-पिता से शिकायत करेंगे
Ans: (c)


15. यदि एक विद्यार्थी विद्यालय में लगातार निम्नतर श्रेणी प्राप्त करता है‚ तो उसके अभिभावक को उसकी सहायता हेतु परामर्श दिया जा सकता है कि –
(a
) वह अध्यापकों की घनिष्ठ संगति में कार्य करें
(b) मोबाइल फोन‚ चलचित्र‚ कॉमिक्स‚ खेल हेतु अतिरिक्त पर रोक लगाएँ
(c) जो भलीभांति शिक्षा नहीं ले पाए उनकी जीवन-सम्बन्धी कठिनाइयों को वर्णन करें
(d) घर पर उसको परिश्रमपूर्वक कार्य करने पर बल दें
Ans:(a)


<
–nextpage–>

24. क्रियात्मक अनुसंधान

1. व्यक्ति से संवाद करने की प्रक्रिया क्या कहलाती है?
(a
) सम्प्रेषण
(b) ग्राह्यता
(c) प्रदाता
(d) संचारकत्र्ता।
Ans: (a)


2. एक शोधकर्ता के रूप में आप निम्नलिखित में से कौन से शीर्षक को अनुसंधान प्रस्ताव में सम्मिलित नहीं करेंगे?
(a
) अनुसंधान समस्या की पृष्ठभूमि
(b) अनुसंधान के उपकरण
(c) अनुसंधान के लिए मूल विस्तृत व्याख्या
(d) अनुसंधान की परिकल्पनाएँ
Ans: (c)


3. निम्नलिखित में से कौन सा चिन्तन अनुसंधान से सम्बन्धित है?
(a
) परम्परागत चिन्तन
(b) विकेन्द्रित चिन्तन
(c) वैज्ञानिक चिन्तन
(d) ये सभी
Ans: (d)


4. स्कूल प्रशासन कमजोर बच्चों के लिए आयोजित अतिरिक्त कक्षाओं में से कुछ आपको आवंटित करता है। एक अध्यापक के रूप में आपकी क्या प्रतिक्रिया होगी?
(a
) प्रतिवाद करेंगे और कक्षा नहीं लेंगे
(b) निर्णय के पुनर्विचार का आग्रह करेंगे
(c) विद्यार्थियों से कहेंगे कि वे स्वयं तैयारी करें
(d) इसे अपने दायित्व के रूप में स्वीकार करेंगे
Ans: (d)


5. निम्न में से कौन-सा शोध का चरण शोध को क्रियात्मक अनुसन्धान बनाता है?
(a
) उपकल्पनाओं का निर्माण
(b) प्रोग्राम का क्रियान्वयन एवं अंतिम मूल्यांकन
(c) सामान्यीकरण
(d) शोध आकल्प का अपरिवर्तन/कठोर होना।
Ans: (b)


6. निम्न में से कौन-सी समस्या क्रियात्मक अनुसन्धान के लिये उपयुक्त नहीं है?
(a
) हिन्दी में 5वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लेख में सुधार
(b) 7वीं कक्षा के विद्यार्थियों के व्यवहार पर लिखित प्रशंसा एवं मौखिक प्रशंसा के प्रभाव का तुलनात्मक अध्ययन
(c) परम्परागत विधि के ऊपर कम्प्यूटर सहायतित अनुदेशन का प्रभाव
(d) भूगोल के अधिगम में एटलस एवं ग्लोब का प्रयोग।
Ans: (c)


7. क्रियात्मक अनुसन्धान के सम्बन्ध में निम्न में से कौन-सा कथन सही नहीं है?
(a
) यह अध्यापकों एवं शिक्षा व्यवसाय से जुड़े लोगों के द्वारा किया जाता है
(b) यह किसी विशिष्ट समस्या के समाधान के लिए किया जाता है
(c) व्यापक स्तर पर निर्णय लेने के लिए सूचना संकलन का कार्य इसमें किया जाता है
(d) स्थानीय स्तर पर रोजमर्रा की समस्याओं के समाधान के लिये क्रियात्मक अनुसन्धान किया जाता है।
Ans: (c)


8. क्रियात्मक अनुसन्धान मौलिक अनुसन्धान से भिन्न है क्योंकि यह
(a
) अध्यापकों‚ शैक्षिक प्रबन्धकों एवं प्रशासकों द्वारा किया जाता है
(b) शोधकर्ताओं द्वारा किया जाता है जिनका विद्यालय से कोई सम्बन्ध नहीं होता
(c) यह सांख्यिकीय उपकरणों पर आधारित होता है
(d) यह न्यादर्श पर आधारित होता है।
Ans: (a)


9. क्रियात्मक अनुसन्धान में
(a
) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण समस्याओं के कारणों पर आधारित है
(b) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण किसी तर्कयुक्त विवेक पर आधारित है।
(c) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण इस प्रकार किया जाता है ताकि उनका सांख्यिकीय सत्यापन किया जा सके
(d) क्रियात्मक उपकल्पनाओं का निर्माण नहीं किया जाता।
Ans: (a)


10. उच्च प्राथमिक स्तर पर शिक्षक को क्रियात्मक शोध का ज्ञान होना चाहिए क्योंकि वे−
(a
) इसके माध्यम से बच्चों की समस्या की पहचान कर सुधार करने का कौशल विकसित कर पाएंगे
(b) अपना स्वयं का विकास कर पाएंगे
(c) बच्चों को प्रभावी ढंग से पढ़ा पाएंगे
(d) शोध करने का कौशल विकसित कर पाएंगे
Ans : (a)


11. क्रियात्मक अनुसन्धान का उद्देश्य है
(a
) नवीन ज्ञान की खोज
(b) शैक्षिक परिस्थितियों में व्यवहार विज्ञान का विकास
(c) विद्यालय तथा कक्षा की शैक्षिक कार्य प्रणाली में सुधार लाना
(d) इनमें से सभी।
Ans: (c)


12. क्रियात्मक अनुसंधान का प्रमुख कार्य है-
(a
) नए तथ्यों की खोज करना
(b) स्थानीय समस्याओं का समाधान करना
(c) ज्ञान देना
(d) नई व आधारभूत समस्याओं का समाधान करना
Ans: (b)


<
–nextpage–>

25. बालकों का सोचना और सीखना तथा विद्यालय प्रदर्शन में असफलता के कारण अधिगम का अर्थ

1. अभ्यास द्वारा सीखना जिसका परिमार्जन है‚ वह है−
(a
) अभिप्रेरणा (b) व्यवहार
(c) मूल प्रवृत्ति (d) अन्तर्नोद
Ans: (b)


2. व्यावहारिक क्षमताओं में वह सापेक्ष स्थायी परिवर्तन जो कि प्रबलित अभ्यास का परिणाम होता है‚ उसे क्या कहते हैं?
(a
) अधिगम (b) अभिप्रेरणा
(c) अभिवृत्ति (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (a)


3. अधिगम का सबसे उपयुक्त कार्य है-
(a
) व्यक्तिगत समायोजन
(b) सामाजिक व राजनीतिक चेतना
(c) व्यवहार परिवर्तन
(d) स्वयं को रोजगार के लिए तैयार करना
Ans: (c)


4. व्यावहारिक क्षमताओं में वह सापेक्ष स्थायी परिवर्तन जो कि प्रचलित अभ्यास का परिणाम होता है उसे क्या कहते हैं –
(a
) अधिगम (b) अभिप्रेरणा
(c) अभिवृत्ति (d) अभिक्षमता
Ans : (a)


5. अनुभव द्वारा व्यवहार में परिवर्तन कहलाता है
(a
) स्मृति (b) सीखना
(c) प्रेरणा (d) चिन्तन
Ans : (b)


6. सीखना है
(a
) व्यवहार में परिवर्तन
(b) अनुभव तथा अभ्यास का परिणाम
(c) व्यवहार में अपेक्षाकृत स्थायी परिवर्तन
(d) ये सभी
Ans: (d)


7. सीखने का सर्वाधिक उपयुक्त अर्थ है
(a
) कौशल अर्जन (b) ज्ञानार्जन
(c) व्यवहार में परिमार्जन (d) वैयक्तिक समायोजन
Ans : (c)


8. व्यवहार में होने वाले स्थायी परिवर्तन‚ जो अभ्यास के कारण होते हैं‚ को कहा जाता है
(a
) सीखना (b) सोचना
(c) क्रिया करना (d) कल्पना करना
Ans : (a)


9. जब शिक्षार्थियों को समूह में किसी समस्या पर चर्चा का अवसर दिया जाता है‚ तब उनके सीखने का वक्र
(a
) बेहतर होता है (b) स्थिर रहता है
(c) अवनत होता है (d) समान रहता है
Ans : (a)


10. निम्नलिखित में से किस कथन को ‘सीखने’ के लक्षण के रूप में नहीं माना जा सकता?
(a
) व्यवहार का अध्ययन सीखना है
(b) अन-अधिगम (unlearning) भी सीखने का एक हिस्सा है
(c) सीखना एक प्रक्रिया है जो व्यवहार में मध्यस्थता करती है।
(d) सीखना कुछ ऐसी चीज है जो कुछ अनुभवों के परिणामस्वरूप घटित होती है
Ans: (a)


11. अभ्यास के अधिगम पर प्रभाव के एक प्रयोग में अधिगम होगा−
(a
) स्वतत्रं चर (b) परतत्रं चर
(c) अन्य चर (d) स्थिर चर
Ans : (b)


12. अधिगम को एक जीव के _______ में अपेक्षाकृत स्थायी परिवर्तन लाने की प्रक्रिया के रूप में परिभाषित किया गया है।
(a
) व्यवहार (b) विचार
(c) व्यक्तित्व (d) बुद्धि
Ans. (a)


13. निम्नलिखित में से कौन-सा ‘अधिगम’ का सबसे अच्छा वर्णन करता है?
(a
) शिक्षक को सुनने के माध्यम से ज्ञान और कौशल प्राप्त करने की प्रक्रिया
(b) मूल संस्मरण के माध्यम से तथ्यों और जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया
(c) पढ़ने और लिखने के लिए जानकारी इकट्ठा करने की प्रक्रिया
(d) अपने विचारों‚ अनुभवों‚ अध्ययन इंद्रियों और साझाकरण के माध्यम से ज्ञान‚ कौशल और निपटान प्राप्त करने की प्रक्रिया
Ans. (d)


14. निम्नलिखित में से कौन सा कथन सत्य है?
(a
) वृद्धि केवल एक मानसिक प्रक्रिया है
(b) अनुवांशिकता‚ अधिगम प्रक्रिया को प्रभावित नहीं करती है
(c) विकास‚ केवल एक मात्रात्मक प्रक्रिया है।
(d) अधिगम व्यावहारिक परिवर्तनों की प्रक्रिया है।
Ans. (d)


15. सामान्यत: अधिगम‚ निम्न पर आधारित व्यवहार में एक स्थायी परिवर्तन माना जाता है−
(a
) चुनौतियाँ और सुदृढ़ीकरण
(b) चुनौतियाँ और अनुभव
(c) अभ्यास और अनुभव
(d) अभ्यास और चुनौतियाँ
Ans. (c)


16. …………. के कारण होने वाले किसी भी परिवर्तन को अधिगम माना जाता है।
(a
) चोट (b) थकान
(c) परिपक्वता (d) अभ्यास
Ans. (d)


17. अधिगम का शिक्षा में योगदान है-
(a
) व्यवहार परिवर्तन में
(b) नवीन अनुभव प्राप्त करने में
(c) समायोजन में
(d) उपर्युक्त सभी
Ans: (d)


18. निम्नलिखित में से कौन सा अधिगम के सार्थक सरलीकरण के रूप में परिणीत नहीं होता है?
(a
) दोहराने एवं स्मरण करने को बढ़ावा देना।
(b) उदाहरणों एवं गैर-उदाहरणों का प्रयोग करना।
(c) एक समस्या पर अनेक तरीकों से विचार करने के लिए प्रोत्साहित करना।
(d) पहले से विद्यमान ज्ञान से नए ज्ञान को जोड़ना।
Ans. (a)


19. निम्नलिखित में से कौन सी प्रथाएँ सार्थक अधिगम को बढ़ावा देती हैं?
(i) शारीरिक दंड (ii) सहयोगात्मक अधिगम पर्यावरण (iii) सतत् एवं समग्र मूल्यांकन (iv) निरंतर तुलनात्मक मूल्यांकन
(a
) (i), (ii), (iii) (b) (ii), (iii), (iv)
(c) (i), (ii) (d) (ii), (iii)
Ans. (d)


20. निम्नलिखित में से कौन से कारक अधिगम को प्रभावित करते हैं?
(1) विद्यार्थी की अभिरुचि
(2) विद्यार्थी का सांवेगिक स्वास्थ्य
(3) शिक्षाशाध्Eाीय रणनीतियाँ
(4) विद्यार्थी का सामाजिक एवं सांस्कृतिक संदर्भ
(a
) (ii), (iii) (b) (i), (ii), (iii)
(c) (i), (ii), (iii), (iv) (d) (i), (ii)
Ans. (c)


21. बालकों का अधिगम सर्वाधिक प्रभावशाली होगा‚ जब−
(a
) पढ़ने−लिखने एवं गणितीय कुशलताओं पर ही बल होगा
(b) बालकों का संज्ञानात्मक‚ भावात्मक तथा मनोचालक पक्षों का विकास होगा
(c) शिक्षण व्यवस्था एकाधिकारवादी होगी
(d) शिक्षक अधिगम प्रक्रिया में आगे होकर बालकों को निष्क्रिय रखेगा।
Ans. (b)


22. निम्नलिखित में से कौन-सा विकल्प अधिगम के संबंध में सही नही है?
(a
) अधिगम समायोजन है (b) अधिगम सिर्फ ज्ञान प्राप्ति है
(c) अधिगम विकास है (d) अधिगम परिपक्वता है
Ans: (b)


23. अधिगम के लिए क्या आवश्यक है?
(a
) स्वानुभव (b) स्वचिंतन
(c) स्वक्रिया (d) उपर्युक्त सभी
Ans: (d)


24. सीखने की परिघटना में निम्नलिखित में से कौन आवश्यक घटक नहीं है?
(a
) अधिगमकर्ता (b) आंतरिक अवस्था
(c) प्रेरक (d) शिक्षक
Ans: (d)


25. निम्न में से कौन-सा उदाहरण अधिगम को प्रदर्शित करता है?
(a
) हाथ जोड़ कर अध्यापक का अभिवादन करना
(b) स्वादिष्ट भोजन देख कर मुँह में लार का आना
(c) चलना‚ भागना एवं पंâेकना तीन से पाँच वर्ष की अवस्था में
(d) इनमें से सभी।
Ans: (c)


26. निम्न आर्थिक स्तर का प्रभाव निम्न में से किस पर नहीं पड़ता है?
(a
) आत्मसम्मान पर (b) सीखने की क्षमता पर
(c) उच्च संस्थान में प्रवेश पर (d) जीवन-यापन पर
Ans: (b)


27. निम्नलिखित में से कौन−सा एक सीखने के लिए प्रमुख है?
(a
) अनुबंधन (b) रटकर याद करना
(c) अनुकरण (d) अर्थ−निर्माण
Ans : (d)


28. निम्न में से कौन−से कथन सीखने की प्रक्रिया की विशेषता नहीं मानना चाहिए?
(a
) शैक्षिक संस्थान ही एकमात्र स्थान है जहाँ अधिगम प्राप्त होता है
(b) सीखना एक व्यापक प्रक्रिया है
(c) सीखना लक्ष्योन्मुखी होता है
(d) अन−अधिगम भी सीखने की प्रक्रिया है
Ans : (a)


29. निम्नलिखित में से किस एक से शिशु के अधिगम को सहायता नहीं मिलती?
(a
) अनुकरण (b) अभिप्रेरणा
(c) स्कूल का बस्ता (d) पुरस्कार
Ans : (c)


30. अधिगम क्षमता निम्नलिखित में से किससे प्रभावित नहीं होती?
(a
) आनुवंशिकता (b) वातावरण
(c) प्रशिक्षण/शिक्षण (d) राष्ट्रीयता
Ans : (d)


31. सीखना
(a
) सीखने वाले के संवेगों से प्रभावित नहीं होता है
(b) संवेगों से क्षीण संबंध रखता है
(c) सीखने वाले के संवेगों से स्वतंत्र है
(d) सीखने वाले के संवेगों से प्रभावित होता है
Ans : (d)


32. गैग्ने के अधिगम सोपान का सही क्रम है−
(a
) नियम अधिगम‚ सम्प्रत्यय अधिगम‚ समस्या समाधान
(b) सम्प्रत्यय अधिगम‚ समस्या समाधान‚ नियम अधिगम
(c) सम्प्रत्यय अधिगम‚ नियम अधिगम‚ समस्या समाधान
(d) नियम अधिगम‚ समस्या समाधान‚ सम्प्रत्यय अधिगम
Ans : (c)


33. रिक्त स्थान भरिए: ‘‘गैने के अधिगम पदानुक्रम में अधिगम की सर्वोच्च अवस्था है……?……’’ उत्तर: समस्या-समाधान UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या- गैने ने सीखने को आठ वर्गों में वर्गीकृत करते हुए उन्हें एक अधिगम सोपानिकी के रूप में प्रस्तुत किया। इस अधिगम सोपानिकी के आठ वर्गों में ऐ सुस्पष्ट अंतनिर्हित क्रम व्यवस्थित है तथा अगला क्रम पिछले क्रम से उच्चतर अथवा जटिलतर होता जाता है।


34. निम्नलिखित में से कौन सा अधिगम का क्षेत्र नहीं है?
(a
) संज्ञानात्मक (b) भावात्मक
(c) क्रियात्मक (d) आध्यात्मिक
Ans: (d)


35. संकेत अधिगम के अन्तर्गत निम्नलिखित सीखा जाता है
(a
) मनोविज्ञान (b) पारम्परिक अनुकूलन
(c) वातावरण (d) मनोदैहिक
Ans: (b)


36. गैग्ने निम्न में किससे सम्बन्धित है?
(a
) अधिगम का श्रेणीक्रम (b) अधिगम के सिद्धांत
(c) अधिगम का मूल्यांकन (d) अधिगम का प्रबन्धन
Ans : (a)


37. व्यवहार का ‘करना’ पक्ष ….. में आता है।
(a
) सीखने के गतिक काग्नेटिक क्षेत्र
(b) सीखने के मनोवैज्ञानिक क्षेत्र
(c) सीखने के संज्ञानात्मक क्षेत्र
(d) सीखने के भावात्मक क्षेत्र
Ans: (a)


38. निम्नलिखित में से कौन−सा सीखने का क्षेत्र है?
(a
) व्यावसायिक (b) आनुभविक
(c) भावात्मक (d) आध्यात्मिक
Ans : (c)


39. निम्नलिखित में से किस प्रकार के अधिगम को गेने ने अपनी अधिगम सोपानिकी में सर्वाधिक निम्न स्थान पर रखा है?
(a
) प्रत्यय अधिगम (b) शाब्दिक अधिगम
(c) संकेत अधिगम (d) शृंखला अधिगम
Ans. (c)


40. कौशल सीखने की पहली अवस्था है
(a
) यथार्थता (b) कल्पनाशीलता
(c) समन्वय (d) अनुकरण
Ans : (d)


41. प्रतिपालन अधिगम का एक विशिष्ट चरण है‚ जो अधिगम के ……………… चरण का पूर्ववर्ती है।
(a
) अधिग्रहण (b) अभिप्रेरण
(c) आत्मनिर्भरता (d) सामान्यीकरण
Ans. (d)


42. निम्नलिखित में से कौन सी एक मुख्य प्रक्रिया नहीं है जिसके द्वारा सार्थक अधिगम घटित होता है?
(a
) पुनरावृत्ति एवं अभ्यास
(b) निर्देश एवं संचालन
(c) अन्वेषण एवं पारस्परिक क्रिया
(d) कंठस्थीकरण एवं स्मरण
Ans : (d)


43. बालक विविध प्रकार से सीखते हैं
(a
) शिक्षक के भाषण द्वारा
(b) प्रयोग द्वारा‚ विवेचन द्वारा‚ प्रश्न पूछकर‚ क्रिया करके तथा चिन्तन करके
(c) शिक्षक द्वारा निर्देशित‚ नियंत्रित पाठ्यपुस्तक आधारित शिक्षण द्वारा
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: (b)


44. कौशल को सीखने में पहली अवस्था होती है
(a
) यथार्थता (b) चालाकी
(c) समन्वयन (d) अनुकरण
Ans: (d)


45. पढ़ने की वह तकनीक जिसका उपयोग तालिका में स्थित शब्दावली तथा प्रसंग में किया जा सकता है‚ कहलाता है
(a
) की-रीडिंग (b) री-रीडिंग
(c) स्कैनिंग (d) स्किमिंग
Ans: (c)


46. दूसरे व्यक्ति के बाह्य व्यवहार की नकल है –
(a
) सीखना (b) अनुकरण
(c) कल्पना (d) चिन्तन
Ans : (b)


47. बच्चा किस प्रकार सीखता है?
(a
) पुस्तकें पढ़कर (b) परिचर्चा द्वारा
(c) प्रश्न पूछकर (d) कई प्रकार से
Ans: (d)


48. बच्चे किस प्रकार से सीखते हैं? नीचे दिए गए कथनो में से कौन-सा इस प्रश्न के विषय में सही नहीं है?
(a
) बच्चे केवल कक्षा में सीखते हैं।
(b) बच्चे तब सीखते हैं जब वे संज्ञानात्मक रूप से तैयार होते हैं।
(c) बच्चे अनेकों प्रकार से सीखते हैं।
(d) बच्चे सीखते हैं क्योंकि वे स्वाभाविक रूप से प्रेरित होते हैं।
Ans : (a)


49. आप अनपढ़ माता−पिता के बच्चे को अंग्रेजी सिखाना चाहते हैं−
(a
) आप बच्चे से अंग्रेजी में बात करेंगे
(b) आप बच्चे को अंग्रेजी में बोलने के लिए बाध्य करेंगे
(c) आप बच्चे को मातृभाषा में बोलने से रोकेंगे
(d) आप उसे मातृ−भाषा की सहायता से अंगे्रजी सिखाने का प्रयास करेंगे
Ans : (d)


50. किस मनोवैज्ञानिक ने सीखने की सामग्री के रूप में निरर्थक शब्दों का प्रयोग किया?
(a
) विलियम जेम्स (b) स्किनर
(c) एबिंगहॉस (d) बार्टलेट
Ans : (c)


51. जब बच्चा कार्य करते हुए ऊबने लगता है‚ तो यह इस बात का संकेत है कि−
(a
) संभवत: कार्य यांत्रिक रूप से बार-बार हो रहा है
(b) बच्चा बुद्धिमान नहीं है
(c) बच्चे में सीखने की योग्यता नहीं है
(d) बच्चे को अनुशासित करने की .जरूरत है
Ans: (a)


52. निम्न में से कौन−सा अधिगम का वक्र नहीं है?
(a
) नतोदर (b) मिश्रित
(c) लम्बवत् (d) उन्नतोदर (उत्तल)
Ans. (c)


53. निम्न में से कौन-सा अधिगम के पठार का कारण नहीं है?
(a
) प्रेरणा की सीमा (b) विद्यालय का असहयोग
(c) शारीरिक सीमा (d) ज्ञान की सीमा
Ans : (b)


54. अधिगम वक्र में पठार बनता है
(a
) परिपक्वता के कारण (b) अभिप्रेरणा के कारण
(c) थकान के कारण (d) अभिरुचि के कारण
Ans : (c)


55. जिस वक्र रेखा में प्रारम्भ में सीखने की गति तीव्र होती है और बाद में यह क्रमश: मन्द होती जाती है‚ उसे कहते हैं
(a
) उन्नतोदर वक्र (Convex Curve)
(b) नतोदर वक्र (Concave Curve)
(c) मिश्रित वक्र रेखा (Combination Curve Line)
(d) वक्र रेखा नहीं होती है
Ans : (a)


56. ‘सीखने के पठार’ के निराकरण के लिए क्या नहीं करना चाहिए?
(a
) सीखने वाले को प्रेरित और प्रोत्साहित करना चाहिए
(b) सीखने की अच्छी विधि का प्रयोग करना चाहिए
(c) उसे दण्डित करना चाहिए
(d) इनके कारणों का अध्ययन करना चाहिए
Ans : (c)


57. किसी शिक्षक को यदि यह लगता है कि उसका एक विद्यार्थी जो पहले विषय-वस्तु को भली प्रकार सीख रहा था। उसमें स्थिरता आ गई है। शिक्षक को इसे
(a
) सीखने की प्रक्रिया की स्वाभाविक स्थिति मानना चाहिए
(b) विषय को स्पष्टता से पढ़ाना चाहिए
(c) विद्यार्थी को प्रेरित करना चाहिए
(d) उपचारात्मक शिक्षण करना चाहिए
Ans : (a)


58. सीखने के वक्र
(a
) सीखने की प्रगति के सूचक है
(b) सीखने की मौलिकता के सूचक हैं
(c) सीखने के गत्यात्मक स्वरूप के सूचक हैं
(d) सीखने की रचनात्मकता के सूचक हैं
Ans : (a)


59. सीखने की वह अवधि‚ जब सीखने की प्रक्रिया में कोई उन्नति नहीं होती‚ कहलाती है
(a
) सीखने का वक्र (b) सीखने का पठार
(c) स्मृति (d) अवधान
Ans : (b)


60. अधिगम वक्र में पठार दर्शाता है−
(a
) विलोप (b) पुनर्बलन
(c) स्वत: पुन:प्राप्ति (d) शून्य अथवा नगण्य सुधार
Ans : (c)


61. अधिगम अनुभवों को इस प्रकार से आयोजित किया जाना चाहिए जिससे अधिगम को सार्थक बनाया जा सके। नीचे दिए गए अधिगम अनुभवों में से कौन-सा बच्चों के लिए सार्थक अधिगम को सुगम नहीं बनाता है?
(a
) विषय-वस्तु को केवल याद करने के आधार पर पुनरावृत्ति
(b) विषय-वस्तु पर प्रश्न बनाना
(c) प्रकरण पर परिचर्चा और वाद-विवाद
(d) प्रकरण पर प्रस्तुतीकरण
Ans : (a)


62. शिक्षार्थियों के बीच अधिगम शैली में अन्तर का कारण हो सकता है−
(a
) शिक्षार्थी की समाजीकरण प्रक्रिया
(b) शिक्षार्थी द्वारा अपनाई गई विचारणा नीति
(c) परिवार की आर्थिक स्थिति
(d) बालक का लालन-पालन
Ans: (b)


63. सुरेश सामान्य रूप से एक शांत कमरे में अकेले पढ़ना चाहता है‚ जबकि मदन एक समूह में अपने मित्रों के साथ पढ़ना चाहता है। यह उनके ……. में विभिन्नता के कारण है।
(a
) मूल्यों (b) अभिक्षमता
(c) अधिगम शैली (d) परावर्तकता -स्तर
Ans : (c)


64. सुरेश सामान्य रूप से एक शान्त कमरे में अकेले पढ़ना चाहता है‚ जबकि मदन एक समूह में अपने मित्रों के साथ पढ़ना चाहता है। यह उनके ………. में विभिन्नता के कारण है।
(a
) अभिक्षमता (b) अधिगम शैली
(c) परावर्तकता−स्तर (d) मूल्यों
Ans : (b)


65. निम्नलिखित में से कौन सा एक संबंधात्मक अधिगम शैली की विशेषता है?
(a
) अनुक्रमिक सोच
(b) संपूर्ण के हिस्से के रूप में सूचना की धारणा
(c) सहज ज्ञान युक्त अधिगम
(d) आशुरचना या तात्कालिक प्रदर्शन
Ans. (a)


66. जो छात्र कक्षा में दूसरों को परेशान करते हैं उनके पास ………… प्रकार की सीखने की शैली होने की संभावना होती है।
(a
) गतिसंवेदी (क्राइनेस्थेटिक) (b) स्पर्शनीय (टैक्टाइल)
(c) श्रवण (d) दृश्य
Ans. (a)


67. निम्न में से कौन-सा सीखने की शैली का एक उदाहरण है?
(a
) संग्रहण (b) तथ्यात्मक
(c) स्पर्श-सम्बन्धी (d) चाक्षुष
Ans: (d)


68. बच्चे के विकास के सिद्धान्तों को समझना शिक्षक की सहायता करता है –
(a
) शिक्षार्थियों को क्यों पढ़ाना चाहिए – यह औचित्य स्थापित करने में
(b) शिक्षार्थियों की भिन्न अधिगम-शैलियों को प्रभावी रूप में संबोधित करने में
(c) शिक्षार्थी के सामाजिक स्तर को पहचानने में
(d) शिक्षार्थी की आर्थिक पृष्ठभूमि को पहचानने में
Ans: (b)


69. शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में व्यक्तिगत रूप से ध्यान देना महत्वपूर्ण है‚ क्योंकि−
(a
) शिक्षार्थी हमेशा समूहों में ही बेहतर सीखते हैं।
(b) शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रमों में ऐसा ही बताया गया है।
(c) इससे प्रत्येक शिक्षार्थी को अनुशासित करने के लिए शिक्षकों को बेहतर अवसर मिलते हैं।
(d) बच्चों की विकास दर भिन्न होती है और वे भिन्न तरीकों से सीख सकते हैं।
Ans: (d)


70. स्कूटर चलाने वाले व्यक्ति द्वारा कार चलाना सीखते समय उसके पूर्व−अनुभवों का सहायक होना‚ किस प्रकार के अधिगम अंतरण का उदाहरण है?
(a
) क्षैतिज अन्तरण (b) धनात्मक अंतरण
(c) ऊध्र्व अंतरण (d) द्वि−पाश्र्विक अंतरण
Ans. (c)


71. एक बालक कक्षा में सीखे गए गणित का उपयोग किसी अन्य विषय के प्रश्न को हल करने में करता है‚ तो यह है−
(a
) अधिगम का सकारात्मक स्थानांतरण
(b) अधिगम का शून्य सथानांतरण
(c) अधिगम का नकारात्मक स्थानांतरण
(d) प्रेरणात्मक स्थानांतरण
Ans: (a)


72. एक विद्यार्थी गुणन के सवालों को हल करना सीखता है। वह अपने ‘जोड़’ के पूर्व ज्ञान का प्रयोग करता है। इस प्रकार के अधिगम अन्तरण को क्या कहा जाता है?
(a
) धनात्मक अन्तरण (b) क्षैतिज अन्तरण
(c) ऊध्र्व अन्तरण (d) द्विपार्श्िवक अन्तरण
Ans: (c)


73. अधिगम स्थानान्तरण की योग्यता को बढ़ाने के लिए अध्यापक को नहीं करना चाहिए
(a
) स्व-क्रिया को प्रोत्साहित करना
(b) रटने की प्रवृत्ति को प्रोत्साहित करना
(c) सूझ द्वारा सीखने का विकास करना
(d) सामान्यीकरण पर बल देना
Ans: (b)


74. शब्द IDENTICAL ELEMENTS (समान तत्व) निम्न से गहन सम्बन्ध रखता है
(a
) समान परीक्षा प्रश्न (b) सहयोगियों से ईष्र्या
(c) अधिगम स्थानान्तरण (d) समूह निर्देशन
Ans: (c)


75. एक क्रिकेट खिलाड़ी अपनी गेंदबाजी के कौशल को विकसित कर लेता है‚ पर यह उसके बल्लेबाजी के कौशल को प्रभावित नहीं करता। इसे कहते हैं
(a
) विधेयात्मक प्रशिक्षण अन्तरण
(b) निषेधात्मक प्रशिक्षण अन्तरण
(c) शून्य प्रशिक्षण अन्तरण
(d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (c)


76. सीखने का स्थानान्तरण है-
(a
) सीखी गई वस्तु को सँभालना
(b) सीखी हुई तरकीब का वैसा ही उपयोग
(c) सीखी हुई वस्तु का अन्य परिस्थिति में प्रयोग
(d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
Ans: (c)


77. दर्पण चित्र परीक्षण किसको मापने हेतु प्रयुक्त होता है?
(a
) अधिगम की गति (b) अधिगम-अन्तरण
(c) सृजनात्मकता (d) अभिरुचि
Ans : (b)


78. निम्न में कौन शेष से भिन्न है?
(a
) अधिगम के लिए अधिगम का सिद्धान्त
(b) समान अवयवों का सिद्धान्त
(c) ड्राइव रिडक्शन सिद्धान्त
(d) सामान्यीकरण का सिद्धान्त
Ans : (c)


79. यदि पूर्व ज्ञान व अनुभव नये प्रकार के सीखने में सहायता करते हैं‚ तो उसे कहते हैं-
(a
) नकारात्मक प्रशिक्षण स्थानान्तरण
(b) सकरात्मक प्रशिक्षण स्थानान्तरण
(c) प्रशिक्षण स्थानान्तरण
(d) सीखना
Ans : (b)


80. जब मानव शरीर के एक भाग को दिए गए प्रशिक्षण का अन्तरण दूसरे भाग में हो जाता है तो इसे कहते हैं –
(a
) ऊध्र्व अन्तरण (b) क्षैतिज अन्तरण
(c) द्विपार्श्िवक अन्तरण (d) उपरोक्त में से कोई नहा
Ans : (c)


81. एक परिस्थिति में अर्जित ज्ञान का दूसरी परिस्थिति में उपयोग कहलाता है
(a
) सीखने की विधियाँ (b) सीखने में स्थानान्तरण
(c) सीखने में पठार (d) सीखने में रुचि
Ans : (b)


82. अधिगम स्थानान्तरण के द्वि-तत्व सिद्धांत के प्रवर्तक थे।
(a
) थॉर्नडाइक (b) स्पीयरमैन
(c) जड (d) गिलफोर्ड
Ans : (b)


83. सीखे हुए ज्ञान‚ कौशल या विषय का अन्य परिस्थितियों में उपयोग करने को कहते हैं
(a
) प्रेरणा (b) सीखने का स्थानान्तरण
(c) भग्नाशा (d) चिन्ता
Ans : (b)


84. जब पूर्व का अधिगम नई स्थितियों के सीखने को बिल्कुल प्रभावित नहीं करता‚ तो यह ….. कहलाता है।
(a
) अधिगम का शून्य स्थानांतरण
(b) अधिगम का निरपेक्ष स्थानांतरण
(c) अधिगम का सकारात्मक स्थानांतरण
(d) अधिगम का नकारात्मक स्थानांतरण
Ans: (a)


85. एक बालक‚ जो साइकिल चलाना जानता है‚ मोटरबाइक चलाना सीख रहा है। यह उदाहरण होगा
(a
) क्षैतिज अधिगम अन्तरण का
(b) ऊध्र्व अधिगम अन्तरण का
(c) द्विपार्श्िवक अधिगम अन्तरण का
(d) कोई भी अधिगम अन्तरण नहीं
Ans : (b)


86. सीखने की प्रक्रिया में ‘सीखने का स्थानान्तरण’ हो सकता है
(a
) सकारात्मक (b) नकारात्मक
(c) शून्य (d) ये सभी
Ans : (d)


87. एक बच्चा ऊनो खेलने के लिए एक नया तरीका सीखने में असमर्थ है क्योंकि वह पहले से ही अलग नियम सीख चुका है। इसका क्या कारण हो सकता है?
(a
) सहज पुन: प्राप्ति (b) पृष्ठनोमुंखी अवरोध
(c) अग्रोनमुखी अवरोध (d) विलम्बित प्रभाव
Ans. (c)


88. निम्नलिखित में से क्या होगा यदि पहले कार्य की उत्तेजना‚ दूसरे कार्य में समानता से अधिक है :
(a
) कोई भी स्थानांतरण नहीं होगा।
(b) स्थानांतरण का विस्तार न्यूनतम होगा।
(c) स्थानांतरण का विस्तार कम होगा।
(d) स्थानांतरण का विस्तार अधिक होगा।
Ans. (d)


89. स्तम्भ−A तथा स्तम्भ−B को सुमेलित कीजिए। स्तम्भ–A स्तम्भ–B
A. एनिमल इंटैलिजेंस I. गेस्टॉल्ट
B. पुनर्बलन की अनुसूची II. पियाजे
C. सारगर्भिता का नियम III. थॉर्नडाइक
D. अनुकूलन IV. स्किनर A B C D
(a
) I IV III II
(b) II IV III I
(c) II IV I III
(d) III IV I II
Ans. (d)


90. अधिगम का व्यावहारिक सिद्धान्त निम्न है-
(a
) सम्बद्ध प्रतिक्रिया का सिद्धान्त
(b) स्किनर का क्रिया प्रसूत अधिगम का सिद्धान्त
(c) प्रबलन सिद्धान्त
(d) उपरोक्त सभी
Ans: (d)


91. एस-ओ-आर किसके द्वारा प्रस्तावित किया गया है?
(a
) वाटसन (b) कोफ्का
(c) कोहलर (d) गेस्टाल्टवादी मनोवैज्ञानिकों
Ans : (*)


92. अधिगम सिद्धांत‚ माता-पिता की भूमिका को उनके बच्चे के विकास में कैसे चिन्हित करते हैं?
(a
) प्रशिक्षकों के रूप में (b) शिक्षकों के रूप में
(c) भागीदारों के रूप में (d) समर्थकों के रूप में
Ans. (a)


93. बाल विकास के निम्नलिखित में से कौन सा सिद्धांतकार‚ उत्तेजना प्रतिक्रिया अधिगम सिद्धांत से संबद्ध नहीं है:
(a
) पावलॉव (b) जे.बी. वासटन
(c) गेसेल (d) हल
Ans. (c)


94. उद्दीपन−अनुक्रिया सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
(a
) पावलोव (b) थॉर्नडाइक
(c) स्किनर (d) कोह्लर
Ans : (b)


95. निम्नलिखित में से कौन−सा नियम थॉर्नडाइक के सीखने के गौण नियमों में शामिल नहीं है?
(a
) सादृश्यता का नियम
(b) बहु−प्रतिक्रिया का नियम
(c) आंशिक क्रिया का नियम
(d) क्रिया−प्रतिक्रिया का नियम
Ans. (d)


96. अधिगम प्रक्रिया उद्दीपन एवं ……………. के बीच की संगति है।
(a
) पूर्व अनुभव (b) व्यवहार
(c) अनुक्रिया (d) पशु
Ans. (c)


97. थॉर्नडाइक का कौन-सा नियम सीखने में पुरस्कार और दंड के महत्व का बताता है?
(a
) तत्परता का नियम (b) प्रभाव का नियम
(c) अभ्यास का नियम (d) उपरोक्त सभी
Ans: (b)


98. अधिगम कार्य के लिए विद्यार्थियों की तत्परता का आकलन करना शिक्षकों के लिए कठिन है‚ क्योंकि-
(a
) तत्परता के सभी तत्व एक साथ परिपक्व नहीं होते
(b) तत्परता के अधिकतर तत्व बाह्य रूप से दृश्य नहीं होते
(c) अभिभावक अपने बच्चों को उपलब्धि के लिए धकेलते हैं
(d) शिक्षक विद्यार्थियों के बाह्य व्यवहार का निर्णय करने में कमजोर होते हैं
Ans: (a)


99. जब बालक सीखने के लिए तैयार होता है‚ तब वह जल्दी व प्रभावशाली तरीके से सीखता है यह सिद्धान्त प्रतिपादित किया गया है-
(a
) थॉर्नडाइक द्वारा (b) स्किनर द्वारा
(c) पावलॉव द्वारा (d) कुर्ट लेविन द्वारा
Ans: (a)


100. जब अध्यापक एक छात्र को सफलता का अहसास कराता है तो वह उपयोग कर रहा होता है
(a
) तत्परता के नियम का (b) अभ्यास के नियम का
(c) प्रभाव के नियम का (d) मानसिक तत्परता के नियम का
Ans: (c)


101. एक कॉलेज जाने वाली लड़की ने फर्श पर कोट फेंकने की आदत डाल ली है। लड़की की माँ ने उससे कहा कि कमरे से बाहर जाओ और कोट को खूँटी पर टाँगो। लड़की अगली बार घर में प्रवेश करती है‚ कोट को हाथ पर रख कर अलमारी की तरफ जा कर कोट को खूँटी पर टाँग देती है। यह उदाहरण है
(a
) शृंखलागत अधिगम का
(b) उद्दीपन-अनुक्रिया अधिगम का
(c) प्रत्यय अधिगम का
(d) इनमें से सभी।
Ans: (b)


102. निम्न में से कौन-सा सीखने के नियम में सम्मिलित नहीं है?
(a
) अभ्यास (b) तत्परता
(c) खेल (d) प्रभाव।
Ans: (c)


103. ‘तत्परता का नियम’ किसने दिया है?
(a
) पावलॉव (b) एबिंगहास
(c) थॉर्नडाइक (d) स्किनर
Ans: (c)


104. ‘प्रयास व त्रुटि’ में सबसे महत्वपूर्ण क्या है?
(a
) अभ्यास (b) प्रेरणा
(c) लक्ष्य (d) वाद-विवाद
Ans: (c)


105. सीखने के ‘प्रयास और भूल सिद्धान्त’ के प्रतिपादक हैं
(a
) कोह्लर (b) थॉर्नडाइक
(c) पावलॉव (d) स्किनर
Ans: (b)


106. थार्नडाइक का सिद्धान्त इनमें से किस वर्ग के तहत सूचीबद्ध किया जाता है?
(a
) व्यवहारिकता का सिद्धान्त (b) ज्ञानात्मक सिद्धान्त
(c) मनोविश्लेषण सिद्धान्त (d) इनमें कोई नहीं
Ans : (a)


107. ‘सीखने के नियम’ के प्रतिपादक है
(a
) फ्रायड (b) स्किनर
(c) थॉर्नडाइक (d) एडलर
Ans: (c)


108. अधिगम में ………… ने प्रभाव का नियम दिया था।
(a
) पावलोव (b) स्किनर
(c) वाटसन (d) थॉर्नडाइक
Ans : (d)


109. अधिगम में प्रयत्न व भूल के सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
(a
) पावलोव (b) हेगार्टी
(c) थॉर्नडाइक (d) हल
Ans : (c)


110. सीखने के नियम दिए हैं
(a
) पावलॉव ने (b) स्किनर ने
(c) थॉर्नडाइक ने (d) कोह्रलर ने
Ans : (c)


111. साहचर्य के नियम हैं
(a
) समानता का नियम (b) वैषम्य का नियम
(c) समीपता का नियम (d) ये सभी
Ans : (d)


112. सीखने का प्राथमिक मूलभूत नियम सम्बन्धित है
(a
) अभ्यास कार्य से (b) परिणाम की अपेक्षा से
(c) प्रशंसा से (d) तत्परता से
Ans : (d)


113. जब बच्चे एक अवधारणा को सीखते हैं और उसका प्रयोग करते हैं‚ तो अभ्यास उनके द्वारा की जाने वाली त्रुटियों को कम करने में मदद करता है। यह विचार………के द्वारा दिया गया।
(a
) जीन पिया़जे (b) जे.बी. वॉटसन
(c) लेव वाइगोत्स्की (d) ई.एल. थॉर्नडाइक
Ans: (d)


114. ‘‘एक बच्चा अतीत की समान परिस्थिति में की गई अनुक्रियाओं के आधार पर नई स्थिति के प्रति अनुक्रिया करता है।’’ यह किससे सम्बन्धित है?
(a
) सीखने का ‘प्रभाव-नियम’
(b) सीखने की प्रक्रिया का ‘अभिवृत्ति-नियम
(c) सीखने का ‘तत्परता-नियम’
(d) सीखने का सादृश्यता-नियम
Ans: (d)


115. निम्नलिखित में से कौन सा सीखने का नियम नहीं है-
(a
) तत्परता का नियम (b) तनाव का नियम
(c) प्रभाव का नियम (d) अभ्यास का नियम
Ans : (b)


116. निम्न में से कौन-सा सीखने के मुख्य नियमों में शामिल नहीं है?
(a
) तत्परता का नियम (b) अभ्यास का नियम
(c) बहु-अनुक्रिया का नियम (d) प्रभाव का नियम
Ans : (c)


117. सीखने में प्रयास व भूल के सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
(a
) कोहलर (b) पैवलव
(c) थॉर्नडाइक (d) गेस्टाल्ट
Ans : (c)


118. अधिगम के प्राथमिक सिद्धांतों के प्रणेता कौन हैं? उत्तर: ई. एल. थार्नडाइक UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या- अधिगम के प्राथमिक सिद्धान्त के प्रणेता इ. एल र्थानडाइक माने जाते हैं। ‘पशु व्यवहार’ एवं सीखने की प्रक्रिया’ पर उनके कार्य के आधार पर ही आधुनिक शैक्षिक मनोविज्ञान की वैज्ञानिक नींव पड़ी। ये मनोवैज्ञानिक कार्पोरेशन बोर्ड के सदस्य तथा सन् 1912 में अमेरिकन मनोवैज्ञानिक संघ के अध्यक्ष भी रहे।


119. _______ वे मनोवैज्ञानिक थे‚ जिन्होंने प्रयत्न−त्रुटि अधिगम के प्रयोगों को संचालित किया था।
(a
) थार्नडाइक (b) कोहलर
(c) स्किनर (d) पावलोव
Ans. (a)


120. ‘सीखने के प्रयास एवं त्रुटि सिद्धान्त’ का प्रतिपादन किसने किया? उत्तर: ई. एल. थार्नडाइक UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या-‘सीखने के प्रयास एवं त्रुटि सिद्धान्त’ का प्रतिपादन अमेरिकी मनोवैज्ञानिक एडवर्ड एल. थार्नडाइक द्वारा सन् 1913 में किया गया। इन्होंने अपना प्रयोग बिल्ली पर किया जिसके आधार पर सीखने के तीन मुख्य नियमों- तत्परता का नियम‚ अभ्यास का नियम तथा प्रभाव का नियम प्रतिपादित किया। प्रयास एवं त्रुटि सिद्धान्त को S-R bond (Stimulus-Response bond) सिद्धान्त भी कहा जाता है।


121. थार्नडाईक के सिद्धांत के अनुसार उत्तेजना-प्रतिक्रिया युग्मों की आवृत्ति‚ निम्न का गठन निर्धारित करता है−
(a
) प्रबलन (b) आदत
(c) दंड (d) अनुबंधन
Ans. (b)


122. प्रयत्न-त्रुटि अधिगम के थार्नडाइक सिद्धांत ने _____ के महत्व पर जोर दिया है।
(a
) प्रेरणा (b) पुरस्कार
(c) प्रशंसा (d) दंड
Ans. (a)


123. तत्परता का नियम‚ अधिगम से पूर्व ………. की आवश्यकता पर प्रकाश डालता है।
(a
) अनुभव (b) पुनर्बलन
(c) अभ्यास (d) परिपक्वता
Ans. (d)


124. संयोजनवाद का सिद्धांत (Theory of connectionism) इनके द्वारा प्रस्तावित किया गया था−
(a
) स्किनर (b) टॉलमैन
(c) पावलॉव (d) थॉर्नडाइक
Ans : (d)


125. थार्नडाइक के तत्परता के नियम को इस नाम से भी जाना जाता है :
(a
) अभ्यास का नियम
(b) प्रभाव का नियम
(c) कार्य प्रवृत्ति का नियम
(d) सेट या मनोवृत्ति का नियम
Ans. (c)


126. थॉर्नडाइक द्वारा उद्दीपन−अनुक्रिया सिद्धांत से संबंधित प्रयोग में किस जानवर का प्रयोग किया गया था?
(a
) चूहा (b) कुत्ता
(c) बिल्ली (d) कबूतर
Ans. (c)


127. ई.एल. थॉर्नडाइक ने किस प्रकार के अधिगम का प्रस्ताव रखा ?
(a
) क्रियाप्रसूत अनुबंधन (ऑपरेट कंडीशनिंग)
(b) प्रतिनिधिक अनुबंधन (वाइकेरियस कंडीशनिंग)
(c) शाध्Eाीय अनुबंधन (क्लासिकल कंडीशनिंग)
(d) प्रभाव अनुबंधन (इफेक्ट कंडीशनिंग)
Ans. (d)


128. शिक्षार्थी तब तक नहीं सीख सकते जब तक
(a
) उन्हें शिक्षा के सामाजिक उद्देश्यों की आवश्यकताओं के अनुरूप न पढ़ाया जाए
(b) उन्हें यह पता न हो कि जो तथ्य उन्हें पढ़ाए गए हैं निकट भविष्य में उनका परीक्षण किया जाएगा
(c) वे सीखने के लिए तैयार न हों
(d) दैनिक आधार पर घर में उनके माता−पिता विद्यालय में उनके सीखने के बारे में नहीं पूछेंगे
Ans : (c)


129. कक्षा शिक्षण में पाठ प्रस्तावना सोपान सीखने के किस नियम पर आधारित है?
(a
) प्रभाव का नियम (b) सादृश्यता का नियम
(c) तत्परता का नियम (d) साहचर्य का नियम
Ans : (c)


130. ‘सीखने की तत्परता’——- की ओर संकेत करती है।
(a
) थॉर्नडाइक का तत्परता का नियम
(b) शिक्षार्थियों का सामान्य योग्यता स्तर
(c) सीखने के सातत्यक में शिक्षार्थियों का वर्तमान संज्ञानात्मक स्तर
(d) सीखने के कार्य की प्रकृति को संतुष्ट करने
Ans: (c)


131. थॉर्नडाइक का सिद्धान्त निम्न में से कौनसी श्रेणी में आता है?
(a
) व्यवहारात्मक सिद्धान्त (b) संज्ञानात्मक सिद्धान्त
(c) मनोविश्लेषणात्मक सिद्धान्त (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (a)


132. प्राचीन अनुबंधन का सिद्धान्त किसने दिया ?
(a
) स्किनर (b) स्पिनोविच
(c) पावलोव (d) बिने
Ans : (c)


133. क्लासिकल स्थिति का प्रतिपादक कौन था?
(a
) स्किनर (b) पावलॉव
(c) वॉटसन (d) थॉर्नडाइक
Ans: (b)


134. राजू खरगोश से डरता था। शुरू में खरगोश को राजू से काफी दूर रखा गया। आने वाले दिनों में हर रोज खरगोश और राजू के बीच की दूरी कम कर दी गई। अन्त में राजू की गोद में खरगोश को रखा गया और राजू खरगोश से खेलने लगा। यह प्रयोग उदाहरण है
(a
) प्रयत्न एवं त्रुटि सिद्धान्त का
(b) शाध्Eाीय अनुबन्धन सिद्धान्त का
(c) क्रिया प्रसूत अनुबन्धन सिद्धान्त का
(d) इनमें से सभी।
Ans: (b)


135. पाँच वर्ष का राजू अपनी खिड़की के बाहर तूफान को देखता है। बिजली चमकती है और कड़कने की आवाज आती है। राजू शोर सुन कर उछलता है। बार-बार यह घटना होती है। फिर कुछ देर शान्ति के पश्चात बिजली कड़कती है। राजू बिजली की गर्जना सुनकर उछलता है। राजू का उछलना सीखने के किस सिद्धान्त का उदाहरण है?
(a
) शाध्Eाीय अनुबन्धन (b) क्रियाप्रसूत अनुबन्धन
(c) प्रयत्न एवं भूल (d) इनमें से कोई नहीं।
Ans: (a)


136. सीखने का ‘क्लासिकल कण्डीशनिंग’ सिद्धान्त प्रतिपादित किया था
(a
) स्किनर (b) पावलॉव
(c) थॉर्नडाइक (d) कोह्लबर्ग
Ans: (b)


137. अनुबन्धन की प्रक्रिया में प्रथम सोपान निम्नांकित में से कौन-सा है?
(a
) उत्तेजना (b) आवृत्ति
(c) सामान्यीकरण (d) इनमें से कोई नहीं
Ans : (a)


138. पावलॉव ने सीखने के अनुबन्धन-प्रतिक्रिया सिद्धान्त का प्रतिपादन……… पर प्रयोग करके किया था।
(a
) खरगोश (b) चूहे
(c) कुत्ते (d) बिल्ली
Ans : (c)


139. …………….. सम्बद्ध प्रतिक्रिया सिद्धांत में पावलॉव ने प्रयोग किया –
(a
) बिल्ली पर (b) कुत्ते पर
(c) बन्दर पर (d) चूहे पर
Ans : (b)


140. निम्नलिखित में से किसे अधिगम का एक संज्ञानात्मक रूप नहीं माना जाता है?
(a
) प्रत्यधिकृत अनुबंधन (विकैरियस कंडीशनिंग)
(b) अव्यक्त अधिगम
(c) विश्लेषणात्मक अधिगम
(d) शाध्Eाीय अनुबंधन (क्लासिकल कंडीशनिंग)
Ans. (d)


141. शाध्Eाीय अनुबंधन (क्लासिकल कंडीशनिंग) की प्रक्रिया के माध्यम से किस प्रकार की प्रतिक्रिया सीखी जाती है?
(a
) असुविधाजनक प्रतिक्रिया (b) प्रबलित प्रतिक्रिया
(c) अनुकूलित प्रतिक्रिया (d) तटस्थ प्रतिक्रिया
Ans. (c)


142. कुत्ते के साथ पावलोव के प्रसिद्ध प्रयोग में‚ वह शब्द कौन सा था जिसका उपयोग उस भोजन का वर्णन करने के लिए किया गया था जिसके लिए कुत्ता स्वाभाविक रूप से लार टपकता था?
(a
) स्वाभाविक अनुक्रिया (b) तटस्थ उद्दीपक
(c) स्वाभाविक उद्दीपक (d) अनुबंधित उद्दीपक
Ans. (c)


१४३. किस प्रयोग से पता चला है कि क्लासिकल कंडीशनिंग द्वारा फोबिया पैदा किया जा सकता है?
(a
) गतिशील प्रणाली
(b) अहंकेंद्रवाद (इगोसेन्ट्रिज्म)
(c) लिटिल अल्बर्ट
(d) ज्ञानमीमांसा (एपिस्टेमोलॉजी)
Ans : (c)


144. किसने क्लासिकल कंडीशनिंग की खोज की जो एक पर्यावरणीय उत्तेजना और एक अन्य उत्तेजना के बीच एसोसिएशन द्वारा संचालित एक अधिगम की प्रक्रिया है−
(a
) एडवर्ड थॉर्नडाइक (b) इवान पॉवलव
(c) वोल्फगैंग कोहलर (d) जीन पियाजे
Ans : (b)


145. क्लासिकल कन्डीशनिंग (चिरप्रतिष्ठित प्रानुकूलन या शाध्Eाीय अनुबंधन) निम्न में से किसके द्वारा विकसित किया गया है-
(a
) बण्डुरा (b) पावलोव
(c) कोहलर (d) पियाजे
Ans. (b)


146. दो सहयोगी अधिगम सिद्धांत कौन-से है?
(a
) शाध्Eाीय अनुबंधन (क्लासिकल कंडीशनिंग) और क्रिया प्रसूत अनुबंधन (ऑपरेट कंडीशनिंग)
(b) शाध्Eाीय अनुबंधन (क्लासिकल कंडीशनिंग) और उत्पीड़क अनुबंधन (ओपरेसिव कंडीशनिंग)
(c) शाध्Eाीय अनुबंधन (क्लासिकल कंडीशनिंग) और कार्यकारी अनुबंधन (ऑपरेट कंडीशनिंग)
(d) शाध्Eाीय अनुबंधन (क्लासिकल कंडीशनिंग) और अवलोकन अनुबंधन (ओब्जवेंट कंडीशनिंग)
Ans. (a)


147. राजेश बीमारी के कारण एक महीने तक विद्यालय नहीं गया। जब विद्यालय गया तो उसे भाग के लम्बे सवालों को करना नहीं आया। कई बार के निराशाजनक अनुभवों में असफलता हाथ लगी। लम्बे भाग के सवालों के देखते ही वह चिन्तित हो जाता है। शाध्Eाीय अनुबन्धन सिद्धान्त के मुताबिक संवेगात्मक स्वाभाविक उत्तेजक है
(a
) असफलता को लेकर चिन्ता
(b) असफलता/भग्नाशा
(c) लम्बे भाग के सवाल
(d) लम्बे भाग के सवालों को लेकर चिन्ता।
Ans: (b)


148. थॉर्नडाइक के उद्दीपक−अनुक्रिया सिद्धांत (एस.− आर. थ्योरी) में सीखने की प्रक्रिया में क्या महत्त्वपूर्ण नहीं है?
(a
) क्रिया प्रसूत व्यवहार (b) अन्तर्नोद
(c) अभिप्रेरक (d) उद्दीपक
Ans. (a)


149. निम्न में किस सिद्धांत को पुनर्बलन का सिद्धांत भी कहते हैं?
(a
) शाध्Eाीय अनुबन्धन सिद्धांत
(b) उद्दीपक अनुक्रिया सिद्धांत
(c) सूझ का सिद्धांत
(d) क्रिया प्रसूत अनुबंधन सिद्धांत
Ans. (d)


150. निम्नलिखित में से कौन-सा सिद्धान्त यह दर्शाता है कि अपेक्षित व्यवहार के सन्निकट सकारात्मक प्रतिक्रिया तथा पुनर्बलन के फलस्वरूप व्यवहारात्मक विकास किया जा सकता है?
(a
) शाध्Eाीय अनुबन्धन (b) वाद्य अनुबन्धन
(c) ऑपरेन्ट अनुबन्धन (d) सामाजिक अनुबन्धन
Ans: (c)


151. बुरी आदतों को सुधारा जा सकता है
(a
) डाँट डपट कर (b) दोषारोपण द्वारा
(c) अनुबन्धन द्वारा (d) ये सभी
Ans: (c)


152. अधिगम का क्रिया-प्रसूत अनुबन्धन सिद्धान्त……….द्वारा दिया गया था।
(a
) पावलोव (b) थॉर्नडाइक
(c) टोलमैन (d) स्किनर
Ans : (d)


153. क्रियाप्रसूत अनुकूलन सिद्धान्त का प्रतिपादन —— ने किया था-
(a
) पावलॉव (b) स्किनर
(c) थौर्नडाइक (d) कोहलर
Ans : (b)


154. स्किनर ने वकालत की कि सीखने की संभावना तब अधिक होती है जब
(a
) सार्वजनिक घटनाओं या अवलोकनीय व्यवहार की व्याख्या किया जाता है।
(b) एक व्यवहार का अवलोकन प्रतिदर्शन द्वारा किया जाता है।
(c) व्यवहार उत्तेजना के लिए प्रतिवाद प्रतिक्रिया बन जाता है।
(d) व्यवहार को एक इनाम या सजा के साथ प्रबलित किया जाता है।
Ans. (d)


155. अभिक्रमित अधिगम किसके सिद्धान्त पर आधारित है? उत्तर: बी. एफ. किनर UP Assistant Teacher (I-V) 27 May 2018 व्याख्या- अभिक्रमित अधिगम बी.एफ. स्किनर द्वारा प्रतिपादित अधिगम के क्रिया-प्रसूत अनुबंधन सिद्धान्त पर आधारित है। अभिक्रमित अधिगम एक ऐसी विधि है जिसमें अधिगमकर्ता सक्रिय रहता है‚ तत्काल प्रतिपुष्टि प्राप्त करता है तथा अपनी गति से सीखते हुए बढ़ता है। इस विधि को क्रमसिद्ध अधिगम भी कहा जाता है। स्किनर ने अभिक्रमित अधिगम के पाँच सिद्धान्त बताएँ है-
(1) लघुपदीय सिद्धान्त
(2) सक्रिय अनुक्रिया सिद्धान्त
(3) तत्कालीन जाँच या प्रतिपुष्टि का सिद्धान्त
(4) स्व-गति का सिद्धान्त
(5) छात्र परीक्षण का सिद्धान्त


156. अभिक्रमायोजित अधिगम का प्रत्यय किसने दिया था –
(a
) हल (b) थार्नडाइक
(c) स्किनर (d) वाटसन
Ans : (c)


157. किस व्यवहारवादी का मानना है कि अन्य व्यवहारों की भाँति भाषा भी क्रिया-प्रसूत अनुबन्धन द्वारा सीखी जाती है?
(a
) वाटसन (b) स्किनर
(c) गुथरी (d) थॉर्नडाइक
Ans : (b)


158. निम्न में से कौन-सा युग्म सही नहीं है?
(a
) सीखने का उद्दीपक-अनुक्रिया सिद्धान्त−थॉर्नडाइक
(b) सीखने का क्रियाप्रसूत अनुबन्धन सिद्धान्त−बी. एफ. स्किनर
(c) सीखने का क्लासिकल सिद्धान्त−पैवलव
(d) सीखने का समग्र सिद्धान्त−हल
Ans : (d)


159. किस अधिगम मनोवैज्ञानिक ने बाल-अधिगम विकास में पुरस्कार को महत्व नहीं दिया है?
(a
) थार्नडाइक (b) पावलॉव
(c) स्किनर (d) गुथरी
Ans : (d)


160. बालक के व्यक्तित्व को किस प्रकार का अधिगम